ये हैं इंजीनियरिंग कॉलेजों में एग्जाम स्ट्रेस से बचने के कारगर टिप्स

एग्जाम के दिनों में सभी कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज़ और इंजीनियरिंग कॉलेजों में स्टूडेंट्स काफी स्ट्रेस में होते हैं. लेकिन स्टूडेंट्स और इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स कुछ कारगर टिप्स अपनाकर एग्जाम के दिनों में स्ट्रेस से बच सकते हैं. इस आर्टिकल में आपके लिए कुछ ऐसे ही कारगर टिप्स दिए जा रहे हैं.  

Created On: Dec 9, 2019 13:12 IST
Surviving the exam stress in engineering colleges
Surviving the exam stress in engineering colleges

अक्सर एग्जाम के दिनों में सभी स्टूडेंट्स अनावश्यक स्ट्रेस के शिकार हो जाते हैं. हमारे देश के इंजीनियरिंग कॉलेज के स्टूडेंट्स भी एग्जाम दिनों के स्ट्रेस से अछूते नहीं हैं. यह भी हम सभी अच्छी तरह से जानते हैं कि स्ट्रेस की वजह से हम अपनी काबिलियत का पूरा इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं और कभी-कभी तो काफी मेहनत करने के बावजूद एग्जाम स्ट्रेस की वजह से हम उस एग्जाम में फेल हो जाते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि आप इस एग्जाम स्ट्रेस से बच सकते हैं? जी हां! इस आर्टिकल में हम आपके लिए कुछ ऐसे कारगर टिप्स पेश कर रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने एग्जाम्स में अपनी बेस्ट परफॉरमेंस दे सकते हैं और इतना ही नहीं, ये कारगर टिप्स आपको अपने हरेक एग्जाम में स्ट्रेसफ्री रहकर सफल बनाने के लिए बहुत उपयोगी साबित होंगे.

स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम्स के दिनों में स्ट्रेस से बचने के ये हैं खास टिप्स

स्ट्रोंग स्टडी शेड्यूल रहता है फायदेमंद

एग्जाम्स के लिये अपनी तैयारी शुरू करने से पहले यदि आप अपने लिए एक बढ़िया-सा स्टडी शेड्यूल बना लें तो आपके यह बहुत अच्छा रहेगा. शेड्यूल बनाते समय आप इस बात का भी खास ख्याल रखें कि एग्जाम शुरू होने से पहले आपके पास कितने दिन शेष है और इन दिनों में आपको अपना कितना सिलेबस कवर करना है. एक बार स्टडी शेड्यूल बन जाने के बाद चाहे कैसी भी मुसीबतें आयें लेकिन आप अपने स्टडी शेड्यूल को अवश्य फ़ॉलो करें. यदि आपने अपने लिए एक सूटेबल स्टडी शेड्यूल बनाया है तो आपको उसे फ़ॉलो करने में ज्यादा कठिनाई नहीं होगी.

अपने एग्जाम प्रिपरेशन टारगेट्स करें निर्धारित

अपना स्टडी शेड्यूल बनाते समय वास्तविक टारगेट्स सेट करना ही सफलता की कुंजी है. यदि आप निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरे किये जाने वाले कार्यों से अधिक कार्यों का भार अपने ऊपर उठा लेते हैं तो नतीजतन आप निर्धारित समय सीमा के भीतर वे कार्य पूरे नहीं कर पायेंगे या आसान शब्दों में कहें तो आप अपने स्टडी शेड्यूल को फ़ॉलो नहीं कर पायेंगे. अगर आप एक बार ऐसा करने में विफल हो जाते हैं तो निराशा और अवसाद आपको घेर लेंगे जिससे आप अपनी पढ़ाई पर फोकस नहीं कर पायेंगे. बेहतर होगा कि अपनी क़ाबलियत और शक्ति के बारे में स्पष्ट समझ रख कर ही आप उनके अनुसार अपना स्टडी शेड्यूल बनायें.

12वीं पास स्टूडेंट्स दे सकते हैं ये एंट्रेंस एग्जाम्स

स्टडी ब्रेक्स करते हैं तरोताज़ा

कई घंटो तक लगातार पढ़ते रहने से बहुत अधिक थकावट और स्टडी बर्न-आउट हो सकते हैं. एग्जाम टाइम के दौरान ऐसी परिस्थिति से बचने के लिए यह बहुत जरुरी है कि आप हर बार कुछ घंटे पढ़ने के बाद स्मॉल रिफ्रेशिंग ब्रेक्स लेते रहें. वॉक पर जायें, अपने भाई-बहिन या किसी फ्रेंड से बात करें, कॉफ़ी ब्रेक लें. इससे आपका दिमाग तनावमुक्त और तरोताजा महसूस करेगा और जैसे ही आप फिर से अपनी पढ़ाई शुरु करेंगे तो आप पढ़ी जाने वाली सामग्री को खूब अच्छे से समझ सकेंगे और याद रख पायेंगे. लेकिन इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आपको केवल छोटे ब्रेक्स लेने हैं ताकि आपके स्टडी शेड्यूल में कोई फर्क न पड़े. इस समय आप ऐसे काम न करें जिनसे आपका ध्यान अपनी पढ़ाई से हट जाये जैसे आप इस समय अपने स्मार्ट फ़ोन पर कोई गेम न खेलें या सोशल मीडिया पर कोई न्यूज़फीड या मेसेज न पढ़ें क्योंकि ऐसा करने से आपका बहुत समय बरबाद हो सकता है.

रेस्ट और आराम का है खास महत्व

एग्जाम्स के दौरान अधिकांश स्टूडेंट्स अपनी नींद छोड़कर सारी रात जागकर पढ़ाई करते रहते हैं और सोचते हैं कि कम सोने से उनको कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा. वे यह भूल जाते हैं कि उनके शरीर को पूरा आराम चाहिये. जैसे कोई भी व्यक्ति किसी मशीन को 24/7 नहीं चला सकता क्योंकि ऐसा करने से मशीन टूट जायेगी या चलना बंद कर देगी. मानव शरीर की हालत भी बिलकुल किसी मशीन जैसी ही है. मानव शरीर आखिरकार एक जैविक मशीन ही तो है. अगर आप अपने शरीर को पर्याप्त आराम दिये बिना इससे काम लेते रहेंगे तो आपका शरीर अपने तरीके से आपको आराम करने के लिए मजबूर कर देगा जैसे कि आप बीमार भी पड़ सकते हैं. इसका सबसे बूरा प्रभाव यह पड़ेगा कि ज्यादा थकावट और आराम की कमी से आपका स्ट्रेस काफी बढ़ जायेगा और नतीजतन आप पूरा ध्यान लगा कर अपनी पढ़ाई नही कर सकेंगे.

कड़ी मेहनत किये बिना कैसे बने ए-ग्रेड स्टूडेंट ? कुछ सीक्रेट टिप्स

न्यूट्रीशियस मील्स रखते हैं आपको हेल्दी और स्ट्रेसफ्री   

एग्जाम के दिनों में आपके शरीर को अपनी पूरी क्षमता और ताकत से काम करना पड़ता है. बिना थके कई घंटों तो लगातार पढ़ने के लिए आपको तेज़ दिमाग और शारीरिक बल की आवश्यकता होती है. आपको एग्जाम के दिनों में ऐसा आहार लेना चाहिए जिससे आपकी कंसंट्रेशन पॉवर और यादाश्त बढ़े. इस समय जंक फ़ूड और तले-भुने खाने से किनारा कर लेना बहुत बढ़िया रहेगा. हम सब यह अच्छी तरह जानते हैं कि जंक फ़ूड और तले-भुने खाने से सुस्ती आती है. इस समय आप ज्यादा से ज्यादा फ्रेश फ्रूट्स, सलाद, बादाम, अखरोट, काजू और ऐसे दूसरे हेल्थी फ़ूड आइटम्स खायें. बहुत ज्यादा चाय – कॉफ़ी न पीयें और इनके बजाय पानी और फ्रेश जूस अधिक पीयें.

एक्सरसाइज रखती है स्टूडेंट्स को स्ट्रेस से बचाकर

एग्जाम के दिनों में, स्टूडेंट्स को एक ही जगह पर कई घंटों तक रहना पड़ता है. उनकी शारीरिक गतिविधियां तकरीबन न के बराबर हो जाती हैं लेकिन उनके दिमाग को दिन-रात काम करना पड़ता है. इन दिनों स्टूडेंट्स के लिये शारीरिक क्रियाकलाप या फिजिकल एक्सरसाइज करना उन्हें तनावमुक्त करने के लिये रामबाण सिद्ध होता है. सुबह या शाम के समय, जो भी समय आपको ठीक लगे; दौड़ पर जायें या जॉगिंग करें. पढ़ते समय आप कुछ छोटी – छोटी गले और कंधों की एक्सरसाइजिस भी कर सकते हैं ताकि आपके मसल्स में ऐंठन न आये.

कुछ आसान सुझाव जो आपके मार्क्स को कर सकते है और बेहतर

टिप्स की समरी

बहुत ही कम लेकिन महत्वपूर्ण शब्दों में हम यह कह सकते हैं कि एक शांत और तनाव रहित दिमाग से आप खूब मन लगा कर पढ़ सकते हैं. अपनी सोच को सकारात्मक बनाये रखें और अपने द्वारा बनाये हुए स्टडी शेड्यूल को डट कर फ़ॉलो करें. अपने टारगेट्स को प्राप्त करने के लिए समुचित टारगेट्स निर्धारित करना कभी न भूलें. असल में जैसे ही आप अपना कोई टारगेट प्राप्त करते हैं तो आपका हौसला बढ़ जाता है और फिर आप एक के बाद अपना दूसरा टारगेट प्राप्त करते चले जाते हैं. आपको पता चलने से पहले ही आप बड़ी आसानी से एग्जाम की जंग जीत लेते हैं और यहां तक कि आपका रिजल्ट भी आपकी मन के अनुरूप निकलता है. यदि आप ऊपर दिए गए टिप्स पर ध्यान दें, उन्हें फ़ॉलो करें तो अवश्य ही कॉलेज में आप ‘एग्जाम स्ट्रेस’ से कोसों दूर रहेंगे.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

7 + 6 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.