Search

एग्ज़ाम के बारे में इन रोचक तथ्यों को ज़रूर जानें

एग्ज़ाम का सीजन शुरू होने में मात्र कुछ महीनों का समय रह गया है l इस समय विद्यार्थी तैयारी के साथ-साथ कुछ इस तरह के सवाल भी करते हैं जैसे ये एग्ज़ाम कि शुरुआत कहाँ से हुई? क्या सफल ज़िन्दगी के लिए एग्ज़ाम में अच्छे परसेंटेज होना महत्वपूर्ण है? आज इस आर्टिकल के द्वारा हम इस तरह के सवालों का जवाब देंगे और इसके साथ कुछ और रोचक तथ्यों के बारे में भी बताएंगे l

Dec 28, 2018 12:03 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
एग्जाम के बारे में इन रोचक तथ्यों को ज़रूर जानें
एग्जाम के बारे में इन रोचक तथ्यों को ज़रूर जानें

एग्ज़ाम का सीजन शुरू होने वाला है l बोर्ड एग्ज़ाम शुरू होने में अब कुछ महीनों का समय रह गया है l इस समय एक तरफ तो ज़्यादातर विद्यार्थी एग्ज़ाम की तैयारी में व्यस्त रहते हैं वहीँ दूसरी तरफ कुछ विद्यार्थी ऐसे भी होते हैं जो सोचते हैं कि आखिर दुनिया में ये एग्ज़ाम नाम की चीज़ कहाँ से आयी? कहाँ से इनकी शुरुआत हुई?
हर विद्यार्थी सोचता है कि जिन परीक्षाएं को वो देने जा रहें हैं वो सबसे कठिन हैं, पर क्या अपने दुनियाँ के ऐसे एग्ज़ाम के बारे में सुना है जिसे हर साल लगभग 90 लाख विद्यार्थी देते हैं l आज इस आर्टिकल द्वारा हम आपको एग्ज़ाम से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में बताएँगे l इन तथ्यों से आपको यह भी समझ आ जाएगा कि एग्जाम के क्या फायदे होते हैं और क्या नुकसान l

ये रोचक तथ्य कुछ इस प्रकार हैं:

1: किस देश से शुरुआत हुई परीक्षाओं की:

माना जाता है कि चीन दुनिया का पहला देश है जहाँ से परीक्षाओं की शुरुआत हुई l चीन दुनिया का सबसे पहला देश है जिसने नेशनवाइड स्टैंडर्ड टेस्ट का तरीका अपनाया l इसे Sui सभ्यता ने 605 AD में इस्थापित किया था l

कैसे करें किसी भी एग्जाम की तैयारी: जब बचा हो एक महीना या एक हफ्ता या फिर एक दिन

2: दुनिया के सबसे कठिन एग्ज़ाम:

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे हम जो एग्ज़ाम देते है उसका स्तर भी बढ़ता है l कुछ लोग JEE (Main & Advanced) एग्ज़ाम को काफी कठिन परीक्षा मानते हैं और इसमें कोई दो राय नहीं है l हर साल 10 से 12 लाख विद्यार्थी इस परीक्षा को देते हैं l 

लेकिन JEE (Main & Advanced) के आलावा दुनिया में और भी कठिन एग्जाम है जिनकी प्रतियोगिता का स्तर हद से ज़्यादा है
चीन में हर साल आयोजित होने वाले Gaokao को भी दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है l इस एग्जाम में करीब 90 लाख हाई स्कूल पास विद्यार्थी आगे की पढ़ाई (यूनिवर्सिटी) में दाखिला लेने के लिए देते हैं l 

इसके आलावा और परीक्षाएं जिन्हे काफी कठिन माना जाता है वो इस प्रकार हैं:

CCIE (Cisco Certified Internetwork Expert), GATE (Graduate Aptitude Test in Engineering), UPSC (Union Public Service Commission), Mensa, GRE (Graduate Record Examinations), CFA (Chartered Financial Analyst) इन परीक्षाओं को भी सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है l

इन पाँच तरीकों से बना सकते गणित को एक सरल और रोचक विषय, परीक्षा में आएंगे पूरे नंबर

3: स्ट्रेस से हमारी एग्जाम में परफॉरमेंस जबर्दस्त तरीके से ख़राब होती हैं:

एग्ज़ाम से पहले अगर हम स्ट्रेस में होते हैं तो हमारे सोचने समझने की शक्ति कम हो जाती है l जब कि एग्जाम के दौरान हमारा Presence of Mind चरम पर होना चाहिए l जो तभी हो सकता है जब हम शांत दिमाग से पेपर दें l इसलिए एग्जाम के दौरान हमे स्ट्रेस से कोसो दूर रहना चाहिए l

4: एग्ज़ाम के स्ट्रेस की वजह से बढ़ने वाली आत्महत्या के मामले:

स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थी मानसिक रूप से बहुत ज़्यादा मज़बूत नहीं होते हैं l एग्जाम के स्ट्रेस के कारण वो कभी-कभी डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं और उन्हें आत्महत्या ही एक आखिरी रास्ता सूझता है l वो यह समझ नहीं पाते कि एग्जाम उनकी पूरी ज़िन्दगी का छोटा हिस्सा है l

Board Exam 2018:क्या कुछ भी नहीं पढ़ा? 90% से ऊपर मार्क्स लाएं, फॉलो करें ये 4 महीनें का स्टडी प्लान

5: सफल व्यक्ति जो परीक्षाओं में विफल रहे

दुनिया में लाखों लोग ऐसे हैं जो परीक्षाओं में तो कुछ ख़ास नहीं कर पाएं लेकिन असल जिंदगी में उन्होंने कई ऊंचे मुकाम हासिल किये l यहाँ हमने कुछ चुनिंदा लोगो के उदहारण दिए हैं l

अब्राहम लिंकन – (अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति) परीक्षाओं में तो कुछ ख़ास नहीं कर पाये लेकिन अमेरिका को नयी उचाईयों तक ले गए l उन्होने अमेरिका को उसके सबसे बड़े संकट - गृहयुद्ध (अमेरिकी गृहयुद्ध) से पार लगाया।

बिल गेट्स – (माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर) बिल गेट ने पाल एलन के साथ विश्व की सबसे बड़ी साफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की। बिल गेट्स पर्सनल कंप्यूटर क्रान्ति के अग्रिम श्रेणी के उद्यमी माने जाते हैं l

मार्क ज़ुकेरबर्ग – (फेसबुक के सह-संस्थापक) मार्क एक कॉलेज ड्रॉपआउट है l उन्होंने कॉलेज हॉस्टल के कमरे से फेसबुक नाम की कंपनी शुरू की और उसे नयी ऊचाईयों तक पहुंचाया l

6: अस्वच्छता

साउथ कोरिया में विद्यार्थी एग्जाम के दौरान नहाना छोड़ देते हैं l उनका मानना है जो पढ़ा है वह बाल धुलने के साथ बह जाता है l  सुनने में अज़ीब लगे मगर साउथ कोरिया में यह प्रथा विद्यार्थोयों के बीच बड़ा आम है l भारत में भी विद्यार्थी समय बचाने के लिए नहाना कम कर देते हैं l कुछ खाने पर ध्यान नहीं देते जिससे लाभ कम नुकसान ज़्यादा होते हैl

7: नक़ल के बढ़ते मामले

परीक्षा के दौरान नक़ल के मामले दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं l विद्यार्थी रोज़-रोज़ नक़ल करने के नए तरीक़े इज़ाद करते हैं l पश्चिमी देशो में आजकल UV पेनों की मांग बहुत बढ़ गयी है l विद्यार्थी इस पेन से अपनी डेस्क, वाटर बोतलों इत्यादि में अदृश्य स्याही के द्वारा उत्तर (या नोट्स) वगैरह लिख कर ले जाते हैं जो सिर्फ UV पेन की रोशनी में ही दिखाई देती है l कई बार विद्यर्थियों स्मार्टवॉच से नक़ल करते पकड़े गए हैं l कुछ विद्यार्थी कैलकुलेटर में डाटा सेव करके ले जाते है l नक़ल के बढ़ते मामले कभी-कभी हमारी परीक्षा प्रणाली पर सवाल भी उठाते हैं l

8: पर्यावरण समस्या

हम सब जानते हैं कि पेड़ पौधे पर्यावरण का एक बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा हैं l मगर पेपर-पेन बेस्ड पढ़ाई और परीक्षाएं पर्यावरण के लिए समस्या बन गयी हैं l एक रिसर्च में पाया गया कि एक साधारण स्कूल में करीब 2000 पेपर शीट रोज़ाना इस्तेमाल होती हैं l इसका मतलब सालाना लगभग 24000 के ऊपर शीट इस्तेमाल होती हैं l रिसर्च में यह भी पाया गया कि हर साल करीब 4 बिलियन पेड़ काटे जाते हैं जो कि पर्यावरण के लिए खतरे की घंटी है l

Board Exam Result 2018 चेक करने से पहले उसका महत्व जान लें, हो सकता है आपकी सोच पूरी तरह बदल जाए

सारांश:

तो ये थे एग्ज़ाम से जुड़े कुछ रोचक तथ्य l इन तथ्यों से आप एग्ज़ाम के कई अच्छे और बुरे पहलू जान गए होंगे l आप यह भी समझ गए होंगे की कामयाब जीवन और एग्ज़ाम में अच्छा प्रदर्शन दोनों अलग-अलग बातें हैं l एग्ज़ाम आपकी ज़िन्दगी का एक छोटा सा हिस्सा है l इसलिए तनाव मुक्त होकर एग्जाम दें l

Related Categories

Related Stories