Jagran Josh Logo

बहुत कम बजट में कैसे उठायें कॉलेज लाइफ का भरपूर फायदा ? महत्वपूर्ण टिप्स

Dec 13, 2017 17:58 IST
  • Read in English
Tips to make the best of college life on a shoe-string budget
Tips to make the best of college life on a shoe-string budget

किसी स्टूडेंट की जिंदगी में कॉलेज लाइफ सबसे चुनौतीपूर्ण हिस्सा होता है. इस समय आप स्वयं कई काम करना सीखते हैं, जिम्मेदारियां लेते हैं, अपने खर्च मैनेज करने लगते हैं और अपने ग्रेड्स बनाये रखने की कोशिश करते हुए भी सभी चीजों का रिकॉर्ड रखना शुरू कर देते हैं. यहां इस बात का जिक्र जरुरी नहीं है कि आप बहुत ही कम बजट में अपने सभी खर्च मैनेज करने की कोशिश में लगे रहते हैं.

लेकिन अब ऐसे कई तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके आप कम से कम बजट में भी अपनी कॉलेज लाइफ से भरपूर फायदा उठा सकते हैं. आप सीमित बजट के साथ भी बहुत कुशलता से अपने सारे काम-काज निपटा सकते हैं और खर्चे पूरे कर सकते हैं. लेकिन आपको पता होना चाहिये कि आप यह कैसे कर सकते हैं...एक कॉलेज स्टूडेंट होना अपने में ही खास बात है, आपको मूवी टिकट्स से लेकर म्यूजिक कंसर्ट्स तक और ट्रिप पैकेजेज आदि में तकरीबन आधी दर पर डिस्काउंट मिल जाता है. लेकिन आप अगर अभी भी अपने सीमित बजट के साथ इन सबसे गुजरने में संघर्ष कर रहे हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है. हमने कुछ उपयोगी और मददगार टिप्स की एक लिस्ट बनाई है जो आपके कम से कम बजट में भी आपके कॉलेज के दिनों से भरपूर फायदा उठाने में आपकी मदद करेंगे.

बाहर खाना खाने से बचें

टेक-अवे और होम-डिलीवरीज तरीकों से खाना कम खरीदें, जब इन पर सरसरी तौर पर विचार किया जाए तो ये खर्चीले तरीके नहीं लगते हैं. लेकिन केवल एक महीने तक इन सब से होने वाले खर्च पर ध्यान दें. आप देखेंगे कि अपने बजट का काफी हिस्सा आपने इन पर खर्च किया है. इसके अलावा, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किसी रास्ते के किनारे लगने वाले फ़ूड-स्टाल से कुछ लेकर खाते हैं या फिर किसी मशहूर रेस्टोरेंट में जाकर कुछ खाते हैं; होम-मेड फ़ूड या घर में बना खाना इससे कहीं अधिक स्वास्थ्यवर्धक होता है. अगर आप किसी हॉस्टल में रहते हैं जहां आप अपना खाना खुद नहीं बना सकते हैं तो आप अपने हॉस्टल में कोई मील प्लान खरीद लें या फिर अपने लिए कोई टिफिन सर्विस लगवा लें.

अपनी कॉफ़ी खुद बनायें

कॉलेज के अधिकांश स्टूडेंट्स कॉफ़ी पीना बहुत पसंद करते हैं. चाहे फिर वे देर रात तक पढ़ाई कर रहे हों या कोई क्लास अटेंड करने के लिए उन्हें सुबह जल्दी जगना हो, कॉफ़ी का एक मग किसी भी स्थिति से निपटने का एक बहुत ही उम्दा तरीका मालूम होता है. असल में कॉफ़ी पीने की लत बुरी नहीं है लेकिन  आजकल कॉलेज कैंपसेज और उनके आस-पास पनपते मशहूर कॉफ़ी ब्रांड्स के आउटलेट्स परेशानी का सबब बन गये हैं और जिससे अधिकतर स्टूडेंट्स को कैफ़े में बनी कॉफ़ी पीना ही अच्छा लगता है. भले ही किसी कॉफ़ी शॉप से आती कॉफ़ी की खुशबू आपका मन कितना भी लुभाए, आप बड़ी आसानी से वैसी ही स्वाद कॉफ़ी अपने घर में बहुत कम खर्च पर बना सकते हैं. 

कूपन्स इस्तेमाल करें

इसके लिए किसी परिचय या वर्णन की आवश्यकता नहीं है, आजकल प्रायः हर जगह कूपन्स मिलते हैं. अगर इनसे समय-समय पर आपके पैसे बचते हैं तो फिर आप इनका इस्तेमाल क्यों न करें. अगर किसी कारण से आपको दुकानदारों को कूपन्स देने में शर्म आती है या फिर ऐसा करना बुरा लगता है; तो भी कभी यह न सोचें कि आप एक धनहीन या गरीब कॉलेज स्टूडेंट हैं. वास्तव में तो आप एक ऐसे नौजवान हैं जिनके पास अपने खर्च उठाने के लिए आय का कोई साधन न होकर केवल थोड़ा–सा बजट है. आपके ऐसा सोचते ही तुरंत आपकी हिचकिचाहट समाप्त हो जायेगी. अपने लिए कुछ नये कपड़े खरीदते समय, कैब बुक करते समय या ग्रोसरी खरीदते समय, जहां भी कूपन्स मिलें और चलते हों, इनका इस्तेमाल अवश्य करें.

अगर संभव हो तो थोक में खरीदारी करें

थोक में खरीदारी करने से हमारा मतलब है कि किसी भी वस्तु को जरूरत से ज्यादा मात्रा में खरीद कर अपने पास रख लेना. फल, सब्जी, जूस, मिल्क, ब्रेड या खाने-पीने की कोई अन्य वस्तु जैसे जल्दी खराब होने वाले समान को तो हम थोक में नहीं खरीद सकते हैं. लेकिन, रोज़मर्रा का कितना ही ऐसा समान है जो हम थोक में खरीद सकते हैं जैसे डिस्पोजेबल आइटम्स, टॉयलेट पेपर, टिश्यू पेपर्स या फिर कोई भी ऐसा उपयोगी समान जो आप खरीद कर लंबे समय तक सुरक्षित रख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं. इसका एक और तरीका यह भी है कि अपने दोस्तों और रूम-मेट्स के साथ खरीदारी करने जायें और किसी भी प्रोडक्ट को थोक में खरीदने पर मिलने वाले विभिन्न ऑफर्स और स्कीम्स का फायदा प्राप्त करें.

रूम-मेट की तलाश करें

अगर आप प्राइवेट एकोमोडेशन में रहना पसंद करते हैं, चाहे वह किराये का मकान/ कमरा हो या फिर लीज पर, तो अच्छा होगा कि आप अपने लिए कोई रूम-मेट तलाश लें. किसी पीजी (पेइंग गेस्ट सुविधा) या हॉस्टल की फीस की तुलना में प्राइवेट एकोमोडेशन काफी महंगे होते हैं. लेकिन जब आप किसी प्राइवेट एकोमोडेशन को रूम-मेट्स के साथ शेयर करते हैं तो उस प्राइवेट एकोमोडेशन की प्रति-छात्र लागत काफी कम हो जाती है. किफायती पीजी या हॉस्टल रूम्स की तुलना में अपने प्राइवेट एकोमोडेशन में रहने के कई दूसरे लाभों के बारे में तो आप अच्छी तरह जानते ही हैं.

अनावश्यक लक्ज़रीज़ पर खर्च करना कम करें

हरेक व्यक्ति का अपना एक सुविधा स्तर या कम्फर्ट लेवल और जरुरी लक्ज़रीज़ होती हैं जिनके बिना वे जी नहीं सकते. लेकिन फिर भी उनमें से कुछ वस्तुएं ऐसी होती हैं जिनके बिना भी आप आराम से जी सकते हैं. जैसे कि हममें से कई गर्मी के दिनों में किसी एयर-कंडीशनर के बिना जी नहीं सकते हैं लेकिन  कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो अपने कमरे में कूलर लगा कर अपना गुजारा चला लेते हैं. कुछ और भी ऐसी वस्तुएं हैं...मसलन आपको अपने कमरे में टेलीविज़न चाहिए या नहीं. आसान शब्दों में जितनी ज्यादा लक्ज़री आपको चाहिए, उतनी अधिक कीमत आपको चुकानी होगी. अच्छा रहेगा कि आप कम समान वाले किसी कमरे में रहें और अपनी जरूरत के हिसाब से ही खरीदारी करें. 

इन आसान तरीकों को अपनायें और फिर काफी कम बजट होने पर भी कॉलेज में आपकी जिंदगी पूरे फन और मौज-मस्ती से भर सकती है. क्या यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा है? इसे अपने दोस्तों और सहकर्मियों  के साथ शेयर करें.  कॉलेज लाइफ और मनी मैनेजमेंट के लिए ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलाव, आप नीचे दिये गये फॉर्म में अपनी ई-मेल आईडी सबमिट करके भी अपने इनबॉक्स में सीधे ऐसे आर्टिकल प्राप्त कर सकते हैं.

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
      ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    X

    Register to view Complete PDF