IAS टॉपर्स के रोचक IAS इंटरव्यू अनुभव

यूपीएससी सिविल सर्विसेज के जरिए करिअर बनाने के इच्छुक आईएएस उम्मीदवारों से आईएएस के टॉपर्स तैयारी के टिप्स के तौर पर अपने इंटरव्यू का अनुभव साझा कर रहे हैं. यूपीएससी आईएएस इंटरव्यू में पूछे गए महत्वपूर्ण और पेंचीदा सवालों के आईएएस टॉपर्स द्वारा दिए गए अद्भुत जवाब यहां दिए जा रहे हैं, आशा है ये आपकी तैयारी में सहायता करेंगे

Created On: Feb 22, 2017 14:06 IST

IAS Interviewआईएएस परीक्षा की यात्रा सस्पेंस थ्रिलर फिल्म जैसी होती है और आईएएस इंटरव्यू इसका क्लाइमेक्स जो पूरी फिल्म को अर्थपूर्ण बनाता है. आमतौर पर इंटरव्यू के स्तर तक पहुंचने वाले उम्मीदवार ज्ञान और आईक्यू से लैस होते हैं लेकिन इंटरव्यू सिर्फ ज्ञान की परीक्षा नहीं होती, यह आपके व्यक्तित्व की गतिशीलता को मापने वाली जबरदस्त प्रक्रिया होती है. इसके अलावा यूपीएससी द्वारा जारी किए जाने वाले पत्र में भी यह स्पष्ट लिखा होता है कि यह ज्ञान की नहीं बल्कि व्यक्तित्व की परीक्षा है.

आईएएस बनने की प्रेरक कहानियाँ

यह ऐसा चरण है जहां आपको यह साबित करना होता है कि क्या आप में एक सिविल सेवक बनने लायक गुण हैं ? पहले और अब भी कई आईएएस टॉपर ने अपनी सफलता की कहानियां साझा की है और उनमें से ज्यादातर ने अपनी सफलता की यात्रा में इंटरव्यू के महत्व को दुहराया है. इंटरव्यू की तैयारी पर एक विशिष्ट और आम राय यह है कि चूंकि यह नौकरी के लिए आपके एप्टीट्यूड की जांच करता है इसलिए यह एक दिन या एक समयबद्ध मामला नहीं है।

भारत के सर्वाधिक प्रतिष्ठित नौकरी जो आपको गलत काम पर सही कारवाई करने की शक्ति प्रदान करता है, के लिए व्यक्तित्व निर्माण हेतु सामर्थ्य और इच्छाशक्ति की जरूरत होती है. आईए यूपीएससी आईएएस इंटरव्यू में पूछे जाने वाले कुछ मुश्किल सवालों के आईएएस टॉपर द्वारा दिए गए अनूठे जवाबों से सीखते हैं.

देखें IAS Toppers के वीडियो इंटरव्यू

 Chandra Mohan Gargचंद्र मोहन गर्ग , आईएएस, रैंक 25 (सीएसई 2015) से इस प्रकार के प्रश्न पूछे गए कि आपने 2013 में अपनी नौकरी छोड़ दी थी तो अभी आप क्या करते हैं? मान लीजिए कि आज नेताजी जीवित होते तो? भारत में क्या हो रहा होता? क्या आपने किसी सामुदायिक परियोजना में पंजीकृत है या यह सिर्फ मनोरंजन के लिए है, पार्टटाइम है?  इन्होंने इन सभी पेचीदा प्रश्नों का बहुत शांत होकर और समझदारी से जवाब दिया. यह स्पष्ट है कि आईएएस इंटरव्यू न सिर्फ आपके व्यक्तित्व का बेसिक टेस्ट होता है बल्कि यह किसी व्यक्ति के धैर्य और तनाव लेने की क्षमता की भी परीक्षा होती है.

श्री चंद्र मोहन के अनुसार पूछे गए प्रश्न विविधताओं से भरे थे और ज्यादार आपके आवेदन फॉर्म में भरे गए विवरण, वर्तमान घटनाओँ, सामान्य जागरुकता, डिसिजन मेकिंग और एचआर संबंधी प्रश्न से जुड़े थे. उन्होंने उन चीजों पर विशेष रूप से प्रकाश डाला जो ज्यादा मायने नहीं रखते जैसे आपकी पृष्ठभूमि, लुक, पोशाक और भाषा पर पकड़ एवं एक मात्र चीज जो मायने रखती है वह है विचारों में आपकी स्पष्टता, विषय का ज्ञान, आकर्षक व्यक्तित्व और आत्मविश्वास.

IAS अधिकारी का वेतन, भत्ते एवं अन्य सुविधाएं

भावेश मिश्रा, रैंक– 58, आईएएस 2015  बैच, आईआईटी दिल्ली से बी. टेक किए श्री मिश्रा से इस प्रकार के प्रBhavesh Mishraश्न पूछे गए– तो आपका शौक भाषा सीखने का है. क्या आप अपना नाम तमिल में लिख सकते हैं? 21वीं सदी में क्यों बॉलीवुड हॉलीवुड की जगह ले लेगा, कारण बताएं। आईआईटी के छात्र डीआरडीओ ज्वाइन क्यों नहीं करते? ये सभी प्रश्न बेहद चुनौती भरे थे और इनका जवाब देने के लिए तत्काल बुद्धिमत्ता की जरुरत है. श्री भावेश को बोर्ड के सदस्य मददगार लगे लेकिन इन सभी अपरंपरागत प्रश्नों का उद्देश्य उनके त्वरित प्रतिक्रिया तंत्र की जांच करना था.

आईआईटी के छात्र डीआरडीओ ज्वाइन नहीं करते जैसे प्रश्न का आदर्श जवाब क्या होगा इसे समझना वाकई चौंकाने वाला है क्योंकि यह देश की सेवा करने की आपकी पूरी इच्छा पर वाकई प्रश्न उठाता है? क्यों एक इंजीनियर इंजीनियरिंग सर्विसेज में जाकर अपने देश की सेवा करने  की इच्छा नहीं रखता, यह किसी की अखंडता पर किया गया सवाल है.

आईएएस की तैयारी के लिए प्रभावशाली समय सारिणी कैसे बनाएं ?

Akanksha Bhaskar

अकांक्षा भास्कर, यूपीएससी, सीएसई 2014- रैंक76, एमबीबीएस  से मुख्य रूप से उनके डीएएफ से सवाल पूछे गए थे लेकिन उनसे यह सवाल भी पूछा गया कि माउंट एवरेस्ट की खोज से पहले विश्व का सबसे उंचा पहाड़ कौन सा था? उनके अनुभव के साथ यह स्पष्ट है कि सवाल चाहे जितना भी अनिश्चित या अप्रासंगिक हो, वह इंटरव्यू लेने वाले को उचित ही लगता है. इसलिए यह बेहतर होगा कि आप ऐसे तथ्यात्मक प्रश्नों को न कहें जिनका जवाब आपको नहीं पता और आप भी यह बात जानते हैं कि इंटरव्यू लेने वाले भी जवाब के लिए गूगल करेंगे.

आईएएस में सफलता हेतु याद्दाश्त बढ़ाने के शीर्ष 10 तरीके

सुश्री. दिव्या लॉगनाथन, आईएएस, 2015 बैच से पूछा गया था कि क्या आपको यू.के. चुनावों के बारे में कुछ भी पता है. उस चुनाव की महत्वपूर्ण बातें क्या थीं? यह Dhivya Loganathanकिस प्रकार महत्वपूर्ण होने जा रहा है? स्कॉटलैंड नेशनल पार्टी का लाभ यूके को किस प्रकार प्रभावित करेगा? यूके का पूरा नाम क्या है? इसे यूनाइटेड किंग्डम क्यों कहा जाता है? यूके के अधीन कितने प्रांत हैं? वे कौन से हैं? और आखिर में क्या आप यूके का मानचित्र बना सकते हैं? और अंतिम प्रश्न पर तो बोर्ड के सदस्य भी हंस रहे थे.

यह सोचना ही काफी मुश्किल है कि कैसे एक उम्मीदवार को इन सभी के बारे में और भारत से जुड़े हुए नहीं होने के बावजूद क्यों एक छोटे विषय पर इतना विवरण उसे पता होना चाहिए. लेकिन आपको यह जरूर समझना होगा कि वह यूके के राजनीतिक स्थिति को आप कितना अच्छी तरह समझते हैं, की जांच नहीं कर रहा है, इंटरव्यू लेने वाला इस बात में अधिक दिलचस्पी रखता है कि आप किस प्रकार के प्रश्नों पर हार मान लेते हैं या ऐसे त्वरित प्रश्नों से क्या आपमें तनाव पैदा हुआ है ?

IAS Topper नितिन सांगवान का IAS अभ्यर्थियों के लिए सन्देश

Agam Jainएक और अन्प्रीडिक्टेड इंटरव्यू अगम जैन (भारतीय पुलिस सेवा) का रहा जिनसे यह पूछा गया था कि बतौर इंजीनियर आप प्रशासन की मदद किस प्रकार करेंगें ? यदि इतिहास खुद को दुहराता है तो बताएं कि प्राचीन और मध्यकालीन इतिहास में से क्या आधुनिक इतिहास में दुहराया गया ? आसान विकल्प कौन सा है– हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर?

इन सभी सफल उम्मीदवारों के अनुभवों के अलावा आइए इंटरव्यू में विफल रहने वाले उम्मीदवारों में से एक का उदाहरण और सबक लें? एक उम्मीदवार से बहुत अजीब सवाल पूछा गया कि क्या आप बता सकते हैं कि आखिर क्यों दिल्ली जैसे बड़े शहरों में गौरैया की आबादी कम हो रही है? और क्या आप भारत के पहले गौरैया विशेषज्ञ का नाम जानते हैं?

लेकिन वह उम्मीदवार घबराया नहीं और मुस्कुराते हुए जवाब दिया – गौरैया की आबादी के कम होने के पीछे की एक मुख्य वजह है बड़े शहरों का भारी प्रदूषण और इसके अलावा कुछ दशक पहले तक, गौरैया विशेषज्ञ का काम एक शौक के तौर पर भी नहीं किया जाता था क्योंकि गौरैया हर जगह दिखाई देती थी लेकिन अब ये "शौक" बन गया है क्योंकि अब वे लगभग खतरे में पड़ चुकी हैं. जोखिम भरे और बिल्कुल अलग तरह के सवाल का यह सबसे अच्छे जवाब में से एक है. यदि हम इसे एक शब्द में कहें तो यह एक "शानदार" जवाब था.

अजीता अग्रवाल, सिविल सेवा. रैंक 552 सीएसई 2014 से इस प्रकार के प्रश्न पूछे गए कि सैन फ्रैंसिस्को में रहने वाले गरीब उतने गरीब क्यों नहीं है ? आप समकालीन गाने क्यों गाते हैं? क्या आपको नहीं लगता बीते कुछ वर्षों में गीत के बोलों की गुणवत्ता में गिरावट आई है? क्या ऐसे कोई नेता हैं जिनका नाम भी आपके नाम जैसा है?

ये गलतियां आपको IAS बनने से रोक सकती हैं

निष्कर्ष

चूंकि कोई परिभाषित मानक नहीं है इसलिए आईएएस इंटरव्यू में आमतौर पर किस प्रकार के सवाल पूछे जाते हैं, के बारे में बताना मुश्किल है लेकिन काफी हद तक यह आपके इंटरव्यू बोर्ड पर निर्भर करता है. प्रत्येक बोर्ड का अपना अध्यक्ष और सदस्य होते हैं और फिर कई बोर्ड भी हैं. इसलिए कोई एकरूपता नहीं है. लगता है कि बोर्ड के अध्यक्ष के पास आपको अंतिम अंक देने की सर्वाधिक शक्ति होती है.

तो, उपर की गई चर्चा से हम यह कह सकते हैं कि मेन्स (लिखित) पर फोकस करें और जितना अधिक अंक हासिल कर सकते हैं, करने की कोशिश करें. यदि आपने लिखित परीक्षा में अच्छा अंक प्राप्त कर लिया तो इंटरव्यू में अच्छा करने का दवाब थोड़ा कम हो जाएगा.

IAS परीक्षा में विफल उम्मीदवारों के लिए 5 वैकल्पिक करियर

Read in English

Related Categories