एयर फ़ोर्स में पायलट कैसे बनें? जानें क्या है चयन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड

एयर फोर्स में पायलट बनना कई युवाओं का सपना होता है लेकिन ये इतना आसान नहीं है. इसके लिए बहुत अधिक समर्पण, दृढ़ इच्छाशक्ति और इस चुनौतीपूर्ण एवं आकर्षक भूमिका के लिए साहस आपमें होना चाहिए.

Created On: Feb 26, 2019 10:30 IST
How to Become a Pilot in Air Force? Know Eligibility, Selection Process & Salary Structure
How to Become a Pilot in Air Force? Know Eligibility, Selection Process & Salary Structure

एयर फोर्स में पायलट बनना कई युवाओं का सपना होता है लेकिन ये इतना आसान नहीं है. इसके लिए बहुत अधिक समर्पण, दृढ़ इच्छाशक्ति और इस चुनौतीपूर्ण एवं आकर्षक भूमिका के लिए साहस आपमें होना चाहिए.

एयर फोर्स पायलट को काफी कठिन ट्रेनिंग प्रक्रिया से गुजरना होता है जिसमें फाइटर प्लेन फ्लाइंग के दौरान हवा से हवा में आक्रमण करना होता है. इंडियन एयर फोर्स पायलट की जिम्मेदारी होती है कि दिये गये मिशन को पूरा करे जिसमें दुश्मन के बेस को तबाह करना, सोल्जर्स / सिविलयन्स को बचाना या दोनो शामिल होते हैं. कुछ एक मामलों में एयर फोर्स पायलट को शांति बनाये रखने वाले मिशन में भी लगाया जाता है. हालांकि, ज्यादातर मामलों में इन्हें फायटर जेट के साथ आक्रमण के लिए ट्रेनिंग दी जाती है.

एयर फोर्स में पायलट बनने के लिए कोर्सेस

इंडियन एयर फोर्स में पायलट बनना आसान नहीं है. चार ऐसे तरीके हैं जिनके माध्यम से उम्मीदवाद इंडियन एयर फोर्स में पायलट बन सकते हैं. नेशनल डिफेंस एकेडेमी (एनडीए), कंबाइंड डिफेंस सर्विस एग्जाम (सीडीएसई), एनसीसी इंट्री और शॉर्ट सर्विस कमीशन इंट्री (एसएससी) ऐसे कोर्सेस हैं जिनके माध्यम से एयर फोर्स में फ्लाइंड ऑफिसर के रूप में आपकी इंट्री हो सकती है. इनमें पहले तीन तरीके पर्मानेंट कमीशन हैं जबकि चौथा अस्थायी कमीशन है. 

उम्मीदवार एनडीए 12वीं के बाद ज्वाइन कर सकते हैं. अन्य कोर्सेस के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएट होना जरूरी है.

नेशनल डिफेंस एकेडेमी (एनडीए): एयर फोर्स में फ्लाइंग ब्रांच ज्वाइन करने के लिए, उम्मीदवारों को एनडीए की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है. एनडीए परीक्षा यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (यूपीएससी) द्वारा आयोजित की जाती है.  एनडीए परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को एनडीए में तीन वर्षीय ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है जिसके बाद एयर फोर्स ट्रेनिंग इस्टैब्लिश्मेंट्स में ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. ट्रेनिंग के बाद उम्मीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स के रूप में कमीशन या इंडियन एयर फोर्स स्टेशन में पायलट के रूप नियुक्ति दी जाती है.

कंबाइंड डिफेंस सर्विस एग्जामिनेशन (सीडीएसई): एनडीए के अतिरिक्त यूपीएससी सीडीएससई परीक्षा का भी आयोजन करता है जिसके माध्यम से भी पुरुष उम्मीदवार पायलट बन सकते हैं. सीडीएस परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को इंडियन मिलिट्री एकेडमी/इंडियन नेवल एकेडमी/एयर फोर्स एकेडमी में दाखिला दिया जाता है. एनडीए ट्रेनिंग की तरह ही ट्रेनिंग के बाद उमीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स की नियुक्ति दी जाती है या एयर फोर्स स्टेशन में पायलट के रूप में नियुक्ति दी जाती है.

नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) स्पेशल इंट्री: अब बात आती है एनसीसी स्पेशल इंट्री की, जो कि सिर्फ पुरूष उम्मीदवारो के लिए है. जिनके पास एयर विंग सीनियर डिविजन का ‘सी’ सर्टिफिकेट होता है उन्हें नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) स्पेशल इंट्री के लिए योग्य माना जाता है. नियुक्ति डायरेक्टोरेट जनरल नेशनल कैडेट कॉर्प्स या संबंधित एनसीसी एयर स्क्वाड्रन के माध्यम से दी जाती है. यह एक स्पेशल इंट्री स्कीम है जिसमें उम्मीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स के रूप में नियुक्ति दी जाती है.

एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी): एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) महिला एवं पुरुष दोनो ही उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध होता है. इस टेस्ट का आयोजन इंडियन एयर फोर्स द्वारा 14 वर्षों के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन में नियुक्ति देने के लिए किया जाता है. इस माध्यम से उम्मीदवारों का चयन टेक्निकल ब्रांचेस एवं ग्राउंड ड्यूटी ब्रांचेस के लिए किया जाता है. इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है.

एयर फोर्स में पायलट कैसे बनें? इस वीडियो से जानें क्या है चयन प्रक्रिया, सैलरी और योग्यता मानदंड

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए योग्यता मानदंड

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए उम्मीदवारों को भारत का नागरिक होना चाहिए.

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

एनडीए परीक्षा के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों को फिजिक्स और मैथमेटिक्स विषयों के साथ 12वीं पास होना चाहिए.

सीडीएस परीक्षा, एनसीसी स्पेशल इंट्री और एएफसीएटी के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएट होना चाहिए. इंजीनियरिंग डिग्री वाले उम्मीदवार भी सीडीएस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

आयु सीमा

एनडीए परीक्षा के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 16-1/2 से 19 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

सीडीएस परीक्षा, एनसीसी स्पेशल इंट्री और एएफसीएटी के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 20 से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

एयर फोर्स पायलट को मिलने वाली सैलरी और अन्य एलाउंसेस

फ्लाइंग ऑफिसर या इंडियन एयर फोर्स पायलट की सैलरी पे-बैंड के आधार पर निर्धारित होती है. मूल वेतन पे-बैंड3 रु.15600-39100 होता है. इसके अतिरिक्त ग्रेड पे रु.5400 प्रति माह दिया जाता है, मिलिट्री सर्विस पे रु.6000 प्रति माह, डियरनेट एलाउंस रु.21,600 प्रति माह है, किट मेंटेनेंस एलाउंस रु.500 प्रति माह और ट्रांसपोर्ट एलाउंस रु.3200+डीए (प्रमुख शहरों में) / रु.1600 + डीए (दूसरे शहरों में) भी दिया जाता है. फ्लाइंग ब्रांच ऑफिसर्स को अन्य एलाउंसेस में रु.11250 प्रति माह दिया जाता है. कुल मिलाकर नये रिक्रूट फ्लाइंग ऑफिसर को, छठे वेतन आयोग के अनुसार, रु.66,110 प्रति माह दिया जाता है. सर्विस में अनुभव एवं प्रमोशन के बाद सैलरी पे-बैंड 4 में रु.1.5 लाख तक हो जाती है.

लेटेस्ट एयर फोर्स जॉब्स

---

टॉप डिफेंस जॉब्स

रक्षा मंत्रालय में 125 LDC, फायरमैन, ट्रेड्समैन मेट, मटेरियल असिस्टेंट पदों के लिए अधिसूचना जारी

रक्षा मंत्रालय में फायरमैन पदों की निकली वेकेंसी, जल्द करें आवेदन

मिनिस्ट्री ऑफ़ डिफेन्स के अंतर्गत जूनियर रिसर्च फेलो पदों के लिए करें आवेदन

रिपब्लिक डे पर इंडियन आर्मी में करें अप्लाई, JAG एवं NCC इंट्री स्कीम के तहत हो रही है भर्ती

आर्मी रिक्रूटमेंट रैली तेजपुर के लिए - ऑनलाइन आवेदन; सोल्जर पदों पर भर्ती

इन्डियन नेवी में एग्जीक्यूटिव/ एजूकेशन ब्रांच में एसएससी अधिकारियों के 38 पदों पर भर्ती

नेवी में एग्जीक्यूटिव/ टेक्निकल ब्रांच में 108 ऑफिसर्स के पदों पर आवेदन

DGQA CQAE (नौसेना), सिकंदराबाद में स्टेनोग्राफर एवं सुप्रीटेंडेंट पदों के लिए करें आवेदन

एयर फोर्स में पायलट कैसे बनें? जानें क्या है चयन प्रक्रिया, सैलरी और योग्यता मानदंड

आर्मी में मेजर कैसे बनें?

एयर फोर्स में पायलट कैसे बनें?

रक्षा सेनाओं में महिलाओं के लिए कौन-कौन से हैं मौके?

इंडियन नेवी में महिलाओं के लिए कौन-कौन से हैं मौके?

 

Comment (0)

Post Comment

3 + 9 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.