Banking बनाम SSC: पाठ्यक्रम में अंतर

Nov 12, 2018 12:10 IST
  • Read in English
SSC vs. banking syllabus
SSC vs. banking syllabus

आज के दौर में, सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं में एक ट्रेंड है कि उम्मीदवार, स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी करने के बाद Banking और SSC जैसी विभिन्न परीक्षाओं के लिए तैयारी करते हैं। यह सभी जानते है कि Banking और SSC दोनों अपनी परीक्षाओं के माध्यम से, उम्मीदवारों की क्षमताओं का आकलन करने के लिए एक कॉमन मानदंडों को अपनाते है जिसमे उम्मीदवारों का परीक्षण ऑनलाइन टेस्ट के द्वारा किया जाता है जिसमें क्वांटिटेटिव एपटीट्युड, रीज़निंग, इंग्लिश भाषा और सामान्य जागरूकता विषय से प्रश्न पूछे जाते है. अब, प्राय: सभी बैंक और SSC अपनी परीक्षाओं का आयोजन ऑनलाइन मोड में करती है.

अब हर किसी के दिमाग में एक सामान्य प्रश्न उठता है कि "क्या कोई उम्मीदवार दोनों परीक्षाओं की एक साथ तैयारी कर सकता है"। इसका जवाब आपको आईबीपीएस, एसबीआई, नाबार्ड के साथ-साथ विभिन्न SSC परीक्षाओं और Banking क्षेत्र के लिए पाठ्यक्रम के आधार पर किए गए निम्नलिखित विश्लेषण के साथ बताया गया है। आइये, इन दोनों परीक्षाओं में पूछे जाने वाले विषय के आधार पर इसके बारें में जानते हैं-

SSC और Banking के सिलेबस में अंतर

SSC परीक्षा में चार वर्ग होते हैं जबकि बैंकिंग परीक्षा में पांच वर्ग होते हैं। कंप्यूटर विज्ञान, बैंकिंग परीक्षा में एक अतिरिक्त विषय है, जबकि SSC परीक्षा में इसे नहीं पूछा जाता हैं। कॉमन विषयों के लिए, हमने विषय-वार अध्यायों की तुलना तैयार की है और साथ ही युक्तियों और रणनीतियों के बारे में भी चर्चा की है-

क्वांटिटेटिव एपटीट्युड

इस खंड में, SSC और बैंकिंग परीक्षाओं के बीच कई समान विषय हैं। यद्यपि, बैंकिंग परीक्षाओं की तुलना में SSC परीक्षा में अधिक टॉपिक्स पूछे जाते हैं। दोनों परीक्षाओं में टॉपिक्स की भिन्नता को निम्न तालिका द्वारा दर्शाया गया है-

सेक्शन

 

कॉमन  विषय

Banking विषय

SSC परीक्षा के विषय

 

 

 

 

क्वांटिटेटिव एपटीट्युड

 

संख्या श्रृंखला

 

द्विघातीय समीकरण

 

करणी

 

आंकड़ा निर्वचन

डेटा दक्षता

 

बीजगणित

सरलीकरण

 

ज्यामिति (उच्च स्तर)

प्रतिशत, लाभ / हानि, साझेदारी

त्रिकोणमिति

सरल और मिश्रित ब्याज

 

 

अनुपात, औसत और अभिकथन

 

 

समय और काम, पाइप्स और सिस्टरन

 

 

गति, दूरी व समय

 

 

क्षेत्रमिति

 

 

SSC परीक्षा के लिए मुहावरों और वाक्यांशों को कैसे याद रखे?

कॉमन टॉपिक्स के लिए युक्तियाँ और रणनीति: - इस खंड को तैयार करने और परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के कई तरीके और रणनीतियां हो सकती है। उनमें से कुछ की चर्चा नीचे की गई हैं-

  • पहले इन विषयों की मूल बातें (बेसिक्स) को तैयार करें.
  • तुरंत शॉर्टकटस के लिए मत जाओ.
  • नियमित रूप से अध्याय-वार इस विषय को दोहराएँ. इसके लिए, आपको तैयार किये गए टॉपिक्स के ज्ञान को पुख्ता करने के लिए ऑनलाइन पुस्तक परीक्षण और ऑनलाइन परीक्षण श्रृंखला इत्यादि के अलावा किसी भी पुस्तक या अन्य स्रोतों को रेफेर करना चाहिए।
  • तैयारी के दौरान, स्पीड और सटीकता पर ज्यादा फोकस करें.
  • मानसिक गणना बहुत ज़रूरी और परीक्षा में मददगार होती है.
  • जितना हो सकें प्रश्नों का उतना अभ्यास करें।
  • आप आर० एस० अग्रवाल, अरुण शर्मा, सर्वेश के वर्मा, और दिनेश खट्टर द्वारा लिखित क्वांटिटेटिव पुस्तको को भी पढ़ सकते हैं। । ये किताबें इन परीक्षाओं की तैयारी में उच्च मानदंड रखती हैं.

सामान्य इंटेलिजेंस और रीजनिंग

रीजनिंग खंड के लिए, दोनों परीक्षाओं का पाठ्यक्रम काफी भिन्न हैं। केवल कुछ विषय ही बैंकिंग और SSC परीक्षाओं में कॉमन हैं। अधिकांश कठिन टॉपिक्स को बैंकिंग परीक्षा में पूछा जाता है। अधिक स्पष्टता के लिए निम्न तालिका को देखें-

सेक्शन

 

कॉमन विषय

Banking विषय

SSC परीक्षा के विषय

 

 

 

 

रीजनिंग

 

 

कोडिंग डिकोडिंग

विश्लेषणात्मक रीजनिंग

गणितीय ऑपरेटर

क्रिटिकल रीजनिंग

Syllogism

एनालोजी

दिशा भावना

इनपुट आउटपुट

शब्द मैट्रिक्स

रक्त संबंध

असमानता

मेल- बेमेल शब्द (Odd one out)

 

डेटा दक्षता

तार्किक वेन आरेख

 


विजुअल रीज़निंग

SSC CHSL और बैंक क्लर्क में से लड़कियों के किये कौन-सा बेहतर विकल्प है?

युक्तियाँ और रणनीति:-

  • सबसे पहले, बुनियादी बातों, जिनमें प्रश्नों के प्रकार और उनकी जटिलता शामिल है, के माध्यम से जाएँ.
  • पुस्तकों, ब्लॉग, वीडियो और ऑनलाइन परीक्षण श्रृंखला सहित विभिन्न शिक्षण मोड के माध्यम से अभ्यास करें।
  • पिछले वर्ष के पेपर का विश्लेषण करें और विभिन्न विषयों से जुड़े सवालों के ब्रेक अप को तैयार करें।
  • अपने ज्ञान का परीक्षण करें और विभिन्न मोक्क परीक्षणों के माध्यम से टॉपिक्स को दोहराए.
  • आप पूरी जानकारी और शीर्ष स्तर की तैयारी के लिए निम्नलिखित पुस्तकों का प्रयोग कर सकते हैं-
    • वर्बल एंड नॉन-वर्बल रीजनिंग (आर० एस० अग्रवाल)
    • वर्बल एंड नॉन-वर्बल रीजनिंग हिंदी (किरण प्रकाशन)
    • लॉजिकल एंड एनालिटिकल रीजनिंग (ए० के० गुप्ता)

इंग्लिश लैंग्वेज और कॉम्प्रिहेंशन

अंग्रेजी अनुभाग बैंकिंग और SSC परीक्षाओं दोनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह परीक्षा में आपके बहुत समय को बचाता है और परीक्षा में पर्याप्त अंकों से अधिक अंक लाने में मदद करता है यह सब अंग्रेजी भाषा और व्याकरण पर आपकी पकड़ पर निर्भर करता है। अंग्रेजी विषयों के लिए तुलना निम्न तालिका में दी गयी है-

सेक्शन

 

कॉमन विषय

Banking विषय

SSC परीक्षा के विषय

 

 

अंग्रेज़ी

 

रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन

पैरा-जुम्ब्लेस

पर्याय / विलोम

करेक्ट यूसेज

क्लोज़ टेस्ट

मुहावरा / वाक्यांश

खाली जगह भरें

 

परिभाषा

 

 

सही वर्तनी

SSC CHSL और बैंक क्लर्क परीक्षा की तैयारी साथ-साथ कैसे करें?

युक्तियाँ और रणनीति: -

  • सबसे पहले, व्याकरण की बुनियादी बातों के माध्यम से जाओ और बार-बार उनका पुनरीक्षण करें.
  • जटिल विषयों के बजाय सामान्य विषयों को पहले कवर करें.
  • अखबार और उपन्यासों को पढ़ने की आदत डालें.
  • अंग्रेजी व्याकरण के असाधारण नियमों का ध्यान रखें व उन्हें नोट करते रहें।
  • बैंकिंग और SSC परीक्षा दोनों के पिछले साल के पेपर्स का प्रयास करें।
  • अवधारणाओं को मजबूत बनाने के लिए आपको निम्नलिखित पुस्तकों को रेफ़र करना चाहिए-
    • Word Power Made Easy -नोर्मन लुईस
    • एस०पी० बक्षी द्वारा ऑब्जेक्टिव जनरल इंग्लिश
    • रेमंड मर्फी द्वारा Essential English Grammar (उत्तर सहित)

सामान्य जागरूकता

सामान्य जागरूकता का सिलेबस, Banking की तुलना में SSC में काफी ज्यादा है क्योंकि भारतीय राजनीति, जनरल साइंस, इंडियन इकोनॉमी, भूगोल, इतिहास, पुरस्कार, महत्वपूर्ण तिथियाँ, खेल, कंप्यूटर और विविध प्रकार के कई सवाल SSC परीक्षा में पूछे जाते हैं। जबकि, Banking क्षेत्र की परीक्षाओं में वर्तमान मामलों और Banking से संबंधी प्रश्नों को आम तौर पर पूछा जाता है.

SSC CHSL परीक्षा में सफलता हेतु पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों की भूमिका

युक्तियां और रणनीति: -

  • कर्रेंट अफेयर्स के लिए पिछले 6 महीनों के प्रसिद्द समाचार पत्रों को पढ़ें. "द हिंदू" अन्य न्यूज़-पेपर्स के मुकाबले अधिक सर्वश्रेष्ठ अखबार हैं.
  • विज्ञान, राजनीति, इतिहास, भूगोल, संस्कृति और अन्य उप-विषयों के लिए NCERT की किताबें पढ़ें।
  • इसके अलावा, आप इस अनुभाग के लिए "ल्यूसेंट्स जनरल नॉलेज" को रेफेर कर सकते हैं क्योंकि यह एकमात्र ऐसी किताब है, जो दोनों परीक्षाओं के लिए पर्याप्त है. इसे पढने के बाद, आगे अन्य किसी पुस्तक को पढने की कोई आवश्यकता नहीं है.

हम, jagranjosh.com पर आशा करते हैं कि ऊपर की जानकारी आपको इन परीक्षाओं की तैयारी के लिए सहायक होगी।

शुभकामनाएं!

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF