Positive India: केरल की 21 वर्षीय आर्य राजेंद्रन बनी भारत की सबसे युवा मेयर - जानें कौन हैं यह CPI(M) नेता

21 वर्षीय CPI(M) नेता आर्य राजेंद्रन ने सोमवार को केरल के सबसे बड़े शहरी निकाय तिरुवनंतपुरम निगम की सबसे युवा मेयर के रूप में शपथ ली। आर्य ने 99 में से 55 वोट हासिल कर जीत अपने नाम की।  

Arya Rajendran youngest mayor in India
Arya Rajendran youngest mayor in India

केरल के मध्यमवर्गी परिवार से आने वाली आर्य अपनी इस जीत से जितनी उत्साहित हैं उतना ही इस पद की ज़िम्मेदारी के लिए तैयार भी हैं। उनके माता-पिता भी CPI(M) पार्टी के कार्यकर्ता हैं। हालांकि उन्होंने अपना राजनीतिक सफर परिवार के प्रभाव से अलग अपनी खुद की सोच के मुताबिक़ शुरू किया। वह स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) की एक कार्यकर्ता हैं और साथ ही वाम दल के बच्चों की विंग बालासंगम की प्रदेश अध्यक्ष भी हैं।

भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक गीतांजलि राव बनीं Time Magazine की पहली 'किड ऑफ द ईयर' - जानें कौन हैं ये 15 वर्षीय युवती

B.Sc. सेकंड ईयर की छात्रा हैं आर्य 

तिरुवनंतपुरम के ऑल सेंट्स कॉलेज में बीसीएस मैथ्स द्वितीय वर्ष की छात्रा हैं आर्य राजेंद्रन। उन्होंने सीपीआई-एम से सम्बंधित बच्चों के संगठन बालसंगम में बाल कार्यकर्ता के रूप में अपनी राजनीतिक यात्रा शुरू की थी। वह उस समय 5वीं कक्षा में थी। 

स्वास्थ्य सुविधाओं और वेस्ट मैनेजमेंट पर काम करना चाहती हैं आर्य 

मेयर के तौर पर अपनी प्राथमिकताओं के बारे में आर्य कहती हैं, "अपशिष्ट प्रबंधन (वेस्ट मैनेजमेंट) मेरे वार्ड के साथ-साथ शहर के बाकी हिस्सों के लिए सबसे पहला और महत्वपूर्ण केंद्र है और मैं इसके लिए काम करना चाहती हूँ। इसके अलावा महत्वपूर्ण रूप से, मुदवनमुगल में एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (PHC) स्थापित करना होगा। खासकर COVID-19 के समय में यह महत्वपूर्ण है कि वार्ड स्तर पर PHC हो। कई लोग अस्पतालों में जाने के लिए अनिच्छुक हैं, विशेष रूप से अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग। इसलिए 24 घंटे खुला रहने वाले PHC और सभी के लिए सुलभ होना बहुत जरूरी है। मैं इन सभी विषयों पर तुरंत प्रभाव से काम करना चाहती हूँ। इसके अलावा युवाओं, महिलाओं और छात्रों पर केंद्रित कार्यक्रम भी लांच किये जाएंगे।" 

2800 से अधिक वोट हासिल कर जीतीं नगर निगम चुनाव 

आर्य ने नगर निगम के मुडवानमुगल वार्ड से 2,872 वोट हासिल किए, जो प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के उम्मीदवार से 549 अधिक है। आर्य से पहले थिरुवनंतपुरम के मेयर रहे 34 वर्षीय वीके प्रसांथ थिरुवनंतपुरम के सबसे युवा मेयर थे। हालांकि आर्य ने 21 साल की उम्र में मेयर बन यह उपाधि अपने नाम कर ली है। वह ना केवल थिरुवनंतपुरम बल्कि सम्पूर्ण भारत में सबसे कम उम्र की मेयर बन गई हैं। 

ग्लोबल टीचर 2020 पुरस्कार विजेता रंजीतसिंह दिसाले ने जीते 7 करोड़, अन्य 9 फाइनलिस्ट के साथ 50% पुरस्कार राशि करेंगे साझा - जानें उनकी इस जीत की कहानी







Related Categories

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories