Search
Breaking

UPSC (IAS) Prelims 2020: 2015 की टॉपर टीना डाबी ने आखिरी 3 महीने की रिवीजन के लिए बताया अपना टाइम टेबल

UPSC ने IAS Prelims 2020 की परीक्षा की नई तिथि 4 अक्टूबर तय की है। ऐसे में UPSC IAS परीक्षा के उम्मीदवारो को तैयारी के लिए 4 महीनो का अतिरिक्त समय मिल गया है। इस समय का सदुपयोग करते हुए उम्मीदवार UPSC (IAS) 2015 की टोपर टीना डाबी का प्रीलिम्स क्लियर करने के लिए लास्ट 3 months की तैयारी का टाइम टेबल फॉलो कर सकते हैं। जानिए क्या खास है इस टाइम टेबल में

Jun 9, 2020 10:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
टीना डाबी ने बताया Last 3 months की तैयारी के लिए अपना टाइम टेबल
टीना डाबी ने बताया Last 3 months की तैयारी के लिए अपना टाइम टेबल

UPSC (IAS) 2020 की प्रीलिम्स परीक्षा 4 अक्टूबर को होने जा रही है। जहाँ कई कैंडिडेट्स इस नई तिथि को लेकर खुश हैं वहीं कुछ उम्मीदवार परीक्षा 4 महीने आगे बढ़ जाने से नर्वस भी हैं। परीक्षा की तिथि बढ़ जाने से करंट अफेयर्स का दायरा भी बढ़ गया है। अब सभी उम्मीदवारों को जनवरी 2020 से ले कर अगस्त 2020 तक की सभी घटनाओं का अध्ययन भी करना होगा। ऐसे में ज़रूरी हैं की हर उम्मीदवार इन 4 महिनो में अपनी तैयारी के लिए एक टाइम टेबल तैयार करें जिससे की सभी टॉपिक्स को परीक्षा से पहले कवर किया जा सके।  यूपीएससी सिविल सर्विसेज देश के सबसे सम्मानित पदों में से एक है। इसीलिए UPSC (IAS) की परीक्षा का सिलेबस और सिलेक्शन प्रोसेस कठिन और विस्तृत है। 

UPSC (IAS) Prelims 2020: परीक्षा की तैयारी के लिए Subject-wise Study Material & Resources

UPSC सिविल सर्विसेज 2015 की टोपर टीना डाबी ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर परीक्षा के दौरान फॉलो किए गए टाइम टेबल को  शेयर किया। इसी टाइम टेबल को फॉलो कर टीना ने केवल 22 साल की उम्र में अपने पहले ही एटेम्पट में सिविल सेवा परीक्षा को टॉप किया। आइये देखे क्या ख़ास है इस टाइम टेबल में:

न्यूजपेपर रीडिंग- UPSC IAS की तैयारी प्रक्रिया में अखबार पढ़ने के महत्व को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। यह न केवल वर्तमान मामलों के बारे में एक उम्मीदवार को अपडेट करता है, बल्कि इसके आर्टिकल सेक्शन में एक ही मुद्दे पर अलग-अलग राय को पढ़ा जा सकता है। मेन्स परीक्षा में उत्तर लेखन के लिए यह आवश्यक है। जैसा कि टॉपर ने सुझाव दिया है, उम्मीदवारों को अखबार पढ़ने के लिए सुबह 1 घंटा निकालना चाहिए।

करंट अफेयर्स रिविजन- कैंडिडेट्स को एक्सटेंसिव स्टेटिक सिलेबस के साथ, UPSC (IAS) परीक्षा में करंट अफेयर्स के महत्व को नहीं भूलना चाहिए। जैसा कि टॉपर द्वारा बताया गया है, कैंडिडेट्स को स्टेटिक और करंट अफेयर्स सेक्शन को पढ़ने का टाइम सावधानी से डिस्ट्रीब्यूट करना चाहिए।

अपने स्ट्रॉन्ग और कमजोर विषयों को जानें- अपने हर दिन के टाइम स्लॉट को इस तरह से डिवाइड किया जाना चाहिए कि एस्पिरेंट्स अपने कमजोर विषयों की तैयारी के लिए अधिक समय निकाल सके। हालांकि,  अपने स्ट्रॉन्ग सब्जेक्ट्स के रवीज़न के लिए टाइम निकालना ना भूले। प्रीलिम्स परीक्षा के लिए प्रत्येक विषय का ज्ञान होना आवश्यक है।

UPSC (IAS) Prelims 2020 की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण NCERT पुस्तकें 

थ्री टीयर रिविजन- यह काफी आईएएस के उम्मीदवारों द्वारा नियोजित सबसे सफल रिविज़न ट्रिक्स में से एक है। यदि किसी टॉपिक को पढ़ने के बाद उसी दिन  उसे रिवाइज़ किया जाता है, तो यह विषय की समझ में मदद करता है, लेकिन परीक्षा तक याद रखने में मदद नहीं करता है। यही कारण है कि टीना तीन-स्तरीय संशोधन का सुझाव देती है जहां प्रत्येक विषय को परीक्षा से पहले तीन बार रिवाइज़ किया जाना चाहिए।

एक्टिविटी टाइम- लंबे समय तक पढ़ने और सीमित मनोरंजक गतिविधियों के साथ, एस्पिरेंट्स अक्सर निराश और थका हुआ महसूस करते हैं। इसलिए मनोरंजक गतिविधियों पर कुछ समय बिताना आवश्यक है। जैसे कोई पसंदीदा नावेल पढ़ना  या कोई आउटडोर खेल खेलना। इससे माइंड और शरीर फ्रेश रहती है साथ ही कंसंट्रेशन लेवल भी बढ़ता है। 

संतुलित आहार और उचित नींद- यअक्सर देखा जाता है की परीक्षा से कुछ महीनों पहले एस्पिरेंट्स आमतौर पर अपनी डाइट और स्लीपिंग पैटर्न को नजरअंदाज करते हैं। जैसी की टीना डाबी अपने टाइम टेबल में सूझाती हैं, संतुलित आहार और 7 घंटे की नींद आपके टाइम-टेबल का एक हिस्सा होना चाहिए।

 हमें उम्मीद है की टीना डाबी के टाइम टेबल से आपको मदद और प्रेरणा ज़रूर मिली होगी। लेकिन ये भी ज़रूरी नहीं की आपको इस टाइम टेबल को ही फॉलो करना है। आप अपनी सहूलियत की अनुसार  टेबल भी बना सकते है। लेकिन परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए एक निर्धारित टाइम टेबल का पालन किया जाना चाहिए

Positive India: जानें 7 IAS अफसरों के बारे में जिन्होंने समाज को सुधारने में दिया अद्वितीय योगदान

 

 

Related Stories