Jagran Josh Logo

कैसे चुने IAS परीक्षा में वैकल्पिक विषय ?

Jul 2, 2018 12:02 IST
  • Read in English
IAS Exam 2018: How to choose right Optional for Main Exam?
IAS Exam 2018: How to choose right Optional for Main Exam?

केंद्रीय लोक सेवा आयोग (UPSC) हर वर्ष सिविल सेवा परीक्षा के लिए अधिसूचना जारी करता है. पिछले कुछ वर्षों में, IAS मुख्य लिखित परीक्षा में एक वैकल्पिक विषय,चार सामान्य अध्ययन  प्रश्न पत्र और एक निबंध प्रश्न पत्र शामिल हैं. दो सामान्य भाषा के प्रश्न पत्र भी होते हैं परन्तु उनके अंक अंतिम मेरिट के लिए नहीं जुड़ते.

वैकल्पिक विषय के लिए सिर्फ 500 अंक ही निर्धारित हैं जो की पूर्ण परीक्षा के अंकों के लगभग 25% ( IAS परीक्षा के पूर्ण अंक 2025 हैं) ही हैं परन्तु वैकल्पिक विषय में अर्जित अंक ही IAS परीक्षा में सिलेक्शन सुनिश्चित कर सकते हैं. वैकल्पिक विषय के अंक ही ,निबंध और सामान्य अध्ययन से जुड़ी अनिश्चितता के कारण, अंतिम चयन में निर्णायक भूमिका निभाते है.

IAS Toppers के सुझाव

हर वर्ष के IAS Toppers के अंक देखने पर ये भली भांति ज्ञात होता है की बिना वैकल्पिक विषय में अच्छे अंक लाये, IAS परीक्षा में सिलेक्शन संभव नहीं है, टॉप करना तो और भी ज्यादा मुश्किल है . सामान्य अध्ययन में तो सभी IAS अभ्यर्थी एक सामान नंबर ही अर्जित कर पाते हैं इसलिए भी वैकल्पिक विषय, IAS Exam में सिलेक्शन का, सबसे महत्वपूर्ण घटक है.
अब प्रश्न ये है की वैकल्पिक विषय चुनते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. आज यहां हम इसी विषय पर यह लेख प्रस्तुत कर रहे है, आशा है आपके लिए उपयोगी होगा . IAS उम्मीदवारों के लाभ के लिए, जागरण जोश एक उपयोगी चेकलिस्ट प्रदान कर रहा हैं जो सही वैकल्पिक विषय को चुनने में मदद कर सकती है।

शैक्षिक पृष्ठभूमि 

शैक्षिक पृष्ठभूमि वैकल्पिक चयन में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अपनी शैक्षिक पृष्ठभूमि से जुड़े हुए वैकल्पिक प्रश्न का चयन करने के बहुत से फायदे हैं. जैसे की उस विषय से जुड़े हुए विचारकों के बारे में पहले से ही जानकारी होती है . विषय से जुड़े हुए छोटे से छोटे टॉपिक के बारे में भी पता होता है तथा उनकी जानकारी के लिए उत्तम संसाधन का भी ज्ञान होता है .
विषय से जुडी हुईं सबसे अच्छी पुस्तकों के बारे में पहले से ही ज्ञान होता है . साथ ही साथ उस विषय को आपके कॉलेज के अध्यापकों ने अच्छी तरह से आपको पढाया भी होता है. आप बहुत अधिक समय और ऊर्जा बचा सकते हैं। चूंकि मुख्य परीक्षा में पूछे गए प्रश्न स्नातक स्तर के ही होते हैं, जिसके कारण कोचिंग की आवश्यकता बहुत कम हो जाती है. यदि आप अपने शैक्षणिक विषयों के साथ सहज नहीं हैं, तो आपके अपनी रूचि के आधार पर वैकल्पिक चयन करना चाहिए।

रूचि

सही वैकल्पिक चुनने का अगला सर्वोत्तम तरीका है की आप अपनी रूचि के आधार पर ही वैकल्पिक विषय का चयन करें। गणित या सामान्य विज्ञान की पृष्ठभूमि के बावजूद, हम पाते हैं कि कई लोग मनोविज्ञान, साहित्य, इतिहास, राजनीति विज्ञान, लोक प्रशासन आदि जैसे मानविकी जैसे विषयों की ओर झुकाव रखते हैं। अपनी रुचि के विषय चुन कर आप तेजी गति से पढ़ाई कर सकते हैं। हालांकि, इच्छुक उम्मीदवारों को केवल शैक्षिक पृष्ठभूमि या रुचि के क्षेत्रों के आधार पर मुख्य परीक्षा के लिए वैकल्पिक नहीं चुनना चाहिए। सही वैकल्पिक विषय चुनने के लिए विचार किए जाने वाले अन्य महत्वपूर्ण कारकों को नीचे दिया गया है।

IAS की परीक्षा के लिए इंडिया ईयर बुक कैसे पढ़ें?

सबसे अधिक स्कोरिंग

अधिकांश उम्मीदवार मुख्य परीक्षा में अंकों के आवंटन में 'स्केलिंग' की भूमिका से अज्ञात हैं। हालांकि, हम अक्सर यह सुनते हैं कि एक विशेष वैकल्पिक विषय के उम्मीदवार, परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद दो अंकों में ही अंक प्राप्त कर सके हैं। कुछ लोग इसे एक विशेष वर्ष में प्रश्नपत्र के उच्च मानक से जोड़ के देखते हैं। उम्मीदवारों को उन विकल्पों का चयन करने की सलाह दी जाती है जिनके साथ हाल के वर्षों में कई उम्मीदवारों ने परीक्षा को उत्तीर्ण किया है . सिविल सेवा परीक्षा 2013, 2014 और 2015 के लिए विभिन्न वैकल्पिक विषयों में सफल उम्मीदवारों का वितरण हम यहाँ दर्शा रहे हैं । यह आंकड़े UPSC की वार्षिक रिपोर्ट से लिए गए हैं और हमने इसे कम से कम 200 उम्मीदवारों द्वारा चुने गए वैकल्पिक  विषयों के लिए लिया है। इसका मतलब  यह है कि हमने सिर्फ उन विषयों का चयन किया है जिसमे कम से कम 200 IAS अभ्यर्थियों ने IAS मुख्य परीक्षा दी थी .

S.No.

Optional Subject

 Success Rate (Percent)

2014

2013

1.

Law

17.0%

 24.3%

2.

Medical Science

19.9%

16.4%

3.

Psychology

15.8%

9.8%

4.

Economics

12.1%

20.2%

5.

Anthropology

11.0%

11.8%

6.

Sociology

10.6%

9.1%

7.

Commerce &Accountancy

10.3%

7.5%

8.

Mathematics

10.0%

6.1%

9.

Geography

7.3%

5.6%

10.

Philosophy

7.0%

7.9%

11.

History

6.5%

7.7%

12.

Political Science & International Relations

6.3%

6.1%

13.

Literature of Hindi Language

5.4%

4.2%

14.

Public Administration

5.3%

6.2%

इसी प्रकार हम यह आंकड़ा भी दे रहे हैं की किस विषय से कितने अभ्यर्थियों ने IAS की परीक्षा उत्तीर्ण की है.

Optional Subject

                  CSE 2014

               CSE 2013

Appeared

Recommended

Appeared

Recommended

Law

235

40

144

35

Medical Science

356

71

293

48

Psychology

373

59

348

34

Economics

214

26

188

38

Anthropology

619

68

449

53

Sociology

1819

193

1647

150

Commerce & Accountancy

214

22

200

15

Mathematics

351

35

329

20

Geography

3515

255

3158

178

Philosophy

908

64

736

58

History

1560

102

1303

100

Political Science & International Relations

907

57

651

40

Literature of Hindi Language

407

22

284

12

Public Administration

2852

151

2840

176

मार्गदर्शन की उपलब्धता

अगर एक वैकल्पिक विषय में आपकी रुचि काफी अधिक है की आप उसे IAS मुख्या परीक्षा के लिए ले सकते हैं और जिसका हाल के वर्षों में प्रदर्शन भी अच्छा रहा है, तो भी आपको अंतिम निर्णय लेने से पहले उस विषय से जुड़े हुए मार्गदर्शन की उपलब्धता के बारे में पता कर लेना चाहिये। वैकल्पिक विषय को चुनने से पहले, उसकी अध्ययन सामग्री की उपलब्धता और चयनित अभ्यर्थियों से  मार्गदर्शन तथा अच्छी कोचिंग के बारे में भी पता कर लेना चाहिए। याद रखें, तैयारी अकेले रहकर तथा दुनिया से अलग रहकर नहीं की जा सकती है और परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करने के लिए उस विषय से जुड़े टॉपिकों पर परिचर्चा करने की आवश्यकता सकते हैं ।

निष्कर्ष

उपर्युक्त घटकों को ध्यान में रखते हुए आपको कम से कम 2-3 वैकल्पिक विषयों को चुनना चाहिए जो आपके लिए सबसे उपयुक्त हैं। अगले चरण में, प्रत्येक और हर वैकल्पिक के लिए बिन्वार तरीके से उससे जुड़े हुए हर एक पहलु पर विवहार करें  और अंत में सही वैकल्पिक विषय का चुनाव करें ।

शुभकामनाएं!

IAS परीक्षा की तैयारी शुरू करने का आदर्श समय

न्यू इंडिया की कहानी

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
X

Register to view Complete PDF