Search

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फील्ड में आपके लिए हैं कई करियर ऑप्शन्स

हमारे देश में आजकल स्टैटिस्टिक्स की फील्ड में आपके लिए कई करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. अगर आपको स्टैट्स में इंटरेस्ट है तो आप आकर्षक सैलरी पैकेज के साथ पब्लिक या प्राइवेट सेक्टर में अपना करियर बना सकते हैं. कैसे?.....इस आर्टिकल में पढ़ें.

Jul 19, 2019 18:44 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Statistics has plenty of Career Options for you in India
Statistics has plenty of Career Options for you in India

कॉमर्स और मैथ्स सब्जेक्ट्स की तरह ही आजकल हमारे देश भारत में स्टैटिस्टिक्स भी काफी महत्वपूर्ण स्टडी सब्जेक्ट बन गया है. आजकल के इस डिजिटल युग में हम स्टैटिस्टिक्स को अनदेखा नहीं कर सकते हैं क्योंकि अब दुनिया के सभी देशों की सरकारें अपने सारे कामकाज के लिए पुख्ता प्लानिंग करती है और इस पुख्ता प्लानिंग के लिए स्टैटिस्टिक्स एक मजबूत आधार पेश करती है. स्टैटिस्टिक्स वास्तव में डाटा के कलेक्शन, ऑर्गेनाइजेशन, एनालिसिस, इंटरप्रिटेशन और प्रेजेंटेशन की स्टडी है. स्टैटिस्टिक्स का आधार मैथमेटिक्स की ‘प्रोबैबिलिटी फील्ड’ है. कुछ वर्षों से हमारे देश के यंग प्रोफेशनल्स और स्टूडेंट्स ‘स्टैटिस्टिक्स’ की फील्ड में अपना करियर बनाने में काफी दिलचस्पी दिखा रहे हैं. आइए इस आर्टिकल के माध्यम से भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करें.

स्टैटिस्टिक्स के 2 प्रमुख भाग हैं:

डिस्क्रिप्टिव स्टैटिस्टिक्स – इसके तहत डाटा का इस्तेमाल डिस्क्रिप्टिव एनालिसिस के लिए किया जाता है. इस स्टैटिस्टिक्स में ग्राफ्स और न्यूमेरिकल कैलकुलेशन्स का इस्तेमाल किया जाता है.

इन्फेरेंशल स्टैटिस्टिक्स – इसमें रैंडम सैंपल्स का इस्तेमाल करके डाटा को एनालाइज किया जाता है.

जानिये आखिर कौन होते हैं ये स्टैटिस्टिशिय प्रोफेशनल्स?

जो क्वालिफाइड प्रोफेशनल्स इंडस्ट्री और बिजनेस की विभिन्न फ़ील्ड्स में डाटा को कलेक्ट, ऑर्गनाइज़ और इन्टरप्रेट करते हैं, वे प्रोफेशनल्स ही स्टैटिस्टिशियन कहलाते हैं. ये पेशेवर स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित विभिन्न एजुकेशनल कोर्सेज करके एक स्टैटिस्टिक्स एक्सपर्ट के तौर पर अपना करियर शुरू करते हैं और पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर्स की विभिन्न सरकारी और गैर-सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए डाटा एनालिसिस और डाटा इंटरप्रिटेशन के जरिये अपनी डाटा रिपोर्ट्स तैयार करते हैं. ये प्रोफेशनल्स अपनी डाटा रिपोर्ट्स में बड़े सटीक अनुमान पेश करते हैं और इन डाटा रिपोर्ट्स पर विभिन्न सरकारी और प्राइवेट सेक्टर की सभी योजनाओं की वास्तविक सफलता काफी हद तक निर्भर करती है.

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित हैं ये जॉब प्रोफाइल्स

  • स्टैटिस्टिशियन – ये पेशेवर सारा डाटा कलेक्ट करके उसका एनालिसिस करते हैं ताकि किसी भी कंपनी को अपने गुड्स एंड सर्विसेज की फ्यूचर डिमांड की सटीक जानकारी मिल सके. ये पेशेवर बिजनेस, इंजीनियरिंग, साइंस और फाइनेंस सहित लगभग सभी फ़ील्ड्स की प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने के लिए स्टैटिस्टिकल डाटा का इस्तेमाल करते हैं.
  • बिजनेस एनालिस्ट – ये पेशेवर आमतौर पर अपने क्लाइंट्स की बिजनेस नीड्स को एनालाइज करते हैं. इसके लिए ये पेशेवर संबंधित कंपनी की प्रोसेस और सिस्टम का एनालिसिस करते हैं.
  • फाइनेंशियल रिस्क एनालिस्ट – इंश्योरेंस और फाइनेंस की विभिन्न फ़ील्ड्स में रिस्क मैनेजमेंट के उद्देश्य से ये पेशेवर स्टैटिस्टिकल डाटा का इस्तेमाल करके रिस्क एनालिसिस करते हैं ताकि संबंधित संगठन को किसी भी तरह के फाइनेंशियल घाटे से समय रहते बचा सकें.  
  • डाटा एनालिस्ट – ये पेशेवर अपनी एम्पलॉयर कंपनी के बिजनेस प्रॉफिट के लिए स्टैटिस्टिकल डाटा को इन्टरप्रेट करके उपयोगी इनफॉर्मेशन और डाटा-रिपोर्ट पेश करते हैं.
  • बायो स्टैटिस्टिशियन – ये पेशेवर मेडिकल फील्ड के भी एक्सपर्ट्स होते हैं और इसलिए ये लोग मेडिकल रिसर्च प्रोजेक्ट्स के लिए लिविंग बीइंग्स का स्टैटिस्टिकल डाटा लाइव सैंपल्स के माध्यम से कलेक्ट करके, उस डाटा का एनालिसिस करते हैं. ये पेशेवर अपने काम के लिए बायोलॉजी और स्टैटिस्टिक्स की विभिन्न फ़ील्ड्स का अच्छी तरह इस्तेमाल करते हैं.
  • मैथमेटिशियन – ये पेशेवर स्टैटिस्टिकल डाटा में साइंटिफिक एप्रोच का इस्तेमाल करने के लिए मैथमेटिक्स के बेसिक प्रिंसिपल्स और एडवांस्ड मैथमेटिक्स का इस्तेमाल करते हैं ताकि डाटा से संबंधित रियल टाइम प्रॉब्लम्स को सॉल्व किया जा सके.
  • इकनोमिट्रिशियन – विभिन्न इकनोमिक टॉपिक्स जैसेकि इन्फ्लेशन, कंपनी प्रॉफिट, एम्पलॉयमेंट, डिमांड एंड सप्लाई ऑफ़ गुड्स एंड सर्विसेज से संबंधित स्टैटिस्टिकल डाटा को ये पेशेवर इकोनॉमिक गेन्स के लिए एनालाइज़ करते हैं.

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित कुछ अन्य महत्वपूर्ण करियर ऑप्शन्स

  • कंटेंट एनालिस्ट
  • इन्वेस्टमेंट एनालिस्ट
  • एक्चुरियल एनालिस्ट  
  • स्टैटिस्टिक ट्रेनर
  • डाटा साइंटिस्ट
  • कंसलटेंट
  • मार्केट रिसर्चर
  • लेक्चरर/ प्रोफेसर

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित कोर्सेज

हमारे देश में स्टूडेंट्स किसी एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास मैथमेटिक्स और/ या स्टैटिस्टिक्स विषय के साथ पास करने के बाद स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित निम्नलिखित कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं:

सर्टिफिकेट एंड डिप्लोमा कोर्सेज

  • सर्टिफिकेट – स्टैटिस्टिकल मेथड्स एंड एप्लीकेशन्स
  • डिप्लोमा - स्टैटिस्टिक्स

अंडरग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज

  • बैचलर ऑफ़ आर्ट्स – स्टैटिस्टिक्स
  • बैचलर - स्टैटिस्टिक्स
  • बैचलर ऑफ़ साइंस – स्टैटिस्टिक्स (ऑनर्स)

पोस्टग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज

  • मास्टर ऑफ़ आर्ट्स – स्टैटिस्टिक्स
  • मास्टर - स्टैटिस्टिक्स
  • मास्टर ऑफ़ साइंस – स्टैटिस्टिक्स (ऑनर्स)

डॉक्टोरल लेवल के कोर्सेज

  • मास्टर ऑफ़ फिलोसोफी – स्टैटिस्टिक्स
  • पीएचडी - स्टैटिस्टिक्स

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित कोर्सेज करवाने वाले टॉप एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस

  • इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट, बैंगलोर
  • इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट, दिल्ली
  • सेंट ज़ेवियर कॉलेज, मुंबई
  • लोयोला कॉलेज, चेन्नई
  • इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट, कलकत्ता
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • चेन्नई इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट, चेन्नई
  • हिंदू कॉलेज, नई दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़
  • देवी अहिल्या विश्व विद्यालय, स्कूल ऑफ़ स्टैटिस्टिक्स, इंदौर, मध्यप्रदेश

भारत में स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित पेशेवरों को मिलती है ये सैलरी

दुनिया के अन्य सभी देशों की तरह ही हमारे देश में भी स्टैटिस्टिक्स की फ़ील्ड से संबंधित पेशेवरों को काफी आकर्षक सैलरी पैकेज मिलता है. किसी स्टैटिस्टिशियन को एवरेज 2.5 लाख – 3.5 लाख रुपये का सालाना पैकेज मिलता है. इस फील्ड में कुछ वर्ष के वर्क एक्सपीरियंस के बाद ये प्रोफेशनल्स 4.5 लाख रुपये सालाना तक सैलरी पैकेज कमा सकते हैं. इसी तरह, फाइनेंस और बैंकिंग सेक्टर्स में किसी बिजनेस एनालिस्ट को एवरेज 4.40 लाख रुपये का सालाना सैलरी पैकेज मिलता है. स्टैटिस्टिशियन ट्रेनर को एवरेज 5.65 लाख रुपये का सालाना पैकेज मिलता है. सीनियर डाटा एनालिस्ट को एवरेज 7.80 लाख रुपये सालाना मिलते हैं और इकनोमिट्रिशियन को एवरेज 4.05 लाख रुपये सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है.

भारत में स्टैटिस्टिशियन्स को रिक्रूट करने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स और कंपनियां

हमारे देश में स्टैटिस्टिशियन्स के लिए आजकल कई कंपनियों जैसेकि, ट्रांसपोर्ट, फाइनेंशियल, बैंकिंग, इंश्योरेंस, एकाउंटेंसी, हेल्थ, मार्केट रिसर्च, फार्मास्यूटिकल आदि क्षेत्रों से संबंधित कंपनियों के साथ-साथ यूनिवर्सिटीज़, रिसर्च सेक्टर और NGOs में भी स्टैटिस्टिक्स की विभिन्न फ़ील्ड्स से संबंधित प्रोफेशन्स में जॉब्स के अनेक अवसर उपलब्ध हैं. भारत में स्टैटिस्टिशियन्स निम्नलिखित टॉप ब्रांड कंपनियों में अपने लिए सूटेबल जॉब हासिल करने के लिए जॉब से संबंधित एग्जाम्स और/ या जॉब इंटरव्यू दे सकते हैं:

  • डेलोईटे कंसल्टिंग
  • TCS इनोवेशन्स लैब्स
  • ब्लू ओशन मार्केटिंग
  • RBI
  • HSBC
  • इंडियन मार्केट रिसर्च ब्यूरो
  • BNP परिबास इंडिया
  • नेल्सन कंपनी
  • एक्सेंचर
  • HP
  • GE कैपिटल
  • HDFC

.......तो अगर आपको भी मैथ्स और स्टैटिस्टिकल डाटा में गहरी दिलचस्पी है तो आप उक्त करियर ऑप्शन्स में से अपने लिए कोई सूटेबल करियर चुन सकते हैं. हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं!

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Related Categories

Related Stories