UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019: जानें 5 टॉपर्स की सफलता की कहानी

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 की मेरिट लिस्ट जारी कर दी गई है। इसमें हरियाणा के प्रदीप सिंह ने परीक्षा को टॉप किया और प्रतिभा वर्मा महिलाओं में टोपर रहीं। जानें UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019  परीक्षा के टॉप 5 टॉपर्स की सफलता की कहानी। 

Created On: Aug 7, 2020 13:58 IST
UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019: जानें 5 टॉपर्स की सफलता की कहानी
UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019: जानें 5 टॉपर्स की सफलता की कहानी

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने मंगलवार को सिविल सेवा 2019 की परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। मेरिट लिस्ट में 829 उम्मीदवारों का नाम शामिल किया गया है जिन्हें मेरिट के आधार पर IAS, IPS, IFS और ग्रुप A एवं B सेवाओं में नियुक्त किया जाएगा। UPSC सिविल सेवा 2019 परीक्षा मेरिट लिस्ट में 179 महिला उम्मीदवार हैं। मेरिट लिस्ट में पहला रैंक हरियाणा के प्रदीप सिंह ने हासिल किया वहीं दिल्ली के जतिन किशोर दूसरे स्थान पर रहे। आइये जानते हैं UPSC सिविल सेवा 2019 परीक्षा के टॉप 5 टॉपर्स के बारे में 

3 साल के बेटे से दूर रह कर की UPSC की तैयारी, पहली ही एटेम्पट में हासिल की 90वीं रैंक - जानें डॉ अनुपमा सिंह की कहानी

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 - AIR 1 प्रदीप सिंह 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 के टॉपर प्रदीप सिंह मलिक हरियाणा के सोनीपत जिले के रहने वाले हैं। एक किसान के बेटे प्रदीप हमेशा से ही उज्ज्वल छात्र रहे हैं। उन्होंने DCRUST मुरथल से कंप्यूटर साइंस में B.Tech की है। प्रदीप फिलहाल इनकम टैक्स इंस्पेक्टर के तौर कार्यरत हैं और उन्होंने अपनी नौकरी के साथ साथ ही UPSC की तैयारी की। प्रदीप ने यह परीक्षा चौथे एटेम्पट में पास की है। 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 - AIR 2 जतिन किशोर 

जतिन किशोर दिल्ली के रहने वाले हैं और उन्होंने अपने स्कूल से ले कर पोस्ट ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई दिल्ली से ही पूरी की है। जतिन ने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से इकोनॉमिक्स होंर्स में ग्रेजुएशन किया जिसके बाद उन्होंने दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से इकोनॉमिक्स में ही मास्टर्स की डिग्री हासिल की। जतिन हमेशा से ही एक होनहार छात्र रहे हैं और उन्होंने 2018 में UPSC द्वारा आयोजित की जाने वाली इंडियन इकोनॉमिक्स सर्विस (IES) परीक्षा में भी टॉप कर पहला स्थान हासिल किया था। हालंकि 2018 में वह UPSC सिविल सेवा परीक्षा की प्रीलिम्स स्टेज भी पास नहीं कर पाए थे। इकोनॉमिक्स ऑप्शनल के साथ जतिन ने यह परीक्षा अपने दुसरे प्रयास में पास की है। 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 - AIR 3 प्रतिभा वर्मा 

UPSC सिविल सेवा 2019 की टॉपर प्रतिभा वर्मा (AIR 3) वर्तमान में महाराष्ट्र के नागपुर जिले में आयकर आयुक्त (Income Tax Commissioner) के रूप में कार्यरत हैं। वह इस वर्ष सिविल सेवा के लिए चुनी गई 197 महिलाओं में से महिला टॉपर हैं। प्रतिभा ने IIT दिल्ली से B.Tech की डिग्री हासिल की है। जिसके बाद उनका प्लेसमेंट वोडाफोन में हुआ। परन्तु अपने IAS बनने के सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने अपनी जॉब से रिजाइन कर दिया था। प्रतिभा ने सिविल सेवा 2018 की परीक्षा में 489 रैंक हासिल किया था जिसके बाद उन्हें IRS में चयनित किया गया था। उन्होंने 2019 में एक बार फिर परीक्षा दी और तीसरे एटेम्पट में तीसरी रैंक हासिल कर अपने IAS बनने के सपने को पूरा किया। 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 - AIR 4 हिमांशु जैन

सिविल सेवा 2019 परीक्षा में चौथा रैंक हासिल करने वाले हिमांशु जैन हरियाणा के पलवल जिले के होडल गांव के रहने वाले हैं। उनकी शुरुआती पढ़ाई होडल में ही हुई है जिसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्विद्यालय के हंसराज कॉलेज से इकोनॉमिक्स हॉनर्स में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की। हिमांशु ने दिल्ली में रह कर ही की तैयारी की और उन्हें किसी भी प्रकार की असुविधा ना हों इसीलिए उनके पिता उनके साथ ही रहते थे। हिमांशु ने अपना पहला एटेम्पट साल 2018 में दिया था परन्तु वह उस वर्ष असफल रहे थे। इसके बाद उन्होंने 2019 में बेहतर तैयारी के साथ एक बार फिर 2019 में प्रयास किया और चौथी रैंक हासिल की। 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 - AIR 5 जयदेव सी, एस.

UPSC सिविल सेवा 2019 की परीक्षा में 5वां रैंक हासिल करने वाले जयदेव कर्नाटका के टोपर भी हैं। जयदेव पेशे से एक वकील हैं और बंगलुरु के रहने वाले हैं। उन्होंने NLSIU से लॉ की डिग्री हासिल की है। जयदेव हमेशा से ही सिविल सेवा में आना चाहते थे और लॉ की पढ़ाई के दौरान उन्होंने शासन के बारे में ज्ञान प्राप्त किया। जयदेव कर्नाटका कैडर में रह कर ही राज्य के लिए काम करना चाहते हैं। जयदेव ने लॉ ऑप्शनल के साथ यह परीक्षा दुसरे एटेम्पट में टॉप की है। 

UPSC सिविल सेवा 2019 की परीक्षा में बेशक ही टॉपर्स का बैकग्राउंड और पढ़ने की रणनीति अलग रही है परन्तु सभी टॉपर्स का मूल मंत्र कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयास करते रहना ही रहा। सभी टॉपर्स अपने सपने को पूरा करने के लिए प्रयास करते रहे जिसका नतीजा आज हम सबके सामने है। यह सभी टॉपर्स देश के प्रत्येक युवा के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। 

जागरण जोश सभी टॉपर्स को उनकी सफलता पर हार्दिक बधाई देता है। 

 कॉलेज में थे डिप्रेशन के शिकार, आज बन गए हैं बिहार के सुपर कॉप - जानें IPS अमित लोढ़ा की कहानी

 

 

Comment (0)

Post Comment

4 + 6 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.