Search

कैसे बनें एक सफल इंटरप्रेन्योर ?

एक सफल इंटरप्रेन्योर बाहरी दुनिया के दबाव के कारण अपने फैसले कभी नहीं बदलता बल्कि अपने फैसलों से पूरी दुनिया को बदलने की क्षमता रखता है. साथ ही आप यह भी सोंचें कि यदि कोई अपने सबसे बड़े सपने को पूरा करने की कोशिश नहीं कर रहा है तो अवश्य ही वह वो काम नहीं कर रहा है जिसके लिए प्रकृति ने उसे इस दुनिया में भेजा है.

Feb 15, 2019 17:22 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
कैसे बनें एक सफल इंटरप्रेन्योर ?
कैसे बनें एक सफल इंटरप्रेन्योर ?

दार्शनिक बर्ट्रेंड रसेल ने कहा था कि “किसी चीज को करना संभव है और इसका सर्वश्रेष्ठ प्रमाण यह है कि कोई दूसरा व्यक्ति उसे पहले ही कर चुका है”.अर्थात इस दुनिया में कोई भी काम अगर आप करना चाहें तो बड़ी आसानी से कर सकते हैं क्योंकि कोई न कोई ऐसा होगा जो उस काम को आप से पहले किया होगा तथा आप उससे मार्ग दर्शन प्राप्त कर सकते हैं.

लेकिन यहाँ एक चीज जानना बहुत जरुरी है कि आपको सबसे पहले यह जानना जरुरी होगा कि क्या आप वास्तव में तहेदिल से इंटरप्रेन्योर बनने की इच्छा रखते हैं या फिर किसी के कहने, देखादेखी तथा मज़बूरी बस इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं? यदि आपको यह जानना है कि क्या आप वास्तव में एक इंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं ? तो खुद से इन सवालों को पूछिए और इनमें से यदि अधिकांश के जवाब पॉजिटिव हों, तो आप अवश्य इस प्रोफेशन को अपनाएं-

  • इंटरप्रेन्योर बनने की हमारी स्वयं की इच्छा है या फिर मैं अन्य सफल इंटरप्रेन्योर को देखकर ऐसा करना चाहता हूँ.
  • क्या इंटरप्रेन्योर बनकर सिर्फ पैसा कमाना मात्र ही मेरा लक्ष्य नहीं है ?
  • समय पड़ने पर इंटरप्रेन्योर बनने के लिए जरुरी त्याग करने के लिए मानसिक रूप से तैयार हूँ ?
  • किसी रिश्तेदार,दोस्त-मित्र के कहने या अधिक दबाव पड़ने पर मैं इंटरप्रेन्योर बनने के इरादे को छोड़ तो नहीं दूंगा.
  • कहीं ऐसा तो नहीं कि अपने वर्तमान कार्य से तंग आकर मैं इंटरप्रेन्योर बनना चाहता हूँ .

ऐसे कई सवाल हैं जिनको आप अपने आप से पूछिए और पॉजिटिव उत्तर पाने पर इस दिशा में सार्थक पहल करने की कोशिश कीजिये. आपको अवश्य सफलता मिलेगी.

क्या है इंटरप्रेन्योरशिप ?

इंटरप्रेन्योरशिप का अभिप्राय होता है कोई व्यवसाय विशेष. जो लोग अपना स्वयं का व्यवसाय या बिजनेस शुरू करते हैं वे इंटरप्रेन्योर कहलाते हैं तथा अपने सोचे गए किसी इन्नोवेटिव आइडिया से खुद का बिजनेस शुरू करना ही इंटरप्रेन्योरशिप कहलाता है. इंटरप्रेन्योरशिप कोई जॉब नहीं होती है, इसमें आपको एक निश्चित समय में काम करने की पाबन्दी नहीं होती है. बल्कि इसमें आपको तबतक बहुत ज्यादा हार्ड वर्क की जरुरत पड़ती है जब तक आप मार्केट में सफल  नहीं हो जाते, मार्केट में आपका नाम नहीं हो जाता. इतना ही नहीं अपनी ब्रांड की पहचान बनाये रखने के लिए भी आपको सतत प्रयत्नशील रहना पड़ता है. वस्तुतः एक छोटे से आइडिया को एक बड़े बिजनेस में परिवर्तित कर देने की कला ही इंटरप्रेन्योरशिप कहलाती है.

आज के महंगाई के इस दौर में अपने लाइफ को बेहतर तरीके से जीने के लिए एवं अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने  के लिए पैसा कमाना बहुत जरुरी हो गया है. समाज का हर तबका कोई न कोई कार्य करके अपनी जरूरतों को पूरा करता है. जैसे टीचर स्कूल में पढ़ाकर, क्लर्क बैंक में नौकरी करके तथा मजदूर कारखानों में काम करके सैलरी पाते हैं तथा उसी से अपना काम चलाते हैं. वहीं दूसरी तरफ किसी कंपनी के मालिक,दुकानदार एवं एक बिजनेसमैन अपने व्यवसाय से ही पैसा कमाते हैं. वे खुद का अपना कोई कार्य करते हैं. इन्हीं में कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो न सिर्फ खुद का ही व्यवसाय करते हैं बल्कि अपना व्यवसाय बहुत बड़ा कर उसमें कई अन्य लोगों को भी रोजगार देते हैं.ऐसे व्यक्तियों को ही इंटरप्रेन्योर कहा जाता है.

जीवन में एक सफल इंटरप्रेन्योर बनने के लिए आवश्यक एवं अनुकरणीय बातें

पर्याप्त पूँजी की व्यवस्था रखें

किसी भी व्यक्ति को बिजनेस शुरू करने के लिए पर्याप्त पूँजी की व्यवस्था करनी चाहिए.बिना किसी पर्याप्त पूँजी के किसी बिजनेस को शुचारू रूप से चलाना संभव नहीं है.इसलिए किसी भी प्रकार चाहे बैंक से लोन लेकर या फिर किसी अन्य माध्यम से पर्याप्त पूँजी की व्यवस्था रखनी चाहिए तभी आप मार्केट में बहुत लम्बे समय तक सरवाइव कर सकते हैं. कसी भी व्यवसाय  को शुरू करने से पहले सबसे ज़रुरी यह जान लेना होता है कि उसमें कितने पैसे की जरूरत होगी और कितने समय के लिए होगी ?मशीन, तथा व्यवसाय से सम्बन्धित सामान खरीदने के लिए और व्यवसाय शुरू करने के लिए तथा कर्मचारियों  को सैलरी देने के लिए पैसों की आवश्यकता होती है.

अपने लिए किसी सही बिजनेस का चयन करें

एक इंटरप्रेन्योर बनने के लिए आपके पास एक सही बिजनेस प्लान और आइडिया होनी चाहिए तथा आपको यह भी पता होना चाहिए कि आपके लिये कौन सा बिजनेस ज्यादा सूटेबल रहेगा ? इसके लिए किसी नए प्रोडक्ट के विषय में भी सोचा जा सकता है. साथ ऐसी वस्तु के बारे में भी सोचा जा सकता है जो थोड़ी यूनिक हो. अक्सर देखने को मिलता है कि लोग बिजनेस में उतर तो जाते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव के कारण वह उसे ज्यादा लंबा नहीं खीच पाते और निराश होकर उसे बंद कर देंते हैं और अगर किसी तरह जोर देकर चलाते भी रहते हैं तो उन्हें लाभ बिलकुल नहीं मिल पाता है.

ऐसे में यह बेहद जरूरी है कि आपके पास उस बिजनेस की पूरी जानकारी होनी चाहिए, जिस क्षेत्र में उतरना चाह रहे हों उसमें आपको पता होना चाहिए कि इसके लिए पैसों का बंदोबस्त कहां से किया जाएगा ? आप जिस मार्केट में घुसने वाले हैं उसमें कितनी प्रतिस्पर्धा है और साथ ही आपको यह भी पता होना चाहिए कि आप अपने सर्विस या प्रॉडक्ट को मार्केट में कैसे उतारेंगे ? किसी भी तरह का बिजनेस शुरू करने से पहले उस बिजनेस में होने वाले लाभ, नुकसान या उससे होने वाले आय के विषय में बहुत सोच समझ लें.

रिस्क लेने के लिए मानसिक रूप से तैयार रहना चाहिए

किसी भी बिजनेस में आप तबतक सफल नहीं हो सकते हैं जब तक कि आप रिस्क लेने की क्षमता ना रखते हों क्योंकि मार्केट में पैसा लगाना एक तरह का रिस्क ही होता है, लोगों को डर होता है कि अगर पैसा वापस नहीं आ पाया तो पूरी तरह घाटा लग जायेगा.लेकिन यह बात भी सही है कि जो ऐसा सोचता है वह कभी बिजनेस नहीं कर सकता. इसलिए आपको बिजनेस के लिए रिस्क तो लेना ही पड़ेगा. इसलिए रिस्क लेने से डरें नहीं. लेकिन कोई भी रिस्क सूझ-बूझ के साथ लें. जब आप यह तय कर लेते है कि आपका बिजनेस प्लान क्या है ? उसके बाद आपका अगला कदम होता है उस पर कार्य करना.लेकिन यह ज़रुरी नहीं की जिस बिजनेस पर आप काम कर रहे है उसमें आप सफल ही हों या आपको लाभ प्राप्त हो ही. रिस्क हर बिजनेस में होता है. हर इंटरप्रेन्योर को रिस्क कभी ना कभी उठाना ही पड़ता है तथा एक सफल इंटरप्रेन्योर बनने के लिए जोखिम उठाना ही होता है तभी आप एक सफल  इंटरप्रेन्योर बन सकते हैं.

कस्टमर की समस्याओं का समाधान करना आना चाहिए

आप किसी भी तरह का बिजनेस करें समस्याएं तो आएँगी ही आएँगी.इसलिए छोटी-मोटी परशानियो, समस्याओं या फिर रुकावटों से बिलकुल नहीं घबराएं तथा उनके समाधान तलाशें.समस्याओं को हल करने की कला आपके पास होनी चाहिए. कुछ लोग समस्याओं को देखकर बहुत घबरा जाते हैं, जबकि कुछ उन्हें चुनौतियों के रूप में स्वीकार करते हैं,तो इसलिए आप भी समस्याओं को देख कर घबराएं नहीं और एक चुनौती के रूप में उनका डंटकर आत्मविश्वास के साथ मुकाबला करें.

मार्केट में सफलता के लिए लीक से हटकर सोंचे

बिजनेस में यह कत्तई जरूरी नहीं कि आप भेड़ चाल चलें या फिर ये सोचें कि अम्बानी ने ये बिजनेस किया तो मैं भी यही कर लूं, जरूरी नहीं कि इससे आपको फायदा ही होगा बल्कि आपको लाभ उस समय मिलेगा जब आप लीक से हटकर कुछ सोचने की कोशिश करेंगे.क्योंकि आपको अपने आइडिया को बेचना है, प्रॉडक्ट को बेचना है या फंड इकठ्ठा करना है और ऐसा तभी हो सकता है जब आप आम लोगों से हटकर सोचते हों. जेफ़ बेजोस जो अमेजन. कॉम के सीईओ और संस्थापक हैं उन्होंने 1994 में जब इसकी स्थापना की थी उस समय उनका एकमात्र फोकस यह था कि भविष्य में उनके पास कुल कितने कस्टमर्स होंगे ? उन्होंने इंटरनेट के भविष्य को देखते हुए लीक से हटकर कुछ सोचा और उसका परिणाम हमारे सामने है. आमेजन आज दुनिया की सबसे बड़ी ई कॉमर्स कंपनी बन चुकी है.

नेतृत्व क्षमता के विकास के साथ साथ अपना एक निश्चित लक्ष्य निर्धारित करें

अगर आप खुद का काम करना चाहते हैं और अपने आपको एक इंटरप्रेन्योर का दर्जा देना चाहते है तो सबसे पहले आपको नेतृत्व की क्षमता से युक्त होना पड़ेगा अर्थात आपको एक सही लीडर बनना होगा. यदि आपमें  एक अच्छे लीडर के गुण हैं तो आप अपने कर्मचारियों से अच्छा और बेहतर काम करा सकेंगे. अगर आप कोई बिजनेस कर रहे हैं तो यह स्वाभाविक है कि आपको अपने कुछ कामों के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ेगा. अतः आपके लिए यह बहुत जरुरी है कि आप सभी को साथ लेकर चलें और एक अच्छे लीडर कहलाएं क्योंकि अगर आपके नीचे काम करने वाले आपसे खुश नहीं रहेंगे तो आपको वे अपना बेस्ट नहीं दे पाएंगे और इससे आपका नुकसान भी हो सकता है.

एक और बात इंटरप्रेन्योर के लिए बेहद जरूरी होती है वह है अपने लक्ष्य से अच्छी तरह से वाकिफ होना. हमेशा शॉर्ट टर्म टारगेट और लॉन्ग टर्म टारगेट के अन्तर को समझते हुए ही कोई निर्णय लें. अपने किसी भी काम को पूरा करने के लिए आपके पास एक डेडलाइन भी होना चाहिए तथा हर हालत में किसी काम को डेडलाइन के अंतर्गत ही पूरा किया जाना चाहिए.

आप हमेशा याद रखिये कि एक सफल इंटरप्रेन्योर बाहरी दुनिया के दबाव के कारण अपने फैसले कभी नहीं बदलता बल्कि अपने फैसलों से पूरी दुनिया को बदलने की क्षमता रखता है. साथ ही आप यह भी सोंचें कि यदि कोई अपने सबसे बड़े सपने को पूरा करने की कोशिश नहीं कर रहा है तो अवश्य ही वह वो काम नहीं कर रहा है जिसके लिए प्रकृति ने उसे इस दुनिया में भेजा है.

अतः आत्म विश्वास के साथ सही टेक्नीक्स और मार्केट की जरूरतों को समझते हुए एक सफल इंटरप्रेन्योर बनने के अपने सपने को साकार करें तथा आपने साथ साथ देश और समाज का भी भला करें.

Related Stories