क्या आप जानते हैं विश्व की ऐसी मानव प्रजातिओं के बारे में जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं

विश्व में कुछ मानव प्रजातियां ऐसी भी हैं जिनको अपने भोजन के लिए पशु मांस अथवा मछली आदि मत्स्य प्रजातीय पर निर्भर रहना पड़ता है। इस लेख में हमने सामान्य जानकारी के लिए विश्व के उन प्रजातियों का वर्णन किया है जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं।
Jan 29, 2018 10:13 IST
    Do you know that human species of the world which still depend on hunting in Hindi

    विश्व में कुछ मानव प्रजातियां ऐसी भी हैं जिनको अपने भोजन के लिए पशु मांस अथवा मछली आदि मत्स्य  प्रजातियों पर निर्भर रहना पड़ता है। पशु मांस पर निर्भर रहने वाले ये मानव प्रजाति पृथ्वी के टुन्ड्रा प्रदेश, भूमध्यरेखीय  प्रदेश और मरुस्थालिये  प्रदेश में पायी जाती  है। इस लेख में हमने सामान्य जानकारी के लिए विश्व के उन प्रजातियों का वर्णन किया है जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं।

    विश्व की ऐसी मानव प्रजातिओं के बारे में जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं

    इन प्रजातियों के बारे में संक्षिप्त वर्णन निम्न प्रकार है:

    एस्किमो (Eskimo)

    Eskimo

    Source: images.iacpublishinglabs.com

     

    साधारणतया एस्किमो शब्द का मतलब ‘कच्चा मांस खाने वाला’ होता है। भोजन के लिए पशु पर निर्भर रहने वाले ये लोग ग्रीनलैंड के तटीय क्षेत्र, कनाडा के उत्तरी क्षेत्र और उत्तरी अमेरिका महाद्वीप स्थित शीत प्रदेश अलास्का में पाये जाते हैं। ये अपना भोजन शिकार के द्वारा उपलब्ध पशु-मांस से प्राप्त करते हैं। समुद्र तटीय क्षेत्रों की मत्स्य प्रजातीय व्हेल, सील, वालरस इनके शिकार एवं भोजन का प्रमुख आहार हैं। इनके अलावा, ध्रुवीय प्रदेशों के सफ़ेद रीछ और रेनडियर के शिकार से प्राप्त पशु-मांस भी इनका आहार है।

    विश्व की प्रसिद्ध स्थानीय हवाओं की सूची

    पिग्मी (Pygmy)

    Pymies

    Source: www.pygmies.org

    भूमध्य रेखा पर स्थित अफ्रीका महाद्वीप का मध्यवर्ती क्षेत्र जिसे कांगो बेसिन कहा जाता है, पिग्मी लोगो का आवासीय इलाका है। आदिम शैली का जीवन जीने वाले पिग्मी अपने क्षेत्र में मौजूद विभिन्न प्रकार के पशुओं जैसे हाथी, बन्दर, सांप, चूहा मछली का शिकार करके अपना जीवन बसर करते हैं। पशु के अलावा प्राकृतिक जल संसाधनों में उपलब्ध मत्स्य प्रजातियां भी इनका भोजन बनती हैं।

    बुशमैन (Bushmen)

    Bushman

    Source: c1.staticflickr.com

     

    दक्षिणी अफ्रीका का भूभाग, जिसका क्षेत्र दक्षिण अफ्रीका, जिम्बाब्वे, लेसोथो, मोजाम्बिक, स्वाज़ीलैंड, बोत्सवाना, नामीबिया और अंगोला के अधिकांश क्षेत्रों तक फैला है, के स्वदेशी लोगों को विभिन्न नाम जैसे बुशमेन, सान, थानेदार, बार्वा, कुंग, या ख्वे के रूप में जाना जाता हैं। ये स्वभाव से घुमन्तू होते हैं। ये एक स्थान से दुसरे स्थान तक अपने भोजन की तलाश में घुमते रहते हैं। जब भी कोई जानवर इनका शिकार बन जाता है, प्राप्त पशु-मांस का उपयोग ये लोग अपने भोजन के रूप में कर लेते हैं। ये अपने शिकार को मरने में तीर-कमान, कटार अथवा कुल्हाड़ी का प्रयोग करते हैं। जेब्रा, मेढ़क, छिपकली, मछली और किट-कृतिम इनका भोजन हैं।

    विश्व के प्रमुख रेगिस्तानो की सूची

    युकाधिर (Yukadir)

    यह प्रजाति टुन्ड्रा प्रदेश का पूर्वी साइबेरिया क्षेत्र का जो स्टोनोवाई पर्वत श्रेणी और बर्खोयांस्क के उत्तर में पाए जाते हैं। ये अपने भोजन के लिए रेनडियर के शिकार से प्राप्त पशु-मांस पर निर्भर हैं।

    कृषि योग्य भूमि का अभाव और वर्तमान मानव सभ्यता की आधुनिक परम्पराओं, शिक्षा एवं संस्कृति से परिचित ना होना, कुछ मानव प्रजातियां के लिए भोजन हेतु पशु-मांस पर निर्भरता का कारण हैं। इनको मानव समाज की मुख्यधारा से जोड़ने की आश्यकता है, तभी इनका बौद्धिक विकास संभव है।

    पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मस्तिष्क अधिक सक्रिय क्यों होता हैं

    Source: www.un.org & www.geographyandyou.com

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...