गुप्तकालीन नाटको एवं नाटककारो पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

गुप्तकाल सांस्कृतिक प्रस्फुटन या विकास का युग था। इस युग में धर्म, कला, साहित्य और ज्ञान-विज्ञान की अदभुत प्रगति हुई। इसलिए, अनेक विद्वानो ने गुप्तकाल को हिन्दू-पुनर्जागरण या स्वर्णयुग का काल माना है। इस लेख में हमने गुप्तकालीन नाटको एवं नाटककारो पर आधारित 10 सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Sep 17, 2018 18:18 IST
    GK Questions and Answers on the Drama written during Gupta period HN

    गुप्तकाल सांस्कृतिक प्रस्फुटन या विकास का युग था। इस युग में धर्म, कला, साहित्य और ज्ञान-विज्ञान की अदभुत प्रगति हुई। इसलिए, अनेक विद्वानो ने गुप्तकाल को हिन्दू-पुनर्जागरण या स्वर्णयुग का काल माना है। कवियों ने प्रशस्तिया लिखी, प्रयाग एवं मंदसौर की प्रशस्तिया क्रमशः हरिशेण और वसूल ने लिखी। इस समय के सबसे प्रख्यात कवि और नाटकार  महाकवि कालिदास थे।

    1. निम्नलिखित में से कौन सा नाटक अग्निमित्रा और मालविक की प्रेम कहानी पर आधारित था?

    A. मालविकाग्निमित्रम्

    B. विक्रमोर्वशीयम्

    C. अभिज्ञानशाकुन्तलम्

    D. मुद्राराक्षसम्

    Ans: A

    व्याख्या: मालविकाग्निमित्रम्, अग्निमित्र एवं मालविका की प्रणय कथा को पर आधारित है। इसलिए, A सही विकल्प है।

    2. निम्नलिखित में से किसने मालविकाग्निमित्रम् नाटक की रचना की थी?

    A. विशाखादत्त

    B. कालिदास

    C. शूद्रक

    D. भास्

    Ans: B

    व्याख्या: मालविकाग्निमित्रम्, अग्निमित्र एवं मालविका की प्रणय कथा को पर आधारित है जिसकी रचना कालिदास ने की थी। इसलिए, B सही विकल्प है।

    3. निम्नलिखित नाटक में से कौन सा चंद्रगुप्त मौर्य के ताज के औपचारिक वर्णन की कहानी बताता है?

    A. मालविकाग्निमित्रम्

    B. विक्रमोर्वशीयम्

    C. अभिज्ञानशाकुन्तलम्

    D. मुद्राराक्षसम्

    Ans: D

    व्याख्या: मुद्राराक्षसम् एक ऐतिहासिक नाटक कथा है जिसमे चन्द्रगुप्त मौर्य के मगध के सिंहासन पर बैठने की कथा वर्णित है। इसकी रचना विशाखदत्त ने की थी। इसलिए, D सही विकल्प है।

    प्राचीन भारत की क्षत्रप प्रणाली पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

    4. निम्नलिखित का मिलान करे:

        Set I

    a. अभिज्ञानशाकुन्तलम्

    b. विक्रमोर्वशीयम्

    c. प्रतिज्ञायौगंधरायणकम्

    d. चारुदत्तम्

        Set II

    1. कालिदास

    2. सम्राट पुरुरवा एवं उर्वशी अप्सरा की प्रणय कथा।

    3. भास

    4. इस नाटक का नायक चारुदत्त मूलतः भास की कल्पना है।

    Code:

        a  b  c  d

    A. 1  2  3  4

    B. 4  3  2  1

    C. 3  4  2  1

    D. 4  1  3  2

    Ans: A

    व्याख्या: सही मिलान नीचे दिया गया है-

    अभिज्ञानशाकुन्तलम्-कालिदास

    विक्रमोर्वशीयम्- सम्राट पुरुरवा एवं उर्वशी अप्सरा की प्रणय कथा।

    प्रतिज्ञायौगंधरायणकम्-भास

    चारुदत्तम्- इस नाटक का नायक चारुदत्त मूलतः भास की कल्पना है।

    इसलिए, A सही विकल्प है।

    5. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें।

    I. यह कालिदास की प्रथम नाट्य कृति है।

    II. विदिशा का राजा अग्निमित्र इस नाटक का नायक है तथा विदर्भ राज की भगिनी मालविका इसकी नायिका है।

    उपरोक्त में से कौन सा कथन मालविकाग्निमित्रम् के सन्दर्भ में सही है?

    Code:

    A. Only I

    B. Only II

    C. Both I and II

    D. Neither I nor II

    Ans: C

    व्याख्या: मालविकाग्निमित्रम् चौथी शताब्दी के उत्तरार्ध एवं पांचवी शताब्दी के पूर्वार्द्ध में कालिदास द्वारा रचित एक संस्कृत ग्रंथ है। यह कालिदास की प्रथम नाट्य कृति है; इसलिए इसमें वह लालित्य, माधुर्य एवं भावगाम्भीर्य दृष्टिगोचर नहीं होता तो विक्रमोर्वशीय अथवा अभिज्ञानशाकुन्तलम में है। यह नाट्यकथा अग्निमित्र एवं मालविका की प्रणय कथा पर आधारित है। इसलिए, C सही विकल्प है।

    6. निम्नलिखित में से कौन सा नाटक महाराज उयादीन और वासवदत्त की प्रेम कहानी को संदर्भित करता है?

    A. मृच्छकटिकम्

    B. स्वप्नवासवदत्तम

    C. प्रतिज्ञायौगंधरायणकम्

    D. चारुदत्तम्

    Ans: B

    व्याख्या: स्वप्नवासवदत्ता (वासवदत्ता का स्वप्न), महाकवि भास का प्रसिद्ध संस्कृत नाटक है। इसमें महाराज उदयन एवं वासवदत्ता की प्रेमकथा का वर्णन किया गया है। इसलिए, B सही विकल्प है।

    7. स्वप्नवासवदत्तम की रचना किसने की थी?

    A. विशाखादत्त

    B. कालिदास

    C. शूद्रक

    D. भास्

    Ans: D

    व्याख्या: स्वप्नवासवदत्ता (वासवदत्ता का स्वप्न), महाकवि भास का प्रसिद्ध संस्कृत नाटक है। इसलिए, D सही विकल्प है।

    भारतीय इतिहास के ऐतिहासिक घटनाओं पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

    8. निम्नलिखित में से कौन सा नाटक में चन्द्रगुप्त द्वारा शाकराज का वध पर ध्रव-स्वामिनी से विवाह पर आधारित था?

    A. मृच्छकटिकम्

    B. मुद्राराक्षसम्

    C. देवीचन्द्रगुप्तम

    D. प्रतिज्ञायौगंधरायणकम्

    Ans: C

    व्याख्या: विशाखदत्त द्वारा रचित देवीचन्द्रगुप्तम नाट्यकथा है जिसमे चन्द्रगुप्त द्वारा शाकराज का वध पर ध्रव-स्वामिनी से विवाह का वर्णन किया गया है। इसलिए, C सही विकल्प है।

    9. निम्नलिखित में से कौन सा नाटक है जिसमे नायक चारुदत्त, नायिका वसंतसेना, राजा, ब्राह्मण, जुआरी, व्यापारी, वेश्या, चोर, धूर्तदास का वर्णन है?

    A. मृच्छकटिकम्

    B. स्वप्नवासवदत्तम

    C. प्रतिज्ञायौगंधरायणकम्

    D. चारुदत्तम्

    Ans: A

    व्याख्या: मृच्छकटिकम् (अर्थात्, मिट्टी की गाड़ी) संस्कृत नाट्य साहित्य में सबसे अधिक लोकप्रिय रूपक है। इसमें नायक चारुदत्त, नायिका वसंतसेना, राजा, ब्राह्मण, जुआरी, व्यापारी, वेश्या, चोर, धूर्तदास का वर्णन है। इसलिए, A सही विकल्प है।

    10. निम्नलिखित में से कौन सा कथन प्रतिज्ञायौगंधरायणकम् से संबंधित है?

    A. इसमें महाराज उदयन के यौगंधरायण की सहायता से वासवदत्ता को उज्जयिनी से लेकर भागने का वर्णन है।

    B. इस नाट्यकथा की रचना भास् ने किया था

    C. केवल A

    D. A और B दोनों

    Ans: D

    व्याख्या: भास संस्कृत साहित्य के प्रसिद्ध नाटककार थे जिन्होंने प्रतिज्ञायौगंधरायणकम् नामक नाट्यकथा की रचना की थी। इसमें महाराज उदयन के यौगंधरायण की सहायता से वासवदत्ता को उज्जयिनी से लेकर भागने का वर्णन है। इसलिए, D सही विकल्प है।

    1000+ भारतीय इतिहास पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...