दिमागी तीव्रता बढ़ाने वाले ये 8 तरीके जो हर विद्यार्थी के लिए जानना है बेहद ज़रुरी

इस लेख के द्वारा आप जानेंगे दिमागी तीव्रता व स्मरणशक्ति बढ़ाने के 8 बेहद महत्वपूर्ण तरीके l जानें किस प्रकार इन ख़ास तरीकों को अपनाने से आपकी दिमागी सक्रियता व एकाग्रता में आता है सुधार और चीज़ें समझना व याद रखना हो जाता है आपके लिए बेहद आसान l

Created On: Sep 19, 2017 11:29 IST
Modified On: Sep 21, 2017 11:30 IST
Best tips to improve your brain power
Best tips to improve your brain power

क्या कभी ऐसा होता है कि अक्सर बार-बार याद करने पर भी आप उत्तर भूल जाते हैं? क्या आप अपने किसी सहपाठी के बारे में बात करते हुए उसका नाम सोचते रह जाते हैं? क्या आप अक्सर अपनी किताबें घर के किसी हिस्से में रखकर भूल जाते हैं?

दरअसल, रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में हजारों काम करते हुए बहुत बार कुछ ज़रूरी बातें हमारे दिमाग से निकल जाती हैंl भूलने की यह समस्सया लगभग हर उम्र वर्ग को परेशान करती हैl इस समस्सया का प्रमुख कारण है दिमागी क्रियाशीलता व तीव्रता की कमीl जिस प्रकार हमारे शारीरिक अंगों के उचित कार्यकलाप के लिए शरीर को उपयुक्त पोषण व कसरत की जरूरत पड़ती है ठीक वैसे ही हमारा दिमाग भी सही तरीके से काम करने के लिए सही देखभाल की मांग करता हैl

परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ परिणाम पाने के लिए कैसा हो आपका टाइम टेबल? जानें 7 ये बातें

यहाँ हम आपको कुछ ऐसे उपाए बतायेंगे जिनसे आपके दिमाग की काम करने की क्षमता में बेहतरीन तरीके से सुधार आएगा और चीज़ों को सीखना व याद करना आपके लिए बेहद आसान हो जायेगाl

नीचे दिए गये ट्रिक्स को ज़रूर अपनाएं अगर आप अपनी दिमागी शक्ति को चाहते हैं बढ़ाना:

1. शारिरिक कसरत दिमागी तंदरुस्ती के लिए भी है अत्यंत आवश्यक

Image source: sexybodyfitness.com

यह बात ज़रूर जान लें कि शारीरिक तंदरुस्ती सीधे तौर पर हमारी दिमागी सेहत को प्रभावित करती हैl कहा भी जाता है कि ‘तंदरुस्त शरीर में ही तंदरुस्त मस्तिष्क का आवास होता हैl’ इसके लिए कसरत सबसे महत्वपूर्ण तरीका हैl शारिरिक कसरत से इंसुलिन प्रतिरोध में कमी आती है, व मस्तिष्क में नई रक्त वाहिकाओं के निर्माण व अनुरक्षण में भी मदद मिलती हैl मस्तिष्क की प्रबलता पे की गई एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि कसरत करने से दिमाग में नये न्यूरॉन सेल (जिसका कार्य मस्तिष्क में सूचना का आदान प्रदान और विश्लेषण करना है) की उत्पत्ति होती है जिससे दिमाग की लर्निंग एबिलिटी में काफी सुधार आता हैl कसरत से न्यूरोट्रांसमीटर नाम के रसायन (जो कि तंत्रिका कोशिकाओं के बीच सिग्नल का आदान प्रदान करता है) के रिसाव में तेज़ी आती हैl इसलिए कसरत के इन सब फ़ायदों को जानते हुए ज़रूरी है कि दिमागी सक्रियता के लिए शारिरिक सक्रियता बढ़ाएंl इसके लिए सैर, स्विमिंग, डांसिंग बेहद फ़ायदेमंद कसरत हैंl

किताब पढ़ने के ये 7 बेहतरीन फ़ायदे जानकर आप भी बन जायेंगे किताब प्रेमी

2. खाने की आदतों में लायें सुधार

Image source: 5951-presscdn-0-64.pagely.netdna-cdn.com

स्वस्थ आहार न सिर्फ़ हमारी शारीरिक तंदरुस्ती के लिए ज़रूरी होता है बल्कि हमारी मानसिक फिटनेस के लिए भी अत्यंत लाभकारी हैl ज़्यादातर विद्यार्थी बाज़ारी भोजन या जंक फ़ूड खाना पसंद करते हैं जिसमे किसी भी तरह का पोषण नहीं होताl कभी कभार स्वाद के लिए ये सब खाना ठीक है लेकिन इसी को अपनी आदत बना लेना बेहद नुकसानदायक हैl आप जो भी खाते हो उसका सीधे सीधे असर आपकी स्मरणशक्ति के विकास पे पड़ता हैl भोजन में फिश व हरी सब्जियाँ शामिल करना मानसिक तंदरुस्ती के लिए काफी फ़ायदेमंद रहता हैl इसके साथ ही भोजन में प्रयाप्त मात्रा में फैट यानि चिकनाई लेने से हमारी लॉन्ग टर्म मेमोरी यानि लम्बे समय तक चीज़ों को याद रखने वाले दिमागी हिस्से के व्विकास में मदद मिलती हैl ड्राई फ्रूट्स भी दिमागी तंदरुस्ती के लिए काफी फ़ायदेमंद रहते हैं l

3. पर्याप्त नींद ध्यान (meditation) दिमागी ताकत के लिए हैं वरदान

हर रोज़ 7 से 8 घंटे तक लि गई नींद मस्तिष्क शक्ति के लिए बूस्टर का काम करती हैl सोते दौरान हमारा दिमाग दिन में ली गई सारी जानकारी को एकत्रित करके उसे फर्म यानि मज़बूत करता हैl विशेषज्ञों का मानना है कि नींद के दौरान हमारे नर्वस सिस्टम की इकाई मने जाने वाले न्यूरॉनस के बीच सम्बन्ध मज़बूत हो पाते हैं जिससे हम चीज़ें आसानी से याद कर पाते हैंl

नींद के साथ ही ध्यान लगाने से भी मस्तिष्क शक्ति चमत्कारी तरीके से प्रभावित होती हैl चिंता या दबाव से उभर कर दिमाग में सकारात्मक सोच भरने के लिए ध्यान सदियों से अपनाई जाने वाली कला हैl इससे हमारी एकाग्रता व ध्यान अवधि में बढ़ावा होता है जिसका सीधा असर हमारी स्मरणशक्ति पे पड़ता हैl

4. दबाव तनाव को अपने आसपास भी ना भटकने दें

Image source: sd.keepcalm-o-matic.co.uk

चिंता, दबाव और तनाव, ये तीन कारक हमारी मानसिक स्थिति को बुरी तरह से प्रभावित करते हैंl नतीजन हमारी मानसिक एकाग्रता व स्मरणशक्ति में कमी आती है और दिमाग नकारात्मक सोच का घर बनकर रह जाता हैl दरअसल चिंता या दबाव की स्थिति में हमारे रक्तप्रवाह में कोर्टिसोल (cortisol) नामक होरमोन जिसे कि स्ट्रेस होरमोन भी कहा जाता है, का रिसाव बढ़ जाता है जो कि दिमाग के कुछ हिस्सों, ख़ासकर हिप्पोकैम्पस (Hippocampus) जहाँ ‘short term memory’ स्टोर होती है, को बुरी तरह से प्रभावित करता हैl इस तरह लम्बे समय तक तनाव की स्तिथि में रहने पर नई चीज़ों को सीखने या याद करने की दिमागी क्षमता लगभग ख़तम हो सकती हैl इसलिए कोशिश करें कि तनाव या दबाव से एक लम्बी दूरी बनाये रखें जिसके लिए आप ‘लाफ्टर’ (Laughter) विधि का सहारा ले सकते हैंl ज़ोर ज़ोर कर हँसने की इस क्रिया को चिंता व तनाव रहित ज़िन्दगी व्यतीत करने के लिए सर्वश्रेष्ठ औषधि माना जाता हैl इसके साथ ही मैडिटेशन यानी ध्यान तो है ही दबाव व तनाव का सबसे बड़ा दुश्मन l

5. बहु कार्यण (Multitasking) से बचें

Image source: www.blog.globaljobsfinds.com

दौड़-भाग भरी इस ज़िन्दगी में हर कोई एक समय पर अपने दो हाथों से अनेकों अलग अलग कार्य करने की कोशिश करता है l विभिन्न कार्यों को एक साथ करते हुए अनजाने में गलती करने व चीज़ों को भूलने की संभावना काफी हद तक बनी रहती हैl उदाहर्ण के तौर पर मनो आप ने अपने दोनों हाथों में राशन का कुछ सामान उठा रखा है और साथ ही एक हाथ में अपनी कार की चाबी भी पकड़ रखी है तो सामान के रख रखाव के दौरान आपने चाबी पता नहीं कहाँ रख दीl दरअसल, हम तो बहुत से कार्यों को एक ही समय करने की कोशिश करते हैं लेकिन हमारा दिमाग मल्टीटास्किंग नहीं कर पताl बल्कि इसका फोकस (focus) कभी एक काम और कभी दूसरे काम की ओर बदलता रहता है, जिससे हमारा दिमाग किये जाने वाले किसी भी एक कार्य पर पूरी तरह से एकाग्रित नहीं हो पता और चीज़ों को याद नहीं रख पताl इसलिए अगर आप अपने दो हाथों से चार काम करने की कोशिश कर रहे हैं तो तीन काम छोड़ कर किसी एक काम को ही सही तरीके से कुशलता पूर्वक करेंl

पढ़ते समय आने वाली नींद को कैसे भगाएं दूर: यह 8 उपाए करेंगे आपकी मदद

6. लिख कर याद करने का तरीका है सौ फ़ीसदी सफ़ल

Image source: pad3.whstatic.com

चीज़ों को लिख कर याद करने का तरीका जितना पुराना है उतना ही कारगर भी है l अध्ययन से ये बात सामने आई है कि लेपटोप या इलेक्ट्रॉनिक नोटपैड की बजाये पेन पेपर की मदद से बनाये गये नोट्स से चीज़ों को याद करने की क्षमता तो बढ़ती ही है बल्कि आसानी से कंसेप्ट क्लियर करने में भी मदद मिलती है जिससे याद की गई जानकारी लम्बे समय तक हमारे दिमाग में रह पाती है l इसके अलावा ब्लॉग व जर्नल आदि लिखने से भी स्मरणशक्ति में वृद्धि होती है l

7. दिमाग को चुनौतीपूर्ण कार्यों में रखें व्यस्त

Image source: www.fao.org

चुनौतीपूर्ण गतिविधियों का यहाँ अर्थ है ऐसे कार्य जिन में पूरी तरह से दिमाग का ही उपयोग होता हो l पहेलियाँ स्सुल्झाना, क्रॉसवर्ड हल करना, शतरंज जैसी दिमागी खेल खेलना अदि कुछ ऐसे कार्य हैं जिनमे दिमाग की खूब कसरत होती है l इससे दिमाग की सक्रियता बनी रहती है और स्मरणशक्ति भी मजबूत होती हैl अगर आप अपने दिमाग को नई व आश्चर्यजनक जानकारी से परे रखते हैं तो धीरे धीरे यह अपनी कुशलतापूर्वक तरीके से कम करने की क्षमता खो बैठता है l दिमागी कसरत के लिए आप आम दिनचर्या के कामों से अलग कुछ कार्य करें, जैसे कि कोई नई भाषा सीखना, क्रॉसवर्ड हल करना, दिमागी खेल जैसे कि शतरंज, पत्ते अदि खेलना l इस प्रकार के चुनौतीपूर्ण कार्य करने से दिमाग की तीव्रता बढ़ती है l

8. याद की गयी चीज़ों को रिकॉल ज़रूर करें

Image source: vinaire.files.wordpress.com

अक्सर ऐसा होता है कि सब कुछ अच्छे से याद करने के बाद भी जब हम इम्तिहान देने बैठते हैं तो किसी ना किसी प्रश्न का उत्तर पूरी तरह से भूल जाते हैं l दरअसल दिमाग में रखी चीज़ें कंप्यूटर में पड़ी फाइल्स की तरह नहीं होती जिन्हें हम जब चाहे वैसे की वैसे ही खोल कर देख सकते हैं l दिमाग में एकत्रित चीज़ों को पुनः प्राप्त नहीं किया जा सकता बल्कि उनका पुनःनिर्माण करना पड़ता हैl इसलिए ज़रुरी है की कुछ घंटों पढ़ने के बाद 15 से 20 मिनट का टाइम सिर्फ़ याद की गई चीज़ों को रिकॉल करने के लिए लेंl चीज़ों को उनके कांसेप्ट के साथ जोड़कर रिकॉल करेंl इससे आपको आसानी से किसी प्रश्न का उत्तर बनाने या हल करने में आसानी होगी l अगर आप परकोई ख़ास टॉपिक या किसी प्रश्न का उत्तर आपके दिमाग में ना आ रहा हो तो तुरंत उसे किताब खोल कर देखें व फिर से समझें l इससे चीज़ों को दिमाग में पक्का करने में मदद मिलेगी l

सब के पास एक जैसा ही दिमाग है अगर कुछ अलग है तो उसे इस्तेमाल करने का तरीका l दिमाग के कुशलतापूर्ण कार्य करने के लिए उसे सही ख़ुराक व रख-रखाव की जरूरत होती है l इसके लिए उपरोक्त दिए गये सुझाव अवश्य ही दिमागी तीव्रता बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे l

यह 7 ट्रिक्स अपनाने से कोई भी बन सकता हैं गणित में ज़ीरो से हीरो

कैसे पढ़ते हैं सीबीएसई तथा यू.पी. बोर्ड टॉपरस: ज़रूर जानें ये 8 बातें

 

 

 

Related Categories

    Related Stories

    Comment (0)

    Post Comment

    0 + 3 =
    Post
    Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.