Jagran Josh Logo

IAS उम्मीदवारों के लिए शीर्ष 10 प्रेरणादायक Quotes

Apr 6, 2018 09:53 IST
  • Read in English
Top 10 inspirational quotes for IAS aspirants
Top 10 inspirational quotes for IAS aspirants

सिविल सेवा परीक्षा को दुनिया में सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक माना जाता है। परीक्षा को पास करने के लिए, एक उम्मीदवार को कम से कम दो साल की अवधि के लिए उच्च प्रेरणा स्तर बनाए रखना होता है। प्रेरणा स्तर बनाये रखने में महान व्यक्तित्वों द्वारा कहे गए कथन बड़ी ही सहायता करते हैं

IAS उम्मीदवारों के लाभ के लिए, दस सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक कथन नीचे दिए गए हैं।

1. “You can’t cross the sea merely by standing and staring at the water.” - टैगोर

यह प्रसिद्ध कथन रबींद्रनाथ टैगोर के नाटक 'द किंग ऑफ डार्क चैंबर' से है। इसक आशय यह है की - कोई भी व्यक्ति केवल खड़े रह कर और पानी को घूरकर नदी पार नहीं कर सकता। इसी तरह, कोई भी सिविल सेवा परीक्षा के सपने देख कर और सफलता की कहानियों को पढ़ने मात्र से ही इसे उत्तीर्ण नहीं कर सकता। व्यक्ति  को कदम उठाना होगा और आगे बढ़ना होगा। उम्मीदवार को आलस्य को दूर करना होगा और परीक्षा में सफल होने के लिए आवश्यक पाठ्य सामग्री पढ़नी होगी और मोक्क टेस्ट का अभ्यास करना होगा।

2. “Every morning we are born again. What we do today is what matters most"- महात्मा गौतम बुद्ध

यह बुद्ध का कथन न केवल आपके जीवन की यात्रा पर लागू होता है बल्कि IAS परीक्षा की तैयारी के लिए भी पूर्ण रूप से उपयुक्त है। 'अभी' की शक्ति का एहसास करें और अपने वर्तमान का सबसे ज्यादा उपयोग करें। यदि आप कल अध्ययन नहीं कर पाएं हैं तो उस निराश न हों अपितु आज पे ध्यान केन्द्रित करें और कल की क्षतिपूर्ति करने की कोशिश करें । हर दिन फिर से शुरू करें और हर दिन ध्यान से अध्ययन करें।

3. “Genius is 1% talent and 99% percent hard work.” – आइंस्टाइन
कई उम्मीदवार मानते हैं कि जो लोग जन्म से प्रतिभाशाली हैं केवल वे ही IAS अधिकारी बन सकते हैं। पर ये सच नहीं है। यह केवल आपकी कड़ी मेहनत पर निर्भर करता है की आप सिविल सेवा परीक्षा में सफल होते हैं या नहीं। केवल आप निरंतर और अनुशासित कड़ी मेहनत के साथ ही इस परीक्षा का विशाल पाठ्यक्रम पूरा कर सकते हैं और परीक्षा में सफल हो सकते हैं।

कैसे चुने IAS परीक्षा में वैकल्पिक विषय ?

4. Be the change that you wish to see in the world.” - महात्मा गांधी

राष्ट्रपिता के इस प्रसिद्ध कथन से दुनिया भर में मनुष्यों के साथ साथ पीढ़ियों को प्रेरित किया है। महात्मा गांधी के अनुसार, जो भी परिवर्तन आप समाज में प्रभावित करना चाहते हैं वह आपसे ही शुरू होना चाहिए।
इसका आशय यह भी है की जिस तरह के मापदंडों द्वारा आप दूसरों का आंकलन करते हैं उन्ही मापदंडों पर पहले अपना मूल्यांकन कीजिये। अपनी तैयारी में नए नए प्रयोग करें ताकि आपकी तैयारी कम समय में भी प्रभाविक रूप से हो सके। तैयारी के लिए अपने उपलब्ध संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के तरीकों के बारे में सोचें। हमेशा याद रखें कि समाज में परिवर्तन आपके द्वारा शुरू होता है। क्या पता सिलेक्शन के बाद आप ही अपने इन नए प्रयोगों को नए छात्रो को बता रहें हों।

5. Rarest of all human quality is consistency.” - बेंथेम

एक कहावत है की “रोम एक दिन में नहीं बना”। जीवन में बहुत सी चीजों को पूरा करने के लिए, सतत प्रयास करना आवश्यक है । तीन दिन के लिए 15 घंटे अध्ययन करना और अगले तीन दिनों के लिए ब्रेक लेना सफलता हासिल करने में आपकी मदद नहीं करेगा। याद रखें कि निरंतर गति से कछुए सफल हुआ था न की असंगत गति के साथ खरगोश। सतत प्रयास से ही सिविल सेवा परीक्षा में सफलता पाई जा सकती है ।

6. The hardest thing in life is which bridge to cross and which to burn.” - बर्ट्रेंड रसेल

इस कथन का तात्पर्य यह है की तैयारी के इए बहुत सारे रास्ते उपलब्ध हैं परन्तु हम कौन सा चुने जो हमारे लिए सबसे ज्यादा फलदायी हो होगा। केवल ज्ञान और कड़ी मेहनत, सिविल सेवा परीक्षा को पास करने के लिए पर्याप्त नहीं हैं। सफल होने के लिए, IAS अभ्यर्थियों को स्मार्ट तैयारी करनी पड़ेगी। IAS अभ्यर्थियों को पता होना चाहिए कि प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में सबसे अधिक स्कोरिंग क्षेत्र कौन कौन से हैं? उनको पता होना चाहिए की कौन सी पुस्तकों को पढ़ना है और कौन सी किताबों से बचा जाना चाहिए? न्यूनतम प्रयासों के साथ एक IAS अधिकारी बनने के लिए, उम्मीदवारों को विनम्र रहना चाहिए।

7. Our greatest glory is not in never falling, but in rising every time we fall."- कन्फ्यूशियस

यह कथन IAS प्रीलिम्स परीक्षा के परिणाम से जुड़ा है। यदि आप IAS प्रीलिम्स परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं होते है तो हिम्मत मत हारिये। जीवन में कोई भी विफलताओं का सामना किए बिना सफलता हासिल नहीं कर सकता। जब आप एक प्रयास में IAS प्रीलिम्स परीक्षा को उत्तीर्ण नहीं कर पाएं तो इसका ये मतलब बिलकुल भी नहीं है की आप कभी IAS प्रीलिम्स परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाएंगे बल्कि इसका मतलब ये है की आपको और तैयारी की जरुरत है इसलिए निराश न हो। विफलता एक सामान्य अस्थायी अवस्था है और इससे हार नहीं माननी चाहिए । अपने पिछले प्रयासों में अपनी गलतियों का विश्लेषण करें, उनसे सीखें और एक कार्य योजना तैयार करें और उसे निष्पादित करें। निश्चित रूप से सफलता आपकी होगी ।

8. “Instead of cursing the darkness, light a candle.” - बेंजामिन फ्रैंकलिन

IAS उम्मीदवारों को दूसरों को दोष देने से बचना चाहिए तथा अपनी सफलता औत विफलता की जिम्मेदारी लेनी चाहिए । IAS उम्मीदवारों को सर्वोत्तम तरीके से उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करना सीखना चाहिए । उन चीज़ों पर ध्यान दें, जो आपके हाथ में हैं और आप जो परिवर्तन नहीं कर सकते उन चीज़ों से प्रभावित होना बंद कर दें। यदि आपके आस-पास का वातावरण आपके पक्ष में नहीं हैं, तो इसे शाप मत करो; इसके बजाय, एक सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करें और दूसरों के लिए मार्गदर्शक प्रकाश बनें।

जानें IAS अधिकारी की नई सैलेरी

9. “All persons ought to endeavor to follow what is right, and not what is established.”- अरस्तु

ये ज़रूरी नहीं है की जो पहले से स्थापित है वो सही ही हो। समय के साथ चीज़े बदलती हैं इसलिए IAS उम्मीदवारों को समय के साथ चलना चाहिए। उम्मीदवारों को तर्कसंगत होना चाहिए तथा तर्क के आधार पर निर्णय लेना चाहिए। ऐसा वैकल्पिक विषय मत चुनिए जिसे लोग चुन रहे हों, अपने आंकलन के बाद ही किसी भी विषय का चुनाव करना चाहिए। सिर्फ इस बात के प्रभाव में आकर, क्योंकि बहुत से लोग इसे चुनते हैं या किताब या पत्रिका पढ़ते हैं, आपको अपना चुनाव नहीं करना चाहिए। इसलिए सिर्फ IAS परीक्षा में ही नहीं बल्कि जीवन में भी कोई भी चुनाव करने से पहले अपनी तर्क शक्ति का उपयोग जरूर करें।

10. Arise, awake, and, stop not till the goal is reached- स्वामी विवेकानंद

किसी भी IAS अभ्यर्थी के लिए विवेकानंद द्वारा दी गयी पंक्तियाँ हमेश ही बहुत प्रेरक होती हैं। विवेकानंद   के सभी कथनों में स्वामी विवेकानंद का यह कथन सबसे शक्तिशाली है और इस कथन ने कई IAS अधिकारियों की सफलता में एक बड़ी भूमिका निभाई है। यह कथन आपको सक्रिय करने के लिए प्रेरित करता है और परीक्षा में सफल होने के लिए आवश्यक है।

निष्कर्ष

यह आवश्यक नहीं है कि सभी कथन, सभी उम्मीदवारों के लिए समान रूप से लागू होते हों । दो या तीन कथनों को चुनें जिनसे आप सबसे अधिक प्रेरित हुए हों - उन्हें कागज पर लिखें और उसे अपने अध्ययन कक्ष में पेस्ट करें यह लगातार आपको प्रेरणा देते रहेंगे और अधिक मेहनत के साथ अपनी तैयारी को जारी रखने में मदद करेंगे।
उठो, जागो रहें, और जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाये तब तक रुको मत ।

जाने IAS ऑफिसर की ट्रेनिंग कैसे होती है

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
    ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
X

Register to view Complete PDF