जानें फार्मासिस्ट बनने के लिए क्या है योग्यता, चयन प्रक्रिया, सैलरी और कहां मिलेगी नौकरी?

फार्मासिस्ट का पद केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभागों के तहत चलाये जा रहे अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य संबंधी सरकारी परियोजनाओं, रक्षा मंत्रालय के विभागों, आदि में होता है.

Pharmacist jobs
Pharmacist jobs

फार्मासिस्ट का पद केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभागों के तहत चलाये जा रहे अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य संबंधी सरकारी परियोजनाओं, रक्षा मंत्रालय के विभागों, आदि में होता है. स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी संगठन में फार्मासिस्ट का पद ऑपरेशंस में मध्य स्तर का होता है. फार्मासिस्ट का कार्य होता है कि वह अस्पताल या स्वास्थ्य कार्यक्रम या परियोजना के अनुरुप मरीजों को डॉक्टरों के द्वारा प्रेस्क्राइब्ड दवाओं को उपलब्ध कराये और स्टॉक में दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करे. साथ ही, दवाओं की कमी की स्थिति में क्रय के लिए रिपोर्ट भेजे.

फार्मासिस्ट की भूमिका अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में मेडिकल परीक्षणों के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण होती है. फार्मासिस्ट को सुनिश्चित करना होता है कि डॉक्टर ने जो दवा लिखी है उसे वह मरीजों को उपलब्ध कराये और उनके साइड इफेक्ट (यदि कोई हो) के बारे में बताये. इसलिए फार्मासिस्ट बनने के लिए आवश्यक स्किल्स में से जरूरी है कि आपको स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां, रोगों के अनुरूप आवश्यक इस्तेमाल की जाने वाली प्रचलित दवाओं और कमी की स्थिति में रिपोर्ट बनाने आदि में निपुणता हो और संबंधित डॉक्टर्स के निर्देशों के मरीजों को उपलब्ध कराये.

फार्मासिस्ट के लिए कितनी होनी चाहिए योग्यता?

फार्मासिस्ट बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से विज्ञान विषयों (फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं बॉयोलॉजी या गणित) के साथ 12वीं उत्तीर्ण होना चाहिए. इसके साथ ही, उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से फार्मेसी में डिप्लोमा (एलोपैथिक) उत्तीर्ण होना चाहिए. इसके अतिरिक्त उम्मीदवारों को संबंधित राज्य के स्टेट फार्मेसी काउंसिल से पंजीकृत होना चाहिए.

फार्मासिस्ट बनने के लिए निम्नलिखित योग्यता रखने वाल उम्मीदवारों को वरीयता दी जाती है –

  • आम रोगों एवं उनके लिए आवश्यक दवाओं की समझ.
  • नियुक्ति क्षेत्र की स्थानीय भाषा पर अच्छी पकड़.
  • स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स के द्वारा प्रेस्क्राइब दवा निकालने में निपुणता.

फार्मासिस्ट के लिए कितनी है आयु सीमा?

फार्मासिस्ट बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष से 27 वर्ष के बीच हो. हालांकि, कुछ संस्थानों में पूर्व कार्य-अनुभव के साथ अधिकतम आयु सीमा 30-35 वर्ष होती है. आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा सरकार के नियमानुसार छूट दी जाती है.

फार्मासिस्ट के लिए चयन प्रक्रिया

फार्मासिस्ट के पद पर उम्मीदवारों का चयन आमतौर पर शैक्षणिक रिकॉर्ड और इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है. हालांकि, रिक्तियों के अनुरूप यदि अधिक संख्या में आवेदन प्राप्त होते हैं तो संबंधित संस्थान उम्मीदवारों की शॉर्टलिस्टिंग के लिए लिखित परीक्षा का भी आयोजन कर सकता है.

कितनी मिलती है फार्मासिस्ट को सैलरी?

फार्मासिस्ट के पद पर छठे वेतन आयोग के पे-बैंड 1 के अनुरूप रु. 5200-20200 और ग्रेड पे 2400) के अनुसार सैलरी दी जाती है. जिन संगठनों में सातवां वेतन आयोग लागू किया जा चुका है वहां समकक्ष लेवल (लेवल-4: वेतन रु. 25500/-) के अनुरूप सैलरी दी जाती है. यदि फार्मासिस्ट के पद पर संविदा के आधार पर भर्ती की जाती है तो आमतौर पर रु. 20000 प्रति माह तक वेतन दिया जाता है. वहीं, राज्य सरकारों के विभागों एवं संस्थानों में वेतनमान संबंधित राज्य के समकक्ष स्तर पर निर्धारित वेतनमान के अनुसार दिया जाता है जो कि राज्य के अनुसार अलग-अलग होता है.

फार्मासिस्ट की कहां मिलेगी सरकारी नौकरी?

फार्मासिस्ट का पद केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभागों के तहत चलाये जा रहे अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य संबंधी सरकारी परियोजनाओं, रक्षा मंत्रालय के विभागों, आदि में होता है इसलिए इस पद के लिए रिक्तियां समय-समय पर इन्हीं संस्थानों में समय-समय पर निकलती रहती हैं. इन सभी रिक्तियों के बारे में भारत सरकार के प्रकाशन विभाग से प्रकाशित होने वाले रोजगार समाचार, दैनिक समाचार पत्रों एवं सरकारी नौकरी की जानकारी देने वाले पोर्टल्स या मोबाइल अप्लीकेशन के माध्यम से अपडेट रहा जा सकता है.

Rojgar Samachar eBook

यह भी पढ़ें: सामान्य ज्ञान तथ्य

इस नौकरी को पाने के लिए पढ़ें करेंट अफेयर्स

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories