Search

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में स्पेशलिस्ट ऑफिसर्स के लिए प्रमोशन पालिसी

यदि आप कड़ी मेहनत करने के इच्छुक हैं और आप किसी भी उद्योग में आगे बढ़ सकते हैं। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में अपने संबंधित क्षेत्रों में विशेषज्ञ अधिकारियों के विकास के लिए एक विशिष्ट कैरियर मार्ग है।

Dec 7, 2017 18:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Promotion Policy for Specialist officer in banks.
Promotion Policy for Specialist officer in banks.

बैंकिंग क्षेत्र में कैरियर को हमेशा भारतीय युवाओं के बीच सबसे आकर्षक और स्थायी विकल्प माना जाता है। केंद्र सरकार ने प्रधान मंत्री जन-धन योजना जैसी योजनाओं के माध्यम से बैंकिंग क्षेत्र की कार्यक्षमता और नेटवर्क को बढ़ाने के लिए दबाव बनाया है और इस क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित किया है। निजी क्षेत्र से बढ़ती प्रतिस्पर्धा के साथ, एसबीआई(SBI), बैंक ऑफ बड़ौदा आदि जैसी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने अपने परिचालन तथा रोजाना के कार्यो में में विविधता लाने शुरू कर दिए हैं और विभिन्न बैंकिंग कार्यों को कवर करने के लिए यूनिवर्सल बैंकिंग की अवधारणा को अपना  लिया है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने इन विशेष बैंक नौकरियों को संभालने के लिए विशेषज्ञ अधिकारियों को जिम्मेदारी देते  है, जिनके लिए विशिष्ट कौशल सेट और फ़ोकस की आवश्यकता होती है। भारत में सामान्य रूप से , सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक निम्नलिखित क्षेत्रों में विशेषज्ञ अधिकारियों (स्पेशलिस्ट ऑफिसर्स)की भर्ती करते हैं:

  • वित्तीय विश्लेषक (सीए सहित)
  • कंपनी सचिव (Company Secretary)
  • विदेशी मुद्रा (Forex)
  • अर्थशास्त्री
  • कानून
  • आर्किटेक्ट्स / सिविल इंजीनियर
  • मानव संसाधन (HR/Personnel Officer)
  • विपणन बिक्री (Marketing Officer)
  • सुरक्षा
  • जोखिम प्रबंधन (Risk Management)
  • सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी)
  • डीलर (Integrated Treasury)
  • राजभाषा अधिकारी
  • कृषि क्षेत्र अधिकारी (Agricultural Field Officer)

आरबीआई असिस्टेंट की जॉब प्रोफाइल और प्रोमोशन पॉलिसी

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, पूर्वोल्लिखित भूमिकाओं के लिए अधिकारियों की भर्ती के लिए अलग आईबीपीएस द्वारा आयोजित विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा के माध्यम से करते हैं। सबसे प्रसिद्ध कैरियर विकल्पों में से एक होने के बावजूद, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विशेषज्ञ अधिकारियों की नौकरी के बारे में ज्यादा अवेयर  नहीं है। इसके पीछे मुख्य कारण यह है कि विशेषज्ञ अधिकारी की नौकरी की जिम्मेदारियों में भिन्नता है और इसीलिए आईबीपीएस विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षाएं बैंक पीओ और बैंक क्लर्क परीक्षा से अलग आयोजित की जाती हैं तथा इस परीक्षा का पैटर्न और पाठ्यक्रम भी अन्य बैंकिंग परीक्षाओ से अलग है. बैंक विशेषज्ञ अधिकारियों के संबंध में प्राप्त सामान्य प्रश्नों या क्वेरी में से एक, कैरियर की संभावनाएं और पदोन्नति नीति रही है। नीचे, हम इन पहलुओं पर चर्चा करेंगे:

NABARD Assistant Manager Grade ‘A’ Exam: Previous Year Question Paper

बैंक अधिकारियों के लिए पदोन्नति नीति:

सामान्य तौर पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अपने अधिकारियों के प्रमोशन के लिए  दो चैनल को अपनाते है। ये दो चैनेल है; वरिष्ठता के आधार पर प्रमोशन और योग्यता के आधार पर प्रमोशन । प्रमोशन नीचे दिए गए तालिका में स्केल के आधार पर किया जाता है:

Scale

Promotion Channel

Minimum Experience

Maximum Relaxation in terms of Years

Minimum Length of Service

जेएमजी स्केल - I से एमएमजी स्केल -II

(JMG Scale – I to MMG Scale –II)

नार्मल/सेनिओरिटी

5

1

NA

जेएमजी स्केल - I से एमएमजी स्केल -II

JMG Scale – I to MMG Scale -II

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

NA

एमएमजी स्केल - II से एमएमजी स्केल- III

MMG Scale – II to MMG Scale – III

नार्मल/सेनिओरिटी

5

1

NA

एमएमजी स्केल - II से एमएमजी स्केल- III

MMG Scale – II to MMG Scale – III

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

NA

एमएमजी स्केल - III से एसएमजी - IV

MMG Scale – III to SMG – IV

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

NA

एसएमजी स्केल - IV से एसएमजी – V

(SMG Scale – IV to SMG – V)

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

12

स्केल - V से स्केल - VI

Scale - V to Scale - VI

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

15

स्केल - VI से स्केल – VII

 

(Scale - VI to Scale – VII)

मेरिट/फ़ास्ट ट्रैक

3

1

18

 आरबीआई असिस्टेंट: वेतन, भत्ते व अन्य सुविधाएं

विशेषज्ञ बैंक अधिकारियों के लिए पदोन्नति नीति:

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में विशेषज्ञ अधिकारियों के लिए पदोन्नति नीति सामान्य अधिकारी के समान उसी लाइन पर डिज़ाइन की गई है। हालांकि, विशेषज्ञ अधिकारी को प्रमोशन के लिए नीचे दिए गए विशिष्ट पात्रता मानदंडों को पूरा करने की आवश्यकता होती है ।

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के विशेषज्ञ अधिकारी को मुख्य धारा कैडर में शामिल होने के योग्य होने के लिए अपनी विशिष्ट कैडर या फील्ड में न्यूनतम अनिवार्य सेवाकाल अर्थात कम से कम 5 वर्ष पूरा करना आवश्यक है।
  • मुख्यधारा के कैडर में शामिल होने के बाद, उन्हें दोबारा पदोन्नति के पात्र होने के लिए फील्ड ऑपरेशन में दो साल का अनुभव की आवश्यकता होती है।
  • विशेषज्ञ बैंक अधिकारियों को ग्रामीण क्षेत्रों में न्यूनतम अनिवार्य सेवा 2 साल से छूट प्रदान की गई है।
  • उपरोक्त शर्तों को पूरा करने के बाद, विशेषज्ञ अधिकारियों को मुख्य धारा कैडर में शामिल होने की अनुमति दी जाती है और उपरोक्त तालिका में वर्णित पात्रता और अनुभव के अनुसार पदोन्नति भी दी जाती  हैं।

यदि कोई विशेषज्ञ अधिकारी जेएमजी स्केल I से अधिक के स्केल पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ज्वाइन करता है, तो सेवा की आवश्यकता की न्यूनतम पात्रता उपर्युक्त तालिका के अनुसार लागू होगी I उदाहरण के लिए, यदि कोई अधिकारी स्केल II में प्रवेश करता है, तो स्केल IV से स्केल V तक पदोन्नति के लिए सेवा की न्यूनतम लंबाई 12 वर्ष की बजाय 9 साल होगी।

क्या सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अपने कर्मचारियों के साथ लाभ का साझा करते हैं?

IBPS PO मैन्स 2017: विस्तृत परीक्षा विश्लेषण

Related Stories