1. Home
  2. |  
  3. ARTICLE
  4. |  
  5. जॉब सर्च |  

वर्ष 2019 में इंडस्ट्रीज के हायरिंग ट्रेंड्स और करियर ग्रोथ की संभावनाएं

वर्ष 2019 में हमारे देश में जॉब मार्केट के हायरिंग ट्रेंड्स और करियर ग्रोथ की संभावनाओं को प्रभावित करने वाले विभिन्न फैक्ट्स के बारे में इस आर्टिकल में पढ़ें.

Apr 11, 2019 14:51 IST
Indian Industries in 2019: Career Prospects and Hiring Trends
Indian Industries in 2019: Career Prospects and Hiring Trends

अगर अपने देश में इंडस्ट्रीयल ग्रोथ की बात की जाए तो फिर इंडस्ट्रियल हायरिंग ट्रेंड्स और करियर ग्रोथ के बारे में चर्चा तो होगी ही. वर्ष 2018 में हमारे देश में विभिन्न सरकारी और प्राइवेट सेक्टर्स में  तकरीबन 1.5 करोड़ जॉब्स के लिए भर्ती की गई. ग्लोबल कंसल्टिंग कंपनी मर्सर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कम्पनियों ने वर्ष 2018 में अपने व्यापार को बढ़ावा देने के लिए अपने कर्मचारी बढ़ाने के लिए प्रयास किये हैं. नई नौकरियों में भर्ती के लिए, उच्च शिक्षा के माध्यम से जॉब मार्केट की जरूरतों को पूरा करने के लिए स्टूडेंट्स को क्वालिटी एजुकेशन उपलब्ध करवाना अब समय की मांग बन चुका है.

इसी तरह, वर्ष 2019 में हमारे देश में जॉब मार्केट के हायरिंग ट्रेंड्स और करियर ग्रोथ की संभावनाओं को प्रभावित करने वाले विभिन्न फैक्ट्स के बारे में आइये हम चर्चा करें:

मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री – बदल रहा है कॉर्पोरेट परिवेश

मुख्य बदलाव

मॉडर्न इंडस्ट्रीज जैसेकि शेयर्ड मोबिलिटी, ड्राइवरलेस कार्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स  में प्रगति के साथ-साथ  हमारे काम करने के तरीके लगातार बदल रहे हैं. ऐसे में, कर्मचारियों को नियमित रूप से अपनी इंडस्ट्री के रुझान में आये बदलाव से अपडेटेड रहना चाहिए.

करियर गोल्स

मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में स्किल्स प्राप्त करने के लिए आपको बाहर से अन्दर की ओर सोचने वाले तरीके को अपनाना चाहिए और हमेशा बदलते हुए इंडस्ट्रियल परिवेश से सीखने के लिए तैयार रहना चाहिए. कर्मचारियों को इस इंडस्ट्री में मौजूद रुकावटों के साथ ही रिसर्च में होने वाले विकास पर ध्यान देना चाहिए. इसके अलावा, डिजिटल नॉलेज में एडवांस्ड सर्टिफिकेट प्राप्त करना जॉब सीकर्स के लिए फायदेमंद रहेगा.

टेलिकॉम – यहां उपलब्ध हैं नए अवसर

मुख्य बदलाव

कस्टमर्स द्वारा इन सर्विसेज को कंज्यूम करने के तरीके में काफी बदलाव आ रहा है. इसलिए टेलिकॉम इंडस्ट्री में महत्वपूर्ण बदलाव देखा जा रहा है, जिससे करियर के अवसर काफी बढ़ गए हैं. यह इंडस्ट्री  अब सेवा के नए मॉडल्स कस्टमर को ऑफर करने की दिशा में काम कर रही है, जिससे नए स्किल्स  सीखने की मांग भी बढ़ी है.

करियर गोल्स

टेलिकॉम की फ़ील्ड  एनालिटिक्स, बिग डेटा, क्लाउड और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की फ़ील्ड्स से बहुत ज्यादा स्किल्ड और टैलेंटेड एम्पलॉईज  को आकर्षित करेगा. इसलिए, भविष्य में जरूरी तकनीकी कौशल में माहिर कर्मचारी आने वाले समय में इस क्षेत्र में आगे बढ़ेंगे. इस दौरान, ग्रामीण इलाकों में लोग डाटा का इस्तेमाल करने के परंपरागत तरीके ही अपनायेंगे.

टेक्नोलॉजी – इनोवेशन से लगातार बदलती दुनिया

मुख्य बदलाव

आजकल टेक्नोलॉजी की फील्ड इंडस्ट्रियल ग्रोथ में सबसे रिस्की फैक्टर के तौर पर जानी जाती है. इस फील्ड में सीखने की तत्परता और ज्ञान की ललक की हमेशा जरूरत रहेगी. इसका कारण यह है कि टेक्नोलॉजी की फील्ड में आजकल बड़ी तेज़ी से लगातार बदलाव आते जा रहे हैं और कर्मचारियों को इस फील्ड में माहिर बनने के लिए क्रॉस-स्किलिंग पर पूरा ध्यान देना चाहिए.

करियर गोल्स

बाजार के रुझान के मुताबिक नई टेक्नोलॉजीज को जानने के लिए कर्मचारियों को लेटेस्ट अपडेट्स की जानकारी जरुर रखनी चाहिए और इसके साथ-साथ सामाजिक और डिजिटल मीडिया की विभिन्न फ़ील्ड्स की कार्यसाधक जानकारी जरुर प्राप्त करना चाहिए. इसके अलावा, कर्मचारियों को नई टेक्नोलॉजीज को सीखने के साथ ही तकनीकी क्षेत्र में ज्यादा गहराई से ज्ञान प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए. मशीन लर्निंग की अच्छी जानकारी प्राप्त करने के साथ-साथ आर्टिफीशियल की फील्ड में काम करने के लिए जरुरी स्किल्स भी सीखने चाहिए.

एफएमसीजी – इस फील्ड के लिए सतर्कता है जरुरी

मुख्य बदलाव

यह फील्ड तेजी से बदल रही है और कर्मचारियों में लेटेस्ट स्किल्स के लिए यह इंडस्ट्री कर्मचारियों से चुस्ती-फुर्ती की उम्मीद रखती है. इस फील्ड में कर्मचारियों को क्रॉस-फंक्शनल स्किल्स के साथ ही कोर एक्सपरटाइज हासिल करने के लिए ईमानदारी से आत्म-निरिक्षण करना चाहिए.

करियर गोल्स

अपना मूल्यांकन करना तथा  उद्देश्य और अपेक्षाओं की सही समझ ऐसे महत्वपूर्ण स्किल्स हैं जो इस फील्ड में सफलता प्राप्त करने के लिए आवश्यक हैं. इसके अलावा, कर्मचारियों को अपने करियर को इस तरह से प्लान करना चाहिए कि यह सुनिश्चित हो सके कि उनके वर्किंग गोल्स उनके करियर गोल्स के साथ जुड़े हों.

फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री – एक ऐसी फील्ड जिसके लिए रिइन्वेंशन है जरुरी

मुख्य बदलाव

कई रेगुलेशन्स में बदलाव आने के साथ-साथ, फार्मा इंडस्ट्री भी बदलाव और रिइन्वेंशन्स के दौर से गुजर रही है. हाल ही में यूएसएफडीए द्वारा किये गए निरीक्षणों में यह पाया गया कि कर्मचारियों को इस फील्ड में काम करते समय सिंपल कंप्लायंस से आगे बढ़कर अंतरराष्ट्रीय स्तर की क्वालिटी को अपनाना चाहिए.  

करियर गोल्स

इस फील्ड के कर्मचारियों के लिए आधुनिक रिसर्च से सम्बंधित मैनेजमेंट टूल्स और डिजिटल डाटा एनालिटिक्स के साथ अपडेटेड रहना जरुरी है. इस फील्ड में सफल करियर बनाने के लिए केवल अपना रोजमर्रा का काम करने के अलावा भी रिसर्च और विकास पर फोकस रखना और क्वालिटी माइंडसेट का विकास करना बहुत जरूरी है.

बैंकिंग और फाइनेंस सेक्टर – कस्टमर्स के साथ डिजिटल इंटरैक्शन बन गया है जरुरी

मुख्य बदलाव

डिजिटल इकोसिस्टम में आये बड़े बदलाव ने भारत में बैंकिंग और फाइनेंस सेक्टर का स्वरूप ही बदल दिया है. अब, कस्टमर्स की संतुष्टि पर ध्यान देने के बजाय कस्टमर्स के आनंद पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है.  आजकल एक ही समय पर कई सिस्टम्स पर काम करने के साथ ही कस्टमर सर्विस के लिए तीव्र मॉडलिंग स्ट्रेटेजी उपलब्ध करवाने की जरूरत है.

करियर  गोल्स

बैंकिंग और फाइनेंस सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए अब यह बहुत जरुरी हो गया है कि वे बदलते हुए डिजिटल और टेक्नोलॉजिकल इको सिस्टम के साथ-साथ अपने एक्सपीरियंस, नॉलेज और स्किल सेट को अपडेट करते रहें.

Loading...

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Loading...