Search

पढ़ते समय आने वाली नींद को कैसे भगाएं दूर: यह 8 उपाए करेंगे आपकी मदद

इस लेख के द्वारा आप जानेंगे ऐसे 8 टिप्स जो पढ़ाई करते समय आने वाली नींद को भगाने में करेंगे आपकी मदद। यहाँ आप जानेंगे के किस तरह से अपने पढ़ने के तरीके में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव लाकर आप ज़्यादा देर तक प्रभावशाली तरीके से पढ़ाई कर सकते हैं।

Feb 10, 2020 16:53 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
how to avoid sleep while study
how to avoid sleep while study

क्या आपको पढ़ाई करते समय नींद परेशान करती है? क्या आप अक्सर किताबों पर मुंह रखकर सोते पाए जाते हैं? प्यारे विद्यार्थियों, पढ़ाई करते समय नींद आना एक बहुत ही आम समस्या है. जैसे ही हम पढ़ने बैठते हैं तो नींद आने लगती है जिसकी वजह से हमारा दिमाग काम करना बंद कर देता है. आंखों मे नींद घुलने पर हम कुछ समय तो जबरदस्ती पढ़ने की कोशिश करते हैं किंतु अंत में जब सब कुछ हमारे बस से बहार हो जाता है तो हमें बेबस होकर ‌‌‌सोना ही पड़ता है या फिर कभी-कभी पता ही नहीं चलता कि कब आँख लग गयी. नींद आने की इस समस्या के कारण विद्द्यार्थी चाहकर भी अपने स्टडी टारगेट को पूरा नहीं कर पाते.

विद्यार्थियों की इसी समस्या का हल निकालते हुए, हम इस लेख में 8 ऐसे सरल उपाए बताने जा रहे हैं जो आपको बिना सोये प्रभावशाली तरीके से पढ़ाई करने में काफ़ी मददगार साबित होंगे:

1. कम रौशनी में कभी ना पढ़ें

बहुत से विद्द्यार्थी सिर्फ़ एक स्टडी लैंप जला कर ही पढ़ाई करते हैं जिसकी वजह से कमरे के बाकी हिस्से में तकरीबन अंधेरा रहता है. अब आप ही बताओ कि मद्धम सी रौशनी, उसपे शांतिप्रद व आरामदायक परिवेश, ऐसे वातावर्ण में नींद आना तो अति स्वभाविक है. ऐसी स्थिति को उत्पन्न होने से रोकने के लिए अपने स्टडी रूम को अच्छे से प्रकाशित रखें.

क्या बोर्ड परीक्षा का डर आपकी सफलता में बन रहा है रुकावट? तो ये टिप्स ज़रूर करेंगे आपकी मदद

2. बेड पर लेटकर पढ़ने से बचें

पढ़ाई करते समय आपका आसन और बैठने का तरीका भी बहुत महत्व रखता है. बेड पर लेटकर कभी ना पढ़ें. इससे आपको आलस आ सकता है, जो कि नींद को आमंत्रित करता है. इसलिए पढ़ाई करते समय हमेशा कुर्सी पर सही ढंग से पीठ सीधी करके ही बैठें. सामने एक टेबल रखें और किताब गोद में रखकर पढ़ने की बजाए सामने टेबल पर रखकर पढ़ें. कुर्सी पर बैठे समय भी अपने हाथ या पाँव कुछ-कुछ समय बाद हिलाते रहें. इससे आपके अन्दर सक्रियता बनी रहेगी. 

3. अत्यधिक खाने से हो सकता है नुकसान

आप अकसर महसूस करते होंगे कि भर पेट भोजन करने के बाद शरीर में भारीपन, सुस्ती या आपको नींद आने लगती है जो कि शरीर में शुरू होने वाली पाचन प्रक्रिया की वजह से होता है. इसलिए बेहतर होगा कि आप कम खाएं और तीन बार खाने की बजाये दिन में पाँच बार खाएं. कभी भी भूखे पेट ना पढ़ें. इससे आपके दिमाग की याद करने की क्षमता कम हो जाती है. भोजन करने के तुरंत बाद पढ़ने के लिए ना बैठें.

कैसे करें अपने माइंड को नियंत्रित

4. भरपूर मात्रा में पानी पीने से होगा फ़ायदा

पढ़ाई करते समय ज्यादा पानी पीना न तो सिर्फ़ आपकी सेहत के लिए फ़ायदेमंद होगा बल्कि इससे आपको एक और फायदा मिलेगा. ज़्यादा पानी पीने से आप को कुछ-कुछ देर बाद अपनी सीट से उठकर मूत्र के लिए जाना पड़ेगा जिससे आपके शरीर की निष्क्रयता टूटेगी और आप सक्रिय बने रहेंगे. साथ ही ज़्यादा पानी पीने से दिमाग हाइड्रेटेड व तरोताज़ा रहता है और इसकी सक्रियता बनी रहती है जिससे आसानी से पाठ याद करने में सहायता मिलती है.

कैसे पढ़ते हैं Board Exams में टॉपर रहने वाले छात्र: ज़रूर जानें ये 8 बातें

5. जल्दी सोने और जल्दी उठने का रूटीन अपनाएं

अंग्रेजी की एक मशहूर कहावत है “Early to bed, early to rise makes a man healthy, wealthy and wise” जिसका मतलब है कि जल्दी सोने और जल्दी उठने से शारिरिक तंदरुस्ती, समृद्धि व दिमागी शक्ति में बढ़ावा होता है. विद्यार्थी जीवन में भी इस कथन का उतना ही महत्व है जितना एक आम आदमी के जीवन में. रात को जल्दी सोने से आप प्रयाप्त नींद ले सकते हैं जिससे आप सुबह बिलकुल तरोताज़ा उठेंगे. फ्रेश माइंड से चीज़ें याद रखना बहुत ही आसान होता है. और फिर पर्याप्त समय तक सोने के बाद पढ़ाई करते वक्त फिर से नींद आने का कोई मतलब नहीं बनता.

6. दोपहर के बाद एक छोटी झपकी रखेगी आपको तारोताज़ा

इम्तिहान के दौरान सुबह में लगातार पढ़ने के बाद अगर आप बाद दोपहर भी अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं तो शायद थके हुए दिमाग के साथ आपके लिए याद करना मुश्किल हो जायेगा. इसलिए बेहतर होगा कि दोपहर का खाना खाने के बाद घंटे भर के लिए सो जायें. इससे आपकी सुस्ती व उनींदापन दूर होगा और आपका दिमाग नए तरीके से चीज़ों को याद करने के लिए तरोताज़ा हो जायेगा.

जानिए 5 स्टडी मिस्टेक्स जो आपके परीक्षा परिणाम को कर सकती हैं ख़राब

7. रात के समय पढ़ने के लिए चुनें अपना पसंदीदा विषय

रात के समय पढ़ने के लिए सिर्फ़ वही विषय चुनें जो आपके फेवरेट हैं और जिन्हें आप आसानी से समझ व याद कर सकते हैं. सरल विषय या टॉपिक्स को रात में याद करने के लिए आपको ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी जिससे आपको बोरियत भी नहीं होगी और आप ज़्यादा देर तक बैठकर पढ़ाई कर पाएंगे.

8. बोल-बोल कर तथा लिखकर करें पढ़ाई

यह तरीका पढ़ाई करते वक्त होने वाली बोरियत तथा आने वाली नींद को दूर भगाने में काफ़ी हद तक कारगार सिद्ध होता है. हर विषय को इस तरह से बोल बोल कर पढ़ें जैसे कि क्लास में टीचर पढ़ाते हैं. इससे आपका दिमाग सतर्क बना रहता है और नींद आने की सम्भावना भी कम हो जाती है. इसके अलावा खुद को एक्सप्लेन करके पढ़ने से चीज़ों को याद करना भी बहुत आसान हो जाता है. इसके साथ ही पाठ को सिर्फ़ मौखिक रूप से याद करने की बजाये मुश्किल उत्तरों या सवालों को लिखकर भी याद करें. इससे भी आपकी सतर्कता बनी रहेगी और चीज़ें याद करने में भी आसानी होगी.

इस तरह से प्यारे विद्यार्थिओं, अगर आप और ज़्यादा अंक प्राप्त करने के लिए अधिक घंटों तक बैठकर पढ़ाई करना चाहते हैं, लेकिन नींद आपके लक्ष्य तक पहुँचने के बीच बाधा डाल रही है तो ऊपर दिए गये टिप्स व सुझाव निश्चित रूप में आपकी मदद करेंगे.

याद करने के इन तरीकों को अपनाएं, किसी भी विषय को एक बार पढ़ेंगे तो फिर कभी नहीं भूलेंगे

Related Categories

Related Stories