Search

बैंक परीक्षा के लिये कैलकुलेशन स्पीड बढ़ाने के 7 प्रभावी तरीके

कभी-कभी आप भी आश्चर्यचकित हो जाते हैं कि कैसे कुछ लोग बिजली की गति से कैलकुलेशन कर सकते हैं। आप भी ऐसा कर सकते हैं यदि आप नियमित रूप किसी तरह की कोचिंग क्लास अटेंड करते हैं। इसमें कोई जादू नहीं है सिर्फ अभ्यास है l

Jun 4, 2019 13:02 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Improve Calculation Speed
Improve Calculation Speed

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बैंकिंग क्षेत्र की नौकरी में संख्याओं और गणना (कैलकुलेशन) का बहुत महत्व है। इसलिए, सभी अन्य वर्गों की तुलना में, मात्रात्मक योग्यता (क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट) सेक्शन का विशेष महत्व है l अन्य वर्गों के अपेक्षा क्वान्टीटेटिव एप्टीटयूट के सवालों का कट ऑफ हमेशा अधिक होता है l

उदाहरण के लिए, 2017 IBPS PO की मुख्य परीक्षा में सामान्य श्रेणी के लिए क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट सेक्शन की कट ऑफ 14.00 अंकों की थी। यह रीजनिंग सेक्शन के लिए निर्धारित कट ऑफ से 3.75 अंक से अधिक थी, जिसके लिए  क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट सेक्शन के समान ही अधिकतम 60 अंक निर्धारित  थे।

कभी-कभी आप महसूस करते होंगे कि पहली पंक्ति में आपके सामने बैठा हुआ व्यक्ति परीक्षा कक्ष में आपकी गणना करने से पहले ही सवालों के जवाब दे देता है। आपको बता दें कि वह इसलिए इतनी जल्दी गणना कर लेता है क्योंकि इसके लिए उसने सही तरीके से होम वर्क तब से किया है जब वह साइंस या कला की गणना में मास्टर्स हासिल कर रहा थी/रही थी।  इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपकी गणना (कैलकुलेशन) की गति में सुधार करने के लिए कुछ सुझाव दे रहे हैं, जो इस प्रकार हैं:

1. बेसिक मजबूत  करें

एक बार जब आप किसी चीज़ जो सीखने का फैसला ले लेते हैं तो आपके दिमाग में अगला सवाल आता है कि शुरूआत  कैसे और कहाँ से की जाए?  यदि आप एक नई भाषा सीखने की कोशिश कर रहे हैं, तो इसके लिए सबसे अच्छी बात यह होगी कि आप अक्षर (अल्फाबेट) से शुरू करें। इसी तरह आप गणित कैलकुलेशन (गणना) की गति में सुधार कर सकते हैं, इसके लिए आपको गणित के चार बुनियादी नियमों के साथ शरुआत करनी होगी,जो इस प्रकार हैं

  • जोड़ (एडीशन)
  •  घटाव
  • गुणा
  • भाग

आप इसे एक बहुत ही बेसिक तरीका कह सकते हैं और यह मान सकते हैं कि आप जैसे वयस्कों के लिए यह एक प्रासंगिक कदम नहीं हो सकता है। लेकिन इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि हर गणितीय समाधान में इन चार बुनियादी गणितीय सिद्धांतो का एक संयोजन होता है और कैलकुलेशन की गति, इसकी गति पर ही निर्भर करती है।

2. गुणन सारणी को कंठस्थ कर लें

बैंक परीक्षा के उम्मीदवार को 20 तक पहाड़ा कंठस्थ होना चाहिए। इसी तरह, आपको 1 से 25 वर्ग मूल्यों (स्क्वायर वैल्यूज) तथा 1 से 20 तक के स्क्वायर रूट को याद रखना बहुत जरूरी है। ये वैल्यूज आपको निकटतम अनुमानों तक पहुंचाने में मदद करते हैं और परीक्षा हॉल में प्रश्नों का जल्दी हल करने में आपकी मदद करते हैं।

इन वैल्यूज को याद करने का सबसे बेहतर तरीका यह है कि इन्हें नोट कर लें और प्रतिदिन कम से कम तीन बार इन्हें लिखें। इसके अलावा, आप कागज के एक टुकड़े पर आरोही और अवरोही क्रम में गुणन सारणी (मल्टीप्लीकेशन टेबल्स) को लिखकर दीवार पर लगा सकते हैं। सुबह उठने के बाद और रात से सोने से पहले कम से कम 5 मिनट तक उन्हें पढ़ने की आदत बना लें। इस तरह के अभ्यास वैज्ञानिक रूप से साबित हो चुके हैं और यह उन लोगों के लिए विशेष लाभदायक है जिनकी याद करने की क्षमता थोड़ी कम है।

3. अपने मानसिक गणित कौशल (स्किल) को तेज करें

गणना (कैलकुलेशन) की गति में सुधार करने के लिए कागज पर अभ्यास करना ही पर्याप्त नहीं है। कई रिसर्च रिपोर्ट में यह साबित हो चुका है कि विज़ुअलाइज़ेशन की तकनीक छात्रों को किसी भी जानकारी को बेहतर तरीके से याद रखने में मदद करती है। जहां तक संभव हो सके छात्रों को मानसिक चित्रण कौशल (विजुअलाइजेशन स्किल) का उपयोग करना चाहिए और गणना करते समय कलम और कागज का उपयोग किए बिना अपने दिमाग में कैलकुलेशन करने की प्रैक्टिस करनी चाहिए।

अपने मानसिक गणित कौशल को बढ़ावा देने के क्रम में, संख्याओं का रेंडमली चयन करें और बेसिक ऑपरेशन (सामान्य कार्य) का ध्यान रखें। आप इस तरह के ऑपरेशन अपने दैनिक जीवन में कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, जब आप क्रिकेट देखते हैं, या एक अखबार में प्रकाशित कंपनी की बैलेंस शीट के आँकड़े पढ़ते है, तो आप नंबरों को देखते हुए दिमाग में मेंटल कैलकुलेशन करते रहे।

SBI PO Syllabus 2018: Detailed Syllabus for Prelims & Mains Exam

4. उचित तकनीक जानें

आपका वर्तमान आपके द्वारा अतीत में किए गए अभ्यास पर निर्भर रहता है। इसी तरह, अगर आप निश्चित दिए गए समय में क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट सेक्शन के प्रश्नों को हल करना चाहते हैं तो आपको उचित तकनीक का पालन करना होगा। उम्मीदवारों को अपनी कैलकुलेशन की गति में सुधार करने तथा समय बचाने के लिए वैदिक गणित द्वारा प्रदत्त की गयी ट्रिक्स और शॉर्ट कट का प्रयोग करना सीखना होगा।

5. एक अनुशासित कार्यक्रम बनाएं

किसी भी उम्मीदवार की सफलता के पीछे अनुशासन सबसे जरूरी कारक होता है। इस चीज पर ध्यान देना जरूरी है कि किस तरह से हम इष्टतम गति से सीख सकते हैं। प्रात:काल के घंटे कैलकुलेशन की गति में सुधार करने और क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट सेक्शन में महारत हासिल करने के लिए सबसे आदर्श होते हैं।

6. स्वयं को चुनौती देना सीखें

कम समय की अवधि में परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको स्वंय को चुनौती देने की कला सीखनी चाहिए। इसी तरह, जिन सवालों का आप अभ्यास कर रहे हैं उनके कठिनाई-स्तर को बढ़ाते रहना चाहिए। हालांकि, यह सुनिश्चित कर लें कि आप अपने अभ्यास का स्तर  धीमी गति से बढ़ाये।

7. सेक्शनल टाइमिंग के अनुसार खुद को तैयार करें

लगभग सभी बैंक भर्ती परीक्षाओ में सेक्शनल टाइमिंग की तकनीक लागू हो चुकी है अर्थात आपको एक सेक्शन को हल करने ले लिये निश्चित समय ही दिया जायेगा। एक बार खंड के लिए दिया गया समय समाप्त हो गया तो आपको फिर से उसके प्रश्नों को हल करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. अतः स्टॉप वाच लगाकर क्वांटीटेटिव एप्टीट्यूट के प्रश्नों की प्रैक्टिस करे।  

उपरोक्त वर्णन के आधार पर सबसे महत्वपूर्ण तत्व यह है कि अभ्यास ही आपकी सफलता को निर्धारित करता है। केवल अभ्यास से ही आप अपनी कैलकुलेशन की गति में आवश्यक सुधार कर सकते हैं। इसमें कोई शक नहीं है आपकी सफलता के रास्तें में कई तरह की आंतरिक या बाहरी बाधाएं भी आ सकती हैं। लेकिन एक निर्धारित समय की अवधि में इन बाधाओ से बाहर निकलने की क्षमता ही भीड़ से एक सफल उम्मीदवार को अलग करती है।

SBI Clerk Exam 2018: Data Interpretation quiz

SBI Clerk 2018: क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड तैयार करने के लिए टॉपिक-वाइज रणनीति

Related Stories