Jagran Josh Logo

यूपी बोर्ड के छात्रों की सबसे बड़ी समस्याएँ

Sep 9, 2016 18:00 IST

    यहाँ हम यूपी बोर्ड के छात्रों की कुछ ऐसी समस्याओ के बारे में बात करेंगे जिसकी वजह से उन्हें अच्छे मार्क्स लाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता हैं| हम उन समस्याओ के समाधान पर भी प्रकाश डालेंगे|

    1 # शुरुआत से ही अलर्ट न रहना और आज का काम कल पे डालना:

    Image Source: arenapersonnel.com

    अक्सर ये देखा गया है, कि छात्र शुरुआत मे लापरवाही बरतते है, जैसा की हमें पता है के UP बोर्ड का सिलेबस काफी बड़ा होता है तो शुरू मे लापरवाही बरतने से ये काफी चिन्ता का करण बन सकता है,जिसके करण एक साथ परीक्षा के समय छात्रों पे अतिरिक्त  बोझ हो जाता है, इसलिए हमेशा शुरू से ही तैयारी करते रहें, ऐसा करने से आखरी मे छात्रों को पर्याप्त समय मिल सकता है, जिसका उपयोग छात्र अन्य तैयारी मे दे सकते है|

    जाने एन.सी.ई.आर.टी. की किताबों को पढ़ने के 10 फायदे जो और किताबें से नही मिल सकते

    2 # पढ़े हुए चैप्टर्स का रिविज़न न करना:


    Image Source: ble.soas.ac.uk

    एक बार पढ़े हुए टॉपिक को रिविज़न न करना भी परीक्षा के समय परेशानी का करण बनता है, छात्रों को समय-समय मे पढ़े हुवे टॉपिक को दोहराना चाहिए,जो नही करने पे उनकी पूरी मेहनत ख़राब हो जाती है| नया पड़ने से पहले के साथ-साथ पुराना पड़ा हुआ जरूर दोहराना चाहिए अन्यथा नए टॉपिक को पड़ने के चक़्कर में आप पुराना पड़ा हुआ भी भूल सकते हैं|

    क्या आप जानते हैं पढ़ाई करने ये 5 बेहद प्रभावशाली तरीके

    3 # चैप्टरों के टॉपिक्स को विभाजित करके पढ़ाई ना करना:

    Image Source: graphicsfuel.com

    हम वाकिफ़ है UP के सिलेबस के सिलेबस से, जिसके करण ऐसा देखा गया है कि छात्र बहुत सारी चीजों को एक साथ व एक ही दिन में पढ़ने की कोशिश करते है। ऐसा करने से बचना चाहिए। आप प्रत्येक विषय को टॉपिक में विभाजित करें और  एक दिन में आप एक विषय की एक इकाई को ही धयान से पढ़े और उन इकाई से संबंधित प्रश्न का उत्तर सही तरीके में लिखने का प्रयास करें। इससे आपका आत्मविश्वास उस विषय के प्रति बढ़ेगा। यहां पर आप एक या दो चैप्टर को मिलाकर भी इकाई बना सकते हैं।

    फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने के आसान तरीके

    4 # जागरूक अध्ययन ना करना:

    Image Source: dlabprep.com

    जागरूक अध्यन से ये मतलब है के देखा गया है के UP बोर्ड के परिणाम के अनुसार अधिकतर विद्यार्थियों को पता ही नही होता की किस तरह पढ़े और क्या पढ़े, जैसा की पहले भी ये स्पष्ट रूप से बताया है के UP बोर्ड का सिलेबस बहुत बड़ा होता है जो छात्रों की चिन्ता का करण बन जाता है| यह जरूरी नहीं कि आपको अधिक पढ़ने से ज्यादा अंक मिल जाएंगे। परीक्षा में बेहतर सफलता तभी मिलती है, जब जागरूकता के साथ अध्ययन किया जाए। इसके लिए पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों की मदद ली जा सकती है। दरअसल, पाठ्य पुस्तक (टेक्सट बुक) में बहुत सी बातें जानकारी के लिए दी जाती हैं उसका परीक्षा से उतना वास्ता नहीं होता । एक जागरूक छात्र को इसकी पहचान होनी चाहिए और परीक्षा की तैयारी को मद्देनजर इस पर धयान रखना जरूरी है| हलाकि अत्यधिक छात्र ऐसा नहीं करते हैं, जिसके करण छात्र परीक्षा की तैयारी के अंतिम दिनों में क्या पढ़ें और क्या नहीं पढ़ें की स्थिति में ही पड़े रह कर और बेवजह बेहद तनाव में भी आ जाते हैं।

    क्या आप जानते हैं पढ़ाई करने ये 5 बेहद प्रभावशाली तरीके

    5 # समय का सही तरीके से विभाजन करना ना आना:

    Image Source: howtopassmatric.co.za

    समय का सही तरीके से विभाजन ना करना भी एक बहुत बड़ी समस्या है, जल्द बाज़ी मे उत्तर करना या समय कम होने के करण परीक्षा मे प्रश्नों का छुटना भी बस समय के अनुसार प्रेक्टिस ना करने का करण है, जहां तक विषय की बात है तो आपके टाइम टेबिल में सभी विषयों को समान रूप से एहमियत देना जरूरी है । और हर एक प्रेक्टिस समय के अनुसार ही करें, यदि नियमित रूप से ऐसा करना शुरू करे छात्र तो उनका  आधा तनाव तो अपने आप ही छूमंतर हो जाएगा। दरअसल, ऐसा कहने की वजह यह है कि परीक्षा परिणाम को बेहतर करने में किसी एक विषय की नहीं बल्कि सारे विषयों के अच्छे अंकों के कुल योग का महत्व होता है। हमेशा ऐसा देखा गया है कि कुछ बच्चे किसी एक विषय में तो बहुत अच्छा स्कोर करते हैं, जबकि दूसरे में उतना अच्छा नही कर पते। इससे उनके परीक्षा परिणाम के कुल अंक प्रतिशत पर असर पड़ता है

    6 # प्रैक्टिस पेपर या सैंपल पेपर हल ना करना:

    Image Source: 2.bp.blogspot.com

    ऐसा देखा गया है के UP बोर्ड के विद्यार्थी पुष्तक के प्रश्नों मे ही अपना पूरा समय लगा देते है जो की महत्वपूर्ण है लेकिन  उसके साथ प्रक्टिस पेपर या सैंपल पेपर की मदद कम लेते है, जिसके करण परीक्षा मे आये घुमावदार प्रश्नों से परेशान हो जाते हैं | जबकि सैंपल पेपर और प्रैक्टिस पेपर ऐसे प्रश्नों से छात्रों को वाकिफ करते है | देखा गया है के कुछ छात्र कभी—कभी घर पर तो बहुत अच्छा करते हैं , लेकिन परीक्षा में जाते ही उसका आत्मविश्वास कम हो जाता है । वह कन्फयूज्ड’ होने लगते हैं। इसका एक ही समाधान है कि छात्र सैंपल पेपर से उत्तर लिखने की भरपूर प्रैक्टिस करे। फिर अपने उत्तर को टीचर से चेक भी करवाए। इससे सवाल के जवाब देने में कहां कमी रह रही है, उसका पता चलेगा और आप आसानी से सुधार कर सकेंगे। बोर्ड परीक्षा में अक्सर सवालों के जवाब स्टेप बाई स्टेप देने होते हैं। शिक्षक आपको भली—भांति बता सकता है कि एक उत्तर के विभिन्न चरण कौन—कौन से होंगे। ऐसा करने से निश्चित रूप से आपको परीक्षा में हाई स्कोरिंग करने से कोई रोक नहीं सकता।

    7 # प्रश्नों को सही तरीके से लिखने का तरीका ना आना :

    Image Source: d32ogoqmya1dw8.cloudfront.net

    प्रश्नों को सही तरीके से लिखने का तरीका ना आना एक ऐसी समस्या है, जो पूरी मेहनत पर पानी फेर देती है | UP बोर्ड मे प्रश्नों के उत्तर काफी विस्तार में लिखने होते है जिस करण छात्र सही तरीके से उत्तर नही कर पाते,कभी कभी छात्रों को सारे उत्तर पता होते हैं,प्रश्नों को अच्छे तरीके से हल करने के बावजूद कम अंक प्राप्त होते हैं | इसका बस एक ही करण होता है उत्तर को सही तरीके से ना लिखना, जैसे की हैडिंग या सब हैडिंग सही तरीके से ना देना, साफ़ ना लिखना, समय कम होने के करण लिखावट अच्छी ना होना, चित्र की कमी, ऐसी काफी चीज़े है जिन्हें छात्र नही धयान देते |

    समाधान:

    ऊपर अंकित UP बोर्ड छात्रों की मुलभुत समस्याएं इस प्रकार हल हो सकती हैं :

    •   समय का सही तरीके से विभाजन कर के पढ़ना शुरू करें|

    •   प्रैक्टिस पेपर या सैंपल पेपर से प्रेक्टिस करें :

    •    इकाई विभाजित कर के पढ़ाई करे|

    •    पढ़े हुए चैप्टर्स का रिविज़न करें ध्यान पूर्वक |

    •    जागरूक अध्ययन करे ये ध्यान रखें के क्या और कितना पढ़ना है|

    •    शुरुआत से ही बिना लापरवाही के अलर्ट होकर पढ़े,जिससे परीक्षा के समय तनाव से बच सकते हैं|

    •    सिलेबस के हिसाब से पढ़ें|

    •    प्रश्नों के लिखने के तरीके पे ध्यान दे

    •    हैण्डराइटिंग अच्छी रखें और जो लिखें साफ़ साफ़ लिखें|

    •    प्रश्न के उत्तर को हैडिंग और सब हैडिंग मे लिखें और जहाँ आवश्यकता हों चित्र बनाकर समझाएं|

    आप भी करना चाहते हैं अपनी याददाश्त को मज़बूत तो जाने ये 9 कारगर उपाय

    Commented

      Latest Videos

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
        ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Newsletter Signup
      Follow us on
      X

      Register to view Complete PDF