IAS टॉपर्स द्वारा सुझाए गए IAS परीक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ पुस्तकें

IAS की तैयारी के दौरान UPSC IAS परीक्षा पाठ्यक्रम के संबंधित विषयों के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकों को पढ़ना आवश्यक है। यहां, हमने IAS की तैयारी के लिए प्रासंगिक महत्वपूर्ण पुस्तकों के बारे में जानकारी दी है ताकि IAS के उम्मीदवार गैर जरुरी अध्ययन सामग्री पढ़ने में अपना कीमती समय बर्बाद न करें।

Created On: Aug 13, 2021 16:34 IST
Best Books for IAS Exam
Best Books for IAS Exam

IAS की पुस्तकों को तैयारी के दौरान बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। कोई भी व्यक्ति यह नहीं कह सकता कि उसने IAS की परीक्षा के दौरान तैयारी के लिए प्रासंगिक पुस्तकों का अध्ययन नहीं किया था। हालांकि, मुख्य मुद्दा IAS की प्रभावी तैयारी के लिए सही पुस्तकों का चयन करना है। IAS के लिए सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों के चयन की इस पहेली को हल करने का सबसे आसान तरीका यह है कि IAS टॉपर्स के द्वारा दिए गए सुझावों का पालन करें। IAS के टॉपर्स द्वारा अपनाई गई परीक्षा के लिए आवश्यक तरीकों का पालन करना और टॉपर्स के द्वारा सुझाए गए पुस्तकों का अध्ययन करने से तैयारी करना आसान और प्रभावी बन जाता है।

हमने पिछले कुछ वर्षों के IAS टॉपर्स द्वारा सुझाए गए परीक्षा के लिए आवश्यक तरीकों की एक सूची तैयार की है। IAS टॉपर्स ने परीक्षा के लिए उन पुस्तकों का उल्लेख किया है जिन्होंने तैयारी के दौरान और परीक्षा के प्रत्येक चरण में अधिकतम स्कोर करने में उनकी मदद की है। उन महत्वपूर्ण पुस्तकों से अध्ययन करने की वजह से ही वे IAS परीक्षा के टॉपर्स के बीच अपनी जगह बनाने में सक्षम रहे।

यह लेख IAS परीक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों के बारे में जानकारी प्रदान करता है। IAS परीक्षा के लिए सही और प्रासंगिक पुस्तकें पढ़ना बहुत महत्वपूर्ण है। सही और प्रासंगिक पुस्तकों का चयन करके IAS के उम्मीदवार तैयारी के दौरान अपना कीमती समय बचा सकते हैं और वे अधिकतम स्कोर भी कर सकते हैं। इस लेख में सुझाई गई पुस्तकों में IAS परीक्षा के सिलेबस को अच्छे तरीके से बताया गया है।

सामान्य अध्ययन पेपर I

भारतीय इतिहास

1. प्राचीन इतिहास: R S Sharma  द्वारा रचित Ancient India (ओल्ड NCERT) में UPSC IAS प्रीलिम्स पाठ्यक्रम का अच्छा कवरेज है और आपको कई ऐसे प्रश्न मिलेंगे जो सीधे इस पुस्तक से पूछे गए हैं।

2. मध्यकालीन इतिहास: सतीश चंद्र द्वारा History of Medieval India (ओल्ड NCERT) इस खंड में अधिक प्रासंगिक है क्योंकि इसमें भारत के मध्यकालीन इतिहास के विषयों की अच्छी कवरेज है।

3. आधुनिक इतिहास: Spectrum की ‘A Brief History of Modern India’ और सुजाता मेनन द्वारा रचित ‘Concise History of Modern India’ IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए आधुनिक इतिहास के पाठ्यक्रम का अच्छा कवरेज प्रदान करता है।

4. भारतीय संस्कृति: इस खंड के लिए, Spectrum की ‘Facets of Indian Culture’ और ‘Centre for Cultural Resources and Training’ की वेबसाइट तैयारी को प्रभावी बनाने में मदद करता है।

प्राचीन इतिहास

R S Sharma द्वारा रचित Ancient India (ओल्ड NCERT)

 

मध्यकालीन इतिहास

सतीश चंद्र द्वारा History of Medieval India (ओल्ड NCERT)

 

आधुनिक इतिहास

Spectrum की ‘A Brief History of Modern India’

सुजाता मेनन द्वारा रचित ‘Concise History of Modern India’

भारतीय संस्कृति

Spectrum की ‘Facets of Indian Culture’

‘Centre for Cultural Resources and Training’ की वेबसाइट

भारत का भूगोल

भारत के भूगोल की तैयारी के लिए पुरानी NCERT की पुस्तकों को सबसे अधिक पसंद किया जाता है। भौतिक भूगोल के लिए गोह चेंग लेओंग द्वारा रचित ‘Certificate Physical and Human Geography’अधिक प्रासंगिक है। भौतिक भूगोल का अध्ययन करते समय उम्मीदवारों को ऑक्सफोर्ड स्कूल एटलस के माध्यम से निश्चित रूप से पढ़ना चाहिए।

भूगोल

1. Old NCERT books

2.Physical Geography by Goh Cheng Leong

3.For Maps Oxford School Atlas

भारतीय राजव्यवस्था

भारतीय राजनीति की तैयारी के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण पुस्तक लक्ष्मीकांत द्वारा ‘Indian Polity’, डी डी बसु द्वारा ‘An Introduction to the Constitution of India’ और पी एम बख्शी द्वारा 'The Constitution of India’ हैं। भारतीय राजव्यवस्था के लिए उपरोक्त मानक पुस्तकों के साथ, IAS के उम्मीदवारों को भारतीय राजव्यवस्था की पुरानी NCERT पुस्तकों को पढ़ना चाहिए।

भारतीय राजव्यवस्था

लक्ष्मीकांत द्वारा ‘Indian Polity’

⇒डी डी बसु द्वारा ‘An Introduction to the Constitution of India’

⇒ पी एम बख्शी द्वारा 'The Constitution of India’

भारतीय राजव्यवस्था की पुरानी NCERT पुस्तकें

भारतीय अर्थव्यवस्था

अर्थशास्त्र के कॉन्सेप्ट्स और शब्दावली के लिए NCERT पुस्तकें IAS की तैयारी के लिए पर्याप्त हैं। मैक्रो इकॉनॉमिक्स कक्षा 12 वीं की NCERT की पाठ्यपुस्तक का अध्ययन आवश्यक है क्योंकि यह अर्थव्यवस्था की मूल शब्दावली को बताता है जो किसी देश की वृद्धि और विकास को समझने में काफी सहायक होती है।

भारतीय अर्थव्यवस्था पर आगे के अध्ययन के लिए, मानक पुस्तकें रमेश सिंह द्वारा ‘Indian Economy’, मिश्रा और पुरी द्वारा ‘Indian Economy’और इकोनॉमिक सर्वे हैं। ये अध्ययन सामग्री काफी व्यापक हैं, इसलिए, IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए विशेष रूप से तैयारी करते समय उम्मीदवारों को चुनिंदा विषयों को ही पढ़ना चाहिए। हर साल इकोनॉमिक सर्वे वाले भाग के लिए, हम संबंधित वर्ष के इकोनॉमिक सर्वे के आधार पर भारतीय अर्थव्यवस्था प्रश्नोत्तरी प्रदान करते हैं।

भारतीय अर्थव्यवस्था

रमेश सिंह द्वारा ‘Indian Economy’,

मिश्रा और पुरी द्वारा ‘Indian Economy’और इकोनॉमिक सर्वे

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

इस खंड के लिए, IAS उम्मीदवारों को दैनिक समाचार पत्रों को पढ़ते रहना चाहिए क्योंकि IAS प्रारंभिक परीक्षा में विज्ञान और प्रौद्योगिकी अनुभाग के तहत पूछे जाने वाले प्रश्न आमतौर पर वर्तमान घटनाओं पर आधारित होते हैं। कक्षा 9 वीं और 10 वीं की NCERT की किताबें भी IAS की प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी के लिए अनुशंसित हैं लेकिन यह आवश्यक नहीं है (यदि उम्मीदवारों के पास पर्याप्त समय हो)।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

दैनिक समाचार पत्र (The Hindu, Economic Times, The Indian Express), ISRO की वेबसाइट, अन्य ऑनलाइन सामग्रियाँ

पर्यावरण और पारिस्थितिकी

पर्यावरण और पारिस्थितिकी अनुभाग की तैयारी के लिए, IAS  उम्मीदवारों को NIOS द्वारा प्रदान की गई अध्ययन सामग्री से पढ़ना चाहिए। इसके अलावा उम्मीदवारों को पर्यावरण और वन मंत्रालय, भारत सरकार और संयुक्त राष्ट्र के UNFCCC की विकास परियोजनाओं पर कड़ी नजर रखनी चाहिए।

पर्यावरण और पारिस्थितिकी

 

NIOS की अध्ययन सामग्री, दैनिक समाचार पत्र, अन्य ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल

Ethics की तैयारी के लिए

The Principles for Ethics, Integrity & Aptitude

Ethical Dilemmas Of A Civil Servant Paperback

करंट अफेयर्स

हमेशा की तरह दैनिक आधार पर समाचार पत्रों के अध्ययन से उम्मीदवारों को IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए करंट अफेयर्स की तैयारी में मदद मिलेगी। विशेष रूप से इस खंड के लिए हम एक नियमित अंतराल पर करंट अफेयर्स की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री प्रदान करते हैं। हम करंट अफेयर्स क्विज़ के साथ-साथ अंक-आधारित विश्लेषणात्मक लेख प्रदान कर रहे हैं जो IAS की तैयारी के लिए बहुत प्रासंगिक हैं।

करंट अफेयर्स

दैनिक समाचार पत्र (The Hindu, Economic Times, The Indian Express), Jagran Josh, अन्य ऑनलाइन सामग्रियाँ

सामान्य अध्ययन पेपर II CSAT (योग्यता)

IAS प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर II CSAT में अंग्रेजी, तार्किक और विश्लेषणात्मक योग्यता, गणित, निर्णय लेने की क्षमता जैसे विषय शामिल हैं। चूंकि, पेपर II CSAT केवल क्वालीफाइंग है इसलिए उम्मीदवारों को इस तरह तैयारी करना चाहिए जिससे वे कम से कम 40-50 अंक आसानी से प्राप्त कर सकें। हालांकि, पेपर II CSAT में क्वालीफाई करने के लिए केवल 33% अंकों की आवश्यकता होती है।

English Comprehension

इस खंड में पूछे जाने वाले गद्यांश आमतौर पर मानक पत्रिकाओं और समाचार पत्रों से लिए जाते हैं।विशेष रूप से इस खंड के लिए एक पुस्तक खरीदना पैसे की बर्बादी है। इसलिए योजना, कुरुक्षेत्र, फ्रंटलाइन जैसी पत्रिकाओं और इंडियन एक्सप्रेस, द हिंदू, EPW और लाइवमिंट जैसी पत्रिकाओं से अध्ययन करते रहना चाहिए। इसके अलावा पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का भी अभ्यास करते रहना चाहिए।

तार्किक और विश्लेषणात्मक योग्यता

इस खंड के लिए, अधिकांश उम्मीदवार आर एस अग्रवाल की पुस्तक को पसंद करते हैं, लेकिन उन्हें एम के पांडे की Analytical Reasoning का भी सहारा लेना चाहिए। आर एस अग्रवाल की पुस्तक में विभिन्न विषयों की अच्छी कवरेज है लेकिन एम के पांडे की व्याख्या बहुत अधिक उन्नत और आकर्षक है।

गणित

एस चंद प्रकाशन द्वारा प्रकाशित आर एस अग्रवाल की पुस्तक गणित की तैयारी के लिए पर्याप्त है। इस पुस्तक में IAS पाठ्यक्रम के विषयों की व्यापक कवरेज है और अन्य पुस्तकों का अलग से अध्ययन करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

निर्णय लेने की क्षमता

समाचार पत्रों के सामान्य लेख पढ़ें। किसी विशेष क्षेत्र या समुदाय की समस्याओं से संबंधित समाचार और उन समस्याओं को हल करने वाले संबंधित नागरिक निकाय जैसे इन समस्याओं को हल करते हैं उससे उम्मीदवारों की निर्णय लेने की क्षमता विकसित हो सकेगी।

IAS के उम्मीदवारों को किसी भी विषय के लिए बड़ी संख्या में पुस्तकों को प्राथमिकता नहीं देनी चाहिए। उन्हें मानक पुस्तकों और अध्ययन सामग्री का ही अध्ययन करना चाहिए। उन्हें उन मानक पुस्तकों को बार-बार रिवाइज करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए न कि नई अध्ययन सामग्री को पढ़ना चाहिए।

IAS के लिए आवश्यक पुस्तकें

विषय

मानक पुस्तकें

प्राचीन इतिहास

R S Sharma द्वारा रचित Ancient India (ओल्ड NCERT)

मध्यकालीन इतिहास

सतीश चंद्र द्वारा History of Medieval India (ओल्ड NCERT)

आधुनिक इतिहास

Spectrum की ‘A Brief History of Modern India’

सुजाता मेनन द्वारा रचित ‘Concise History of Modern India’

भारतीय संस्कृति

Spectrum की ‘Facets of Indian Culture’

‘Centre for Cultural Resources and Training’ की वेबसाइट

भूगोल

NCERT की पुरानी पुस्तक, गोह चेंग लेओंग द्वारा रचित ‘Certificate Physical and Human Geography’, ऑक्सफोर्ड स्कूल एटलस

भारतीय राजव्यवस्था

लक्ष्मीकांत द्वारा ‘Indian Polity’, डी डी बसु द्वारा ‘An Introduction to the Constitution of India’ और पी एम बख्शी द्वारा 'The Constitution of India’

भारतीय राजव्यवस्था की पुरानी NCERT पुस्तकें

भारतीय अर्थव्यवस्था

रमेश सिंह द्वारा ‘Indian Economy’, मिश्रा और पुरी द्वारा ‘Indian Economy’और इकोनॉमिक सर्वे

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

दैनिक समाचार पत्र (The Hindu, Economic Times, The Indian Express), ISRO की वेबसाइट, अन्य ऑनलाइन सामग्रियाँ

पर्यावरण और पारिस्थितिकी

NIOS की अध्ययन सामग्री, दैनिक समाचार पत्र, अन्य ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल

करंट अफेयर्स

दैनिक समाचार पत्र (The Hindu, Economic Times, The Indian Express), Jagran Josh, अन्य ऑनलाइन सामग्रियाँ

Related Categories

Comment (3)

Post Comment

3 + 8 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.
  • Soham dhatrakJun 20, 2021
    It was a very beautiful and awesome information about upsc and I strongly believe that one should pass this exam by following this books given by you thankyou
    Reply
  • MohanrajanMay 14, 2021
    This information was very nice
    Reply
  • Pratik singhMay 8, 2021
    jagran josh please, can u make a same detailed syllabuys for IAS mains examinaiton video for complete guidance about mains examination so that many aspirants get help about mains syllabus
    Reply