Search

SSC JHT परीक्षा 2018 हेतु टाइम मैनेजमेंट और तैयारी की बेहतरीन टिप्स

SSC JHT online exam 2018-19 को उत्तीर्ण करने के लिए SSC JHT परीक्षा टाइम मैनेजमेंट टिप्स और SSC JHT लास्ट मिनट तैयारी टिप्स की विस्तृत जानकारी को यहाँ पढ़ें-

Jan 16, 2019 13:17 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
SSC JHT preparation tips
SSC JHT preparation tips

कर्मचारी चयन आयोग ने हाल ही में SSC JHT पेपर-I परीक्षा को दिनांक 13-जनवरी-2019 को आयोजित करने की अधिसूचना को जारी किया हैं. परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन मोड में किया जाएगा. वे उम्मीदवार जो सरकारी मंत्रालयों व विभागों में ट्रांसलेटर बनना चाहते हैं, SSC JHT की ऑनलाइन परीक्षा में उपस्थित हो सकते हैं. चूँकि SSC JHT 2018 परीक्षा के आयोजन में समय बहुत कम बचा हैं, इसीलिए इस परीक्षा में सफल होने के लिए आपको अपनी तैयारी तेज़ कर देनी चाहिए. जैसा कि आप जानते हैं परीक्षा से पहले के कुछ दिन बहुत महत्वपूर्ण होते हैं और इस समय का सही उपयोग न करने से आपकी तमाम तैयारी ख़राब हो सकती हैं.

महत्वपूर्ण टॉपिक्स को कड़ाई से अभ्यास करने और पहले की तैयारी से अर्जित किये गए ज्ञान को पक्का करने के लिए यह समय निःसंदेह ही बहुत महत्वपूर्ण हैं. पूर्ण सिलेबस की तैयारी के लिए, प्रत्येक विषय को सटीकता से समय देना और उन्हें दक्षता से रिवाइज करना अतिआवश्यक हैं. चूँकि परीक्षा में कुछ ही दिन बचें हैं अत: आपको समय प्रबंधन पर फोकस करना चाहिए और निम्नलिखित महत्वपूर्ण टिप्स के जरिये अपनी तैयारी की पुष्टि करनी चाहिए-  

SSC परीक्षाओं में पूछे जाने वाली महत्वपूर्ण सरकारी योजनायें

SSC JHT परीक्षा 2018: लास्ट मिनट टिप्स    

यह सर्वविदित हैं कि किसी भी परीक्षा को अंतिम दिनों में तैयारी करना लगभग असंभव होता हैं परन्तु यह जरूरी हैं. इन अंतिम दिनों में महत्वपूर्ण टॉपिक्स के रिविजन और अध्ययन को छोड़ने से परीक्षा में आपका प्रदर्शन ख़राब हो सकता हैं. इसीलिए हम आपको निम्नलिखित लेख में बताई गयी कुछ आवश्यक टिप्स का अनुसरण करने की सलाह देते हैं-

सिलेबस की समीक्षा

जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि प्रायोगिक रूप से परीक्षा के अंतिम दिनों के दौरान पूरे सिलेबस को तैयार करना करीब करीब नामुमकिन होता हैं परन्तु फिर भी आप SSC JHT के सिलेबस को देखकर उन टॉपिक्स की पहचान कर सकते हैं जिन्हें आपने पहले कभी नहीं पढ़ा हैं. इस दृष्टिकोण से आपको उन टॉपिक्स के बारे में एक विचार मिलेगा जिनमे आपको सुधार करने की आवश्यकता हैं. इन टॉपिक्स को छोड़ देने से आप परीक्षा हॉल में प्रश्नों के उत्तर देने में थोडा असहज महसूस कर सकते हैं. अत: हम आपको सामान्य हिंदी और सामान्य इंग्लिश विषय के ऐसे टॉपिक्स की एक लिस्ट बनाने की सलाह देते हैं ताकि आप इन सूचीबद्ध टॉपिक्स को तैयार करके परीक्षा में अपने स्कोर को आसानी से बढ़ा सकें.

पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों का अभ्यास

सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं की तैयारी के लिए पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्र हमेशा महत्वपूर्ण होते हैं. SSC JHT 2018 के पूर्व वर्षों के प्रश्न-पत्रों के माध्यम से आप परीक्षा के समग्र कठिनाई स्तर, पूछे गए प्रश्नों के प्रकार और प्रश्नों के टॉपिक वार वितरण को आसानी से समझ सकते हैं. इस सूचना से आपको केवल प्रासंगिक टॉपिक्स की तैयारी करने में निश्चित रूप से सहायता अवश्य मिलेगी. हम आपको कम से कम पिछले 5 वर्षों के प्रश्न-पत्रों का विश्लेषण करने की सलाह देते हैं. ऐसा अक्सर देखा गया हैं कि SSC अपनी आगामी परीक्षाओं में समरूप प्रश्नों को कई बार पूछ लेता हैं. अत: पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों का अभ्यास करने से आपकी तैयारी निश्चित ही कम मेहनत में ही हो जाएगी और इससे आपका आत्मविश्वास भी बढेगा.

SSC परीक्षाओं हेतु पात्रता मानदंड

स्टडी नोट्स

कठिन/अनजान टॉपिक्स की तैयारी करने के अलावा, सीखे गए टॉपिक्स को दोहराना भी काफी महत्वपूर्ण होता हैं. ऐसा देखा गया हैं कि अधिकाँश उम्मीदवार अपरिचित टॉपिक्स की तैयारी में पहले से पढ़े गए टॉपिक्स का रिविजन छोड़ देते हैं जिसके परिणामस्वरुप परीक्षा में काफी कंफ्यूज़न होता हैं. अत: हम पहले पूर्व-पठित टॉपिक्स का रिविजन करने की अनुशंसा करते हैं और इसके बाद ही आपको अन्य टॉपिक्स का अध्ययन करने की हिदायत देते हैं.

अपरिचित टॉपिक्स को रिवाइज करने के लिए आपको यह समझना चाहिए कि ऐसे टॉपिक्स से सामान्यत: किस प्रकार के प्रश्नों को पूछा जाता हैं. इस विश्लेषण के आधार पर ही आपको इन टॉपिक्स को पढ़ना शुरू करना चाहिए और साथ ही प्रासंगिक जानकारियों को अपने नोट्स में अपडेट करना चाहिए. अंत में ये सुसंगठित नोट्स परीक्षा के अंतिम दिनों के दौरान निश्चित रूप से मददगार साबित होंगे. आपको इन नोट्स को परीक्षा स्थल पर पहुँचने तक अपने साथ रखना चाहिए ताकि आप परीक्षा के अंतिम क्षणों तक भी सम्बंधित तथ्यों से रूबरू हो सकें. अत: स्टडी नोट्स को तैयार करना, उन्हें अपडेट और रिवाइज करना बहुत आवश्यक और महत्वपूर्ण कार्य हैं.

ऑनलाइन टेस्ट सीरीज / मॉक टेस्ट्स

SSC JHT परीक्षा में सफल होने के लिए आपको परीक्षा के अंतिम दिनों में मॉक टेस्ट्स और ऑनलाइन टेस्ट सीरीज का अभ्यास भी अवश्य करना चाहिए. ऑनलाइन टेस्ट सीरीज का अभ्यास करने से आपके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी और SSC JHT की ऑनलाइन परीक्षा में प्रश्नों को हल करने की गति में भी सुधार होगा. इन्टरनेट पर कई वेबसाइटस उचित दामों पर या नि:शुल्क भी मॉक टेस्ट्स को प्रदान कर रही हैं. आप अपनी सुविधा के अनुसार इनमे से से किसी को भी चुन सकते हैं. ध्यान रखें कि इस चरण को छोड़ देने से परीक्षा में आपके प्रदर्शन पर असर हो सकता हैं. अत: इस चरण को गंभीरता से लें.

SSC परीक्षा में सामान्य जागरूकता की तैयारी हेतु विश्वसनीय स्त्रोत

SSC JHT परीक्षा: टाइम मैनेजमेंट टिप्स

उपरोक्त टिप्स के अलावा, आपको परीक्षा से पहले के दिनों में समय का प्रबंधन करना भी आना चाहिए. टाइम मैनेजमेंट स्किल बहुत महत्वपूर्ण स्किल हैं क्योंकि इसकी न केवल प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी में बल्कि जीवन के सभी पहलूओं में एक निर्णायक भूमिका होती हैं. अत: आपको पढाई के साथ-साथ अन्य दैनिक गतिविधियों के लिए भी समय प्रबंधन को सीखना होगा. निम्नलिखित टाइम मैनेजमेंट टिप्स का अनुसरण करके आप SSC JHT परीक्षा में आसानी से अग्रणीय रह सकते हैं-

टाइम-टेबल का अनुसरण करें

पूर्व-पठित टॉपिक्स का रिविजन करने से पहले या अपरिचित टॉपिक्स का अध्ययन करने से पहले, आपको एक दक्ष टाइम-टेबल अवश्य बनाना चाहिए. टाइम-टेबल को दैनिक घंटों के आधार पर ही तैयार करना चाहिए. आपको टाइम-टेबल में पढ़े जाने वाले टॉपिक्स के नाम को उनके निर्धारित किये गए समय के साथ ही तैयार करना चाहिए. किसी भी टाइम-टेबल के तहत आपको दिन में 8 घंटे अवश्य पढ़ना चाहिए. एक टाइम-टेबल को इस प्रकार से डिज़ाइन किया जाना चाहिए कि इससे आपके अन्य दैनिक रूटीन के कार्यों में रूकावट पैदा न हो. इस टाइम-टेबल में स्वयं को ओवर-बर्डन न करें. अत: कार्यकारी टाइम-टेबल को एक नज़र में देखते समय निम्नलिखित चीज़े स्पष्टत: प्रदर्शित होनी चाहिए-

  • सभी अपरिचित टॉपिक्स को पर्याप्त समय आवंटित किया जाना चाहिए.
  • टाइम-टेबल में पूर्व-पठित टॉपिक्स के रिविजन हेतु भी समय निर्धारित किया जाना चाहिए.
  • स्टडी-ब्रेकस और सोने के लिए पर्याप्त समय आवंटित किया जाना चाहिए.
  • टाइम-टेबल आपकी शारीरिक व मानसिक क्षमताओं के साथ संरेखित होना चाहिए ताकि पढाई के दौरान आपको तनाव व थकावट महसूस न हो.

SSC उम्मीदवारों के लिए शीर्ष 10 प्रेरणादायक कथन

यदि आप इस प्रकार के टाइम-टेबल का अनुसरण करते हैं तो हम आपको यकीन दिलाते हैं कि परीक्षा में आप से कोई भी टॉपिक्स नहीं छूटेगा और आप निश्चित ही SSC JHT परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेंगे.  

परीक्षा में आसान प्रश्नों को पहले हल करें

परीक्षा के समय भी टाइम-मैनेजमेंट बहुत आवश्यक होता हैं. ऐसे कई उम्मीदवार हैं जिन्होंने तैयारी करते वक्त सभी टॉपिक्स को तैयार किया होता हैं, परन्तु फिर भी वे इस परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पाते हैं. इस समस्या का एकमात्र समाधान हैं परीक्षा में अपने समय का सटीकता से प्रबंधन करना. इसके तहत हम आपको आसान प्रश्नों को पहले हल करने और शेष प्रश्नों को रिव्यू के लिए मार्क करने की सलाह देते हैं. ऐसा देखा गया हैं कि अधिकांश उम्मीदवार कुछ विशेष प्रश्नों को हल करने में काफी समय लगा देते हैं जिसके फलस्वरूप अंत में परीक्षा में कम प्रश्न ही हल हो पाते हैं. सदैव ध्यान रखें कि SSC JHT परीक्षा में आपकी केवल समस्याओं को सुलझाने की स्किल को ही नहीं जांचा जायेगा. इस परीक्षा के द्वारा प्राथमिक रूप से आपके इंटेलिजेंस और मैनेजमेंट स्किल का परीक्षण किया जाता हैं. SSC JHT परीक्षा एक प्रतिस्पर्धी परीक्षा हैं जिसमे आपको निर्धारित समय में अधिक से अधिक से प्रश्नों को सटीकता से हल करना होता हैं.

इसके अतिरिक्त आपको उन प्रश्नों जिनके उत्तर आसानी से प्राप्त किये जा सकते हैं, को कम-से-कम 15-20 मिनट का समय समीक्षा के लिए अवश्य देना चाहिए. अत: टाइम-मैनेजमेंट स्किल की न केवल तैयारी के दौरान एक महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं बल्कि इसका परीक्षा के समय भी काफी महत्व होता हैं.

15 वेबसाइट्स, जो एसएससी में आपका सिलेक्शन करवा सकती है

यदि आपको “SSC JHT परीक्षा 2018 हेतु टाइम मैनेजमेंट और तैयारी की बेहतरीन टिप्स” पर दी गयी जानकरी उपयोगी लगी हो तो इस प्रकार की सूचनाओं के लिए हमारे SSC के वेबपेज पर नियमित रूप से आते रहें.

Related Categories

Related Stories