Search

भारत में अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में भी है शानदार करियर स्कोप

आजकल, भारत में अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में कई बेहतरीन करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. आप इस फील्ड में अपनी पसंद का कोई करियर चुन सकते हैं और अच्छी कमाई भी कर सकते हैं.

Aug 29, 2019 18:46 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
yoga
yoga

अक्सर बीमार होने पर हम डॉक्टर के पास जाकर अपना इलाज करवाते हैं. अब, यह भी सच है कि हम शारीरिक या मानसिक रूप से अस्वस्थ या बीमार हो सकते हैं. ‘स्वास्थ्य हजार नियामत’ या ‘हेल्थ इज़ वेल्थ’ जैसी कहावतें हमें हमेशा हेल्दी रहने की प्रेरणा देती हैं. लेकिन कभी मौसम तो कभी गलत खान-पान या कभी एलर्जी तो कभी इन्फेक्शन के कारण हम बीमार हो ही जाते हैं. आजकल निराशा, तनाव, उदासी, बेचैनी या चिड़चिड़ापन हमारे मानसिक तौर पर अस्वस्थ होने की गवाही देते हैं. ऐसे में, शारीरिक या मानसिक रूप से अस्वस्थ होने पर किसी डॉक्टर से हॉस्पिटल या प्राइवेट क्लिनिक में अपना इलाज करवाने के बजाए अगर हम ‘अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड’ से स्वस्थ रहने के कुछ तरीके जान लें तो कितना अच्छा रहे......भारत के प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किया गया ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ भी हमें हेल्दी और फिट रहने की प्रेरणा दे रहा है क्योंकि ‘स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है’. इसी तरह अगर हम अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में मनचाहा करियर बना लें तो हम खुद स्वस्थ रहने के साथ ही अन्य कई लोगों को स्वस्थ रहने के लिए मोटीवेट कर सकते हैं और इस फील्ड में करियर ग्रोथ के साथ अच्छी कमाई भी होती है.

यूं तो अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में आप हेल्थ से जुड़े कई पेशों को शामिल कर सकते हैं लेकिन इस आर्टिकल में हम कुछ खास ऐसे करियर ऑप्शन्स या पेशों की बात कर रहे हैं जो हमरे तन-मन को हेल्दी रखते हैं ताकि न तो हम बीमार पड़ें और न ही हमें डॉक्टर्स की महंगी मेडिसिन्स ही लेनी पड़ें. आप यह भी अच्छी तरह से जानते हैं कि हरेक मेडिसिन के हमारे शरीर पर कुछ नेगेटिव या साइड इफेक्ट्स पड़ते ही हैं. इसलिए, अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड के विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल करके हम हमेशा हेल्दी रह सकते हैं. अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में मनचाहा करियर शुरू करने के लिए आप इस आर्टिकल से विस्तृत जानकारी हासिल कर लें.

हमारे देश में अल्टरनेटिव मेडिसिन सिस्टम में मुख्य रूप से विभिन्न AYUSH (आयुर्वेद, यूनानी, योग, नेचुरोपैथी, सिद्ध  और होमियोपैथी) स्ट्रीम्स को शामिल किया जाता है. एक अनुमान के मुताबिक भारत में वर्ष 2020 तक AYUSH का कारोबार तकरीबन 15 बिलियन डॉलर तक पहुंच जायेगा. इस डाटा से हम अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड में कोई करियर शूरु करने के महत्व को समझ सकते हैं.

भारत में अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड से संबंधित कुछ प्रमुख करियर ऑप्शन्स

हमारे तन-मन के स्वास्थ्य के लिए अल्टरनेटिव मेडिसिन की फील्ड का महत्व समझने के बाद अब हम इस फील्ड के कुछ प्रमुख करियर ऑप्शन्स की चर्चा कर रहे हैं जिनमें आप अच्छी कमाई करने के साथ ही अच्छी करियर ग्रोथ कर सकते हैं. आइये आगे पढ़ें:

योग में करियर 

‘योग’ हमारे लिए एक सुपरिचित शब्द होने के साथ-साथ अधिकतर लोगों के दैनिक जीवन का अभिन्न हिस्सा बन चुका है. शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को काफी फायदा देने के कारण योग अब इंटरनेशनल लेवल पर सुप्रसिद्ध एक्टिविटी बन चुका है. यदि आप योग में रुचि रखते हैं तो यह आपको आकर्षक करियर ऑप्शन्स भी प्रदान करेगा. इस फील्ड में करियर की शुरुआत 12वीं के बाद और/ या ग्रेजुएशन के बाद की जा सकती है. हमारे देश में योग में ट्रेनिंग प्राप्त करने के लिए कई डिग्री, डिप्लोमा और सर्टिफिकट कोर्सेज उपलब्ध हैं. बैचलर ऑफ आर्ट्स (योग), मास्टर इन आर्ट्स (योग), पीजी डिप्लोमा इन योग थैरेपी कोर्सेज की आजकल बहुत डिमांड है. योग एक्सपर्ट या नैचूरोपैथ के तौर पर करियर शुरू करने की इच्छा रखने वाले कैंडिडेट्स 5 साल और 6 महीने का बैचलर ऑफ नैचुरोपैथी एंड योगिक साइंसेज (BNYS) कोर्स कर सकते हैं. योग की डिग्री लेकर अपना कारोबार भी खोला जा सकता है. विश्व में कई ऐसे एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स हैं जहां योग ट्रेनर्स की बहुत जरूरत है. अब जब भारत सहित दुनिया-भर के देशों में योग के बारे में अधिकतर लोग सचेत हैं और इसमें गहरी दिलचस्पी दिखा रहे हैं तो आप एक ‘योग ट्रेनर’ का करियर अपनाकर आप खुद को हेल्दी रखते हुए पूरी दुनिया को योग सिखाकर अच्छी कमाई करने के साथ-साथ सुकून की जिन्दगी जी सकते हैं. शुरू के दिनों में ये पेशेवर एवरेज 25 हजार रूपये मासिक कमाते हैं लेकिन इस फील्ड में पीएचडी डिग्री होल्डर 1 लाख रुपये मासिक तक भी कमा सकता है.    

आयुर्वेद में करियर

भारत में आयुर्वेद की फील्ड में आपके लिए बेहतरीन करियर स्कोप है और इस फील्ड में अपना करियर शुरू करने के लिए कैंडिडेट्स ने किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास प्रेफरेबली साइंस स्ट्रीम से पास की हो. आयुर्वेद की फील्ड में कोई सूटेबल करियर शुरू करने के लिए या किसी अच्छी जॉब को हासिल करने के लिए आयुर्वेद में डिप्लोमा, अंडरग्रेजुएट कोर्सेज (BAMS/ BSMS), पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज (MBA/ MD/ MS - आयुर्वेद) और डॉक्टोरल डिग्री कोर्सेज जैसेकि, MPhil और/ या PHD की डिग्री हासिल की हो. हमारे देश में आप एक आयुर्वेद फिजिशियन, आयुर्वेद कंसलटेंट, फार्मासिस्ट, थेरेपिस्ट/ मसाज थेरेपिस्ट, नर्स/ मिडवाइफ, आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर, साइंटिस्ट, पंचकर्म सेंटर्स में सुपरवाइज़र्स  तौर पर अपना करियर बना सकते हैं. हमारे देश में आयुर्वेद की किसी भी फील्ड में गवर्नमेंट सेक्टर में कंसलटेंट के तौर पर अपनी प्रैक्टिस शुरू करने पर किसी भी व्यक्ति को 25 हजार – 30 हजार रुपये मासिक मिलते हैं. भारत सरकार आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर्स को भी रिक्रूट करती है जिन्हें पे स्केल 15,600 – 39,100 रुपये के साथ 5400 रुपये ग्रेड पे मिलती है. प्राइवेट सेक्टर में किसी भी आयुर्वेदिक प्रैक्टिशनर के टैलेंट, वर्क एक्सपीरियंस और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के मुताबिक सैलरी पैकेज दिया जाता है.

एक्यूपंक्चर में करियर

यह भारत के लोगों के लिए कुछ नया या अलग करियर ऑप्शन हो सकता है क्योंकि वास्तव में एक्यूपंक्चर हमारे पड़ोसी देश चीन की काफी पुरानी लेकिन कारगर चिकित्सा पद्धति है जिसका प्रयोग शरीर के विभिन्न हिस्सों में होने वाले दर्द, माइग्रेन, दिल से जुड़े रोगों और डाइजेशन की प्रॉब्लम्स को ठीक करने के लिए किया जाता है. इसमें पेशेंट का इलाज छोटी-छोटी नीडल्स के माध्यम से किया जाता है. आप इंडियन एकेडेमी ऑफ़ एक्यूपंक्चर साइंस से इस फील्ड में कोर्स करके अपना करियर शुरू कर सकते हैं. ये पेशेवर लगभग 200 रूपये प्रति घंटा के हिसाब से अपनी फीस लेते हैं. अनुभवी पेशेवरों की फीस भी बढ़ती जाती है.

मसाज/ स्पा में करियर

इस फील्ड से जुड़े पेशेवर बॉडी पेन, स्ट्रेस, स्पोर्ट्स इंजरीज़ आदि को ठीक करने के लिए कई किस्म के मेडिकेटिड और एरोमेटिक ऑयल्स/ क्रीम्स/ लोशंस/ जेल्स और स्टोंस का इस्तेमाल करके बॉडी मसाज या स्पा ट्रीटमेंट के माध्यम से अपने पेशेंट्स और/ या क्लाइंट्स का इलाज करते हैं. हमारे देश के कई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स मसाज/ स्पा थेरेपी में प्रोफेशनल कोर्सेज करवाते हैं और सफल कैंडिडेट्स को सर्टिफिकेट प्रदान करते हैं. इन पेशेवरों को शुरू में एवरेज 20 – 25 हजार रूपये मासिक सैलरी मिलती है. मैनेजमेंट के लेवल पर इन पेशेवरों को एवरेज 70 – 80 हजार रुपये तक मासिक सैलरी भी मिलती है. ये पेशेवर अपना क्लिनिक या स्पा सेंटर खोलकर काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

एनर्जी हीलिंग में करियर

यह भी अल्टरनेटिव मेडिसिन की एक विशेष फील्ड है जिसमें हमारा नेचुरल एनर्जी लेवल बढ़ाकर कई शारीरिक और मानसिक बीमारियों का इलाज किया जाता है. इस फील्ड में रेकी, लाइट थेरेपी और मैग्नेटिक थेरेपी और प्राणिक हीलिंग को शामिल किया जाता है. इस पेशे में अपना करियर शुरू करने के लिए पेशेवरों के पास लाइसेंस और/ या सर्टिफिकेट जरुर होना चाहिए. इस फील्ड में पेशेवर हरेक सेशन का एवरेज चार्ज 500 – 1500 रूपये तक लेते हैं. ये चार्जेज पेशेवर की प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस के आधार पर निर्धारित किये जाते हैं.

लाइफ कोचिंग में करियर

भारत में अभी यह कुछ नया करियर ऑप्शन है लेकिन दुनिया में 1980 के दशक से ये पेशेवर लोगों को उनके निजी और प्रोफेशनल जीवन में अच्छा संतुलन कायम करने में सहायता कर रहे हैं. इस फील्ड के पेशेवरों का प्रमुख काम अपने मोटिवेशन के जरिये लोगों के व्यक्तिगत और प्रोफेशनल जीवन में संतुलन लाना है ताकि इनके क्लाइंट्स अपने जीवन के हरेक क्षेत्र में कामयाब हो सकें. ये पेशेवर लोगों का आत्मविश्वास बढ़ाकर उनके दैनिक जीवन में ख़ुशी और जोश का संचार करते हैं ताकि लोग अपने व्यक्तिगत और प्रोफेशनल जीवन की सभी परेशानियों और चुनौतियों का डटकर सामना कर सकें और शारीरिक तथा मानसिक तौर पर बिलकुल स्वस्थ रहें. एक लाइफ कोच गाइडेंस, बिहेवियर इम्प्रूवमेंट और एम्पॉवरमेंट के जरिये अपने क्लाइंट्स का जीवन सही दिशा में मोड़ देता है. ये पेशेवर अपने हरेक सेशन के लिए एवरेज 1000-2500 रूपये तक चार्ज करते हैं. इनकी फीस अपने क्लाइंट्स की संख्या और हैसियत और वर्क एक्सपीरियंस के मुताबिक बढ़ती जाती है.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, प्रोफेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.  

Related Stories