Search

UPSC (IAS): जॉइनिंग से ले कर प्रमोशन तक जानें कितनी होती है IAS की सैलरी

 IAS अधिकारी का पद देश के प्रतिष्ठित पदों में से एक माना जाता है। एक IAS के कार्यकाल में प्रत्येक प्रमोशन के साथ ना सिर्फ उनका पद बढ़ता है बल्कि उनके मासिक वेतन में भी बढ़ोत्तरी होती है। जानें क्या है एक IAS अधिकारी का अधिकतम वेतन। 

Jul 28, 2020 14:01 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
जॉइनिंग से ले कर प्रमोशन तक जानें कितनी होती है IAS की Salary
जॉइनिंग से ले कर प्रमोशन तक जानें कितनी होती है IAS की Salary

एक IAS अफसर का चयन UPSC सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद फाइनल कट ऑफ के आधार पर किया जाता है। UPSC सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद सभी चयनित उम्मीदवारों को मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री ट्रेनिंग अकेडमी में ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाता है  जहां से उनका IAS बनने का सफर शुरू होता है। आपको बता दें की इस प्रशिक्षण समय के पहले महीने में IAS अफसरों को कोई भी वेतन नहीं मिलता है। एक IAS अधिकारी का वेतन उसके पद और पदोन्नति (प्रमोशन) के आधार पर बढ़ता है। आइये जानते हैं एक IAS अधिकारी के प्रशिक्षण से ले कर उच्चतम पद तक के वेतन प्रणाली के बारे में:

केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित "UPSC Civil Services Rationalization Plan" क्या है?

7th Pay कमीशन के बाद बदल गया है IAS की सैलरी का बेसिक वेतन 

7th Pay कमीशन के अनुसार अब हर एक IAS अफसर को उसके बेसिक वेतन और TA, DA, HRA के अनुसार ही प्राप्त होगी। हर एक प्रमोशन के बाद IAS की सैलरी विस्तारित होती है। 

वेतन स्तर

बेसिक वेतन 

सेवा में आवश्यक वर्षों की संख्या

पद 

10

56,100/-

1-4 वर्ष 

SDM/ अवर सचिव / सहायक सचिव

11

67,700/-

5-8 वर्ष 

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (ADM)/ उप सचिव/ अवर सचिव

12

78,800/-

9-12 वर्ष 

जिला मजिस्ट्रेट/संयुक्त सचिव / उप सचिव

13

1,18,500/-

13-16 वर्ष 

जिला मजिस्ट्रेट/ विशेष सचिव/ निदेशक

14

1,44,200/-

16-24 वर्ष 

डिविज़नल कमिश्नर/ सचिव-सह-आयुक्त/ संयुक्त सचिव

15

1,82,200/-

25-30 वर्ष 

प्रमुख सचिव/ अपर सचिव

16

2,05,400/-

30-33 वर्ष 

अपर मुख्य सचिव

17

2,25,000/-

35-36 वर्ष 

प्रमुख शासन सचिव/ सचिव 

18

2,50,000/-

37+ वर्ष 

भारत के कैबिनेट सचिव

 IAS अधिकारियों की जॉइनिंग के समय महंगाई भत्ता (DA) 0% निर्धारित है जो की समय के साथ बढ़ाया जाता है। सभी IAS अधिकारियों का वेतन एक ही स्तर पर शुरू होता है और फिर उनके कार्यकाल और पदोन्नति के साथ बढ़ता है। प्रवेश स्तर पर मूल वेतन प्रत्येक वर्ष प्रारंभिक स्तर पर 3% बढ़ जाता है। कैबिनेट सचिव स्तर पर, यह तय है। प्रवेश स्तर पर हर साल महंगाई भत्ता 0-14% बढ़ जाता है। उच्चतम स्तर पर, डीए बढ़ सकता है।

UPSC (IAS) Prelims 2020 की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण NCERT पुस्तकें 

सिविल सेवा देश की सेवा करने और देश के लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालने का एक अवसर है। अब जब आप प्रति माह IAS अधिकारी के वेतन के बारे में विवरण जानते हैं, तो यह आपकी UPSC 2020 परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए प्रोत्साहन का काम करेगा। लेकिन, भारत में IAS अधिकारी के वेतन को सिविल सेवा में करियर बनाने का एकमात्र मानदंड नहीं  चाहिए बल्कि आपकी मुख्य प्रेरणा देश के लिए काम करने और लोगों के जीवन को बेहतर बनाने की इच्छा होनी चाहिए।

UPSC (IAS) Prelims 2020: परीक्षा की तैयारी के लिए Subject-wise Study Material & Resources

 
 






Related Categories

Related Stories