Search

आत्मविश्वास को बूस्टअप करने की कुछ आसान तकनीक

क्या आत्मविश्वास की कमी एक प्रोफेशनल के रूप में आपके व्यक्तित्व को प्रभावित कर रही है? यदि हां,तो इस कमी को दूर करने का सबसे प्रभावी तरीका क्या हो सकता है?

Dec 21, 2017 17:11 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
How professionals can build their confidence at work?
How professionals can build their confidence at work?

क्या आत्मविश्वास की कमी एक प्रोफेशनल के रूप में आपके व्यक्तित्व को प्रभावित कर रही है? यदि हां,तो इस कमी को दूर करने का सबसे प्रभावी तरीका क्या हो सकता है? क्या आपने इस बारे में कभी सोचा? वास्तव में प्रमोशन से लेकर सैलरी हाईक तक आपके प्रोफेशनल लाइफ में घटने वाली प्रत्येक नयी घटना आपके आत्मविश्वास और कौशल पर निर्भर करती है. यदि आपका मैनेजर या बॉस आपको आत्मविश्वास से भरपूर वर्कर के रूप में नहीं देखता है तो आप वेतन वृद्धि,पदोन्नति या सफलता आदि बहुत आसानी से हासिल नहीं कर सकते हैं.

लेकिन जब आप अपने आत्मविश्वास का सही तरीके से प्रदर्शन करते हैं तो कंपनी का प्रबंधन आपके करियर ग्रोथ के लिए खुद ही प्रयास करने लगता है.

हालांकि, आत्मविश्वास कोई ऐसी चीज नहीं है जो आप अपने माता-पिता से विरासत में हासिल कर सकें लेकिन कुछ ऐसे आसान तरीके हैं जो आत्मविश्वास बढ़ाने में आपकी मदद कर सकते हैं.

इस आर्टिकल में हमने कुछ कारगर तरीके सुझाते हुए यह समझाने की कोशिश की है कि आत्मविश्वास कैसे बढाया जा सकता है ?

परफॉर्मेंस का आकलन

आप दैनिक चुनौतियों और काम पर समस्याओं का सामना करने के लिए जरुरी कुछ विशेष कौशल,ज्ञान और विशेषज्ञता की कमी के कारण अपना आत्म विश्वास प्रदर्शित नहीं कर सकते. यदि आप अपनी कमियों के बारे में नहीं जानते हैं,तो आप इसके लिए तैयारी नहीं कर सकते. कमियों का आंकलन करने के लिए पहले अपने प्रदर्शन का आकलन करें और उसके लिए तैयारी शुरू करें। तैयारी करने में समय की रकम खर्च करने के बाद, आप अपने आत्मविश्वास में सुधार के साथ-साथ अपने प्रदर्शन को भी देखे पाएंगे.

कमियों को सुधारने का प्रयास करना

यह विशेष कौशल,ज्ञान या विशेषज्ञता का एक सेट हो सकता है जो काम पर आपके समग्र प्रदर्शन को गंभीरता से प्रभावित करते हैं. यदि इस पर अतिशीघ्र विचार नहीं किया गया तो यह आपके व्यावसायिक सफलता और करियर के विकास में बाधा डालने के साथ-साथ आपके आत्मविश्वास को नुकसान पहुंचा सकता है.इसलिए उन कौशल, ज्ञान और विशेषज्ञता पर काम करना शुरू करें जो काम में आपके प्रदर्शन को प्रभावित कर रहे हैं.एक बार जब आप अपनी कमियों पर काम करना शुरू करते हैं,तो आप अपने काम के स्थान पर अधिक आत्मविश्वास महसूस करना शुरू करते हैं. वास्तव में आत्मविश्वास वह कुंजी है जो सफलता को अनलॉक करती है. अगर आपको अपने ऊपर विश्वास है,तो आप अपने आप को अन्य सहकर्मियों से कुछ अलग दिखा सकते हैं.यह सफलता हासिल करने में आपकी सहायता कर सकता है.

कम्फर्ट जोन से बहार निकलें

केवल सुविधा क्षेत्र में कार्य करना कुछ ऐसा है जो आपको नई चीजें सीखने नहीं देता.आत्मविश्वास सबकुछ के बारे में है और ज्ञान के माध्यम से आप सीखते हैं. इसके लिए आपको एक एकेडमिक पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने की ज़रूरत नहीं है लेकिन नई चीजों को सीखने के लिए आशय और जिज्ञासा विकसित करने की आवश्यकता है. लेकिन अगर आपको नई चुनौतियों और समस्याओं का डर है,तो आप सही तरीके से कोई चीज नहीं सीख सकते हैं. इसलिए सबसे पहले अपने डर से छुटकारा पाएं और फिर नई चुनौतियों और समस्याओं को गले लगाएं.

अपना लक्ष्य तय करें

किसी भी गंतव्य तक पहुंचने के लिए आपको सही दिशा में आगे बढ़ने की आवश्यकता होती है. यदि आप दिशाहीन हैं तो आप कहीं भी नहीं पहुंच सकते हैं. यदि आप अपने समग्र प्रदर्शन में सुधार करना चाहते हैं तो आपको अपना एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा.

सहकर्मियों से सीखें

यदि आप किसी सह-कार्यकर्ता के साथ काम कर रहे हैं जो कुछ विशेष बातों पर व्यावहारिक ज्ञान और अनुभव रखता है,तो आप उनसे मार्गदर्शन के लिए कहें. इससे आपको नई चीजें सीखने में मदद मिल सकती है जो काम पर नई चुनौतियों और समस्याओं का सामना करने में मदद कर सकती है. इसके अलावा यह आपके आस-पास एक सकारात्मक माहौल तैयार करेगा जो आपके प्रदर्शन और साथ ही आत्मविश्वास में सुधार करेगा.

अंततः

आज के प्रतिस्पर्धात्मक माहौल में आपकी सफलता आपके इस बात पर निर्भर करती है कि काम पर चुनौतियों और समस्याओं से आप किस प्रकार निपटते हैं. यह कोई सहजात रूप में प्राप्त होने वाली कोई चीज नहीं है लेकिन कार्यप्रणाली के आकलन सहित एक प्रक्रिया के माध्यम से अपनी कमी को दूर करना और दूसरों से सीखकर काम करना आदि गुणों से आप अपने अंदर बड़ी आसानी से विश्वास पैदा कर सकते हैं. इस आर्टिकल  में हमने यह समझाया है कि आप किस तरह अपने आत्मविश्वास को बेहतर बना सकते हैं.

Related Stories