IAS Success Story: सोशल मीडिया से बना ली थी दूरी, तीसरे प्रयास में IAS बनी परी बिश्नोई, आज हैं लाखों फॉलोअर्स

IAS Success Story: परी बिश्ननोई ने UPSC सिविल सेवा की तैयारी के दौरान मोबाइल से पूरी तरह से दूरी बना ली थी। उन्होंने तीसरे प्रयास में सिविल सेवा को क्रैक किया और आईएएस अधिकारी बन गई। वर्तमान में उनके सोशल मीडिया पर एक लाख से अधिक फॉलोअर्स हैं। 

आईएएस परी बिश्नोई
आईएएस परी बिश्नोई

IAS Success Story: संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) सिविल सेवा परीक्षा को पास करना आसान नहीं है। यही वजह है कि इसके रास्ते पर चलकर हर कोई सफलता के शिखर तक पहुंचने के लिए अपने जीवन में कई त्याग करता है। इस कड़ी में कई लोग सोशल मीडिया से दूरी बनाने के लिए मोबाइल का भी त्याग कर देते हैं। आज हम आपको राजस्थान की रहने वाली परी बिश्नोई की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने सिविल सेवा की तैयारी के दौरान मोबाइल से पूरी तरह से दूरी बना ली थी। अपने तीसरे प्रयास में उन्होंने 30वीं रैंक हासिल कर अपना आईएएस बनने का सपना पूरा किया। आज सोशल मीडिया पर उनके लाखों फॉलोअर्स हैं।

 

परी का परिचय

परि बिश्नोई मूलरूप से राजस्थान के बीकानेर के काकरा गांव की रहने वाली हैं। उनकी स्कूली पढ़ाई बीकानेर से ही पूरी हुई। उन्होंने सेंट मेरी कांवेंट स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वीमेन में दाखिला लिया। इसके बाद उन्होंने अजमेर की एमडीएस यूनिवर्सिटी में पॉलिटिकल साइंस में मास्टर्स में दाखिला लिया। परी की माता पुलिस अधिकारी हैं, जबकि पिता पेशे से वकील हैं। 

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pari Bishnoi (@pari.bishnoii)

 

नेट-जेआरएफ की परीक्षा पास की

परी बिश्नोई ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद नेट-जेआरएफ की परीक्षा की तैयारी करने के बाद यह परीक्षा पास कर ली थी। हालांकि, उनके मन में आईएएस अधिकारी बनने का सपना था। ऐसे में उन्होंने अपने इस सपने को पूरा करने का निर्णय लिया। 

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pari Bishnoi (@pari.bishnoii)

दो बार हुई असफल

परी ने यूपीएससी सिविल सेवा की तैयारी शुरू की और अपना पहला प्रयास किया, लेकिन वह अपने पहले प्रयास में लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी। हालांकि, उन्होंने हार नहीं मानी और अपना दूसरा प्रयास किया। इस बार भी वह असफल रही। 

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pari Bishnoi (@pari.bishnoii)

तीसरे प्रयास में बनी आईएएस अधिकारी

परी बिश्नोई ने अपने तीसरे प्रयास के लिए पढ़ना शुरू कर दिया। उन्होंने इस परीक्षा के लिए अपनी असफलताओं से सीखते हुए पहले से बेहतर तैयारी की और प्रीलिम्स, मेंस व इंटरव्यू परीक्षा में बेहतर करते हुए फाइनल लिस्ट में 30वीं रैंक के साथ जगह बनाई, जिसके बाद उन्हें आईएएस सेवा मिली। वर्तमान में वह सिक्किम में एसडीएम के पद पर तैनात हैं।



 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pari Bishnoi (@pari.bishnoii)

मोबाइल से बना ली थी दूरी

परी बिश्नोई जब परीक्षा की तैयारी कर रही थी, तब उन्होंने मोबाइल के भटकाव से दूर रहने के लिए पूरी तरह से दूरी बना ली थी। ऐसे में वह सोशल मीडिया पर ध्यान लगाने के बजाय अपनी पढ़ाई पर ध्यान लगाती थी। वह अपने दिन का अधिकतर समय पढ़ाई कर बिताती थी।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pari Bishnoi (@pari.bishnoii)

आज हैं लाखों फॉलोअर्स

परी ने तैयारी करते समय सोशल मीडिया से दूरी बनाई थी, लेकि आईएएस बनने के बाद आज उनके इंस्टाग्राम पर लाखों फॉलोअर्स हैं। वहीं, उनके द्वारा डाली जाने वाली पोस्ट को भी बड़ी संख्या में लोग पसंद करते हैं। 

 

पढ़ेंः IAS Success Story: नौकरी के साथ स्तुति चरण ने की UPSC सिविल सेवा की तैयारी, तीसरी रैंक के साथ बनी IAS



Related Categories

    Jagran Play
    खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
    Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

    Related Stories