Jagran Josh Logo

परीक्षा के बाद छुट्टियों में ज़रूर सीखें ये 6 स्किल्स

Feb 26, 2018 11:54 IST
  • Read in English
Best 6 learning activities for post exam vacation
Best 6 learning activities for post exam vacation

UP Board, CBSE Board तथा अन्य बोर्ड्स के एग्जाम के बाद स्कूलों में गर्मी की छुट्टियाँ शुरू होने वाली हैं, जिसका छात्र बेसब्री से इंतज़ार कर रहे होते हैं. यह समय सबसे उत्तम समय है जीवन में कुछ नया सीखने तथा अपनी रुचियों को सही तरीके से पहचानने के लिए. दरअसल ऐसे कई शोर्ट टर्म कोर्स हैं जो बच्चों के स्कूल के करीकुलम का भाग तो बिलकुल नहीं है लेकिन ऐसे कोर्स बच्चों के स्किल्स को और इम्प्रूव करने तथा करियर के मार्गदर्शन में काफी सहायक साबित होते हैं. तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही शोर्ट टर्म कोर्स के बारे में जो आपकी गर्मी की छुट्टियों को और दिलचस्प बना सकती हैं :

1. कंप्यूटर  कोर्स:

आज के समय में IT से जुड़े स्किल्स आपके रोजगार की संभावनाएं बढ़ा सकती हैं तथा कई कम्पुटर संस्थानों द्वारा IT से जुड़े ऐसे कई कोर्स हैं जिसका शिक्षण वर्ल्डवाइड उपलब्ध है. छात्र अपनी रूचि तथा मार्केट में उससे जुड़ी उपलब्धियों के अनुसार ऐसे कोर्स में दाखिला लेकर प्रशिक्षण ले सकते हैं जो आगे उनके करियर मार्ग से जुड़ी बेहतर संभावनाएं खोल सकता है.

computer courses, IT crash course, computer application

IT से जुड़े कुछ पाठ्यक्रम यहाँ हमने नामांकित किये हैं :

Crash course in hardware and networking (क्रेश कोर्स इन हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग)

Programming language (प्रोग्रामिंग लैंग्वेज)

Graphic designing (ग्राफ़िक डिजाइनिंग)

Software testing (सॉफ्टवेर टेस्टिंग)

IT security and ethical hacking (IT सिक्यूरिटी एंड एथिकल हैकिंग)

2. व्यक्तित्व विकास कक्षाएं (Personality development classes) :

personality development, personality grooming

पर्सनालिटी एक ऐसी चीज़ है जो आपको दूसरों से अलग होने का आभास करवाती है. जो आपकी डिग्री तथा दुसरे स्किल्स के साथ एक अहम भूमिका निभाती है. पर्सनालिटी डेवलपमेंट की क्लासेज छात्रों को सकारात्मक तथा मोटिवेट रखने में काफी सहायक साबित होती है. किसी के सामने आपका पहला इम्प्रैशन ही आपके वक्तित्व को बताता है. पर्सनालिटी डेवलपमेंट कोर्स ना सिर्फ आपके वक्तित्व को निखरता है इससे साथ-साथ आपको सबके सामने काफी हद तक प्रजेंटेबल बनाता है. यदि छात्र अपनी छुट्टियों में पर्सनालिटी डेवलपमेंट की क्लासेज ज्वाइन करेंगे तो यह उनके अन्दर उनका कॉन्फिडेंस बढ़ाने और उनको सकारात्मक रखने में काफी मददगार साबित होगा और साथ ही साथ वह अपने पाठ्यक्रम से हट कर कुछ सीखना पसंद भी करेंगे.

Related Video : जानें कितने घंटे पढ़ना है ज़रूरी अगर क्लियर करना है IIT JEE?

3. प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी :

coaching classes, competitive exams

कई ऐसे संसथान हैं जो नेशनल लेवल पर बच्चों को प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करवाते हैं. छात्र कक्षा 8वीं से ही प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए इस तरह के संस्थानों में दाखिला ले सकते हैं. गर्मी की छुट्टी का समय एक ऐसा समय होता है जब आप अपने स्कूल के सभी करिकुलम से फ्री होते हैं. इस समय आप अच्छी तरह से अपने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी को ज्यादा से ज्यादा ज़्यादा से ज़्यादा समय दे सकते हैं. उदाहरण के तौर पर यदि किसी छात्र को अभी से इंजीनियरिंग या मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए कोई फाउंडेशन कोर्स ज्वाइन करना हो या किसी प्रतिष्ठित संस्थान में कक्षा 10वीं या 12वीं में दाखिला लेना है तो वह इस समय का आगे बढ़ने के लिए बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं.

4. स्पोकन इंग्लिश ट्रेनिंग :

spoken english, importance of english language

स्पोकन इंग्लिश की ट्रेनिंग के लिए  ऐसे कई संस्थान हैं जो शोर्ट टर्म कोर्स करवाते हैं. जहाँ आप बड़ी आसानी से इस वर्ल्डवाइड लैंग्वेज पर अपनी पकड़ बना सकते हैं. आज के समय में अंग्रेजीं भाषा पर आपकी मजबूत पकड़ बहुत ही आवश्यक बनती जा रही है तथा यह भी आपके कॉन्फिडेंस को बढ़ाने में काफी सहायक साबित होता है. आप अपने करियर में भी यदि आगे जॉब इंटरव्यू के लिए जाते हैं तो आपको अंग्रेजीं भाषा में अपना इंटरव्यू देना पड़ सकता है. आप अपने स्पोकन क्लासेज के साथ-साथ इस बीच अपने दोस्तों व अभिभावक के साथ बात कर जल्दी ही अंग्रेजी भाषा पर बहुत अच्छी पकड़ बना सकते हैं.

UP Board कक्षा 10वीं और 12वीं के विशाल सिलेबस को समय से ख़तम करने के 7 मन्त्र

5. विदेशी भाषा पाठ्यक्रम( Foreign language courses ) :

foreign language, learning foreign language

आज के समय में यदि आपको एक एडिशनल लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ हो तो वह आपके करियर के दृष्टिकोण से काफी लाभप्रद है. ऐसे कई विदेशी संसथान है जो कैंडिडेट्स को काफी अच्छा वेतन केवल इस कारण ही देते हैं क्यूंकि उनको उनकी एक एडिशनल लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ है. तो आप भी अपनी रूचि के अनुसार अपनी गर्मी की छुट्टियों में ऐसी कई विदेशी भाषा हैं जिनका बेसिक सीखना शुरू कर सकते हैं, जैसे की- German, French, Spanish, Chinese, Russian आदि.

6. खेल और रोमांच में भाग लें :

sports to learn, adventures, judo classes

हर एक छात्र को खेल तथा रोमांच की तरफ एक ख़ास रुझान होता है लेकिन स्कूल के कारण आप इसमें ज्यादा समय नहीं बिता पाते हैं. अपनी छुट्टियों के समय आप किसी भी अच्छे संसथान में अपने पसंदीदा खेल की अच्छी तरह प्रैक्टिस कर सकते हैं जिससे आपको खेल से जुड़ी जानकारी हो जाएँ और आप  उसमें और बेहतर प्रदर्शन कर पाएं. इससे आपको आपके करियर चुनाव में भी सहायता मिल सकती है. इसके अलावा यदि आप को एडवेंचर का ख़ास  शौक है तो इन छुट्टियों में आप इससे जुड़े चीजों में भी भाग ले सकते हैं. लेकिन सबसे ज़रूरी और आवश्यक बात यह है कि इसमें आपको बहुत सावधानी के साथ भाग लेने की आवश्यकता पड़ेगी.

निष्कर्ष : आशा है कि हमारे बताएं ये सुझाव आपकी गर्मी की छुट्टियों को बेहद यादगार बनाएंगी. अभी का समय छात्रों को तनाव रहित रह कर एग्जाम की अच्छी तैयारी कर आगे बढ़ना है तथा इसके बाद अपनी छुट्टियों का दिल खोल कर आनंद लेना है.

शुभकामनायें !!

 बोर्ड एग्जाम जीवन का एक हिस्सा है, जीवन नहीं: तनाव मुक्त होकर परीक्षा दें

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
      ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF