Search

IAS मुख्य परीक्षा 2017: सामान्य अध्ययन 4 पेपर V

IAS मुख्य परीक्षा 2017 की सामान्य अध्ययन 4 की परीक्षा 31 अक्टूबर, 2017 को आयोजित की गई थी। इस लेख में हमने IAS मुख्य परीक्षा 2017 के सामान्य अध्ययन 4 का प्रश्न-पत्र प्रदान किया है जिसका अध्ययन सिविल सेवा परीक्षा 2018 की तैयारी के संदर्भ में बहुत फायदेमंद है।

Nov 2, 2017 19:51 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
IAS Mains Exam 2017 General Studies 4 Paper V
IAS Mains Exam 2017 General Studies 4 Paper V

IAS मुख्य परीक्षा 2017 की सामान्य अध्ययन 4 की परीक्षा 31 अक्टूबर 2017 को आयोजित की गई थी। इस लेख में हमने IAS मुख्य परीक्षा 2017 के सामान्य अध्ययन 4 का प्रश्न-पत्र प्रदान किया है। सिविल सेवा परीक्षा 2017 में पूछे गए प्रश्नों के अध्ययन करने तथा ऐसे प्रश्नों का अभ्यास करने से सिविल सेवा परीक्षा 2018 की तैयारी के लिए फायदेमंद होगा।

IAS मुख्य परीक्षा 2017: सामान्य अध्ययन 3 पेपर IV

IAS उम्मीदवारों को IAS मुख्य परीक्षा के हर विषयों का अध्ययन करना चाहिए और तदनुसार IAS परीक्षा 2018 के लिए इसी पैटर्न के आधार पर टॉपिक्स को कवर करने के लिए विशेष रणनीति बनाना चाहिए।

सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2017: सामान्य अध्ययन 4 पेपर V

पुर्णांक: 250

समय: 3 घंटे

1. सार्वजनिक क्षेत्र में हित-संघर्ष तब उत्पन्न होता है, जब निम्नलिखित की एक-दूसरे के ऊपर प्राथमिकता रखते हैं:
(a) पदीय कर्तव्य
(b) सार्वजनिक हित
(c) व्यक्तिगत हित

प्रशासन में इस संघर्ष को कैसे सुलझाया जा सकता है? उदाहरण सहित वर्णन कीजिए। (150 शब्द)  10

2. सिविल सेवा के संदर्भ में निम्नलिखित की प्रासंगिकता का परिक्षण कीजिए: (150 शब्द)  10
(a) पारदर्शिता
(b) जवाबदेही
(c) निष्पक्षता तथा न्याय
(d) दृढ़ विश्वास का साहस
(e) सेवा भाव

3. नैतिक आचरण वाले तरुण लोग सक्रिय राजनीति में शामिल होने के लिए उत्सुक नहीं होते हैं। उनको सक्रिय राजनीति में अभिप्रेरित करने के लिए उपाय सुझाइए। (150 शब्द)  10

4. (a) समझौते से पूर्ण रूप से इनकार करना सत्यनिष्ठा की एक परख है। इस संदर्भ में वास्तविक जीवन से उदाहरण देते हुए व्याख्या कीजिए। (150 शब्द)  10

(b) कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व कम्पनियों को अधिक लाभदायक तथा चिरस्थायी बनाता है। विश्लेषण कीजिए। (150 शब्द)  10

5. (a) “बड़ी महत्वाकांक्षा महान चरित्र का भावावेश (जुनून) है। जो इससे संपन्न है वे या तो बहुत अच्छे अथवा बहुत बुरे कार्य कर सकते हैं। ये सब कुछ उन सिद्धन्तों पर आधारित है जिनसे वे निर्देशित होते हैं।” – नेपोलियन बोनापार्ट।
उदाहरण देते हुए उन शासकों का उल्लेख कीजिए जिन्होंने (i) समाज व देश का अहित किया है, (ii) समाज व देश के विकास के लिए कार्य किया है।  (150 शब्द)  10

(b) “मेरा दृढ़ विश्वास है कि यदि किसी राष्ट्र को भ्रष्टाचार मुक्त और सुंदर मनों वाला बनाता हैं, तो उसमें समाज के तीन प्रमुख लोग अंतर ला सकते हैं। वे हैं पिता, माता एवं शिक्षक।” – ए.पी.जे. अब्दुल कलाम । विश्लेषण कीजिए। (150 शब्द)  10

6. (a) प्रशासनिक पद्धतियों में भावनात्मक बुद्धि का आप किस तरह प्रयोग करेंगे?  (150 शब्द)  10

(b) शक्ति, शांति एवं सुरक्षा अन्तर्राष्ट्रीय संबंधों के आधार माने जाते हैं। स्पष्ट कीजिए। (150 शब्द)  10

7. (a) वर्तमान समय में नैतिक मूल्यों का संकट, सद्-जीवन की संकीर्ण धारणा से जुड़ा हुआ है। विवेचना कीजिए।  (150 शब्द)  10

(b) वर्धित राष्ट्रीय संपत्ति के लाभों का न्यायोचित वितरण नहीं हो सका है। इसने “ बहुमत के नुकसान पर केवल छोटी अल्पसंख्या के लिए ही आधुनिकता और वैभव के एन्क्लेव” बनाए हैं। इसका औचित्य सिद्ध कीजिए।  (150 शब्द)  10

8. (a) अनुशासन में सामान्यत: आदेश पालन और अधीनता निहित है। फिर भी यह संगठन के लिए प्रति-उत्पादक हो सकता है। चर्चा कीजिए।  (150 शब्द)  10

(b) सामान्यत: साझा किए गए तथा व्यापक रूप से मोर्चाबंद नैतिक मूल्यों और दायित्वों के बिना न तो कानून, न तो लोकतंत्रीय सरकार, न ही बाजार अर्थव्यवस्था ठीक से कार्य कर पाएँगे। इस कथन से आप क्या समझते हैं? समकालीन समय के उदाहरण द्वारा समझाइए।  (150 शब्द)  10

खण्ड B

9. आप एक ईनामदार और जिम्मेदार सिविल सेवक हैं। आप प्राय: निम्नलिखित को प्रेक्षित करते हैं:

(a) एक सामान्य धारणा है कि नैतिक आचरण का पालन करने से स्वयं को भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और परिवार के लिए भी समस्याएँ पैदा हो सकती हैं, जबकि अनुचित आचरण जीविका लक्ष्यों तक पहुँचने में सहायक हो सकता है।

(b) जब अनुचित साधनों को अपनाने वाले लोगो की संख्या बड़ी होती है, नैतिक साधन अपनाने वाले अल्पसंख्यक लोगों से कोई फर्क नहीं पड़ता ।

(c) नैतिक तरीकों का पालन करना बृहत् विकासात्मक लक्ष्यों के लिए हानिकारक है ।

(d) चाहे कोई बड़े अनैतिक आचरण में सम्मिलित न हो, लेकिन छोटे-मोटे उपहारों का आदान-प्रदान प्रणाली को अधिक कुशल बनाता है।

उपर्युक्त कथनों की, उनके गुणों और दोषों सहित जाँच कीजिए।  (250 शब्द)  20

10. आप आई.ए.एस. अधिकारी बनने के इच्छुक अहिं और आप विभिन्न चरणों को पार करने के बाद व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए चुन लिए गए हैं। साक्षात्कार के दिन जब आप साक्षात्कार स्थल की ओर जा रहे थे तब आपने एक दुर्घटना देखी जहाँ एक माँ और बच्चा जो कि आपके रिश्तेदार थे, दुर्घटना के कारण बुरी तरह से घायल हुए थे। उन्हें तुरंत सहायता की आवश्यकता थी।

आपने ऐसी परिस्थिति में क्या किया होता? अपनी कार्यवाही का औचित्य समझाइए। (250 शब्द)  20

11. आप किसी संगठन के मानव संसाधन विभाग के अध्यक्ष हैं। एक दिन कर्मचारियों में से एक का डयूटी करते हुए देहान्त हो गया। उसका परिवार मुआवज़े की माँग कर रहा था किन्तु कम्पनी ने इस कारण से मुआवज़ा देने से इनकार कर दिया है क्योंकि कम्पनी को जाँच द्वारा ज्ञात हुआ कि कर्मचारी दुर्घटना के समय नशे में था। कम्पनी के कर्मचारी मृतक कर्मचारी के परिवार को मुआवज़ा देने की माँग करते हुए हड़ताल पर चले गए। प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष ने आपसे इस संबंध में सपाह देने को कहा।
प्रबंधन मंडल को आप क्या सलाह देंगे?

अपनी दी गई सलाहों में से प्रत्येक के गुणों और दोषों की चर्चा कीजिए।  (250 शब्द)  20

12. आप एक स्पेयर पार्ट कम्पनी ए के मैनेजर हैं और आपको एक बड़ी उत्पादक कम्पनी बी के मैनेजर से सौदे के लिए बातचीत करनी है। सौदा अत्यधिक प्रतिस्पर्धात्मक है तथा आपकी कम्पनी के लिए यह सौदा प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है। डिनर पर सौदा किया जा रहा है। डिनर के पश्चात् उत[उत्पाद कम्पनी बी के मैनेजर ने आपको आपके होटल अपनी गाडी से छोड़ें का प्रस्ताव किया। होटल जाते समय कम्पनी बी के मैनेजर से एक मोटरसाईकिल को टक्कर लग गई जिससे मोटरसाइकिल पर सवार व्यक्ति बुरी तरह से घायल हो गया। आप जाते हैं कि मैनेजर तीव्र गति से गाडी चला रहा था और वह गाड़ी पर नियन्त्रण खो बैठा था। विधि-प्रवर्तन अधिकारी इस घटना की जाँच करने के लिए आते हैं और आप इस घटना के एकमात्र प्रत्यक्षसाक्षी हैं। सड़क दुर्घटनाओं के कड़े कानूनों को जानते हुए आप इस बात से अवगत हैं कि आपके इस घटना के सच्चे ब्यान से कम्पनी बी के मैनेजर पर अभियोग चलाया जा सकता है जिसके परिणामस्वरूप सौदा होना खतरे में पड़ सकता है और यह सौदा आपकी कम्पनी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

आप किस प्रकार की दुविधाओं का सामना करेंगे? इस परिस्थिति के बारे में आपकी क्या प्रतिक्रिया होगी?  (250 शब्द)  20

13. एक मकान जिसे तीन मंजिल बनाने की अनुमति मिली थी, उसे अवैध रूप से निर्माणकर्ता द्वारा छ: मंजिला बनाया जा रहा था और वह ढह गया। इसके कारण कई निर्दोष मजदूर जिनमें महिलाएँ व बच्चे भी शामिल थे, मारे गए। ये सब मजदूर भिन्न-भिन्न स्थानों से आए हुए थे। सरकार द्वारा तुरंत मृतक परिवारों को नकद-मुआवज़ा घोषित किया गया और निर्माणकर्ता को गिरफ़्तार कर लिया गया। देश में होने वाली इस प्रकार की घटनाओं के कारण बताइए। इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए अपने सुझाव दीजिए।  (250 शब्द)  20

14. आप एक सरकारी विभाग में सार्वजनिक जनसूचना अधिकारी (पी.आई.ओ.) हैं। आप जानते हैं कि 2005 का आर. टी. आई. अधिनियम प्रशासनिक पारदर्शिता एवं जवाबदेही की परिकल्पना करता है। अधिनियम आमतौर पर कदाचित मनमाना प्रशासनिक व्यवहार एवं कार्यों पर रोक लगाने में कार्यरत है। किन्तु एक पी. आई.ओ. के स्वरूप में आपने देखा है कि कुछ ऐसे नागरिक हैं जो अपने लिए याचिका फाइल करने के बजाय दूसरे हितधारकों के लिए याचिका फाइल करते हैं और इसके द्वारा अपने स्वार्थ को आगे करते हैं। साथ-साथ ऐसे आर. टी. आई. भरने वाले कुछ लोग भी हैं जो नियमित रूप से आर. टी. आई. गतिविधियों ने प्रशासन के कार्यकलापों पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और सम्भवतः विशुद्ध याचिकाओं को जोखिम में डाल दिया है जिनका लक्ष्य न्याय प्राप्त करना है।

वास्तविक और अवास्तविक याचिकाओं को अलग करने के लिए आप क्या उपाय सुझाएँगे? अपने सुझावों के गुणों और दोषों का वर्णन कीजिए।  (250 शब्द)  20

अन्य IAS मुख्य परीक्षा प्रश्नपत्र

Related Stories