आईएएस मेन्स परीक्षा के लिए अंग्रेजी सुधारने के 10 मजेदार तरीके

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) उम्मीदवारों को IAS की मुख्य परीक्ष में अपने पसंद की भाषा और माध्यम चुनने की अनुमति देता है, लेकिन योग्यता प्रकृति वाला एक अंग्रेजी भाषा का अनिवार्य पेपर भी होता है. इसके अलावा, इंटरव्यू चरण में संचार के माध्यम के रूप में और IAS के लिए चुने जाने के बार अंतिम प्रशिक्षण के दौरान भी, अंग्रेजी पर अच्छी पकड़ अनिवार्य है.

English Writing Skills

आज हम अंग्रेजी भाषा द्वारा संचालित दुनिया में रहते हैं. आप किस क्षेत्र में काम कर रहे हैं या आपको कौन सी भूमिका दी गई है, यह मायने नहीं रखा. हमारे पेशेवर सफलता के लिए अंग्रेजी महत्वपूर्ण ही होगा. यूपीएससी सिविल सर्विसेस या आईएएस परीक्षा की तैयारी करने वाले आईएएस आकांक्षियों के लिए यह कथन कहीं अधिक सत्य है. हालांकि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) उम्मीदवारों को आईएएस की मुख्य परीक्ष में अपने पसंद की भाषा और माध्यम चुनने की अनुमति देता है, लेकिन योग्यता प्रकृति वाला एक अंग्रेजी भाषा का अनिवार्य पेपर भी होता है. इसके अलावा, इंटरव्यू चरण में संचार के माध्यम के रूप में और आईएएस के लिए चुने जाने के बार अंतिम प्रशइक्षण के दौरान भी, अंग्रेजी पर अच्छी पकड़ अनिवार्य है.

IAS बनने के लिए उपयुक्त जीवनशैली

लेकिन, अन्य महत्वपूर्ण चीजों के जैसे अंग्रेजी पर बेहतर पकड़ बनाना आसाम काम नहीं है. वास्तव में, कई लोगों ने कोशिश की और अपने बेहतरीन प्रयासों के बावजूद विफल रहे. आईएएस मेन परीक्षा के लिए अंग्रेजी में महारथ करने के लिए उनकी रणनीति की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है सीखने का औपचारिक शिक्षाप्रद शैली. हालांकि, जब बात अंग्रेजी की आती है, आईएएस परीक्षा के लिए अंग्रेजी सीखने के कई प्रैक्टिकल और मजेदार तरीके हैं. नीचे हम इनमें से कुछ पर चर्चा कर रहे हैं

1. संपादकीय पढ़ें

जब बात आईएएस परीक्षा की तैयारी की हो तो किसी भी आईएएस आकांक्षी से पूछ कर देखें, वह आपको अखबार के संपादकीय पढ़ने के महत्व के बारे में बता देगा. महत्वपूर्ण जानकारी देने और राष्ट्रीय महत्व के कई मुद्दों पर स्पष्ट विचार प्रदान करने के अलावा अखबारों के संपादकीय का प्रयोग आपके अंग्रेजी में सुधार के लिए भी किया जा सकता है. अखबार में छपने वाले सभी संपादकीय स्थापित संपादकों और स्तंभकारों द्वारा लिखे होते हैं. इन स्थापित लेखकों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द, प्रारूप, शैली और भाषा न सिर्फ व्याकरण की दृष्टि से सही होते हैं बल्कि अंग्रेजी भाषा का सही इस्तेमाल करत हुए संदर्भ की समझ भी प्रदान करते हैं.

आईएएस की तैयारी के लिए प्रभावशाली समय सारिणी कैसे बनाएं ?

2. संपादक को पत्र लिखें

अखबारों के संपादकीय के थीम को बनाए रखते हुए आईएएस आकांक्षियों के लिए सामाजिक– राजनीतिक और आर्थिक जगत में घट रही घटनाओं के बारे में अपने विचारों को व्यक्त करना भी सीखना बहुत महत्वपूर्ण है. और इसके लिए संपादक को चिट्ठियां लिखने से बेहतर तरीका और क्या हो सकता है. आईएएस आकांक्षी जो अपने लेखन कौशल में वाकई सुधार लाने के प्रति गंभीर हैं, को रोजाना एक पत्र संपादक को जरूर लिखना चाहिए. ये पत्र लिखित अंग्रेजी प्रारूप में बातचीत की कला सीखने में आपको मदद करेंगें और साथ ही वर्तमान घटनाओं पर आपको अपडेट रखने में मदद करेंगे. हालांकि, अखबारों में पत्र नहीं प्रकाशित होने पर आकांक्षियों को निराश नहीं होना चाहिए. अखबार के संपादकों को रोजाना 'लेटर्स टू एडिटर्स' के लिए हजारों पत्र मिलते हैं और उन सभी को प्रकाशित कर पाना लगभग नामुमकिन है. इसलिए, इसे आपको सीखने के अभ्यास के रूप में लेना चाहिए और संपादकों को पत्र लिखना जारी रखना चाहिए. आप इसे अपने सहयोगियों से भी साझा कर सकते हैं और उनसे पत्र की गलतियों को बताने और सुधार की गुंजाइश बताने को कह सकते हैं.

3. अंग्रेजी में बातचीत करें

इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आईएएस आकांक्षियों द्वारा जिन चुनौतियों का सामना किया जाता है उनमें सबसे आम है अंग्रेजी में बातचीत करने की कला. अंग्रेजी पढ़ने और लिखने में अच्छे आकांक्षी भी अंग्रेजी बोलने में परेशानी महसूस करते हैं. हजारों 'स्पोकन इंग्लिश' कोर्सेस और क्लासेस यह कहते सुनाइ देते हैं कि अंग्रेजी की औपचारिक शिक्षा के बावजूद बहुत कम ही ऐसे उम्मीदवार होते हैं जो बातचीत के लिए अंग्रेजी के वास्तिवक उपयोग में सक्षम हो पाते हैं. इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान, जहां पैनल भविष्य में भारत के शीर्ष नौकरशाह की तलाश करने बैठते हैं, यह आपके लिए बहुत बड़ी बाधा बन सकती है. इसलिए, आईएएस आकांक्षियों के लिए अंग्रेजी में बातचीत शुरु करना बहुत महत्वपूर्ण है. अपने शिक्षकों, सहयोगियों या यहां तक कि खुद से अकेले, कम– से– कम एक घंटा बातचीत करने के लिए कोई मुद्दा लें. अलग– अलग संदर्भों में अखबारों और पठन सामग्री में जिन कठिन शब्दों से आपका सामना हुआ है उनके इस्तेमाल की कोशिश करें. यदि आप इस प्रक्रिया का अच्छी तरह से पालन करेंगे, तो कुछ ही दिनों में आप अपने स्पोकन इंग्लिश (बोलचाल की अंग्रेजी) में काफी सुधार देखेंगे.

IAS की तैयारी के लिए सबसे बेहतर शहर

4. रोजाना 100 शब्द लिखें

उपर हमने यह सिद्ध कर दिया है कि द हिन्दू जैसे अग्रणी अखबारों के ' लेटर्स टू एडिटर्स' के लिए लिखना कितना फायदेमंद है. अंग्रेजी में लेखन कौशल को सुधारने का अगला चरण होगा रोजाना कम– से– कम 100 लिखना. शब्दों से मेरे कहने का अर्थ यह नहीं है कि अलग –अलग 100 शब्दों को लिखना लेकिन 100 शब्दों का एक ऐसा पैराग्राफ लिखना जिसका कोई अर्थ निकले. पैराग्राफ लिखने के लिए आप अपनी पसंद के किसी भी विषय को चुन सकते हैं. विषय वर्तमान में घटी कोई घटना हो सकता है, आपके द्वारा पढ़ा गया कोई विषय या किसी फिल्म की समीक्षा या लघु कथा भी हो सकता है. यहां अंग्रेजी लिखने में आपका सहज होना और ऐसा सही एवं अर्थपूर्ण तरीके से करना महत्वपूर्ण है. इसलिए, रोजाना अंग्रेजी में 100 शब्दों का एक पैराग्राफ लिखने की आदत डालें.

5. अंग्रेजी सिनेमा, वृत्तचित्र और टीवी श्रृंखला देखें

जैसा कि हमने कहा है, तकनीकी विषयों के विपरीत एक भाषा सीखना कला है और स्थापित तरीकों के अलावा अंग्रेजी सीखने के कई और रास्ते भी हैं. आईएएस परीक्षाओं के लिए अंग्रेजी सीखने का एक ऐसा ही मजेदार और प्रैक्टिकल तरीका है टीवी. ऐसे में जब हम में से अधिकांश लोग टीवी को इडियट बॉक्स समझते हैं और आईएएस की तैयारी के दौरान अपने दिनचर्या से इसे पूरी तरह हटा देते हैं, जब बात अंग्रेजी सीखने की आती है तो यह आपका सबसे बड़ा सहयोगी बन सकता है. इसलिए, डिस्कवरी या नेट जीयो जैसे अंग्रेजी चैनल देखें, बीबीसी या सीएनबीसी जैसे अच्छे अंग्रेजी चैनलों पर खबरें देखें. आप इनसेप्शन या स्लम डॉग मिलियनेयर जैसी मनोरंजक फिल्में और गेम या थ्रोन्स या वॉल्किंग डीड जैसे टीवी धारावाहिक भी देख सकते हैं. टीवी/ अंग्रेजी फिल्में देखने के दौरान, सुनिश्चित करें कि आप उसके संवाद सुन रहे हैं, अपने दिमाग में कठिन शब्दों को रखें, एक विषय पर किस प्रकार वाक्य बनाना है, सीखें औऱ अलग– अलग संदर्भ में शब्दों के इस्तेमाल के बारे में जानें. यहां हम यह कहना चाहते हैं कि अपने टीवी को मनोरंजन के मंच से सीखने के संसाधन में बदल डालें. और यदि आप इसे सही तरीके से करेंगे तो आपको पता भी नहीं चलेगा और आप अंग्रेजी में धाराप्रवाह बोलने लग जाएंगे.

आईएएस बनने की प्रेरक कहानियाँ

6. अंग्रेजी में सोचें

अब और गंभीर मुद्दे पर आते हैं, अच्छी अंग्रेजी कैसे पढ़ें, लिखें और बोलें, यह सीखने के अलावा आईएएस परीक्षा के लिए अंग्रेजी सीखने में एक और महत्वपूर्ण पहलू शामिल है. यह अंग्रेजी में सोचने के बारे में है. हालांकि, आईएएस के कई आकांक्षी अंग्रेजी सीखने के पहले तीन पहलुओं को काफी आसानी से करना सीख जाते हैं लेकिन वे अंग्रेजी में सोचने में सक्षम नहीं होते. कई भाषा विशेषज्ञों ने यह देखा है कि आईएएस के कई आकांक्षी किसी विचार या वाक्य को अपने मन में अपनी क्षेत्रीय भाषा या हिन्दी में तैयार करते हैं और फिर उसका अंग्रेजी में अनुवाद करते हैं. इससे मस्तिष्क पर न सिर्फ अतिरिक्त प्रयास का बोझ बढ़ता है बल्कि अक्सर वे अंग्रेजी के गलत रूप का इस्तेमाल कर बैठते हैं. उदाहरण के लिए, यह कहने के किए कि आपने परीक्षा दी, एक आईएएस आकांक्षी अक्सर कहता है ' मैंने परीक्षा पेपर दिया' क्योंकि वे इसे हिन्दी से अनुवाद करते हैं यानि 'मैंने एग्जाम पेपर दिया'. इसके लिए सही वाक्य संरचना होगा– 'आई टुक द टेस्ट' और आप ऐसा वाक्य तभी बोल सकते हैं जब आप अंग्रेजी में सोचने में सक्षम हों.

7. अपना शब्द– संग्रह बनाएं

किसी भी आईएएस आकांक्षी के लिए शब्द –संग्रह का महत्व छिपा नहीं है. हालांकि, आपको दिमाग में सिर्फ एक बात रखनी है कि आपको हर मौजूद कठिन शब्द को नहीं जानना है, आपको उन शब्दों पर फोकस करना है जो दैनिक जीवन में इस्तेमाल किए जाते हैं और नीतिगत फैसलों, सरकारी आदेशों और वर्तमान खबरों का हिस्सा होते हैं. इसलिए, इस दिशा में आगे बढ़ने का सबसे अच्छा तरीका होगा कि रोज जिन कठिन शब्दों से आपका सामना होता है, उन्हें एक जगह लिख लें. ये शब्द आपको अखबार पढ़ने के दौरान या किसी से बातचीत के दौरान मिल सकते हैं. एक दिन के समाप्त होने पर आपके पास कम– से– कम 10 से 15 शब्द होने चाहिए. इन शब्दों का आप अर्थ ढूंढ़ें और अपने दैनिक बातचीत में उन्हें शामिल करना शुरु कर दें. यदि आप इस प्रक्रिया का पालन करते हैं तो माह के आखिर तक आप करीब 300 नए शब्दों को जान जाएंगें जो आपके शब्द– संग्रह में सुधार की दिशा में अभूतपूर्व प्रगति होगी.

ये गलतियां आपको IAS बनने से रोक सकती हैं

8. सरकारी योजनाओं और नीतिगत दस्तावेजों को पढ़ें

अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होने के बावजूद कई आईएएस आकांक्षियों को आएएएस परीक्षा के लिए उत्तर तैयार करने के दौरान चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि, उनकी सामयिक और अकादमिक अंग्रेजी तो अच्छी होती है लेकिन वे सरकारी योजनाओं और नीतिगत दस्तावेजों में इस्तेमाल किए जाने वाले शब्दों, शैली, प्रारूप और शब्दावलियों से वास्तव में अनजान होते हैं. केंद्र या राज्य, किसी भी सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले सरकारी दस्तावेजों की अपनी शैली और प्रारूप होती है, आईएएस परीक्षा की तैयारी करने वाले सभी उम्मीदवारों के लिए इनकी जानकारी बहुत लाभदायक साबित होगी.

9. पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करें

दूसरी अन्य परीक्षाओं के जैसे ही, आज की तारीख में आईएएस मेन्स की परीक्षा भी एक भर्ती परीक्षा ही है. इसलिए, इसमें सफल होने के लिए आपको परीक्षा के पैटर्न की सही जानकारी रखनी होगी. अंग्रेजी खंड की तैयारी की बात जब आती है तो आपको पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों की मदद से तैयारी करने की जरूरत है. इससे आपको आईएएस मेन परीक्षा  के लिए तैयार किए जाने वाले प्रश्नों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली भाषा को समझने में मदद मिलेगी. इसी प्रकार, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों से आपको परीक्षक आपके किस प्रकार के उत्तर की उम्मीद करता है और आईएएस मेन परीक्षा के उत्तर में आपसे किस स्तर की अंग्रेजी भाषा की अपेक्षा रखता है, को समझने में भी मदद मिलेगी.   

नौकरी के साथ IAS Exam की तैयारी कैसे करें ?

10. धैर्य बनाए रखें

हालांकि इस सूची में अंतिम स्थान पर इसे रखा गया है, लेकिन जब बात आईएएसमेन परीक्षा के लिए अंग्रेजी सीखने की हो तो संभवतः यह सबसे महत्वपूर्ण बात होगी. एक भाषा को सीखना या आईएएस मेन परीक्षा के लिए मुख्य रूप से किसी भाषा में महारथ हासिल करना बहुत मुश्किल काम है और यह रातोंरात नहीं किया जा सकता. आपको प्रेरक शक्ति से भरपूर, समर्पित और कठिन मेहनत करने वाला बनना होगा ताकि आप इसमें सफल हो सकें. आपके सभी कठिन प्रयासों के बावजूद, आपको अंग्रेजी सीखने के लिए पर्याप्त समय भी देना होगा. इसलिए, आपकी सफलता हेतु पूरी प्रक्रिया में आपका धैर्य और समर्पण बहुत महत्वपूर्ण होगा.

जैसा कि उपर बताया गया है, अंग्रेजी सीखना खासकर यूपीएससी सिविल सर्विसेस परीक्षा या आईएएस परीक्षा के लिए सीखना, एक दीर्घकालिक और कठिन लड़ाई लड़ने जैसा है. लेकिन, दूसरे दीर्घकालिक और कठिन लड़ाईयों के नतीजों जैसे ही इसके नतीजे बहुत अच्छे होते हैं. इसलिए, आज से ही इस प्रक्रिया के साथ शुरुआत करते हुए आईएएस मेन्स परीक्षा में सफलता की दिशा में अपना पहला कदम बढ़ाएं.

आईएएस में सफलता हेतु याद्दाश्त बढ़ाने के शीर्ष 10 तरीके

Related Categories

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories