क्या आप विमान के लाइट सिग्नल के बारे में जानते हैं?

विमानन लाइट सिग्नल, पायलट और वायु यातायात नियंत्रक (air traffic controller) दोनों के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण संचार की भूमिका निभाता है. पायलट और वायु यातायात नियंत्रक के बीच संचार लाइट के संकेतों के रूप में होता है. जब संचार सही से नहीं हो पाता है या जब कोई विमान रेडियो से लैस नहीं होता है, तो सिग्नल लैंप का उपयोग करके लाइट सिग्नल का इस्तेमाल किया जाता है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं विमानन लाइट सिग्नल के बारे में.
Nov 1, 2018 18:28 IST
    Aviation Light Signals

    ये हम सब जानते हैं कि संचार की हमारे दैनिक जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका है. सब में अलग-अलग प्रकार का संचार होता है जैसे कि जानवर ध्वनि, गंध और शरीर की भाषा से एक दूसरे से संवाद करते हैं, लोग अलग-अलग तरीकों से एक दूसरे के साथ संवाद करते हैं जैसे सुनना, भाषा बोलना, संगीत, चित्र इत्यादि. इसी प्रकार से विमान में भी संचार का उपयोग किया जाता है. क्या आप जानते हैं कि विमान में किस प्रकार का और कैसे संचार होता है, यह क्यों जरुरी होता है? आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    विमानन लाइट सिग्नल की व्यवस्था में, संचार, पायलट और वायु यातायात नियंत्रक (air traffic controller) दोनों के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. पायलट और वायु यातायात नियंत्रक के बीच संचार लाइट के संकेतों के रूप में होता है. जब संचार सही से नहीं हो पाता है या जब कोई विमान रेडियो से लैस नहीं होता है, तो सिग्नल लैंप का उपयोग करके लाइट सिग्नल का इस्तेमाल किया जाता है. सिग्नल लैंप का बीम लाल, सफेद और हरे रंग की रोशनी उत्पन्न करता है जो या तो स्थिर या फिर चमकदार हो सकती हैं.

    इनमें से प्रत्येक रंग और पैटर्न विमान पायलटों के लिए निर्देश होते हैं और इसका एक ही विशिष्ट अर्थ होता है वो यह कि विमान उड़ान में है या फिर जमीन पर. विमान पायलट को नियंत्रण टावर से संदेश को सही तरीके से डीकोड करने के लिए रंग और पैटर्न (स्थिर या चमकती) दोनों को पहचानना होता है. विमान का पायलट विमान के पंखों को घुमाने, ailerons को स्थानांतरित करने या अपनी नेविगेशन लाइट को चमकाके निर्देशों को स्वीकार कर दिखा सकते हैं.

    अब विमानन लाइट सिग्नल के रंग और उनके अर्थ के बारे में अध्ययन करते हैं

    बिलकुल ट्रैफिक लाइट्स की तरह, विमानन लाइट सिग्नल में भी तीन अलग-अलग रंगों का उपयोग होता है. हालांकि, सड़क यातायात सिग्नल द्वारा उपयोग किए जाने वाले लाल, हरे और एम्बर रंगों के बजाय, वायु यातायात नियंत्रण लाइट सिग्नल लाल, हरे और सफेद रंगों का उपयोग करते हैं. जैसा ऊपर बताया गया है, इनमें से प्रत्येक रंग का एक विशिष्ट अर्थ होता है और यह निर्भर करता है कि विमान उड़ान में है या जमीन पर है या नहीं.

    हवाई जहाज का ब्लैक बॉक्स क्या होता है और यह कैसे काम करता है?

    धरती पर विमानन लाइट सिग्नल का क्या अर्थ होता है

    स्थिर ग्रीन लाइट (Steady Green Light) - जमीन पर स्थिर हरे रंग की लाइट सिग्नल का अर्थ है कि विमान को टेकऑफ के लिए मंजूरी दे दी गई है और पायलट टेकऑफ के लिए आगे बढ़ सकता है.

    चमकती हुई ग्रीन लाइट (Flashing Green) - जमीन पर चमकती हुई हरी लाइट सिग्नल का अर्थ है कि विमान अब क्लियर है और टैक्सी के लिए अधिकृत किया जाता है.

    स्थिर लाल लाइट (Steady Red) - स्थिर लाल लाइट का अर्थ है कि विमान तुरंत बंद होना चाहिए और अपनी पोजीशन को पकड़ना चाहिए.

    चमकती हुई लाल लाइट (Flashing Red ) - चमकती हुई लाल लाइट सिग्नल का अर्थ है कि विमान को अब उपयोग में आए रनवे से बाहर निकल जाना चाहिए. वायु यातायात नियंत्रक विमान पायलट को निकटतम टैक्सीवे ढूंढ कर रनवे से बाहर निकलने के लिए अन्य एयरक्राफ्ट को रनवे का उपयोग करने की अनुमति देनी चाहिए.

    चमकती हुई सफेद लाइट (Flashing White) - चमकती हुई सफेद लाइट सिग्नल का अर्थ है कि विमान पायलट को अपने शुरुआती बिंदु पर वापस जाना होगा. हवाई यातायात नियंत्रक चाहता है कि पायलट हवाई अड्डे के पार्किंग एप्रन में लौट जाए.

    वैकल्पिक लाल / हरा (Alternating Red/Green) - संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देशों में, वैकल्पिक लाल/हरे रंग की लाइट के सिग्नल का अर्थ होता है कि विमान के पायलट को अत्यधिक सावधानी बरतने के लिए एक महत्वपूर्ण चेतावनी दी जा रही है.

    वायु में विमानन लाइट सिग्नल का क्या अर्थ होता है?

    स्थिर ग्रीन लाइट (Steady Green) - ग्रीन लाइट सिग्नल हमेशा एक GO को इंगित करती है. इसका अर्थ है कि विमान को भूमि पर उतरने की मंजूरी दे दी गई है.

    फ्लैशिंग ग्रीन लाइट (Flashing Green) - उड़ान के दौरान एक विमान के लिए चमकती हुई हरी लाइट सिग्नल का अर्थ है कि विमान को लैंडिंग के लिए वापस आना चाहिए और अनिवार्य रूप से यह एक एक गो-अराउंड कमांड होता है. विमान को जमीन पर उतरने की मंजूरी नहीं होने के कारण उसको गो-एराउंड के माध्यम से लैंडिंग के लिए वापस जाना होगा.

    स्थिर लाल लाइट (Steady Red) - लाल लाइट सिग्नल हमेशा एक स्टॉप कमांड इंगित करता है. हालांकि, उड़ान के दौरान विमान को रोकना असंभव है. इसलिए उड़ान के समय एक विमान के लिए लाल लाइट सिग्नल का अर्थ है, विमान को जहां उतरना है वहीं आसपास आसमान में घूमते रहना होगा और अन्य एयरक्राफ्टों को रास्ता देना होगा जब तक कि हवा यातायात नियंत्रक स्थिर हरे रंग की लाइट देकर इंगित करता है कि अब विमान को जमीन पर उतरने की मंजूरी है.

    फ्लैशिंग लाल लाइट (Flashing Red) - उड़ान के दौरान एक विमान के लिए एक चमकती लाल लाइट सिग्नल खतरे को इंगित करता है, हवाई अड्डा असुरक्षित है और जमीन पर लैंड नहीं करना है.

    लाल/हरा वैकल्पिक लाइट (Alternating Red/Green): लाल/हरा वैकल्पिक लाइट सिग्नल जमीन पर और उड़ान दोनों विमानों पर लागू होता है. यह विमान पायलट को अत्यधिक सावधानी बरतने का संकेत देता है.

    हम आपको बता दें कि संचार के लिए रेडियो की उपस्थिति के कारण विमान पायलटों द्वारा आज लाइट सिग्नल का शायद ही कभी उपयोग किया जाता है. हालांकि, रेडियो हमेशा विश्वसनीय नहीं होते हैं और कभी-कभी काम करना बंद कर देते हैं. संचार विफलता के समय में, विमान नेविगेशन के लिए लाइट सिग्नल काफी महत्वपूर्ण हो जाता है. दुर्घटना से बचने और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक विमान पायलट को संचार के लिए विमानन लाइट सिग्नल पर वापस आने की आवश्यकता पड़ती है. तो अब आपको ज्ञात हो गया होगा कि एयरपोर्ट पर और वायु में विभिन्न प्रकार के लाइट सिग्नल का क्या अर्थ होता है और कब-कब इनका प्रयोग किया जाता है.

    Meaning of Aeroplane light signals

    Source: www.premierflightct.com

    एयरपोर्ट की रडार प्रणाली कैसे काम करती है?

    हवाई जहाज में कौन से ईंधन का उपयोग किया जाता है?

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...