Positive India: सेल्फ स्टडी की मदद से कैसे कर सकते हैं UPSC क्लियर, IPS लक्ष्य पांडेय ने बताई अपनी स्ट्रेटेजी

UPSC सिविल सेवा 2018 की परीक्षा में 316वीं रैंक हासिल कर दिल्ली पुलिस में ACP पद पर कार्यरत IPS लक्ष्य पांडेय मानते हैं कि महंगी कोचिंग क्लास ज्वाइन करने और एक ही विषय के लिए कई किताबे पढ़ना अनिवार्य नहीं हैं। सेल्फ स्टडी के माध्यम से भी परीक्षा पास की जा सकती है। 

Created On: Apr 1, 2021 13:53 IST
Positive India:  सेल्फ स्टडी की मदद से कैसे कर सकते हैं UPSC क्लियर, IPS लक्ष्य पांडेय ने बताई अपनी स्ट्रेटेजी
Positive India: सेल्फ स्टडी की मदद से कैसे कर सकते हैं UPSC क्लियर, IPS लक्ष्य पांडेय ने बताई अपनी स्ट्रेटेजी

वर्तमान में दिल्ली में सहायक पुलिस आयुक्त के पद पर तैनात, IPS लक्ष्य पांडेय ने अपने व्यक्तिगत अनुभवों के आधार पर UPSC की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए अपनी परीक्षा की रणनीति साझा की। उनका मानना है कि "सेल्फ-स्टडी किसी भी कोचिंग से बेहतर है"। अपने ट्वीट में उन्होंने अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए UPSC  के उम्मीदवारों की मदद के लिए अपना स्टडी मटेरियल और "प्रमुख युक्तियों" की एक सूची साझा की है।

UPSC (IAS) Prelims 2021 की तैयारी के लिए पढ़ें यह महत्वपूर्ण NCERT पुस्तकें

कैसे करें UPSC परीक्षा की तैयारी?

ट्विटर पर अपलोड की गई तस्वीरों में, उन्होंने लिखा है: "यूपीएससी सिविल सेवा की तैयारी कैसे शुरू करें?" इस प्रक्रिया को उन्होंने आसानी से समझाने के लिए स्टेप बी स्टेप तरीके से लिखा है। 

- सबसे पहले, 'पुस्तकों की खरीद', जिसमें एनसीईआरटी कक्षा 11 भारतीय और विश्व भूगोल, भौतिक और मानव भूगोल, गोह चेंग लेओंग, राजनीति के लिए लक्ष्मीकांत, आधुनिक इतिहास के लिए- राजीव अहीर द्वारा स्पेक्ट्रम, पर्यावरण के लिए शंकर आईएएस के नोट्स, शामिल हैं। श्री राम आईएएस द्वारा विज्ञान और प्रौद्योगिकी में अर्थशास्त्र नोट्स एवं अम्बालिका स्मृति द्वारा NCERT सारांश।

- दूसरे स्टेप में वह हर दिन पूरी तरह से टाइम टेबल का पालन करने का सुझाव देते है, जिसमें अखबार केवल 1 घंटे में पढ़ना, 4 से 5 घंटे के लिए पढ़ाई, शारीरिक गतिविधियों, परिवार और दोस्तों के समय के साथ 7 से 8 घंटे की नींद शामिल है। 

- अंत में, उन्होंने 'पॉलिटी' विषय के साथ शुरुआत करने का सुझाव दिया है जिसे पहले 15 दिनों में पढ़ना चाइए और अगले तीन महीनों तक 'आर्थिक' भाग पर जोर देना चाहिए। इसके बाद आधुनिक इतिहास और भूगोल और फिर पर्यावरण और विज्ञान । लक्षय के अनुसार, नियमित रूप से संशोधन करना आवश्यक है, साथ ही कई टेस्ट पेपर और टेस्ट सीरीज को हल करना चाहिए।

तैयारी के दौरान क्या ना करें?

IPS लक्षय पांडे ने न केवल क्या करना है के बारे में सलाह दी है, बल्कि छात्रों के लाभ के लिए "क्या नहीं करें" भी बताया है। उन्होंने कक्षा 6 से एनसीईआरटी की पुस्तकों को पढ़ने, कोचिंग में शामिल होने, समाचार पत्रों को पढ़ने में एक घंटे से अधिक समय बिताने, कई किताबें पढ़ने और करंट अफेयर्स के लिए कई मैगज़ीन को फॉलो करना अनावश्यक बताया है। 

अपने ट्वीट में, वह कहते हैं, “किसी भी कोचिंग की तुलना में सेल्फ स्टडी बेहतर है। यह मेरे अनुभव पर आधारित है।” आपको बता दें कि लक्ष्य ने यह परीक्षा बिना किसी कोचिंग की मदद लिए ही क्लियर की थी। 

UPSC (IAS) Prelims 2021: परीक्षा की तैयारी के लिए Subject-wise Study Material & Resources

Comment ()

Related Categories

Related Stories

Post Comment

0 + 8 =
Post

Comments