अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोध दिवस 2018

विश्व भ्रष्टाचार निरोध दिवस को दुनिया भर में लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने और इसके साथ लड़ने के लिए हर साल 9 दिसंबर को मनाया जाता है. पहली बार यह कब मनाया गया था, इसको मनाने की शुरुआत कब से हुई और कैसे इत्यादि को जानने के लिए आइये इस लेक को अध्ययन करते हैं.
Dec 7, 2018 18:14 IST
    International Anti Corruption Day 2018

    अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोध दिवस हर साल 9 दिसंबर को सम्पूर्ण विश्व में भ्रष्टाचार के बारे में लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने और वे इससे लड़ने के लिए क्या कर सकते हैं के लिए मनाया जाता है. यह दिवस संयुक्त राष्ट्र के तहत दुनिया भर में मनाया जाता है और 2030 के सतत विकास लक्ष्य (sustainable development goal) को बनाए रखने के भ्रष्टाचार के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को भी प्रोत्साहित करता है.

    UN Secretary-General, Antonio Guterres के अनुसार: "Corruption begets more corruption, and fosters a corrosive culture of impunity. The United Nations Convention against Corruption is among our primary tools for advancing the fight. Sustainable Development Goal 16 and its targets also offer a template for action.”

    इसमें कोई संदेह नहीं है कि पूरे विश्व में एक समृद्ध समाज को बनाए रखने के लिए भ्रष्टाचार को खत्म करना इस दिन का मुख्य उद्देश्य है. सम्मेलन, भाषण, भ्रष्टाचार से लड़ने की भावना के साथ नाटकों जैसी कई गतिविधियां संयुक्त राष्ट्र और संबंधित सदस्य राज्यों के द्वारा की जाती हैं.

    भ्रष्टाचार क्या है?

    संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ भ्रष्टाचार एक गंभीर अपराध है जो सभी समाजों में सामाजिक और आर्थिक विकास को कमजोर करता है. आज के समय में भ्रष्टाचार से कोई देश, क्षेत्र या समुदाय बचा नहीं है. यह दुनिया के सभी हिस्सों में फैल गया है चाहे वो राजनीतिक, सामाजिक या आर्थिक हो और साथ ही लोकतांत्रिक संस्थानों को भी कमजोर करता है, सरकारी अस्थिरता में योगदान देता है और आर्थिक विकास को भी धीमा करता है.

    आसान शब्दों में कहें तो भ्रष्टाचार उन लोगों के द्वारा जिनमें पॉवर होती है एक प्रकार का बेईमान या धोखेबाज आचरण को दर्शाता है, आमतौर पर रिश्वत लेना इसमें शामिल है, निजी लाभ के लिए सौंपा गया किसी प्रकार का  दुरुपयोग अर्थात यह और भी कई रूपों में हो सकता है. यह समाज की बनावट को भी खराब करता है. यह लोगों से उनकी आजादी, स्वास्थ्य, धन और कभी-कभी उनके जीवन को ही खत्म कर देता है. किसी ने सही कहा है कि  "भ्रष्टाचार एक मीठा जहर है".

    विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस 2018

    अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोध दिवस: इतिहास

    दिसंबर 2003 में अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने का पहला कदम यूनाइटेड नेशनल कन्वेंशन अगेन्स्ट करप्शन (UNCAC) पारित करके संयुक्त राष्ट्र द्वारा लिया गया था. इसको 31 अक्टूबर 2003 को तैयार किया गया था. UNAC संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों के बीच एक संधि है जिस पर 9 दिसंबर को हस्ताक्षर किया गया और यह 14 दिसंबर 2005 से प्रभावी हुआ था. इस संधि का उद्देश्य कानूनी रूप से भ्रष्टाचार को कम करने के लिए राज्यों के सदस्य को बांधना और कानून और व्यवस्था को लागू करना था. इस समझौते में 5 प्रकार के मुद्दों को दर्शाया गया है, वे इस प्रकार हैं:

    - भ्रष्टाचार को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाना.

    - कानून और व्यवस्था लागू करना.

    - अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भ्रष्टाचार को कम करना.

    - संपत्ति की वसूली और देश को अपने मूल रूप में लाना.

    - तकनीकी सहायता और जानकारी का आदान-प्रदान करना.

    क्या आप जानते हैं कि UNCAC के मुख्यालय मेरिडा (Merida) और न्यूयॉर्क (New York) में स्थित हैं. संयुक्त राज्य अमेरिका के महासचिव डिपॉजिटरी के रूप में कार्य करते हैं और ड्रग्स एंड क्राइम पर संयुक्त राष्ट्र (United Nations Office on Drugs and Crime) कार्यालय राज्य दलों की बैठकों के सचिव होते हैं. 9 दिसंबर, 2006 को भ्रष्टाचार के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन पर हस्ताक्षर करके भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार दिवस मनाया गया था.

    अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोध दिवस कैसे मनाया जाता है?

    जैसा कि हम जानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोध दिवस संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) और संयुक्त राष्ट्र कार्यालय द्वारा ड्रग्स एंड क्राइम (UNODC) द्वारा दुनिया भर में आयोजित किया जाता है. ये सभी एजेंसियां  सीमाओं पर भ्रष्टाचार का मुकाबला करने और सूचना के आदान-प्रदान को प्रोत्साहित करने और प्रोत्साहित करने के लिए अपने क्षेत्रीय भागीदारों के साथ मिलकर काम करती हैं.

    कई व्यक्तित्व, राजनेता, उल्लेखनीय लेखकों, पत्रकारों और निजी संगठनों के सदस्य भी भ्रष्टाचार के बारे में जागरूकता पैदा करने और भ्रष्टाचार मुक्त समाज के लिए अपने विश्वास की पुष्टि करने के लिए आगे आते हैं.

    भ्रष्टाचार और इसे रोकने के तरीकों के बारे में जनता को ज्ञान प्रदान करने के लिए विभिन्न संगोष्ठियों, अभियानों, नाटकों, स्कीट इत्यादि का आयोजन किया जाता है. इसके अलावा, पैम्फलेटस, पुस्तिकाएं कई स्थानों पर वितरित की जाती हैं.

    भारत में भी इस दिन कई सरकारी और गैर सरकारी संगठनों द्वारा एक संगठित कार्यक्रम के रूप में मनाया जाता है. स्कूलों और कॉलेजों में बच्चों के लिए निबंध लेखन और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन, भ्रष्टाचार और समाज को प्रभावित करने के बारे में जागरूक करने के लिए किया जाता है. स्थानीय प्राधिकरण भ्रष्टाचार की घटनाओं का जिक्र करते हुए सार्वजनिक रूप से पुस्तिकाएं वितरित करते हैं और लोगों को भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी आवाज उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं. साथ ही, उन लोगों को इस बात का आश्वासन दिया जाता है जो भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज करते हैं और उनके विवरणों को भी गोपनीय रखा जाता है. यह लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए भी एक कदम है ताकि वे आगे आएं और भ्रष्टाचार से लड़ सकें.

    कई लोग जागरूकता फैलाने और अधिकारियों और सरकार को सौंपी गई जिम्मेदारियों के बारे में लोगों को ज्ञान प्रदान करने के लिए अपने इलाके में इवेंट्स को भी व्यवस्थित करते हैं. असल में हमें उन लोगों को समर्थन और प्रोत्साहित करना चाहिए जिन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी आवाज़ उठाई हो. साथ ही, हमें विभिन्न विभागों के कामकाज में पारदर्शिता की मांग करनी चाहिए. आजकल, सोशल मीडिया संदेश फैलाने, लोगों को प्रोत्साहित करने और जहां भी भ्रष्टाचार होता है, देश के हर कोने से जानकारी प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

    अधिकतर हम चीजों को हल्के ढंग से लेते हैं, अनदेखा करते हैं कि हमारे चारों ओर क्या घटित हो रहा है क्योंकि ज्यादातर लोग ये मान चुके हैं कि भ्रष्टाचार एक प्रकार का जीवन का हिस्सा है और इसे खत्म करने के लिए कुछ भी नहीं किया जा सकता है. लेकिन यह समझना जरूरी है कि हर नागरिक को  भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिए मिलकर कदम उठाने होंगे और अगर किसी भी व्यक्ति के साथ कुछ भी गलत हुआ हो तो उसे स्वीकार न करें, आवाज़ उठाए तभी फिर हम सरकार से भ्रष्टाचार मुक्त होने की उम्मीद कर सकते हैं. वास्तव में 2030 तक विश्व स्तर पर सतत विकास को प्राप्त करने का उद्देश्य केवल तभी संभव है जब हम भ्रष्टाचार को खत्म कर देंगें.

    अंतर्राष्ट्रीय मज़दूर दिवस क्यों मानाया जाता है

    31 अक्टूबर को ही राष्ट्रीय एकता दिवस क्यों मनाया जाता है?

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...