आखिर क्यूँ सीबीएसई सभी छात्रों को एनसीईआरटी पढ़ने का देता है सुझाव? जानें ये ख़ास बातें

यहाँ हम छात्रों को बतायेंगे कि क्यूँ सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में बेहतरीन अंक पाने के लिए एनसीईआरटी की किताबें पढ़ना है ज़रूरीl एनसीईआरटी किस प्रकार आपको हर विषय में महारत हासिल करने में करती है मदद? आपके हर प्रश्न का जवाब मिलेगा यहाँl

Created On: Jan 25, 2021 17:39 IST
Importance of NCERT Books
Importance of NCERT Books
 

सीबीएसई 10वीं या 12वीं के छात्रों के ऊपर बोर्ड इम्तिहान के रूप में अपनी ज़िन्दगी के एक बड़े पड़ाव को पार करने की ज़िम्मेदारी होती है जिसको पूरा करने के लिए वे अक्सर इसी सोच में रहते हैं कि बोर्ड परीक्षा में बेहतरीन परिणाम के लिए क्या करें? क्या पढ़ें? और कैसे पढ़ें? क्या सिर्फ़ एनसीईआरटी की किताबों से पढ़ना काफी होगा या 90% या उससे ज़्यादा अंक पाने के लिए रेफरेंस बुक्स भी ज़रूरी हैं? वैसे ज़्यादातर स्कूल, यहाँ तक कि सीबीएसई स्कूल भी विद्यार्थियों को अन्य रेफ़रेंस किताबें पढ़ने का सुझाव देते हैं, लेकिन खुद सीबीएसई इसके बिलकुल विपरीत सुझाव देते हुए सिर्फ़ और सिर्फ़ एनसीईआरटी किताबों से ही पढ़ने को महत्त्व देता हैl

बोर्ड परीक्षा में करना चाहते हैं टॉप? तो पढ़ाई शुरू करने के लिए यह होगा सबसे उचित समय

आज हम आपको यहाँ सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में अधिक्तम अंक पाने के लिए एनसीईआरटी किताबों के महत्त्व के बारे में जानकारी देंगे और बतायेंगे कि क्यूँ सीबीएसई विद्यार्थियों को हमेशा एनसीईआरटी किताबों से पढ़ने पर इतना ज़ोर देता है:

1. सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के लिए ज़रूरी सिलेबस पढ़ने के लिए एनसीईआरटी किताबें हैं काफी

एनसीईआरटी की किताबें पढ़कर ही आप सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के लिए ज़रूरी सिलेबस को कवर कर सकते होl इसके लिए अन्य किताबों में अपनी एनर्जी बर्बाद करना मुर्खता होगीl एनसीईआरटी की किताबें आपको हर ज़रूरी टॉपिक की गहरायी तक जाके कॉन्सेप्ट समझने में मदद करती हैंl सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में अधिक्तर सवाल एनसीईआरटी की किताबों से ही पूछे जाते हैंl

2. हर टॉपिक का कॉन्सेप्ट समझने के लिए एनसीईआरटी से बेहतर कुछ भी नहीं

ज़्यादातर सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में प्रश्नों को जटिल बनाने के लिए सीधे न पूछते हुए घुमा-फिरा कर पूछा जाता हैl ऐसे में जो विद्यार्थी एनसीईआरटी की किताबों को महज़ पढ़ते और रटते हैं, उन्हें ऐसे प्रश्न सिलेबस के बहार से पूछे प्रतीत होते हैंl जबकि ऐसा नहीं होताl दरअसल सीबीएसई द्वारा सुझावित एनसीईआरटी की किताबों को पढ़ने का मतलब है हर टॉपिक के कॉन्सेप्ट को समझना और उसकी एप्लीकेशन को सीखनाl इससे आप हर प्रश्न को पढ़ते ही उससे जुड़े कॉन्सेप्ट को समझ पाओगे और उस प्रश्न को हल कर पाओगेl

बोर्ड परीक्षा में परफेक्ट उत्तर लिखने के ये तरीके हैं सबसे आसान व महत्वपूर्ण!!!

3. बोर्ड परीक्षा में अधिकतम अंक पाने के लिए एनसीईआरटी में दिए विभिन्न प्रश्नों पे आजमायें हाथ

एनसीईआरटी किताबों में हर चेप्टर के अंत में विभिन्न टॉपिक्स से सम्बंधित कई अलग-अलग प्रकार के प्रश्न दिए जाते हैं जिनमें one-liners, match-the-following, multiple choice questions, descriptive या fill in the blanks  जैसे विभिन्न शैली के प्रश्न मौजूद होते हैं जिनका अभ्यास करने से विद्यार्थी को पढ़े हुए कॉन्सेप्ट्स की असली समझ आती है और वे उन कॉन्सेप्ट्स को उसी प्रकार की अन्य स्मस्स्याओं पे अप्लाई करना सीखते हैंl इससे आपको जटिल प्रश्नों को हल करने में भी दिक्कत नहीं आतीl

4. एनसीईआरटी से हर कठिन विषय को समझना है बहुत ही आसान

एनसीईआरटी की किताबें अनुभवी टीचर्स द्वारा लिखी जाती हैं जो हर टॉपिक की छात्र की मानसिक वृति के अनुसार व्याख्या करते हैं जिससे विद्यार्थी उस टॉपिक के मूल को समझते हुए उसको दिमाग में उतार सकेl एनसीईआरटी की किताबों को thoroughly पढ़ने से हर कठिन विषय को आसानी से समझा और याद किया जा सकता हैl

पढ़ाई में कैसे बढ़ाएं रूचि और कैसे रहें एकाग्रित व व्यवस्थित? ये स्टडी टिप्स ज़रूर करेंगे आपकी मदद

5. अन्य प्रतियोगी परीक्षाएं उत्तीर्ण करने में भी एनसीईआरटी है उपयोगी

भारत में 10+2  के आधार पर होने वाली सभी महत्वपूर्ण प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे कि JEE, AIEEE and CAT के लिए ज़रूरी सिलेबस भी आपको एनसीईआरटी किताबों में आसानी से मिल जाएगाl ज़रूरत है तो सिर्फ़ इन किताबों के गंभीर अध्यन कीl एनसीईआरटी में दिए गये टॉपिक्स को गहराई से समझने के साथ-साथ उनसे जुड़े प्रश्न हल करना भी बेहद ज़रूरी हैl इससे आपकी उस टॉपिक पे पकड़ और मज़बूत होगीl

निष्कर्ष

प्यारे विद्यार्थियों, आप चाहे 12वीं कक्षा के बाद जो भी करियर अपनाएं, लेकिन सबसे अहम और ज़रूरी बात यह है कि आपका आधार मज़बूत होना चाहिए जो कि आप स्कूल में रहते ही हो सकता है और उसके लिए भी सही व सटीक जानकारी देने वाला मटेरियल आपको चाहिए होगा जो कि एनसीईआरटी से बेहतर और कहीं नहीं मिल सकताl

इस तरह यह कहना बिलकुल ग़लत नहीं होगा कि बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने वाले अधिक्तर प्रश्न कॉन्सेप्ट की एप्लीकेशन पे आधारित होते हैं और इसके लिए विद्यार्थी को अपने कॉन्सेप्ट्स मज़बूत और स्पष्ट करने होंगे जो कि एनसीईआरटी पढ़कर ही संभव हो सकता हैl

बोर्ड परीक्षा और JEE दोनों में करोगे टॉप अगर अपनाओगे ये 5 टिप्स

विद्यार्थी कैसे कर सकते हैं अपने दिमाग का 100% इस्तेमाल? जानें ये पाँच तरीके

Comment (0)

Post Comment

8 + 1 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.