मैगी-किटकैट बनाने वाली कंपनी नेस्ले के 60% प्रोडक्ट्स स्वास्थ्य के लिए हानिकारक: रिपोर्ट

दुनिया की सबसे बड़ी पैकेज्ड फूड एंड बेवरेज कंपनी नेस्ले की एक आंतरिक रिपोर्ट में ये सामने आया है कि उसके 60% फूड प्रोडक्ट्स और ड्रिंक्स स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि कंपनी कितना भी नवीकरण कर ले, उसके कुछ प्रोडक्ट्स सेहत के लिए हमेशा हानिकारक रहेंगे ।
Created On: Jun 3, 2021 11:55 IST
Modified On: Jun 3, 2021 12:53 IST
Nestle Unhealthy Food Controversy
Nestle Unhealthy Food Controversy

दुनिया की सबसे बड़ी पैकेज्ड फूड एंड बेवरेज कंपनी नेस्ले एक बार फिर सुर्खियों में है। नेस्ले की एक आंतरिक रिपोर्ट में ये सामने आया है कि कंपनी के 60% फूड प्रोडक्ट्स और ड्रिंक्स स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। इतना ही नहीं, कंपनी के कुछ प्रोडक्ट्स सेहत के लिए हमेशा हानिकारक रहेंगे, चाहे कंपनी कितना भी नवीकरण कर ले। 

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद कंपनी अब डैमेज कंट्रोल मोड में है। कंपनी का कहना है कि वह अपने पोषक तत्व प्रोफाइल को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

पोर्टफोलियो को स्वादिष्ट और स्वस्थ बनाना जारी रखेंगे

रिपोर्ट के सामने आने के बाद कंपनी का कहना है, "हम मानते हैं कि एक स्वस्थ आहार का अर्थ है भलाई और आनंद के बीच संतुलन खोजना। इसमें कम मात्रा में भस्म होने वाले खाद्य पदार्थों के लिए कुछ जगह शामिल है। यात्रा की हमारी दिशा नहीं बदली है और स्पष्ट है, हम अपने पोर्टफोलियो को स्वादिष्ट और स्वस्थ बनाना जारी रखेंगे।"

नेस्ले इंडिया के प्रवक्ता के अनुसार, "नेस्ले इंडिया का मानना है कि पोषण एक मौलिक आवश्यकता है और स्वस्थ जीवन को सक्षम करने में खाद्य उद्योग की महत्वपूर्ण भूमिका है। अपने उद्देश्य से प्रेरित होकर, अपने उत्पादों के पोषक तत्व प्रोफाइल को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं, साथ ही नए और पौष्टिक खाने पर भी काम कर रहे हैं।"

आंतरिक दस्तावेज़ में क्या कहा गया?

फाइनेंशियल टाइम्स में आंतरिक दस्तावेज़ के आधार पर छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, नेस्ले के खाद्य और पेय पदार्थों के एक बड़े हिस्से को कंपनी ने अस्वस्थ बताया है। 

कंपनी के लगभग 60%  खाद्य और पेय पदार्थ 'स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा' के तहत हानिकारक हैं। ये मूल्यांकन कंपनी के कुल पोर्टफोलियो के लगभग आधे हिस्से पर लागू होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि विशेष स्वास्थ्य उत्पाद, शिशु फार्मूला आदि श्रेणियों को विश्लेषण से बाहर रखा गया था। 

कंपनी के लगभग 37% खाद्य और पेय पदार्थों ने ऑस्ट्रेलिया की स्वास्थ्य स्टार रेटिंग प्रणाली के तहत 3.5 से अधिक की रेटिंग हासिल की है। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया की स्वास्थ्य स्टार रेटिंग प्रणाली का उपयोग अंतर्राष्ट्रीय समूहों द्वारा भी किया जाता है। 

नेस्ले ने अपने आंतरिक दस्तावेज़ में 3.5 रेटिंग को स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा के रूप में वर्णित किया है जिसके अनुसार लगभग 70% खाद्य उत्पाद और 96% पेय (शुद्ध कॉफी को छोड़कर) इस थ्रेशोल्ड रेटिंग को पूरा करने में विफल रहे हैं। इतना ही नहीं, कंपनी का 99% कन्फेक्शनरी और आइसक्रीम पोर्टफोलियो भी थ्रेशोल्ड रेटिंग को पूरा करने में विफल रहा है। वहीं, नेस्ले के 60% डेयरी उत्पाद 3.5  थ्रेशोल्ड रेटिंग को पूरा करने में सफल रहे हैं।

दस्तावेज़ सामने आने के बाद कंपनी का कहना है कि उसने पिछले दो दशकों में अपने उत्पादों में शुगर और सोडियम की मात्रा लगभग 14-15% कम की है। इतना ही नहीं, बच्चों और परिवारों के लिए ऐसे उत्पाद लॉन्च किए हैं जो बाहरी पोषण मानकों को पूरा करते हैं। अपने किफायती और पौष्टिक उत्पादों के माध्यम से कंपनी ने अरबों सूक्ष्म पोषक तत्वों की खुराक भी वितरित की है।

जानें भारत में खाद्य तेल की कीमतें आमसमान क्यों छू रही हैं?

Comment ()

Post Comment

2 + 1 =
Post

Comments