Search

करियर के लिए महत्वपूर्ण है बॉडी लैंग्वेज

Jan 22, 2019 17:28 IST
Body Language is Important for Career

यूं तो हम अपने विचारों के आदान-प्रदान के लिए शब्दों, बातचीत और लेखन आदि का सहारा लेते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि हमारा शरीर भी बातचीत करंता है जिसे शरीर की भाषा या बॉडी लैंग्वेज कहते हैं. यह बॉडी लैंग्वेज हमारे व्यक्तित्व को निखार या बिगाड़ सकती है. इसी वजह से आजकल की कॉम्पीटीटिव जॉब मार्केट में, कोई मनचाही जॉब प्राप्त करने के लिए अपने इंटरव्यूअर को प्रभावित करने के लिए सिर्फ इम्प्रेसिव क्वालिटीज और क्वालिफिकेशन ही काफी नहीं है क्योंकि वास्तव में इंटरव्यूअर कैंडिडेट्स की बॉडी लैंग्वेज समझने में माहिर होते हैं और आपकी बॉडी लैंग्वेज समझकर वे जॉब इंटरव्यू के शुरू के कुछ मिनटों में ही आपको हायर करने के संबंध में अपना निर्णय ले लेते हैं. अगर आप अपने इंटरव्यू में सफल होना चाहते हैं और अपनी पहचान कायम करना चाहते हैं तो आपको अपनी सकारात्मक और आत्मविश्वास पूर्ण छवि बनाने के लिए अपनी बॉडी लैंग्वेज का उपयुक्त इस्तेमाल करना सीखना होगा.

वास्तव में आपकी बॉडी एक बहुत ही भौतिक या शारीरिक तरीके से बातचीत का जवाब देती है जैसेकि तनावपूर्ण स्थिति में आपके दिल की धड़कन और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, आपकी सांसें असामान्य हो जाती हैं, आपकी टांगें कांपने लगती हैं, आपका मूंह सूखने लगता है और आपके माथे या बॉडी में पसीना आने लगता है. एक टाइट, असहज बॉडी पोजीशन न केवल आपकी रक्षात्मकता और घबराहट जाहिर करती है, बल्कि इससे आपके संपर्क में आने वाले लोग भी असहज और तनाव महसूस करते हैं. अब, अपनी इस प्राकृतिक बॉडी लैंग्वेज में सुधार लाने के लिए आप क्या कर सकते हैं?  शुरु में, आप अपने शरीर को सीधा, स्थिर और तनाव-रहित पोस्चर में रखने की प्रैक्टिस करें. आपको कुछ ही दिन में अपने बॉडी लैंग्वेज में सुधार दिखने लगेगा. अब हम नेगेटिव और पॉजिटिव बॉडी लैंग्वेज के कुछ प्वाइंट्स पर एक नजर डालते हैं.

नेगेटिव बॉडी लैंग्वेज में शामिल किये जा सकते हैं निम्नलिखित प्वाइंट्स:

  • आगे की तरह फोल्ड की हुई बाजुएं.

  • चेहरे पर तनाव के भाव.
  • आपकी तरफ से बॉडी को दूसरी तरफ मोड़ लेना.
  • आंखें मिलाकर बात न कर पाना.
  • बिना वजह शरीर का कोई हिस्सा या पूरी बॉडी हिलाते-डुलाते रहना.

पॉजिटिव बॉडी लैंग्वेज में शामिल किये जा सकते हैं निम्नलिखित प्वाइंट्स:

  • अनफोल्डेड बाजुएं.
  • शरीर सीधा रखना.
  • चेहरे पर शांति और सुकून झलकना.
  • सामने वाले व्यक्ति से आंखें मिलाकर बातचीत करना.
  • शरीर को स्थिर और तनाव-रहित रखना.

मुस्कुराहट का होता है सकारात्मक असर  

वास्तव में, मुस्कुराहट आपकी सबसे बड़ी संपत्ति है. आपकी मुस्कुराहट इंटरव्यूअर्स की बातों की तरफ आपकी सावधानी और सतर्कता दर्शाती है. इससे यह भी पता चलता है कि आप आशावादी हैं और मौजूदा जॉब को लेकर आपके मन में काफी आशा है. एक सच्ची मुस्कान की पहचान करना आसान है और यह इंटरव्यूअर को आपके वास्तविक व्यक्तित्व का परिचय देती है. सच्ची मुस्कान इंटरव्यूअर के साथ आपके कम्फर्ट लेवल को बढ़ाती है और इससे आपको संबद्ध जॉब मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है.

आपकी आंखें हैं बॉडी लैंग्वेज का अहम हिस्सा 

यह पुरानी कहावत है कि, ‘आपकी आंखें आपकी आत्मा की खिड़की हैं’. यह कहावत जॉब इंटरव्यूज के बारे में बिलकुल सही साबित होती है. आमतौर पर इंटरव्यूअर आपके आत्मविश्वास का लेवल और जिस जॉब के लिए आप इंटरव्यू दे रहे हैं, उस जॉब के साथ आपका कम्फर्ट लेवल केवल आपकी आंखों में झांक कर ही समझ जाते हैं. इसलिए, जब आप कोई जॉब इंटरव्यू देने के लिए जायें तो समय-समय पर इंटरव्यूअर की तरफ देखें और अपना प्वाइंट रखें. ऐसा माना जाता है कि जब लोग लगातार आपकी आंखों में देखकर बात करते हैं तो वे अक्सर ईमानदार होते हैं और सच कह रहे होते हैं.

रेजिंग फिंगर्स

इंटरव्यूअर के साथ चर्चा करते समय जहां तक हो सके इस तरीके का इस्तेमाल करने से बचें क्योंकि ऐसा करने पर शायद वे आपको अनप्रोफेशनल या अनसिविलाइज्ड व्यक्ति समझें. इसके आलावा, फिंगर्स रेज करते हुए अपना प्वाइंट रखने से शायद आपकी चर्चा इंटरव्यूअर के साथ बहस में बदल जाए.

हाथ मिलाना या हाथों के इशारे भी हैं काफी अहम

हाथ मिलाना ऐसी एक्टिविटी है जिससे आप इंटरव्यूअर के साथ शुरू में अपना संपर्क कायम करते हैं और इंटरव्यूअर को आपके आत्मविश्वास के लेवल का पता चलता है. इंटरव्यू पैनल से हाथ मिलाते वक्त आप कभी ढीले-ढाले या सख्त तरीके से हाथ न मिलाएं. इससे अन्य लोगों के प्रति आपके डरपोक या हावी स्वभाव के बारे में अनुमान लग सकता है. अगर आप पूरी गर्मजोशी से हाथ मिलाते हैं तो वह जॉब आपको मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है. सही तरीके से हाथ मिलाने का तरीका यह है कि आप अपने हाथ की उंगलियां सीधी रखें और अपने हाथ के अंगूठे से 45° का एंगल बनाएं. फिर, सामने वाले व्यक्ति के साथ गर्मजोशी से हाथ मिलायें.

इसी तरह, इंटरव्यू के दौरान अपना प्वाइंट रखते समय हाथ से इशारे करते हुए आप अपनी बात या तर्क को ज्यादा प्रभावी बना सकते हैं.

बैठने का तरीका भी है बॉडी लैंग्वेज का महत्वपूर्ण हिस्सा

आपके बैठने के तरीके से इंटरव्यूअर आपकी सावधानी और आत्मविश्वास के लेवल का पता लगाता है. जब वे आपको बैठने के लिए कहते हैं तो आप उनके सामने सीधे और सहज तरीके से बैठें. लेकिन बैठते समय इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप एक स्टैचू न दिखें. इसके साथ ही, अगर आप अपनी कुर्सी पर निढाल होकर बैठते हैं तो आपकी घबराहट और कम आत्म-सम्मान का भी पता चलता है.

लेग पोस्चर का रखें पूरा ध्यान

आपकी बॉडी लैंग्वेज का एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू आपका ‘लेग पोस्चर’ होता है. लगातार लेग्स हिलाते रहने से ध्यान भंग होता है और इंटरव्यूअर के सामने आपकी घबराहट जाहिर होती है. इसलिए, सीधे बैठें और अपनी लेग्स को एक-साथ और स्थिर रखें.

बेचैनी भी शो करती है नेगेटिव बॉडी लैंग्वेज

अगर आप किसी जॉब इंटरव्यू के समय अपने फेस को टच करते हैं या फिर अपने बालों से खेलते हैं तो तुरंत इस आदत को छोड़ दें. जॉब इंटरव्यू फॉर्मल सेटअप होता है और इसलिए आपके व्यवहार और बॉडी लैंग्वेज से केवल यही बात जाहिर होनी चाहिए. अगर आप ज्यादा बेचैन होंगे तो ऐसा लगेगा कि आप अपने इंटरव्यूअर की बातों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. आपका इंटरव्यूअर इसे आपका अनप्रोफेशनल और अनसिविलाइज्ड व्यवहार मान सकता है जिससे आपको जॉब मिलने की गुंजाइश काफी कम हो सकती है.

कैसे सुधारें अपनी बॉडी लैंग्वेज?

बॉडी लैंग्वेज के संबंध में सबसे बड़ी चुनौती तो यह है कि बॉडी लैंग्वेज स्वाभाविक या आदतन होती है और इसलिए केवल कुछ दिनों में इसे न तो अच्छी तरह सीख ही सकते हैं और न ही बदल सकते हैं. अब हम आपकी सहूलियत के लिए कुछ ऐसे प्वाइंट्स दे रहे हैं जिनका ध्यान रखकर आप अपनी बॉडी लैंग्वेज में निरंतर सुधार ला सकते हैं और अपने व्यक्तित्व में निखार ला सकते हैं. आइये आगे पढ़ें:

  • मिरर या शीशे के सामने अपने उठने, बैठने, चलने और खड़े होने के तरीकों के साथ-साथ चेहरे के हाव-भावों का भी मुआयना करते रहें.
  • मिरर में देखने पर अपनी बॉडी लैंग्वेज या बॉडी की नॉर्मल एक्टिविटीज में जो कमियां आपको नजर आती हैं उन्हें दूर करने की लगातार प्रैक्टिस करें.
  • अपने पेरेंट्स, दोस्तों और रिश्तेदारों से भी आप अपनी बॉडी लैंग्वेज को लेकर उनकी राय जान सकते हैं और फिर उसमें आवश्यक सुधार करने की पूरी कोशिश करें.
  • अपना बॉडी पोस्चर और सिर हमेशा सीधा और रिलैक्स्ड रखें.
  • अन्य लोगों से गर्मजोशी से हाथ मिलाएं (हैंडशेक).
  • बातचीत करते समय सामने वाले व्यक्ति या अन्य लोगों से अच्छा आई कॉन्टेक्ट रखें.
  • अपने फेस या बालों को बे-वजह न टच करते रहें.
  •  बिना वजह अपने हाथ-पांव या शरीर के अन्य हिस्से न हिलाते रहें.
  • अन्य लोगों की बॉडी लैंग्वेज पर ध्यान देकर आप उनके अच्छे हाव-भाव फ़ॉलो कर सकते हैं और उनके अटपटे हाव-भाव नज़रंदाज़ कर दें.

जॉब मार्केट में लगातार बढ़ते हुए कॉम्पीटीशन के कारण जॉब इंटरव्यूज में सफलता प्राप्त करना मुश्किल होता है लेकिन आपकी इम्प्रेसिव बॉडी लैंग्वेज आपको इस चुनौती में सफलता दिलवाने में मदद कर सकती है जिससे आप अपनी ड्रीम जॉब प्राप्त कर सकते हैं. इसलिए, आज से ही इम्प्रेसिव बॉडी लैंग्वेज की आदत डालने की कोशिश करें ताकि अपने अगले जॉब इंटरव्यू के दौरान आप अपने इंटरव्यूअर को अपनी पॉजिटिव बॉडी लैंग्वेज के माध्यम से प्रभावित कर सकें.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.