डेबिट कार्ड पर छपे 16 अंक क्या बताते है?

डेबिट कार्ड पर लिखे गए नंबरों का क्या अर्थ होता है? डेबिट कार्ड पर दी गई संख्याओं की पहचान कैसे करें? कार्ड नंबर क्या है और डेबिट कार्ड पर 16 अंकों का क्या मतलब होता है? ये कुछ ऐसे प्रश्न हैं जो अक्सर पूछे जाते हैं. पूरी जानकारी के लिए आइये देखते हैं.    
May 10, 2019 10:06 IST
    What do 16 numbers on debit card represents?

    डेबिट कार्ड (debit card) को ही ATM कार्ड कहते है और इसका उपयोग ऑनलाइन खरीदारी, ऑनलाइन बिल पेमेंट्स वगेरा के लिए किया जाता है. डेबिट कार्ड या ATM के द्वारा हम किसी भी ATM मशीन से पैसे निकाल सकते हैं.

    आइये एक उधारण के रूप मैं समझते हैं: जिस प्रकार हम सिम का उपयोग करते है ठीक उसी प्रकार से ATM का भी होता है. अगर सिम मे बैलेंस न हो तो हम बात नही कर सकते है उसी प्रकार से अगर बैंक मे बैलेंस न हो तो डेबिट कार्ड कि मदद से पैसा नहीं निकाला जा सकता है. बढती हुई टेक्नोलॉजी से हमें फायदा मिला है कि अब हमें पैसे निकलने के लिए बैंक जाने कि जरुरत नही पढ़ती है, अब हम ATM के द्वारा किसी भी बैंक एटीएम मशीन से पैसा निकाल सकते है. डेबिट कार्ड का मतलब ऑनलाइन बैंकिंग ट्रांजैक्शन (Banking Transaction) होता है जिससे आप किसी भी प्रकार का ऑनलाइन पेमेंट (Online Payment) कर सकते है.

    आजकल हर बैंक अकाउंट होल्डर (खाताधारक) के पास डेबिट (एटीएम) कार्ड होता है. लोग इसका इस्तेमाल करते हैं, पर कईयों को इन कार्ड्स के बारे में अधिक जानकारी नहीं होती है. यहीं आपको बता दें कि डेबिट कार्ड पर दिए गए नंबरों से आपके बैंक खाते की सारी डिटेल्स हासिल की जा सकती है.ये हम सभी जानतें है कि हर डेबिट कार्ड के दोनों तरफ कुछ नंबर लिखे होते हैं, पर इन्हें डिकोड करना बहुत आसान होता है.

    क्या आप जानतें है कि ये नंबर आपके बैंक अकाउंट के बारे में बताते हैं, बल्कि सुरक्षा की दृष्टि से भी काफी जरूरी होते ह. यहाँ तक कि शॉपिंग और ऑनलाइन बैंकिंग के समय किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी को रोकने के लिए ये बहुत मददगार साबित होते है. पर अगर किसी भी तरह की लापरवाही की वजह से  कार्ड के डिटेल्स अगर किसी के पास पहुचते है तो धोखाधड़ी हो सकती है .

    जानें ATM के बारे में 15 रोचक तथ्य

    डेबिट कार्ड पर लिखे 16 अंकों के नंबर क्या बताते है :

    डेबिट कार्ड के आगे के हिस्से में 16 अंकों का नंबर लिखा होता है. पहले 6 अंक बैंक आइडेंटिफिकेशन नंबर (Bank Identification number) होते हैं और बाद के 10 अंक कार्डधारक का यूनिक अकाउंट नंबर (Unique account number) होता  है. यहाँ तक की डेबिट कार्ड पर बना ग्लोबल होलोग्राम (Global Hologram) एक ऐसा सुरक्षा होलोग्राम है, जिसकी नकल करना बहुत मुश्किल होता है. यह थ्री डाइमेंशनल (three dimensional) होता है. डेबिट कार्ड पर एक्सपायरी डेट व ईयर भी लिखा होता है ताकि यह ध्यान मे रहे कि इस डेट के बाद कार्ड काम नहीं करेगा.

    डेबिट कार्ड पर लिखे पहले नंबर का क्या अर्थ है?

    Debit Card 1

    Source: www.psdgraphics.com

    पहला नंबर उस इंडस्ट्री को दर्शाता है, जिसने कार्ड जारी किया है, इसे मेजर इंडस्ट्री आइडेंटिफायर [Major Industry Identifier,(MII)] कहते हैं . जैसे की बैंक, पेट्रोलियम कंपनी आदी . अलग-अलग इंडस्ट्री के लिए यह अलग-अलग होता है.

    वो इंडस्ट्रीज जो MII कोड जारी करती हैं:

    0 - ISO और अन्य इंडस्ट्री, 1 - एयरलाइन्स, 2 - एयरलाइन्स और अन्य इंडस्ट्री, 3 - ट्रैवल्स और इंटरटेनमेंट (अमेरिकन एक्सप्रेस या फूड क्लब), 4 - बैंकिंग और फाइनेंस (वीजा), 5 - बैंकिंग और फाइनेंस (मास्टर कार्ड), 6 - बैंकिंग और मर्चेंडाइजिंग, 7 - पेट्रोलियम, 8 - टेलिकम्युनिकेशन्स और अन्य इंडस्ट्री, 9 - नेशनल असाइनमेंट

    बैंक मित्र और कियॉस्क बैंकिंग किसे कहते हैं?

    डेबिट कार्ड पर लिखे हुए पहले 6 नंबर का क्या अर्थ है:

    Debit Card 2

    Source: www.psdgraphics.com

    डेबिट कार्ड के पहले 6 नंबर उस कंपनी को दर्शाता है जो कार्ड जारी करती है. इसको Issuer Identification Number (IIN) कहते हैं .

    कंपनी IIN

    मास्टर कार्ड = 5XXXXX

    वीजा = 4XXXXX

    अब 7 नंबर से लेकर आखरी नंबर को छोड़कर यानी 7 से 15 नंबर तक :

    Debit Card 3

    Source: www.psdgraphics.com

    7 नंबर से लेकर कार्ड के आखरी नंबर को छोड़कर यह आपके बैंक अकाउंट नंबर के साथ लिंक रहता है. हम इसे बैंक अकाउंट नंबर नही कह सकते है पर यह नंबर बैंक के अकाउंट से लिंक रहता है. लेकिन चिंता करने कि बात नहीं है, यह नंबर आपके अकाउंट और आपके बारें मे कुछ भी खुलासा नहीं करता है . यह बस कार्ड जारीकर्ता द्वारा आवंटित किया गया है और पूरी तरह से इसको अद्वितीय रखा गया है .

    अब डेबिट कार्ड के आखरी नंबर के बारे मे देखतें है

    Debit Card 4

    Source: www.psdgraphics.com

    डेबिट कार्ड का आखरी नंबर चेक डिजिट (check digit) नाम से जाना जाता है. इससे यह पता चलता है कि कार्ड वैलिड (valid) है या नहीं .

    डेबिट कार्ड के पीछे

    Debit Card CVV Number

    Source: www. http:fbs.usc.edu

    ऑनलाइन खरीदारी करते समय, सीवीवी (CVV) नंबर की जरुरत पढ़ती है, ताकि transaction सही से हो सके. CVV तीन अंकों की संख्या होती है जोकि कार्ड के पीछे दी जाती है, यह आमतौर पर हस्ताक्षर पट्टी के पास स्थित है और इटैलिक में हाइलाइटेड होती है.

    उम्मीद है कि आप डेबिट कार्ड पर दिए गए 16 अंको के नम्बरों के बारे मे जान गए होंगे और इसको सही से इस्तेमाल करेंगे .

    डेबिट या एटीएम कार्ड पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:
    Q1. डेबिट कार्ड क्या है?
    Ans. डेबिट कार्ड को एटीएम कार्ड, प्लास्टिक कार्ड, चेक कार्ड या बैंक कार्ड के रूप में भी जाना जाता है जिसका उपयोग खरीदारी के समय नकद देने के बजाय किया जा सकता है. यह सबसे सुविधाजनक और सुरक्षित तरीका है. डेबिट कार्ड की मदद से ऑनलाइन भुगतान, बैलेंस पूछताछ और एटीएम से मिनी-स्टेटमेंट भी प्राप्त कर सकते हैं.

    Q2. आप डेबिट कार्ड कैसे प्राप्त कर सकते हैं?
    Ans. जब आप किसी निश्चित बैंक में खाता खोलते हैं तो आपको बैंक की एक ओपनिंग किट मिलती है जिसमें डेबिट कार्ड, पासबुक इत्यादि होते हैं. यदि आपको बैंक में खाता खोलते समय डेबिट कार्ड नहीं मिला हो तो आप ग्राहक सेवा नंबर पर कॉल कर सकते हैं, बैंक या डेबिट कार्ड को अनुरोध करने के लिए बैंक कि किसी भी शाखा पर भी आप जा सकते हैं.

    Q3. ATM-cum-Debit-card के लिए कौन आवेदन कर सकता है?
    Ans. बचत बैंक या चालू खाता, एकल या संयुक्त खाते वाले किसी भी व्यक्तिगत खाता धारक को या तो या उत्तरजीवी / पूर्व या उत्तरजीवी / बाद में या उत्तरजीवी / कोई भी या उत्तरजीवी / पेंशनर, एनआरई खाता धारक के रूप में संचालित किया जाता है.

    Q4. व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन) क्या है?
    Ans. पिन आपके डेबिट कार्ड की चार अंकों की एक अद्वितीय संख्या है जिसके माध्यम से आप अपने नकदी तक पहुंच सकते हैं और अपने एटीएम के माध्यम से कोई भी लेनदेन कर सकते हैं. अपने पिन को सुरक्षित और गोपनीय रखना याद रखें और इसे किसी के साथ साझा न करें.

    Q5. डेबिट कार्ड का उपयोग करके आप कितनी राशि निकाल सकते हैं या लेनदेन की कोई सीमा है?
    Ans. दैनिक नकद निकासी पर सीमाएं हैं और यह आपके द्वारा रखे गए डेबिट कार्ड के प्रकार पर निर्भर करता है. आप जिस प्रकार के कार्ड का उपयोग कर रहे हैं, उसके आधार पर आप 15,000 रुपये से लेकर 2 लाख या उससे अधिक भी निकाल सकते हैं. प्रीमियम कार्ड के लिए नकदी निकालने की सीमा और पॉइंट-ऑफ-सेल्स की सीमा अधिक होती है.

    Q6. क्या नकद निकासी के लिए डेबिट कार्ड का उपयोग करने पर कोई शुल्क लगाया जाता है?
    Ans. मूल रूप से, एक ही बैंक के एटीएम से नकद निकासी बिल्कुल मुफ्त है. वास्तव में कुछ बैंक आपके द्वारा एटीएम से किए गए पांच से अधिक लेनदेन के मामले में नाममात्र का शुल्क लेते हैं.

    Q7.  जब एटीएम-कम-डेबिट कार्ड खो जाता है या गलत तरीके से इस्तेमाल किया जाता है तो तत्काल क्या कदम उठाने चाहिए?
    Ans. टोल फ्री हेल्प लाइन नंबर से संपर्क करें और कार्ड के नुकसान के बारे में सूचित करें. साथ ही कार्ड को ब्लॉक करने और नेटवर्क पर कार्ड के संचालन पर रोक लगाने के लिए अनुरोध करें. कृपया संपर्क केंद्र से टिकट नंबर लेने के लिए ध्यान रखें. यदि ग्राहक संपर्क केंद्र से संपर्क करने में सक्षम नहीं हैं, तो आप बैंक की किसी भी शाखा से संपर्क कर सकते हैं. कार्ड जारी करने वाली ब्रांच को कार्ड के नुकसान के बारे में टेलीफोन द्वारा या लिखित अनुरोध के माध्यम से तुरंत सूचित करें.

    अपने आधार कार्ड को पैन कार्ड से कैसे लिंक करें?

    जानें भारत की जीडीपी (GDP) क्या है और भारत की इनकम कैसे निर्धारित होती है

     

    Loading...

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Loading...
      Loading...