Jagran Josh Logo

कैसे बने मॉर्निंग पर्सन? जाने कुछ आसान तरीके और टिप्स

Dec 11, 2017 15:22 IST
  • Read in English
Simple tips to help you become a morning person
Simple tips to help you become a morning person

हम सभी इस कहावत से तो भली भांति परिचित ही हैं कि ‘जल्दी सोना और जल्दी उठना इन्सान को स्वस्थ, समृद्ध और बुद्धिमान बनाता है.’ लेकिन हम में से कितने ऐसे हैं जो इसे वास्तव में अपनाते हैं. बचपन में हम ऐसी कहावतों और उन पर बेस्ड छोटी मोरल स्टोरीज की हमेशा तारीफ करते थे. जैसे – जैसे हम बड़े होते गये, हम ज्यादा जिद्दी और लापरवाह होते चले गये. हमारे पूरे दिन का सबसे पसंदीदा समय रात बन गई, चाहे हम रात में पढ़ाई करें, अपने दोस्तों से लंबी-लंबी बातें करें या फिर चादर ओढ़कर अपने लैपटॉप पर मूवीज देखें. ऐसा करने पर जैसा अक्सर होता ही है, ठीक उसी प्रकार हम रात के उल्लू की तरह रात में ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं और दिन के समय सुस्त पड़ जाते है.

लेकिन जब आप किसी कॉलेज में एडमिशन ले लेते हैं तो यह सब बदलना पड़ता है. बहुत सवेरे आपकी क्लासेज लगती हैं और अपने हाई स्कूल के दिनों के बजाय कॉलेज लेक्चर्स के दौरान आपको ज्यादा फोकस्ड और चौकस रहना पड़ता है. यहां यह बताने की जरूरत नहीं है कि सुबह जल्दी उठने के अपने कई फायदे होते हैं. आप दोपहर में सोकर उठने वाले लोगों से ज्यादा स्वयं को एक्टिव, तरोताजा और ऊर्जावान महसूस करते हैं. सुबह उठकर सैर पर जाने के कई स्वास्थ्य संबंधी लाभ होते हैं. इसके अलावा, कॉलेज के दिनों में यह आदत बना लेना कहीं अच्छा है बजाय इसके कि कॉलेज के बाद अपनी पहली जॉब लगने पर हम इस आदत को बनाने की कोशिश करें.

यहां एक मॉर्निंग पर्सन बनने में आपकी मदद के लिए कुछ टिप्स और ट्रिक्स दिये जा रहे हैं:  

अपने सोने का समय तय करें और धीरे-धीरे आगे बढ़ायें

यह बहुत आसान है, यदि आप सुबह जल्दी उठाना चाहते हैं तो आपको रात में जल्दी सोना चाहिये. यह सही है कि इसका मतलब आधी रात तक चलने वाली पार्टीज न करना या देर रात तक अपने दोस्तों के साथ इधर-उधर घूमना बंद कर देना है. लेकिन इसमें आपकी ही भलाई है. इसका यह मतलब भी नहीं है कि एक दिन आप रात में जल्दी सो जाते हैं और ठीक उससे अगले दिन आप बड़े सवेरे उठ जायेंगे. ऐसा हो सकता है कि आपको अपने रोज़-रोज़ सोने के समय तक नीद ही न आये. इसलिये यह अच्छा रहेगा कि आप धीरे-धीरे अपने सोने के समय में अंतर लायें. उदाहरण के लिए अगर आप रोज़ आधी रात गुजर जाने पर सोते हैं तो आज आप अपने रोज़ सोने के समय से आधा घंटा पहले अपने बिस्तर पर चले जायें और अपने रोज़ जागने के समय से आधा घंटा पहले का अलार्म लगायें. इस शेड्यूल का ईमानदारी से पालन करें और अपने सोने और जागने के समय को धीरे-धीरे आगे बढ़ाते रहें. 

रात के समय ब्राइट स्क्रीन्स देखने से बचें

यह कहना जितना आसान है, करना उतना ही मुश्किल. जैसे कि हमने पहले चर्चा की है, आजकल के नौजवान रात के समय पढ़ना, अपने दोस्तों से लंबी बातें करना और अपनी पसंदीदा मूवीज या टीवी शोज देखना पसंद करते हैं. लेकिन आपके मोबाइल्स और लैपटॉप्स की स्क्रीन्स की चमकदार रोशनी आपके दिमाग को आसानी से धोखा दे सकती है और इससे आपके दिमाग को लगता है कि यह दिन का समय है इसलिये रात में आपके अक्सर सोने के समय से अधिक देर तक आपका दिमाग आपको जगाये रखता है. अपने बिस्तर पर जाने से कम से कम 1 घंटा पहले आप अपने फ़ोन और लैपटॉप का इस्तेमाल न करने की कोशिश करें. जब आप सोने के लिये अपने बिस्तर पर जायेंगे तो इससे आपको तुरंत और अच्छी नींद आने में मदद मिलेगी. ऐसा करने पर आप अगली सुबह आसानी से जग सकेंगे और इसका कारण यह है कि आपने पिछली रात एक अच्छी और तनावमुक्त नींद ली है.  

अपनी अलार्म क्लॉक को कुछ दूरी पर रखें

असल में यह बात अपने आप में बिलकुल स्पष्ट है जिसे किसी खुलासे की जरूरत नहीं है. यह सच है कि अगर आप अपनी अलार्म क्लॉक अपने पास नहीं रखते हैं तो आप बार-बार स्नूज़ बटन नहीं दबा सकते. यदि आप कुछ देर और सोना भी चाहें और स्नूज़ बटन को दबाने के बारे में सोचें भी, तो भी आपकी अलार्म क्लॉक कुछ दूर होने के कारण आपको ऐसा करने के लिये अपने बेड पर से उठना पड़ेगा. कोई भी स्नूज़ बटन दबाने के लिए बार-बार अपने बेड से उठना नहीं चाहेगा. अगर आप अपने लिए कोई ऐसी क्रिएटिव अलार्म क्लॉक लेना चाहते हैं जो अलार्म बंद होने से पहले आपसे कुछ मशक्त करवा सके तो आप इसके लिए कुछ इंटरेस्टिंग ऐप गूगल से प्राप्त कर सकते हैं. 

सुबह की रोशनी कमरे में आने दें

याद करें... कैसे आपकी मम्मी आपको सुबह जगाने के लिए आपके कमरे के सब पर्दे हटा दिया करती थीं और कैसे आप उस सुबह की रोशनी से बचने के लिए अपनी चादर से अपना मुंह ढक लेते थे. लेकिन इसके बाद आप जल्दी ही जग जाते थे, झुंझला जाते थे कि सुबह की रोशनी ने आपकी मीठी, सपनीली नींद पहले ही खराब कर दी है. हम में से कई शायद यह जानते हैं कि हमारे शरीर में एक जैविक घड़ी लगी है जो सुबह की रोशनी के साथ ही हमें जगने का संदेश देती है, इससे बढ़िया कोई दूसरा अलार्म दुनिया में नहीं है. इसलिये अगर रात के समय आपके कमरे में स्ट्रीट लाइट की रोशनी न आती हो तो अपने कमरे के पर्दे खोलकर सोयें. आप जैसे ही जगते हैं, तुरंत अपने कमरे के पर्दे हटा दें ताकि आप के शरीर को सिग्नल मिल जाए कि अब सुबह हो गई है और आपको अपना बिस्तर छोड़ना होगा.

अब आपको सुबह जल्दी जागने के तरीके पता चल चुके हैं. कल सुबह ही जल्दी जागने की कोशिश करें और सुबह के शुरूआती घंटों की सुंदरता और शांति को महसूस करें. एक एक्सरसाइज रूटीन अपनाइये और अपने लिए एक हेल्थी ब्रेकफास्ट बनायें ताकि आपके दिन की एक शानदार शुरुआत हो सके. क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया है?  इसे अपने दोस्तों और सहकर्मियों के साथ शेयर करें ताकि वे भी मॉर्निंग पर्सन बन सकें. कॉलेज लाइफ और कॉलेज स्टूडेंट्स पर ऐसे अन्य आर्टिकल्स पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलावा, आप नीचे दिये गये फॉर्म में अपनी ई-मेल आईडी सबमिट करके भी अपने इनबॉक्स में सीधे ऐसे आर्टिकल प्राप्त कर सकते हैं.

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
      ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    X

    Register to view Complete PDF