Search

हंता वायरस (Hantavirus) क्या है और कैसे फैलता है?

Hantavirus, मुख्य रूप से कृन्तकों (rodents) द्वारा फैलाये जाने वाले वायरस के परिवार का सदस्य है और दुनिया भर के लोगों में विभिन्न रोग सिंड्रोम पैदा कर सकता है. सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक चूहों के घर के अंदर/बाहर आजे जाने से हंता वायरस के संक्रमण का खतरा होता है. आइये इस लेख में इस हन्तावायरस (Hantaviruses) के बारे में और डिटेल से जानते हैं.
Mar 25, 2020 09:44 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Hantavirus: Symbolic picture
Hantavirus: Symbolic picture
p>क्या आपने ‘कोढ़ में खाज होना’ वाली कहावत सुनी है? जी हाँ चीन में यह कहावत हन्ता वायरस और कोरोना वायरस को लेकर बिल्कुल ठीक बैठती है.

अभी पूरी दुनिया कोरोना वायरस से लड़ाई की तैयारी में जुटी ही थी कि चीन में 23 मार्च को हन्ता वायरस ने दस्तक दे दी है और इससे एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है.

अब सवाल यह उठता है कि आखिर यह नया हन्ता वायरस क्या (What is Hantavirus) है और यह कैसे फैलता है?आइये इस लेख में Hantavirus बारे में विश्वसनीय जानकारी प्राप्त करते हैं.

हन्ता वायरस कहाँ से शुरू हुआ है? (Origin of Hantavirus)

हन्ता वायरस से पीड़ित व्यक्ति, चीन के शाडोंग प्रांत से बस से लौट रहा था, उसकी मौत युन्नान प्रांत में 23 मार्च 2020 को हो गयी थी. इस प्रकार, कोरोना वायरस की तरह हन्ता वायरस की शुरुआत भी चीन से ही हुई है.

हन्ता वायरस कैसे फैलता है? (How Hantavirus spreads)

सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, यह वायरस चूहों और गिलहरी (Rodents) के कारण फैलता है.

rodents-types

यदि कोई व्‍यक्ति; चूहों की लार, पेशाब, और मल आदि को छूने के बाद अपनी नाक, आंख, और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है. इसके अलावा यदि चूहे घरों के अंदर और बाहर आ-जा रहे हैं तो इस वायरस के फैलने की प्रबल संभावना है. हालाँकि संक्रमित चूहे के व्यक्ति को काटने से भी यह रोक फ़ैल सकता है लेकिन इसकी संभावना कम है.

संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे महत्वपूर्ण hantavirus जो हेन्टावायरस पल्मोनरी सिंड्रोम (HPS) का कारण बन सकता है, वह सिन नम्ब्रे वायरस है, जो कि हिरण माउस (deer mouse) द्वारा फैलता है.

हन्ता वायरस के लक्ष्ण क्या हैं? (Symptoms of Hantavirus)

हंता वायरस से संक्रमित होने पर व्यक्ति को सिर दर्द, बुखार,उल्‍टी, शरीर में दर्द, डायरिया और पेट में दर्द आदि हो जाता है. अगर समय पर इलाज नहीं होता है तो संक्रमित इंसान के फेफड़े में पानी भी भर जाता है, उसे सांस लेने में परेशानी होती है और अंततः मौत भी हो जाती है.

क्या हन्ता वायरस, कोरोना की तरह खतरनाक है? (Is Hantavirus more dangerous Coronavirus)

सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, हंता वायरस जानलेवा है लेकिन यह एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति में नहीं जाता है. हंता वायरस, हवा के रास्ते नहीं फैलता है, इस कारण इसे कोरोना से कम घातक कहा जा सकता है. इससे संक्रमित व्‍यक्तियों के मरने का आंकड़ा 38% है अर्थात यदि 100 व्यक्ति हन्ता से संक्रमित हैं तो 38 की मृत्यु हो जाती है.

उम्मीद है कि इस लेख में पढने के बाद आप समझ गये होंगे कि हन्ता वायरस किस प्रकार फैलता है, इसके क्या लक्षण हैं और इससे बचाव के क्या क्या उपाय करने हैं?

Source:https://www.cdc.gov/hantavirus/index.html

कोरोनावायरस हेल्पलाइन इंडिया: आधिकारिक फोन नंबरों की सूची

सन 1900 के दशक से भारत में महामारियों का इतिहास