Search

केंद्रीय ब्यूरो नारकोटिक्स में SSC CGL सब-इंस्पेक्टर की जॉब प्रोफ़ाइल

हर साल एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल परीक्षा के जरिए केंद्रीय निरीक्षकों के केंद्रीय निरीक्षकों की भर्ती की जाती है। परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को विभाग से जुड़े विभिन्न कानूनों को समझने के लिए प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है और नशीले पदार्थों और दवाओं के क्षेत्र में अवैध संचालन को खत्म करने के लिए सक्रिय क्षेत्रों में काम करना चाहिए।

 

Dec 12, 2017 12:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Job Profile and Promotion Policy
Job Profile and Promotion Policy

हर साल SSC द्वारा आयोजित CGL परीक्षा के जरिए केंद्रीय निरीक्षकों की भर्ती की जाती है। परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों को विभाग से जुड़े विभिन्न कानूनों को समझने के लिए प्रशिक्षण फेज से गुजरने के बाद नशीले पदार्थों व दवाओं के क्षेत्र में अवैध संचालन को खत्म करने के लिए सक्रिय क्षेत्रों में काम करना होता है। सीबीआई की तरह, केन्द्रीय नारकोटिक्स (सीबीएन) एक एजेंसी है जो देश में नशीली दवाओं, नशीले पदार्थों और कृत्रिम दवाओं के उत्पादन से संबंधित मामलों की देख-रेख करने के लिए समर्पित है।

 Banking & SSC eBook

यह भारत में नशीले पदार्थों और दवाओं से संबंधित एक प्रीमियर जांच एजेंसी है और इसमें क्षेत्रीय स्तर पर कार्य की अधिकता ज्यादा होती है। सीबीएन में सब इंस्पेक्टर पद एक चुनौतीपूर्ण पद है क्योंकि उन्हें सुरागो, जो कि विभिन्न अपराधों से जुड़े अपराधियों को पकड़ने के लिए इकट्ठा किए जाते हैं, के आधार पर काम करना पड़ता है। SI आमतौर पर अफीम डिवीज़न के तहत काम करता है जिसमें 4-5 वर्कएरिया शामिल हैं। अफीम डिवीजन में एसआई को एक विशेष श्रेणी के प्रभारी के रूप में रखा जाता है। उन्हें चल रही सभी गतिविधियों के बारे में अपने वरिष्ठ नागरिकों को रिपोर्ट करने और अपने क्षेत्र में हो रही नशीले पदार्थों के गतिविधियों जांच रिपोर्टिंग करनी होती है।

Take Online Quiz

CBN में Sub-Inspector की नौकरी की जानकारी

सीबीएन में Sub-Inspector अपने-अपने कार्य क्षेत्र में पूर्ण रूपे से तैनाती व निगरानी के लिए विभाग में भर्ती किये जाते हैं उन्हें अफीम के लाइसेंस प्राप्त क्षेत्रों की गतिविधियों पर नजर रखने के साथ यह सुनिश्चित करना होता है कि आबंटित क्षेत्र के अलावा किसी अन्य क्षेत्र / किसी भी दूसरे हिस्से में अफीम की कोई खेती तो नहीं हो रही है। क्षेत्र के आंकलन के समय एसआई, जिला अफ़ीम अधिकारी (डीओओ) की मदद करता है और सरकार के तहत अफीम के कई कारखानों को अफ़ीम का प्रेषण करने में मदद करता है अर्थात अफीम के खेती सरकार की पूरी देखरेख में होती है इस कार्य में मादक पदार्थों के क्षेत्र में कई अवैध और नाजुक गतिविधियों भी शामिल किया है, यदि ऐसी कोई भी गतिविधि किसी भी एसआई के क्षेत्र में होती है तोह उससे उसे स्वयं ही निपटना होता है।

इसके अलावा, उन्हें इस बात को भी ध्यान में रखना होता है कि कहीं सिंथेटिक दवा/ अन्य नारकोटिक्स का निर्माण उनके निगरानी क्षेत्र में तो नहीं हो रहा| उन्हें 1985 के नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रोपिक सबस्टेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत अपने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न अवैध विनिर्माण इकाइयों व सुविधाओं को तलाशने और वैध इकाइयों को दौरा भी करना होता है। कई-बार उन्हें संबंधित अन्य मुख्यालयों द्वारा शासित जगहों पर कई अन्य कार्यों को पूरा करने की आवश्यकता होती है। एसआई का वेतन रु० 9,000- 34,800 वेतनमान व रु० 4,600/-, के  ग्रेड वेतन के साथ प्राप्त होता है| जो सेवासमय के साथ  वृद्धि के अधीन है।

CBN में एसआई नौकरी का पक्ष और विपक्ष

एसआई के नौकरी में समय-समय पर उम्मीदवारों को बहादुरी से कार्यों को करना होता हैं। नौकरी से जुड़े रोमांच और उत्तेजना, युवाओं को इसके प्रति आकर्षित करती है लेकिन इस नौकरी में कुछ जोखिम भी शामिल हैं इसके अंतर्गत आपको उन लोगों का सामना करना होता हैं, जो काफी लंबे समय तक आपराधिक कार्यों में सम्मिलित होते हैं।

इस विभाग में कोई निश्चित कार्यसमय नहीं है और आपको सख्त समयसीमा पर सभी कार्यों को समाप्त करना होता है। कभी-कभी एसआई को सुरागों ज्ञात सूत्रों से आसानी से मिल जाते है जिनकी मदद से वे नशीले पदार्थों और नशीली दवाओं के गिरोहों और माफियाओं को आसानी से पकड़ लेते हैं। नौकरी से जुड़े सम्मान और रोमांच ने कई उम्मीदवारों को आकर्षित किया है, जो कार्यालय के अधिकतर कामो से ज्यादा संतोषजनक है।

CBN में प्रमोशन

केन्द्रीय ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स के एसआई के रूप में शामिल होने वाले उम्मीदवारों को विभाग में अपने कार्यकाल के दौरान स्तर में वृद्धि करने के लिए पर्याप्त अवसर मिलते हैं। जो लोग विभाग में एक Sub-Inspector के पद पर शामिल होते हैं वे 5 सालों के अन्दर निरीक्षकों के स्तर तक बढ़ सकते हैं। प्रदर्शन और आंतरिक परीक्षा के आधार पर उम्मीदवार 10-12 सालों के समय के भीतर अधीक्षक के स्तर तक बढ़ सकते हैं। उम्मीदवार, अपने करियर के अंत में सहायक नारकोटिक्स कमिश्नर की पोस्ट तक भी पहुँच सकते हैं और कड़ी मेहनत और अच्छे रिकॉर्ड के जरिए विभाग का नेतृत्व भी कर सकते हैं।

Related Stories