परीक्षा पे चर्चा 2.0: PM मोदी ने छात्र की माँ से क्यों पूछा ‘वो PUBG वाला है क्या?’

प्रधान मंत्री बोर्ड एग्जाम में शामिल होने वाले छात्रों से सीधे बात-चीत करते हुए उनकी परीक्षा संबंधित समस्याओं पर चर्चा करेंगे और तनाव मुक्त परीक्षा लिखने के गुर सिखाएंगे. जानें इस कार्यक्रम का मुख्य विषय और इससे जुड़ने के क्या हैं विभिन्न माध्यम.

Created On: Jan 30, 2019 13:38 IST
PM Narendar Modi's 'Priksha Pe Charcha 2.0'
PM Narendar Modi's 'Priksha Pe Charcha 2.0'

10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के शुरू होने में कुछ ही सप्ताह बचे हैं. ऐसे में विद्यार्थियों के मन की चिंता व परीक्षा के डर को समझते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ‘परीक्षा पे चर्चा 2.0’ कार्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों व् उनके अभिभावकों से परीक्षा से जुड़ी विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की और साथ ही विद्यार्थियों को तनाव मुक्त होकर परीक्षा लिखने के टिप्स भी दिए.

इसी चर्चा के दौरान छात्रों और अभिभावकों ने प्रधानमंत्री जी से कई सवाल भी पूछे. एक छात्र कि मां ने मोदी से अपने बच्चे की शिकायत करते हुए कहा कि उनका बच्चा ऑनलाइन गेम का आदी है जिसकी वजह से उसकी पढ़ाई पर प्रभाव पड़ रहा है. इस सवाल पर मोदी जी ने हस्ते हुए पूछा- ये पबजी वाला है क्या? जिसे सुनते ही कार्यक्रम में मौजूद सभी लोग हंसने लगे. फिर मोदी ने कहा कि अगर हम यह चाहें कि बच्चे तकनीक से दूर चले जाएं, तो यह उन्हें जिंदगी में पीछे धकेलने जैसा होगा. लेकिन यह तकनीक उसे रोबोट बना रही है या इंसान बना रही है, यह देखना जरूरी है.

परीक्षा पे चर्चा 2.0 के दौरान बच्चों और उनके अभिभावकों को परीक्षा के तनाव से मुक्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा दिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव इस प्रकार हैं:

  • परीक्षा का एक उत्सव की तरह आनंद लें
  • लक्ष्य ऐसा हो जो पहुंच में हो, लेकिन पकड़ में ना हो
  • विद्यार्थी हमेशा अपना रिकॉर्ड ब्रेक करने कि सोचें
  • कसौटी कोसने के लिए नहीं, कसने के लिए होती है
  • बच्चों के रिपोर्ट कार्ड को खुद का विजिटिंग कार्ड ना बनाएं अभिभावक
  • किसी बच्चे की तुलना अन्य बच्चों से करें पेरेंट्स टीचर
  • अपने बच्चों को अपेक्षाओं के बोझ में ना दबाएं
  • अभिभावकों का सकारात्मक रवैया बच्चे की जिंदगी की ताकत बन जाता है
  • कुछ खिलौनों के टूटने से बचपन नहीं मरा करता है

इसके आलावा प्रधानमंत्री जी ने विद्यार्थियों को टाइम मैनेजमेंट के फायदे समझाते हुए कहा कि अगर थोड़ा सा ध्यान दिया जाए तो आप अपने समय का सदुपयोग कर सकते हैं. जो सफल लोग होते हैं, उन पर समय का दबाव नहीं होता है क्योंकि उन्होंने हमेशा अपने समय की कीमत समझी है.

कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ट्वीट करते हुए बताया कि, ''प्रिय छात्र, अभिभावक एवं शिक्षक... मैं कल सुबह 11 बजे 'परीक्षा पे चर्चा 2.0 कार्यक्रम में अपके साथ तनाव रहित परीक्षा के बारे में चर्चा करूंगा." इसमें देश-विदेश के दो हजार छात्र, अभिभावक और शिक्षक हिस्सा लेंगे.

परीक्षा पे चर्चा’ प्रोग्राम का लाइव प्रसारण दिखाया गया

यह कार्यक्रम दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आज दोपहर 11 बजे से आयोजित किया गया था. जहां पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्यम से देशभर के अलग-अलग हिस्सों में बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले लाखों छात्रों से बात चीत की. इस कार्यक्रम में चर्चा का मुख्य विषय परीक्षा के कारण होने वाला दबाव और चिंता ही रहा. इस पूरे कार्यक्रम का लाइव प्रसारण भी किया डीडी नेशनल, डीडी न्यूज और डीडी इंडिया पर प्रसारित किया गया और साथ ही विभिन्न वेबसाइटों जैसे कि http://webcast.gov.in/mhrd/,  mygov.in आदि पर इसका सीधा प्रसारण दिखाया गया.

कम समय में Board Exams की तैयारी के लिए टिप्स

यह लगातार दूसरा साल है जब पीएम मोदी ने ‘परीक्षा पे चर्चा’ प्रोग्राम के माध्यम से विद्यार्थियों को तनाव मुक्त होकर परीक्षा देने और सफलता हासिल करने के मंत्र सिखाये. इस साल पीएम मोदी के इस कार्यक्रम में स्टूडेंट्स के साथ-साथ उनके पैरेंट्स, टीचर्स और विदेशी स्टूडेंट्स ने भी हिस्सा लिया. दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम ‘परीक्षा पे चर्चा 2.0’ में कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्रों ने हिस्सा लिया.

बोर्ड परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए विद्यार्थी निम्नलिखित लेख पढ़ सकते हैं :

बोर्ड परीक्षा में ज़्यादा मार्क्स लाने के 9 अनमोल उपाय

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के लिए फ्री काउन्सलिंग सर्विस: इन माध्यमों से विद्यार्थी उठा सकते हैं लाभ

बोर्ड एग्जाम जीवन का एक हिस्सा है, जीवन नहीं: तनाव मुक्त होकर परीक्षा दें

Related Categories

Related Stories

Comment (0)

Post Comment

2 + 7 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.