Search

महत्वपूर्ण लवण और उनके उपयोग की सूची

लवण एक यौगिक है जो किसी अम्ल में धातु के द्वारा हाइड्रोजन के प्रतिस्थापन के फलस्वरूप बनता है। लवण का निर्माण तब होता है जब कोई अम्ल क्षार के साथ प्रतिक्रिया करता है| इस लेख में हम कुछ महत्वपूर्ण लवण और उनके उपयोग की सूची का विवरण दे रहे हैं जो UPSC, CDS, NDA, State PSC, Railways जैसी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए काफी उपयोगी है|
May 12, 2017 12:30 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

लवण एक यौगिक है जो किसी अम्ल में धातु के द्वारा हाइड्रोजन के प्रतिस्थापन के फलस्वरूप बनता है। लवण का निर्माण तब होता है जब कोई अम्ल क्षार के साथ प्रतिक्रिया करता है| अर्थार्त लवण एक आयोनिक यौगिक है जो अम्ल और क्षार के उदासीनीकरण प्रक्रिया (neutralization reaction ) का परिणाम  है। यह कैटायनों (सकारात्मक चार्जड आयनों) और आयनों (ऋणात्मक आयनों) के संबंधित संख्याओं के द्वारा बना है इसलिए इसका उत्पाद इलेक्ट्रिकली उदासीन (electrically neutral) अर्थार्त बिना कोई चार्ज के होता है। जैसे NaCl, KCl और Na2SO4 आदि l

Salt

Source: www.saltopiasalts.com

इस लेख में हम कुछ महत्वपूर्ण लवण और उनके उपयोग की सूची का विवरण दे रहे हैं जो UPSC, CDS, NDA, State PSC, Railways जैसी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए काफी उपयोगी है|

लवण: अवधारणा, गुण और उपयोग

महत्वपूर्ण लवण और उनके उपयोग की सूची

लवण का नाम

उपयोग

सोडियम क्लोराइड या साधारण नमक (NaCl)

1. खाना पकाने में तथा रसोई गैस के निर्माण में|
2. अचार, मांस और मछली के संरक्षण में|
3. साबुन के निर्माण में|
4. ठंडे प्रदेशों में सर्दियों के समय में बर्फ पिघलाने में|
5. रासायनिक पदार्थ जैसे धोवन सोडा, बेकिंग सोडा आदि के निर्माण में|

सोडियम हाइड्रोक्साइड (NaOH)

1. साबुन एवं डिटरजेंट के निर्माण में|
2. कृत्रिम फाइबर (रेयान) के निर्माण में|
3. कागज के निर्माण में|
4. बॉक्साइट अयस्क के शोधन में|
5. धातुओं को चिकनाई रहित बनाने में, तेल शोधन में और रंगों के निर्माण में|

सोडियम कार्बोनेट या धोबन सोडा (Na2CO3.10H2O)

1. कपड़े धोने के काम में|
2. जल की स्थाई कठोरता को दूर करने में|
3. काँच, साबुन और कागज के निर्माण में|

सोडियम बाइकार्बोनेट (NaHCO3)

1. निष्क्रिय एजेंट (एंटासिड) के रूप में|
2. बेकिंग पाउडर बनाने में|
3. आग बुझाने में|

ब्लीचिंग पाउडर या हाइपोक्लोराइट

1. कपास उद्योग और कागज उद्योग में क्रमश: कपास और लिनेन के अलावा लकड़ी के लुगदी के विरंजन में ब्लीचिंग एजेंट के रूप में|
2. पीने के पानी संक्रमणमुक्त करने में|
3. क्लोरोफॉर्म (CHCl3) बनाने में|
4. न सिकुड़ने वाले ऊन के निर्माण में|

प्लास्टर ऑफ पेरिस या हेमीहाइड्रेट कैल्शियम सल्फेट, (CaSO4.1/2 H2O)

1. अस्पताल में टूटी हड्डी को जोड़ने में|
2. खिलौने, सजावटी सामग्री, सस्ते आभूषण, चाक आदि के निर्माण में|
3. आगरोधी वस्तुओं के निर्माण में|
4. फर्श को चिकना बनाने में|

जो लवण जिस अम्ल से बनता है उसका नाम उस अम्ल के नाम पर रखा जाता है| उदाहरण के लिए हाइड्रोक्लोराइड अम्ल को क्लोराइड कहा जाता है, सल्फ्यूरिक अम्ल को सल्फेट कहा जाता है, नाइट्रिक अम्ल को नाइट्रेट कहा जाता है, कार्बोनिक अम्ल को कार्बोनेट कहा जाता है और एसिटिक अम्ल को एसीटेट कहा जाता है|

अयस्क में पायी जाने वाली अशुद्धियों को कैसे अलग किया जाता है?