Search

क्या बोर्ड परीक्षा का डर आपकी सफलता में बन रहा है रुकावट? तो ये टिप्स ज़रूर करेंगे आपकी मदद

इस लेख में हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लाए हैं जिनके ज़रिये परीक्षा हॉल में आप तनाव और चिंता को परे कर परीक्षा में आपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आसानी से दे सकते हैं. ये टिप्स आपको बोर्ड परीक्षा से लगने वाले डर से निजात पाने में पूरी मदद करेंगे जिससे आप बेहतरीन तरीके से परीक्षा लिख सकेंगे और अधिक्तम अंक हासिल कर सकेंगे.

Jan 24, 2019 10:24 IST
Tips to Overcome the Board Exam Fear

साल 2019 की बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने में अब मुश्किल से केवल एक महीने का ही समय बचा है. यह समय है परीक्षा के लिए अपनी तैयारिओं को और मजबूत बनाने का. लगभग सभी विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए कठिन परिश्रम करते हैं, सभी सब्जेक्ट्स की ठीक तरह से प्रैक्टिस करते हैं. लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि परीक्षा के दिन या उससे पहले विद्यार्थी काफी तनाव में आ जाते हैं जिसके कारण अच्छी तैयारी होने के बावजूद भी वे सही तरीके से अपना प्रश्न पत्र हल नहीं कर पाते हैं. दरअसल परीक्षा के दौरान होने वाला यह तनाव स्वभाविक है इसके लिए ज़रूरी है तो बस परीक्षा की तैयारी के साथ-साथ परीक्षा के अहम दिन के लिए खुद को सही तरीके से तैयार करना ताकि आप सही रणनीति को सही जगह इस्तेमाल कर खुद को तनाव मुक्त रख अपना पेपर सही तरीके से लिख सकें और परीक्षा में बेहतरीन परिणाम हासिल कर सके.

Jagranjosh यहाँ आपके लिए कुछ ऐसे ही टिप्स लाया है जिनके ज़रिये परीक्षा हॉल में आप तनाव और चिंता से बाहर रह कर परीक्षा में आपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखा सकें:

1. गहरी साँस तनाव को दूर रखने में करती है मदद 

परीक्षा हॉल में प्रवेश करने के बाद अपनी सीट लें और शांतिपूर्वक बैठ कर एक गहरी साँस लें, खुद को अच्छी तरह रिलैक्स करें. जैसे ही आपके पास आपकी उत्तर पत्रिका आती है उसपर अपना नाम, रोल नंबर लिखें, क्योंकि अक्सर तनाव और जल्दबाजी के कारण छात्र अपना नाम और रोल नंबर ही लिखना भूल जाते हैं इसलिए यह काम सबसे पहले करें. यदि आपने उत्तर लिखना आरम्भ कर दिया है और आपको लगता है किसी प्रश्न को देखकर आप तनाव में आ रहे हैं तो उसी समय आप खुद को रिलैक्स करें. इसके लिए गहरी साँस लें जिससे ऑक्सीजन का प्रवाह होगा और आप फ्रेश फील करेंगे और यह आपके तनाव को कम करने में काफी मददगर होगा.

2. प्रश्न पत्र पर डालें पैनी नज़र

प्रश्न पत्र मिलते ही सबसे पहले पूरे प्रश्न पत्र को सही तरीके से देख लें ताकि आपको यह पता चल जाए कि प्रशन पत्र कैसा है और आपको किस टॉपिक में कितना टाइम देना है. अब पूरे प्रश्न पत्र को पढ़ने के बाद सबसे पहले उन प्रश्नों के उत्तर लिखने शुरू करें जिनको लेकर आप पूरे कॉन्फिडेंट हो, ज़रूरी नहीं कि आप एक सार में अपना उत्तर लिखें, यदि उत्तर लिखते समय किसी प्रश्न को लेकर कोई भी अनुभूति हो तो सीधा इंस्ट्रक्टर से उस प्रश्न को लेकर चर्चा कर लें. कई बार प्रश्न पत्र में कुछ टाइपिंग मिस्टेक और ओवरराइटिंग के कारण प्रश्न को समझना मुश्किल हो जाता है, इसके लिए तुरंत इंस्ट्रक्टर से स्पष्टीकर्ण कर लें.

बोर्ड और प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे किसी भी न्यूमेरिकल को इस तरह से करें हल, मिलेंगे पूरे मार्क्स

3. टाइम मेनेजमेंट का रखें खास धयान
यहाँ आपको खुद के साथ काफी हद तक सख्त होना पड़ेगा क्योंकि यहाँ आपको तय करना है कि प्रश्न पत्र के हर एक सेक्शन या प्रश्न को कितना समय देना है. तो सबसे पहले आप अपना समय अन्तराल बाँट लें और यह ठीक तरह से सुनिश्चित कर लें कि आप अपने उसी समय अन्तराल में सभी प्रश्नों या सेक्शन को हल करेंगे. अपने निर्धारित समय पर ही प्रश्नों को हल करें ताकि दुसरे प्रश्न या सेक्शन को भी आप उतना ही तैय किया गया समय दे सकें. इसके साथ- साथ यह याद रखें कि सभी प्रश्नों के उत्तर लिखने के बाद उन्हें एक बार ठीक से क्रॉस चेक करने का समय भी बचा कर रखें ताकि अगर आपने कुछ भी गलत लिखा हो या कुछ छूट रहा हो तो आप उसे समय रहते सही कर सकें.

4. बहुविकल्पीय प्रश्नों के लिए अपनाएं सही रणनीति 
सभी बहुविकल्पीय प्रश्नों को सही तरीके से पढ़े, उनके विकल्पों को देखें, प्रश्नों को पहले रफ़ में हल करें. यदि आपको किसी विकल्प को देख कर ही लगता है कि वह सही उत्तर नहीं है तो आप उसे कंसीडर न कर बाकि के विकल्पों को ध्यान में रखते हुए प्रश्न को हल करें. बिना सोचे समझे कोई रेंडम गेस न करें, प्रश्नों को हल कर के ही सही उत्तर सुनिश्चित करें.

5. दीर्घउत्तरीय प्रश्नों में पूछी हुई समस्सया को ध्यानपूर्वक समझें 
दीर्घउत्तरीय प्रश्नों को सही तरीके से पढ़ें और उसमें समस्सया से जुड़े सही शब्दों को पहचानें जैसे कि – वर्णन, समझाना, तुलना आदि. ताकि आप जब उत्तर लिखें तो आप इन वर्ड्स को सही तरीके से इस्तेमाल कर पूरे उत्तर का वर्णन करें, मुख्य बिंदु को खास तौर में हाईलाईट करें. इसके साथ-साथ यह ध्यान दें कि ये आपके प्रश्न के अनुरूप हों.

6. अन्य विद्यार्थिओं द्वारा धयान भंग करने से बचें 
अपने आस पास दूसरे छात्रों के कारण अपना कंसंट्रेशन यानि ध्यान ख़राब न होने दें. यदि आपको किसी छात्र की वजह से परेशानी हो रही है तो उसे वहाँ मौजूद इंस्ट्रक्टर को जानकारी दें ताकि वह आपकी परेशानी का हल कर सकें. एग्जाम हॉल में ऐसा भी होता है कि कई छात्र टाइम से पहले ही प्रश्न पत्र हल कर के चले जातें है, इस कारण खुद को तनाव में न लाएं, खुद पर भरोसा रखें और अपनी बनाई रणनीति के ज़रिये ही अपनी परीक्षा लिखें.

निष्कर्ष- इस लेख में बताए सभी टिप्स का अगर आप सही तरीके से पालन करें तो आसानी से आप तनाव मुक्त होकर बेहतरीन परीक्षा दे सकते हैं और अच्छे मार्क्स प्राप्त कर सकते हैं. आखिकार यह आपकी पूरे साल की कड़ी मेहनत और परिश्रम का सवाल है.

शुभकामनायें !!

बोर्ड परीक्षा कि तैयारियों को सरल व् असरदार बनाने के लिए कुछ और महत्वपूर्ण लेख यहाँ पढ़ें.