पहली जॉब में बरते ये 9 सावधानियां

इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे महत्वपूर्ण टिप्स बतायेंगे जिसके ज़रिये आप अपनी केरियर की शुरुआत यानि पहली जॉब में ही सफलता के समीप होंगे |

 

Created On: Dec 30, 2016 14:12 IST
Modified On: Dec 30, 2016 17:08 IST

पढ़ाई के बाद पहली जॉब हासिल करना किसी भी फ्रेशर के लिए आसान नहीं होता और अगर आपने हाल ही में नयी जॉब ज्वाइन की है तो आपके ऊपर अपनी कार्यकुशलता दिखाने का दबाव होता है| यदि आप केरियर में लंबी पारी खेलना चाहते है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा | जिसके ज़रिये आप अपने फर्स्ट जॉब  इंप्रेशन को शानदार बना सकें| नई जॉब का शुरुआती सप्ताह काफी चैलेंजिंग होता है |
यहां हम कुछ ऐसे टिप्स के बारे में चर्चा करेंगे जो आपकी यह राह आसान बना देंगी |

1. ऑफिस देर आने से बचें:

एक सामान्य गलती जो फ्रेशेर्स नयी जॉब पाने के बाद करते हैं वो है ऑफिस लेट आना| जॉब में नियमितता बनाये रखना बहुत जरुरी है| ऑफिस के पहले दिन घर से थोड़ा जल्दी निकले क्युकी आपको ट्रैफिक या किसी अन्य चीज का सामना करना पड़ सकता है| किसी भी काम को बेवजह न लटकाएं,  वो काम दिए गए समय में पूरा करें| वैसे भी समय से ऑफिस जाना भी अनुशासन के अंतर्गत आता है, इसलिए ये और ज़रूरी हो जाता है की आप समय से ऑफिस जाएं| देर से ऑफिस जाने का सबसे बड़ा नुकसान ये है की आपका इम्परेशन ख़राब होता है और पुरे दिन में जो कम करना है उसका मैनेजमेंट भी बिगड़ जाता है , क्योंकि आप किसी टीम का हिस्सा होते है और कोई भी कामियाबी टीम वर्क से मिलती है |

2. आमतौर(casual) पहनावे से बचे:
ऑफिस के सुरुआती दिनों में आमतौर के पहनावे से बचे| जॉब के पहले दिन औपचारिक पोशाक जरूर पहने| अगर आपको कंपनी के ड्रेस कोड के बारे में कोई भी संदेह हो तो HR से संपर्क करें | लेकिन किसी भी दुविधा की स्तिथि में औपचारिक पोशाकों का चुनाव एक बेहतर विकल्प है| जॉब में व्यक्ति के ज्ञान के साथ उसका व्यवहार, व्यक्तित्व, चाल-ढाल, पहनावे जैसी कई चीजों पर ध्यान दिया जाता है| आपकी ड्रेसिंग सेंस काफी हद तक आपके पर्सनैलिटी और आपके मिजाज को तय करती है | अधिकांश ऑफिसों में ड्रेस को लेकर कोई नियम नहीं होता परन्तु आपको समय और माहौल के हिसाब से अपना पहनावा रखना चाहिए |सबसे बेहतर तो ये होगा की आप फॉर्मल ड्रेस का इसतेमाल करें क्योंकि इस ड्रेस में किसी कंपनी को कोई परेशानी नही होती |

3. इंटरनेट के गलत इस्तेमाल से बचें:
ऑफिस के काम में कई बार हमें इंटरनेट की मदद लेनी पड़ती है। इसका इस्तेमाल सावधानीपूर्वक करना चाहिए| यदि आप कंटेंट डिपार्टमेंट में है तो कोपिराइट का विशेष ध्यान रखें | इंटरनेट पर उपलब्ध सामग्री कों ज्यो का त्यों  इस्तेमाल कर लेना कॉपीराइट का उलंघन करना है| अगर आप कोई कॉपीराइटेड पढ़न सामग्री इस्तेमाल करना चाहते है तो एक बार अपने सीनियर से सलाह जरूर ले|
सोशल नेटवर्किग साइटस जैसे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम का इस्तेमाल करने से बचें |

4. मान्यताए बनाने से बचे:
अगर आपका कोई प्रश्न है तो उसे बेझिझक पूछें| प्रश्न पूछने में कभी भी शर्म महसूस न करे| ऐसा करने से आप ऑफिस के नए माहोल से परिचित हो सकेंगे| किसी भी सहकर्मी के बारे में कोइ मान्यता न बनाये| यदि आपको उसके बारे में कुछ जानना हो तो उसका प्रश्न पूछ कर निवारण करें| यह आपको  अपने सहकर्मियों से सामंजस्य बनाने में मदद करेगा| अकसर ऑफिसों में लोग टीम का माहौल ठीक न होने, सैलरी कम होने, परेशान होकर जॉब चेंज करने की बात करते रहते हैं |आप इन बातों पर ध्यान न दें  सदैव सकारात्मक रहें|

5. संयमित रहें:
खुद को बहुत ज्यादा बढ़ा चढ़ाकर पेश न करें | आप जैसे है वैसे ही रहें | शरुआती दिनों में आपको अपने सहकर्मियों के बारे में जानकारी नही होती है इसलिए उनसे बहुत ज्यादा मज़ाक न करें | पहले उनकी पसंद और नापसंद कों पूरी तरह से जान लें | कई बार आपके बेहतरीन काम से आपके  सहकर्मी भी चिढ़ सकते है और आपको परेशान करने कि प्लानिंग बना सकते है। ऐसे में परेशान होने के बजाय पूरी तरह से काम पर फोकस करें । इस बात का भी ध्यान रखें कि आप अपनी योग्यताओ को बहुत ज्यादा बढ़ा-चढ़ाकर पेश न करें |

6. विनम्र रहें:
नौकरी में ही नही अपने जीवन में भी सदा विनम्र रहें| अपने सहकर्मी तथा अधीनस्थ से विनम्रता से बात करें | नौकरी में सिर्फ आपकी परफोर्मेस ही नही देखी जाती, बल्कि आपके व्यवहार पर भी गौर किया जाता है| यदि आपके स्वभाव से आपके सहकर्मी या अधीनस्थ परेशान हैं तो उनकी परफॉरमेंस में गिरावट होगी जो कि कंपनी के लिए अच्छी बात नही हैं| यदि आपसे कोई गलती हो जाती है तो उसकी जिम्मेदारी  लेने की हिम्मत दिखाएं, ऐसा करने से आप अपने सीनियर्स का भरोसा जीत सकते है | असहमति व्यक्त करने से पहले बॉस या कलिग के मिजाज को समझें | अगर आपकी बात लॉजिकल है तो आपके पास अपनी बात साबित करने के लिए कुछ डाटा या पूरी जानकारी जरुर रखें | असहमति व्यक्त करते समय अपनी भाषा और व्यवहार विनम्र रखें | कोई भी अनुचित शब्द इस्तेमाल न करें |

7. चुप रहना सीखें:
ऑफ़ीस की मीटिंग्स में हमेशा उपस्थित रहें। किसी चीज को समझकर उसके बारे में तुरंत अपनी सही राय पेश करने से अच्छा इंप्रेशन पड़ता है। पर यह बात हमेशा सही नही होती ऑफ़ीस में कई मौकों पर चुप भी रहना पड़ता है। जरूरत से ज्यादा बोलने पर आपकी नेगेटिव छवि बन सकती है। इसलिए सोच-समझकर बोलें |

8. सोशल मीडिया से दूर :

अगर आप पहली बार किसी कंपनी में नौकरी कर रहे हैं तो सोशल मीडिया से दूर रहना चाहिए। सोशल मीडिया पर कंपनी से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी शेयर नहीं करनी चाहिए। विचारों को साझा करते समय सावधानी बरतनी चाहिए। हो सकता है कि आपकी बातों का गलत मतलब निकाल लिया जाए और परेशानी खड़ी हो जाए।

9. आलोचना खुशी-खुशी स्वीकार करें :

किसी प्रोजेक्ट पर आपका काम नहीं पसंद आने पर ऑफिस के लोग या टीम में आपके काम की आलोचना कई बार हो सकती है ऐसी बातों को दिल पर न लें | प्रोफेश्नल रहें और अपनी आलोचना को स्वीकार करें | हमेशा सीखने के लिए तैयार रहें | शुरुआती दिनों में आपको काम कम ही दिया जाएगा, लेकिन काम जल्दी खत्म हो जाने पर खाली अगली चीज का इंतेजार करने के बजाए खुद से पहल करें और काम मांगें | जिस काम को शुरू करना है, उसके लिए अलग से आदेशों का इंतजार न करें। खुद की छवि सेल्फ स्टार्टर की बनाएं। पहले सप्ताह में रिलेक्स रहने के बजाय जिम्मेदारी लें और प्रोएक्टिव काम करें। इससे आपकी प्रशंसा होगी।

निष्कर्स- इस लेख में आपको कुछ ऐसे महत्वपूर्ण टिप्स दिए गए हैं जिनकी मदद से आप आसानी से अपनी नई जॉब की राह काफी आसान कर सकते हैं | क्यूंकि हर ऑफिस में काम करने का तरीका अलग-अलग होता है, अगर आप ने नई जॉब ज्वाइन की है तो आप को ऑफिस में कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा। अगर आप अपनी नौकरी में शुरूआती कुछ दिनों तक अपना शानदार प्रभाव स्थापित कर लेते हैं, तो आपकी सफलता के चांस बढ़ जाते हैं।

Comment ()

Post Comment

7 + 0 =
Post

Comments