Search

लीक से हटकर सोचते हुए कॉलेज स्टूडेंट्स कैसे बने और क्रिएटिव ?

लीक से हटकर सोचने का मतलब ऐसे  विचार पेश करना है जो अनोखे हों और किसी खास स्थिति में पहले कभी पेश नहीं किये गए हों. यहां कुछ ऐसे तरीके पेश हैं जिनकी सहायता से छात्र अपनी रचनात्मकता को बढ़ा सकते हैं और लीक से हट कर सोच सकते हैं.

Mar 12, 2018 15:33 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
How to think out of the box
How to think out of the box

अल्बर्ट आईंस्टाइन की एक प्रसिद्ध कहावत है, "रचनात्मकता वह सब देखना है जो हर किसी ने देखा है, और वह सब सोचना है जो किसी अन्य व्यक्ति ने नहीं सोचा है." किसी भी चीज को ऐसे तरीके से देखने की क्षमता, जिस तरीके से उस चीज को अधिकांश लोग नहीं देख पाते हैं; वास्तव में यही रचनात्मकता है. आजकल के जमाने में यह एक सच्चाई है कि, 'आज के कार्यबल में रचनात्मकता सबसे ज्यादा वांछित कौशल है.’ आपने अक्सर लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि आपको लीक से हटकर सोचना चाहिए. लेकिन, यह लीक से हटकर सोचना आखिर है क्या ?  खैर, लीक से हटकर सोचने का मतलब ऐसे  विचार पेश करना है जो अनोखे हों और किसी खास स्थिति में पहले कभी पेश नहीं किये गए हों. यदि आपको ऐसा विश्वास है कि, 'यह तो बहुत आसान है' तो फिर, आप अभी कठोर वास्तिवकता से अनजान हैं.

इंटरनेट के इस युग में, आप देखेंगे कि लगभग हर वह विचार जो आप सोचते हैं, किसी व्यक्ति द्वारा आपसे पहले ही विश्व के किसी कोने में पेश किया जा चुका है. आज से पहले कभी भी हमारे पास  रचनात्मक समाधानों की इतनी कमी नहीं थी, जैसी आजकल के जमाने में है. लेकिन, कार्यबल में रचनात्मक पेशेवरों की बढ़ती हुई मांग के साथ ही अब यह हमारे लिए काफी जरूरी हो गया है कि हम लीक से हटकर सोचना शुरू करें. इसलिए, इस आर्टिकल में हमने कुछ ऐसे तरीकों की चर्चा की है जिससे कॉलेज स्टूडेंट्स इस प्रक्रिया के बारे में अच्छी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

यहां कुछ ऐसे तरीके पेश हैं जिनकी सहायता से छात्र अपनी रचनात्मकता को बढ़ा सकते हैं और लीक से हट कर सोच सकते हैं.

सब तरह के आर्टिकल और विषय पढ़ें

आप यह जानकर हैरान होंगे कि विभिन्न विषय और कोर्स आपस में कैसे बहुत अच्छी तरह जुड़े हुए हैं. यदि आप अपनी वैचारिक प्रक्रिया को बढ़ाने चाहते हैं तो विभिन्न विषय और आर्टिकल अवश्य पढ़ें. फ़िल्मी प्रशंसा से लिंग अध्ययन और भौतिकी विषय से गणित को जोड़कर देखें. इस तरह आप अनोखे  विचार सोच सकते हैं. जैसे हम सब यह बहुत अच्छी तरह जानते हैं कि, जब नये विचारों और डिज़ाइन्स की बात आती है तो असंख्य क्रमपरिवर्तन और संयोजन संभव हो सकते हैं.

बिलकुल शुरू से करें शुरूआत

जैसे शतरंज में, आप एक छलांग लगाने के लिए कभी-कभी कुछ कदम पीछे की तरफ उठाते हैं, इस मामले में भी यही बात सही है. अगर आपको लगता है कि आप कोई भी नया विचार सोच नहीं पा रहे हैं तो फिर, आपके लिए नये सिरे से शुरुआत करना सबसे अच्छा रहेगा. मान लीजिए कि आप एक निबंध लिख रहे हैं लेकिन आप इससे संतुष्ट नहीं हैं तो आप इस निबंध को फिर से लिखने का प्रयास करें और देखें कि क्या आप अपने निबंध में कुछ नए विचार या कोई नया नजरिया शामिल कर सकते हैं या नहीं? इस कार्य में एक छोटी सी झपकी भी आपकी काफी मदद कर सकती है. अक्सर नींद आपके दिमाग को आराम करने में मदद देती है. इसलिये, जब आप जागते हैं तो आप एक नए और बेहतर नजरिये से स्थितियों या विषयवस्तु को देख सकते हैं.

अपने प्रेरणास्रोत की करें तलाश

उन कार्यों या बातों को समझें जो आपको प्रेरणा देती हैं और फिर उन्हें बार-बार तब तक करने की कोशिश करते रहें जब तक वह कार्य करना आपकी नियमित आदत नहीं बन जाता है. ये कार्य संगीत सुनना, पुस्तक पढ़ना या स्केचिंग जैसा कोई भी कार्य हो सकता है. आप कसरत या योग करने की भी कोशिश कर सकते हैं क्योंकि ये आपके दिमाग को आराम करने में मदद देते हैं. आप अपने समकालीन उन महान लोगों के आर्टिकल या रचनायें भी पढ़ सकते हैं, जो आपको प्रेरणा देते हैं लेकिन, ऐसे लोगों की पूरी नकल उतारने की कोशिश कभी न करें.

अपने विचारों को नोट करें

जब भी आपके मन में कोई नया विचार आये तो आप सुनिश्चित करें कि आप इस विचार को अवश्य कहीं लिखकर रख लें ताकि बाद में जरूरत पड़ने पर आप इस विचार से प्रेरणा प्राप्त कर सकें. बहुत  बार हम किसी बारे में सोचते हैं और ऐसा मान लेते हैं कि हम इस विचार को अवश्य याद रखेंगे. हालांकि, ऐसा होता नहीं है और हमारी लापरवाही के कारण एक बहुत अच्छी योजना खो जाती है. इससे बचने के लिए, किसी नये विचार को किसी रूप में सहेजना हमेशा बेहतर होता है. उदाहरण के लिए, यदि आप एक संगीतकार हैं और आपके दिमाग में कोई नयी धुन आई है तो इसे अपने स्मार्टफोन पर रिकॉर्ड कर लें ताकि जब आप वास्तव में गाना बनाने के लिए बैठें  तो आपके पास शुरू करने के लिए कोई धुन तो हो.

प्रत्येक दिन कुछ नया बनाने का प्रयास करें

जैसेकि एक मशीन को नियमित रूप से काम करने की स्थिति में रखने के लिए उस मशीन से निरंतर काम लेना पड़ता है ताकि उस मशीन के किसी भी हिस्से में जंग न लगे. ठीक उसी तरह आपके दिमाग को भी नियमित आधार पर रचनात्मकता की प्रैक्टिस करने की आवश्यकता होती है ताकि यह रचनात्मकता उसकी आदत और प्राकृतिक प्रतिक्रिया बन जाए. एक कलाकार के रूप में तो आपके लिए  हर दिन कुछ नया बनाना बहुत ज़रूरी है क्योंकि अगर घटनाएँ या कार्य आपके सोचने के अनुकूल न भी हों, तो भी वे आपको प्रेरणा देंगे और आपको बहुत से अन्य रचनात्मक विचार मिलेंगे जो अन्य प्रोजेक्ट्स के लिए कारगर सिद्ध होंगे.

नियमित अंतराल पर लें ब्रेक

नियमित अंतराल पर ब्रेक लेना कड़ी मेहनत करने की तरह ही आवश्यक होता है क्योंकि ये ब्रेक आपके दिमाग को शांत करने में मदद देते हैं जिससे आप एक बार फिर, अधिक स्पष्टता से सोचने के लिए तैयार हो जाते हैं. जब तक आपका दिमाग विभिन्न विषयों के संबंध में सोचता रहता है और कई अलग-अलग दिशाओं में घूमता रहता है, तब तक आप कभी भी अपनी मौजूदा समस्या के बारे में महान विचार नहीं सोच पाते हैं. इसलिये, अपने दिमाग को शांत करने और अपने विचारों को उपयोगी बनाने वाली एक्टिविटीज को आज़माएं.

रचनात्मक लोगों के साथ रहें

आपके लिए रचनात्मक विचार प्रस्तुत करने में सक्षम होने के लिए यह काफी महत्वपूर्ण है कि आपके आस-पास प्रेरणास्रोत मौजूद हों. यही कारण है कि आप जिस तरह की संगति में रहते हैं, वह आपके व्यक्तित्व को काफी प्रभावित करती है. ऐसे लोगों के साथ रहें या किसी ऐसे समूह के साथ काम करें जो रचनात्मक सोच रखते हों. रचनात्मक लोगों के साथ रहने से आपकी कल्पना को बढ़ावा मिलेगा.

अंतिम कथन

आज के कॉर्पोरेट वातावरण में बौद्धिक संपदा को भौतिक संसाधनों की तुलना में कहीं अधिक महत्व दिया जाता है. इसलिए किसी रचनात्मक सोच वाले कर्मचारी की जरूरत हर संगठन को रहती है. यह कोई ऐसा  व्यक्ति हो सकता है, जिसके पास समस्याओं का रचनात्मक समाधान हो और विकास और उन्नति के संबंध में उसके अपने उम्दा विचार हों. नए विचार पेश करना इतना भी मुश्किल नहीं है, यदि आपको यह पता हो कि यह काम आप सही तरीके से कैसे कर सकते हैं? इसलिए, उच्च कौशल स्तर और नई सोच के कारण ही छात्रों को लीक से हटकर सोचने की सीख दी जाती है. हमें उम्मीद है कि उक्त टिप्स का पालन करके आप भी लीक से हटकर सोचने की क्षमता विकसित कर सकते हैं क्योंकि आजकल आपके आस-पास हर व्यक्ति आपसे ऐसी ही अपेक्षा रखता है. कॉलेज लाइफ पर ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलावा, आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं.

Related Stories