Search

जानें सरकार हर वर्ष बजट क्यों पेश करती है?

बजट, सरकार की आय और व्यय का लेखा जोखा होता है अर्थात बजट में यह बताया जाता है कि सरकार के पास रुपया कहां से आया और कहां गया ? सरकार द्वारा हर साल बजट पेश करने का सीधा मतलब यह है कि सरकार लोगों को यह बताना चाहती है कि सरकार वर्तमान वित्त वर्ष में किन किन योजनाओं पर पैसा खर्च करेगी और उसको इस वर्ष किन स्रोतों आय की उम्मीद है. यही आंकड़े अगले वर्ष और बीते हुए वित्त वर्ष के लिए जारी किये जाते हैं.
Jul 1, 2019 10:55 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Budget-2019-20- Income & Expenditure
Budget-2019-20- Income & Expenditure

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 112 में बजट की बात कही गयी है. बजट को संसदीय भाषा में 'वार्षिक वित्तीय विवरण' कहा जाता है. यह बजट हर साल संसद का समक्ष वित्त मंत्री द्वारा पेश किया जाता है.

बजट किसे कहते है ? (Meaning of Budget)

वित्त मंत्री अपने बजट भाषण में यह बताता है कि पिछले वित्तीय वर्ष में सरकार को कितनी आय हुई और कितना खर्च किया (इन्हें बजट के वास्तविक आंकड़े कहा जाता है) तथा वर्तमान वर्ष में सरकार को कितनी आय होने का अनुमान है और सरकार की आय के क्या-क्या स्रोत हैं. इसके अलावा सरकार यह भी बताती है कि किन-किन क्षेत्रों में कितना धन खर्च किया जायेगा (इसे बजट अनुमान कहा जाता है).

बजट भाषण के दौरान ही सरकार यह भी बता देती है कि उसने किस क्षेत्र के लिए कितना रुपया खर्च करने का मन बनाया है; इसी के आधार पर विभिन्न मंत्रालयों को एक निश्चित धनराशि का आवंटन कर दिया जाता है|

Budget

image source:NC OSBM

भारत में बजट बनाने में किस तरह की गोपनीयता बरती जाती है

सरकार द्वारा हर साल बजट क्यों बनाया जाता है?

सरकार हर साल बजट बनाकर दो काम करती है-

1. अगले वित्तवर्ष में देश के विभिन्‍न क्षेत्रों (जैसे- उद्योग, विनिर्माण, शिक्षा, विज्ञान एवं तकनीकी,स्वास्थ्य,रक्षा, परिवहन आदि) में किए जाने वाले विभिन्‍न प्रकार के विकास कार्यों में होने वाले खर्चों का अनुमान लगाती है।

BUDGET-2019-20-REVENUE

2. अगले वित्तवर्ष के लिए अनुमानित खर्चों को पूरा करने के लिए धन (Funds) की व्‍यवस्‍था करने के लिए जरूरी  उपाय (जैसे- कुछ चीजों पर कुछ खास तरह के नए टैक्स लगाने या बढ़ाने अथवा किसी वस्तु या सेवा पर पहले से दी जा रही सब्सिडी (Subsidy) को कम या खत्‍म करना आदि) करती है।

SUBSIDY-EXPENDITURE

यानी सरल शब्‍दों में कहें तो सरकार ये निश्चित करती है कि उसे अगले वर्ष देश के विकास से संबंधित किन चीजों पर प्राथमिकता के साथ खर्च करना है और उन खर्चों के लिए धन की व्‍यवस्‍था कैसे करनी है। आय (Income) व व्‍यय (Expenditure) के इसी ब्‍यौरे का नाम बजट (Budget) है और प्रत्‍येक बजट एक निश्चित अवधि के लिए बनाया जाता है।

भारत में बजट बनाने में किस तरह की गोपनीयता बरती जाती है?

जनता के प्रति जवाबदेही:

सरकार हर साल बजट इसलिए बनाती है ताकि वह जनता को यह बता सके कि उसके द्वारा दिया गया कीमती पैसा किन-किन चीजों पर खर्च किया गया है और जिन चीजों पर खर्च किया गया है उससे क्या परिणाम हासिल हुए हैं |

लोगों को कर देने के लिए प्रेरित करना:

सरकार आयकर चुकाने वालों के बीच यह सन्देश देना चाहती है कि जनता द्वारा दी गयी हर एक पाई का हिसाब सरकार के पास है और इसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी नही की जा रही है| इसलिए सभी योग्य आयकर दाताओं को पूरी ईमानदारी से कर का भुगतान समय पर करते रहना चाहिए|

देश के सभी क्षेत्रों का विकास सुनिश्चित करना :

Union Budget

image source:SlideShare

हर साल बजट प्रस्तुत करके सरकार को यह पता चल जाता है कि देश में किस क्षेत्र में ज्यादा खर्च करने की जरुरत है और किसमें कम| इस प्रकार से सरकार देश के हर राज्य (जिन राज्यों का विकास कम होता है उनमे ज्यादा उद्योग और शिक्षा/अस्पताल जैसे संस्थानों को खोला जाता है) और अर्थव्यवस्था के लिए जरूरी हर क्षेत्र का विकास सुनुश्चित करने का प्रयास करती है |

भारत में बजट पेश करने की प्रक्रिया क्या है?

भारतीय बजट से जुडी शब्दावली