टीनेजर्स के लिए टॉप लीडरशिप क्वालिटीज

लीडरशिप एक ऐसी क्वालिटी है जिसके बारे में अक्सर किसी भी व्यक्ति के कॉलेज के दिनों या प्रोफेशनल लाइफ के दौरान ही चर्चा की जाती है. लेकिन यह एक ऎसी क्वालिटी है जो किसी भी व्यक्ति को अपनी टीनएज के दिनों से ही निखारने की कोशिश करनी चाहिए. टीन लाइफ कोच रजत सोनी उन टॉप लीडरशिप क्वालिटीज और स्किल्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो टीनेजर्स को अपने शुरू के वर्षों के दौरान सीखने और विकसित करने चाहिए.

Oct 3, 2018 18:15 IST

लीडरशिप एक ऐसी क्वालिटी है जिसके बारे में अक्सर किसी भी व्यक्ति के कॉलेज के दिनों या प्रोफेशनल लाइफ के दौरान ही चर्चा की जाती है. लेकिन यह एक ऎसी क्वालिटी है जो किसी भी व्यक्ति को अपनी टीनएज के दिनों से ही निखारने की कोशिश करनी चाहिए. टीन लाइफ कोच रजत सोनी उन टॉप लीडरशिप क्वालिटीज और स्किल्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो टीनेजर्स को अपने शुरू के वर्षों के दौरान सीखने और विकसित करने चाहिए.

ऐसा क्या है जो आपको अपनी ड्रीम लाइफ जैसा जीवन जीने से रोक रहा है? ..... आप खुद ही हैं. यह आपका अपने ऊपर पूरा भरोसा न होना जाहिर करता है. आप जो चाहते हैं, वह हरेक चीज़ प्राप्त कर सकते हैं. एक मजबूत इरादा, जुनून और एक्शन ही वह सब कुछ है जो आपको एक खुश और सफल इंसान बना सकता है. 

1. एम्पेथी

हम अक्सर ऐसी परिस्थितियों में लड़ते या रियेक्ट करते हैं जहां हमें केवल जवाब देना होता है. लेकिन ऐसा कैसे करें? आपके बेस्ट फ्रेंड को एक अन्य बेस्ट फ्रेंड मिल गया है और आप खुद को रिजेक्टेड महसूस कर रहे हैं. आपके पास 2 ऑप्शन्स हैं: चाहे तो आप अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ झगड़ा कर लें और अपनी दोस्ती हमेशा के लिए खत्म कर दें या फिर अपने दोस्त से इस मसले पर बातचीत करें और यह समझने की कोशिश करें कि उसके मन में असल में क्या चल रहा है?

एम्पेथी या संवेदना/ सहानुभूति का पालन करें. यह एक ऐसा गुण या क्षमता है जिसके तहत हम किसी अन्य व्यक्ति के नजरिये से चीज़ों को महसूस करने की कोशिश करते हैं. अगर एक बार आप इस बात का कारण समझ जायेंगे कि क्यों आपका दोस्त या पेरेंट या सिबलिंग किसी खास तरह से व्यवहार कर रहे हैं, तो आप न सिर्फ उनके साथ शांति से रह सकेंगे बल्कि खुद भी तनाव-मुक्त रहेंगे. एम्पेथी की क्वालिटी निखारने के बाद ही आप एक लीडर की तरह सोच और काम कर सकेंगे. 

2. डिसीजन मेकिंग

अपने जीवन में कई बार हम एक क्रॉसरोड पर खड़े होते हैं और हमें निर्णय लेना होता है कि हम किस दिशा में आगे बढ़ें. मुझे कौन-सा विषय पढ़ना चाहिए? हिंदी या जर्मन. मुझे कौन-सा करियर चुनना चाहिए? क्या मुझे उससे दोस्ती करनी चाहिए या नहीं? कोई लीडर हमेशा निर्णय लेने की प्रोसेस से गुजरता रहता है.

पहले आप अपनी मौजूदा प्रॉब्लम और फिर अपनी च्वाइसेज को लिखें. अब, हरेक च्वाइस के नतीजों का मूल्यांकन करें. कौन-सी पसंद या च्वाइस आपके वैल्यू सिस्टम के अनुकूल है? कई बार कोई भी निर्णय लेना हमारे लिए काफी मुश्किल होता है और हमें मदद की जरूरत होती है. किसी ऐसे व्यक्ति के बारे में सोचें जो आपकी मदद कर सकता हो. उनसे बातचीत करें. इसके बाद, फिर एक बार अपने निर्णय पर अच्छी तरह विचार कर लें. अंत में, अपने निर्णय के अनुसार कार्य करें. 

3. पैशन, पेशेंस और परसिस्टेंस

  • अपने पैशन की पहचान करें: ऐसा कौन-सा काम है जिसे आप घंटों करते रहें और उस काम को करते हुए बोर न हों? यहां हम नशों की बात नहीं कर रहे हैं. उदाहरण के लिए, अगर कोई बच्चा बहुत क्रिएटिव है तो उसमें कर्टेंस, क्लोथ्स, शूज आदि को स्केच करने का पैशन होगा.
  • पेशेंस रखें: अपने गोल को प्राप्त करने के लिए पेशेंस या धैर्य रखें. हां! लीडर्स अपने गोल्स निर्धारित करते हैं और उन्हें जल्दी प्राप्त करने के तरीके तलाश करते हैं. अगर आप डिज़ाइन इंडस्ट्री में काम करना चाहते हैं तो अपना एक बढ़िया पोर्टफोलियो तैयार करें, सही इंस्टीट्यूशन का पता करें और अच्छा स्कोर प्राप्त करने के लिए काफी मेहनत करें ताकि किसी डिजाइन कॉलेज में आपको एडमिशन मिलने में कोई रुकावट न आये. 
  • परसिस्टेंस: कभी हार न मानें. अगर आप असफल भी होते हैं तो कोई बात नहीं, एक बार फिर कोशिश करें और आगे बढ़ें.

4. रेजीलेंस

जीवन में कई बार ऐसा समय भी आता है जब हम हार मानने लगते हैं. कोई मुझे इतना परेशान कैसे कर सकता है? क्या मैं उतना अच्छा/ अच्छी नहीं हूं? मैं हार मानता/ मानती हूं, मैं अब यह और नहीं कर सकता/ सकती. मैं असफल व्यक्ति हूं. आप एक असफल इंसान केवल तभी होते हैं जब आप खुद को असफल मानते हों. लीडर्स असफलता से मुकाबला करते हैं और अपने लिए जगह बनाते हैं. अपने रोल मॉडल्स के बारे में सोचें और यह जानने की कोशिश करें कि, ऐसा क्या है जिसने उन्हें आज लीडर बना दिया है?

5. ग्रेटीट्यूड

हम आमतौर पर लोगों को चीज़ों के बारे में शिकायत करते रहते हैं. आपको जो जीवन में मिला है, उसके लिए शुक्रगुज़ार रहें. बहुत से लोगों के पास वह भी नहीं है जो आपके पास है. अपनी सुख-सुविधाओं या ब्लेसिंग्स को गिनें. दयालुता के हरेक काम की सराहना करें और यह काम अपने घर से ही शुरू करें. अपने पेरेंट्स या सिबलिंग (भाई/ बहन) को एक ‘थैंक्स-गिविंग लेटर’ लिखें.

रजत ने विशेष रूप से स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट्स के लिए लाइफ स्किल्स पर वीडियोज की एक सीरिज भी तैयार की है. इन वीडियोज को देखने के लिए आप www.jagranjosh.com पर विजिट करें.

एक्सपर्ट के बारे में:-

रजत सोनी एक टीन लाइफ कोच, एक मोटिवेशनल स्पीकर और ‘रजत सोनी इंटरनेशनल’ संगठन के फाउंडर हैं. यह संगठन टीनेजर्स के कुल पर्सनल डेवलपमेंट में अपना सहयोग देता है. वे टीन्स और प्री-टीन्स को शायनेस, सोशल एंग्जायटी, लर्निंग प्रॉब्लम्स और उन सभी अन्य फैक्टर्स का मुकाबला करने में सहायता करते हैं जो फैक्टर्स टीन्स को अपनी पूरी क्षमता प्राप्त करने से रोकते हैं.

Loading...

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Loading...