कॉलेज हॉस्टलर के लिए कुछ खास टिप्स

अक्सर स्टूडेंट्स को अपनी कॉलेज लाइफ और विशेष रूप से, कॉलेज की हॉस्टल लाइफ हमेशा याद रहती है. लेकिन कॉलेज हॉस्टलर्स को अपने हॉस्टल में रहते हुए कुछ बातों का खास ध्यान रखना पड़ता है ताकि उन्हें कॉलेज हॉस्टल में रहते हुए दिक्कतें न आयें. इस आर्टिकल में पढ़ें कॉलेज हॉस्टलर्स के लिए कुछ खास जरुरी टिप्स.

Created On: Dec 16, 2019 12:55 IST
Things every hosteller should know
Things every hosteller should know

हमारे देश की तकरीबन सभी यूनिवर्सिटीज़ ने अपने स्टूडेंट्स के लिए हॉस्टल सुविधा उपलब्ध करवा रखी है. आजकल, लाखों स्टूडेंट्स किसी जाने-माने संस्थान से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के अपने सपने को साकार करने के लिए अपने घर-परिवार से दूर किसी दूसरे शहर में जाकर बस जाते हैं और अपने घर-परिवार की सुख सुविधायें छोड़ कर किसी हॉस्टल या अन्य प्राइवेट एकोमोडेशन में रहने लगते हैं. हॉस्टल्स में लाइफ कभी भी आसान या सुखद नहीं होती है, लंबी लाइनों से बचने के लिए बड़े सवेरे वाशरूम भागने से लेकर मेस के स्वाद-हीन खाने को निगलने तक स्टूडेंट्स को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. इन चुनौतियों का सामना करने की तैयारी करके कोई भी स्टूडेंट अपने हॉस्टल की लाइफ को थोड़ा आसान बना सकता है. स्टूडेंट्स के लिए अपनी हॉस्टल लाइफ को कुछ आसान और आरामदायक बनाने के लिए कुछ खास टिप्स यहां पेश किये जा रहे हैं जिनका ध्यान सभी हॉस्टल स्टूडेंट्स को जरुर रखना चाहिए:

  • खाने-पीने का स्टॉक जरुर रखें अपने पास

हमेशा याद रखें कि किसी भी हॉस्टल में दिन के समय काम और रात के समय सोने के सामान्य नियम लागू नहीं होते हैं. किसी भी कॉलेज हॉस्टल में जागने और सोने का कोई नियत समय नहीं होता है. हैरान  न हों अगर कई दिन लगातार आप पर्याप्त नींद न ले पायें. ऐसे समय में जब आपको पूरी रात जागना पड़े तो आपके मन में उस दौरान अवश्य कुछ खाने की तीव्र इच्छा जागेगी. इसलिये, ऐसी एमरजेंसी के लिए अपने पास बिस्कुट्स, नमकीन या घर में बने खाने-पीने के सामान का छिपा हुआ स्टॉक अवश्य रखें. अगर आप इतने किस्मत वाले हैं कि आपके पास कोई इलेक्ट्रिक कुकवेयर जैसे इंडक्शन प्लेट या इलेक्ट्रिक केटल है तो हमेशा अपने पास कुछ इंस्टेंट नूडल्स के पैकेट्स जरुर रखें. आप नहीं जानते कि कब आपको अचानक भूख सताने लगेगी.

  • आपके रूममेट्स बन सकते हैं आपके फैमिली मेंबर्स

कल्पना करें कि आप अपने घर-परिवार के सुख सुविधाओं और अपने माता-पिता और भाई-बहिन की  जानी-पहचानी शक्लों से दूर हैं और आपको एक झगड़ालू रूम मेट मिल गया है. लेकिन उनसे पूरी तरह संबंध तोड़ने से पहले और अपने रूम में अपना क्षेत्र निश्चित करने से पहले अपने रूम मेट को एक मौका अवश्य दें. याद रखें कि वे भी अपना घर-परिवार छोड़ कर आये हैं और उन्हें भी अपने घर-परिवार की बहुत याद आती है. शायद उनका इस परिस्थिति से निपटने का तरीका आपसे अलग है. आने वाले समय में, मुसीबत की घड़ी में आप एक-दूसरे की ढाल बनेंगे और कोई खुशखबरी मिलने पर भी आप सबसे पहले उनसे ही उसे शेयर करेंगे. आने वाले वषों में आपको बहुत ज्यादा समय एक साथ बिताना है इसलिये यह अच्छा हो कि आपस में आपके संबंध मधुर हों न कि खराब. याद रखें, शुरू में भले ही आपको यह काफी अजीब लगे लेकिन बाद में आपको पता भी नहीं चलेगा कि कब वे आपके जीवन का एक अभिन्न और महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए.

हॉस्टल में रहने पर आपको होंगे ये 8 खास अनुभव !

  • कभी-कभी ‘नहीं’ कहना भी है बहुत जरुरी

शुरू में शायद आप हरेक बात पर ‘हां’ कहें ताकि आप अपने हॉस्टल मेट्स को समझ सकें और अपने कुछ नये दोस्त बना सकें. लेकिन इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप किन बातों के लिए ‘हां’ कहते हैं, इनमें से कई बातें ऐसी भी होंगी जो आपको पसंद नहीं होंगी और शायद आप उनमें कम्फ़र्टेबल महसूस नहीं करते हों. लेकिन पीअर प्रेशर के चलते आपको केवल ‘हां’ कहना पड़ता हो. शुरू के कुछ दिनों के लिए तो ये बातें सही हैं लेकिन जल्दी ही इनसे आपको और आपके हॉस्टल मेट, दोनों को ही समस्याएँ पैदा होने लगेंगी. उदाहरण के लिए, अगर आपको देर रात की पार्टीज या लंबी-लंबी बातें करना पसंद नहीं है तो आप इस बारे में खुल कर अपने नये दोस्तों को बताएं. किसी और की मर्जी के मुताबिक़ चलने से तो कहीं बेहतर अपने रास्ते पर चलना है. अपने नये बेस्ट फ्रेंड को कोई बहुत महंगी या प्यारी चीज़ उधार देने से मना कर देना ठीक है, इसमें कोई बुराई नहीं है. शुरू में शायद ऐसा करना कठिन लगे लेकिन बाद में इससे आपको बहुत फायदा होगा. इसके अलावा, इससे आप अपने निर्णय पूरे विश्वास से लेने में सक्षम बनेंगे.

  • एमरजेंसिस के लिए करें जरुर बचत

कॉलेज लाइफ के शुरू के कुछ महीनों के दौरान स्टूडेंट्स के लिए यह आम बात है कि महीने के शुरू के 15 दिनों से पहले ही उनका मासिक बजट खर्च हो जाता है. खर्चों को मैनेज करना और स्वयं हर चीज़ का रिकॉर्ड रखना बहुत कठिन हो जाता है और विशेष तौर पर तब, जब आप यह सब अपने जीवन में पहली बार कर रहे हों. इसके अतिरिक्ति, किसी हॉस्टल में रहते हुए यह बड़ा असंभव लगता है कि आप किसी चीज़ के लिए अपने या अपने दोस्तों के द्वारा खर्चे गए एक-एक रुपये का हिसाब रखें. इसलिये, खाली वॉलेट/ पर्स होने पर भी आपको न पता चल पाने की स्थिति से बचने के लिए हमेशा कुछ रुपये अलग से एमरजेंसिस के लिए बचा कर रखें.  

ये बिंदास हॉस्टल लाइफ टेक्ट्स हैं कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए बहुत उपयोगी

  • कम्फर्ट ज़ोन से अलग भी है जीवन

याद रखें कि हॉस्टल या प्राइवेट एकोमोडेशन आपका घर नहीं है जहां आप अकेले रह रहे हैं. यहां कोई परवाह नहीं करेगा कि आप सोने जा रहे हैं तो धीमी आवाज में बातें करें या म्यूजिक सुनें या फिर लाइट का स्विच ऑफ कर दें. आप को शोर में और रोशनी में सोना और शोर-शराबे में पढ़ना सीखना होगा. अगर आप किसी खास तरीके से काम करने वाले इंसान हैं तो अब आपको अपने काम करने के तरीके बदलने होंगे. ध्यान रहे कि कॉलेज कम्युनिटी में रहने का स्थान है और अधिकांश कमरों में दो लोगों को ठहराया जाता है. किसी हॉस्टल रूम में आपको पूरी तरह तो शायद ही प्राइवेसी मिले. इसलिए आपको अपने कम्फर्ट ज़ोन से बाहर निकलकर जीना जरुर सीखना होगा.

किसी हॉस्टल में लाइफ चुनौतीपूर्ण हो सकती है. लेकिन यह निश्चित रूप से अपने साथ कहीं ज्यादा आजादी और मौज-मस्ती लेकर आती है. अगर आप स्टूडेंट्स से प्रश्न करें तो उनमें से ज्यादातर अपने जीवन में कम से कम एक बार तो हॉस्टल लाइफ का अनुभव अवश्य प्राप्त करना चाहेंगे. इन आसान स्टेप्स को फ़ॉलो करें और आपकी हॉस्टल लाइफ आपके जोवन के सबसे बेहतरीन हिस्सों में से एक बन जायेगी.

जानें कैसे करें किसी अजीब रूममेट के साथ गुजारा ?

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

 

Related Categories