Jagran Josh Logo

IAS/IPS उम्मीदवार बॉलीवुड की यह फिल्में जरुर देखें

Feb 9, 2018 11:04 IST
  • Read in English
Must watch Bollywood movies for IAS/IPS aspirants
Must watch Bollywood movies for IAS/IPS aspirants

फिल्में समाज का आईना होती हैं। सामान्य तौर पर भारतीय फिल्मों की कहानी सामाजिक मुद्दों के इर्द-गिर्द ही घूमती है जो मनुष्य की सोच, कार्य तथा व्यवहार को बहुत हद तक प्रभावित भी करती है। बॉलीवुड में कई फिल्में IAS तथा IPS अधिकारियों के जीवन पर आधारित हैं जो देश के युवाओं में IAS अधिकारी बनने के लिए प्रेरित किया है। देश के युवाओं को प्रेरणादायक फिल्में अवश्य देखनी चाहिए, हो सकता है कि ऐसी फिल्में युवाओं को एक अच्छा करीयर चुनने तथा सही मुकाम पर पहुंचने के लिए प्रेरित कर सकें।

इस लेख में हमनें कुछ ऐसी हीं बॉलीवुड फिल्मों के बारे में बताया है जो IAS तथा IPS अधिकारी बनने की चाह रखने वाले उम्मीदवारों के लिए प्रेरणाश्रोत साबित हो सकती हैं।

IAS की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ Youtube चैनल्स

1. गंगाजल
यह फिल्म बिहार के एक काल्पनिक जिले, तेजपूर, में तैनात एक ईमानदार IPS अधिकारी की कहानी है। इस फिल्म में एक ईमानदार IPS अधिकारी पूरे जिले में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के क्रम में असमाजिक तत्वों के साथ-साथ अपने हीं विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों के साथ लड़ता है। यह फिल्म युवा-पीढ़ी तथा वर्तमान के सिविल सेवा अधिकारियों के लिए एक सीख है कि किस तरह अपने दायित्व एवं कर्तव्यों का पालन करते हुए समाज में स्थापित राजनीतिक आपराधिक गठजोड़ को समाप्त किया जा सकता है। समाज के शासक वर्ग में बढ़ती सत्ता की भूख तथा महत्वाकांक्षा किस तरह आम आदमी के जीवन को श्रस्त कर देती है तथा एक ईमान्दार पुलिस अफसर लालच तथा सुख-सुविधाओं को नज़रअंदाज करते हुए अपने कर्तव्यों का पालन करता है। IAS उम्मीदवारों को यह फिल्म अवश्य देखनी चाहिए।

2. सरफरोश

यह फिल्म एक युवा तथा जुझारु IPS अधिकारी की कहानी है जो क्रॉस-बॉर्डर हथियार तस्करी नेटवर्क को नष्ट कर देता है। यह फिल्म एक IPS अधिकारी के तीन महत्वपूर्ण गुणों को सिखाने में कामयाब है – अधीनस्थ अफसरों के साथ बेहतर समन्वय, उपलब्ध संसाधनों का सरवोत्तम उपयोग तथा राजनैतिक दबावों को नियंत्रित करने की शैली।

3. तेजस्विनी

यह फिल्म भारत की पहली महिला IPS अधिकारी किरण बेदी पर आधारित है। यह फिल्म एक ईमानदार IPS अधिकारी के परीक्षण और पीड़ा को दर्शाती है जो दिल्ली में राजनीतिज्ञ-प्रशासक-आपराधिक गठजोड़ को तोड़ने की कोशिश करती है।

IAS Prelims Exam में असफल होने के प्रमुख कारण

4. सेहर

यह फिल्म वास्तविक घटनाओं पर आधारित है जो कि 90 के दशक में उत्तर प्रदेश मे बढ़ते संगठित अपराधों से निपटने के लिए राज्य पुलिस के मुहीम को दर्शाती है। यह फिल्म में एक IPS अधिकारी की भूमिका को दर्शाया गया है जो उत्तर प्रदेश में राजनीतिज्ञ-माफिया-पुलिस-बिल्डर गठजोड़ को तोड़ने के लिए प्रतिबद्ध पुलिस अधिकारियों के समूह से एक विशेष कार्यबल (एसटीएफ) का गठन करने में कामयाब होता है।

5. वॉन्टेड

यह फिल्म एक अंडर-कवर IPS अधिकारी की कहानी है जो स्थानीय गिरोहों को आपस मे लड़ाता है और फिर एक अंतरराष्ट्रीय गैंगस्टर को मारने में सफल हो जाता है। यह फिल्म अंडर-कवर पुलिसकर्मियों की कुशलता और साहस के महत्व को बखूबी दर्शाती है।

कोई यह कह सकता है कि ऐसी घटनाएं केवल फिल्मी कहानियों में हीं संभव है तथा एक अंडर-कवर पुलिसकर्मी के वास्तविक जीवन में ऐसी घटनाओं का होना नामुमकिन है, पर यह सच नहीं है। मौजूदा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, जो कि एक IPS अधिकारी हैं, जिन्हें भारत के महान जासूसों में से एक माना जाता है। वह पाकिस्तान के लाहौर में एक मुस्लिम के रूप में सात वर्षों तक भारतीय गुप्त एजेंट के रूप में अपनी सेवा दे चुके हैं।

6. शंघाई
यह फिल्म एक विकास परियोजना के ईर्द-गिर्द हीं घूमती है जिसमे भ्रष्ट राजनेताओं, सरकारी अधिकारियों तथा स्थानीय गिरोहों की मिली-भगत को दर्शाया गया है। फिल्म में एक IAS अधिकारी का किरदार है जो भ्रष्ट नेताओं, सरकारी अधिकारियों तथा स्थानीय गिरोहों के गठजोड़ के खिलाफ मीडिया के माध्यम से अपनी आवाज़ को बुलंद करता है तथा दबाव बनाने में कामयाब होता है।

IAS की तैयारी के लिए सबसे बेहतर शहर

7. रंग दे बसंती
यह फिल्म छह युवा भारतीयों की कहानी है, जो भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, शिवराम राजगुरु, अशफाकुल्ला खान और राम प्रसाद बिस्मिल पर एक डॉक्यूमेंट्री तैयार करने में ब्रिटिश मूल की एक महिला की सहायता करते हैं। हमारे देश के बहादुर स्वतंत्रता सेनानियों की कार्यों से प्रेरित होकर, वे भ्रष्ट व्यवस्था से लड़ते हैं।

“ज़िंदगी जीने के दो हीं तरीक़े होते हैं;
एक जो हो रहा है उसे होने दो, बर्दाश्त करते जाओ
या फिर ज़िम्मेदारी उठाओ उसे बदलने की।”

फिल्म रंग दे बसंती की यह चंद पंक्तियां देश के युवाओं में देशभक्ति की भावना पैदा करने में सफल माना जा सकता है।

हम आशा करते हैं कि इस लेख में उल्लिखत फिल्में IAS तथा IPS अधिकारी बनने की चाह रखने वाले उम्मीदवारों के लिए प्रेरणा का श्रोत बने। फिल्में IAS तथा IPS अधिकारी के करीयर के सकारात्मक पहलुओं को दिखाती है। फिल्में विभिन्न प्रकार के राजनीतिक, विभागीय और मीडिया के दबावों से निपटने के लिए आवश्यक कुशलता तथा उपायों के बारे में जानकारी प्रदान करती है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि कुछ फिल्में IAS तथा IPS अधिकारियों को भ्रष्ट और अयोग्य के रूप में दर्शाती हैं; लेकिन, IAS उम्मीदवारों को उनसे निराश नहीं होना, बल्कि लोक सेवाओं के अहम मूल्यों पर हीं ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

ये गलतियां आपको IAS बनने से रोक सकती हैं

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
X

Register to view Complete PDF